टेक्निकल राइटर (Technical Writer) कैसे बनें?

नमस्कार! दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि टेक्निकल राइटर (Technical Writer) कैसे बनें? अगर आप में लिखने की कला है तो आप टेक्निकल राइटर बन सकते हैं यहां आपको बता दें कि इस क्षेत्र में कैंडिडेट को काफी अच्छा वेतनमान मिल जाता है जिसकी वजह से आज बहुत सारे ऐसे छात्र हैं जो 12वीं के बाद टेक्निकल राइटर बनना चाहते हैं। परंतु यहां आपको बता दें कि इस क्षेत्र में काम करने के लिए कैंडिडेट को चाहिए कि सबसे पहले यह जानकारी हासिल करें कि टेक्निकल राइटर कैसे बना जा सकता है। अगर आप भी इस फील्ड में जाना चाहते हैं और इससे संबंधित सारी जानकारी ढूंढ रहे हैं तो हमारे आज के इस आर्टिकल को सारा पढ़े और जानें कि आप किस प्रकार से टेक्निकल राइटर बन सकते हैं।

टेक्निकल राइटर क्या होता है (what is Technical Writer in Hindi) 

एक ऐसा प्रोफेशनल व्यक्ति होता है जो आईटी सेक्टर से संबंधित कंटेंट राइटिंग का काम करता है। इसलिए टेक्निकल राइटर ,मोबाइल और दूसरे गैजेट्स के बारे में सारी जानकारी कंटेंट के द्वारा लोगों को प्रदान करता है। यहां बता दें कि जिन लोगों ने इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी या कंप्यूटर में डिग्री हासिल की होती है टेक्निकल राइटर बनने के लिए बिल्कुल उपयुक्त हैं। लेकिन इस फील्ड में वह लोग भी काम कर सकते हैं जिन्हें आईटी सेक्टर से जुड़ी हुई अच्छी जानकारी मालूम होती है।

Also read: डेयरी टेक्नोलॉजिस्ट (Dairy Technologist) कैसे बनें?

टेक्निकल राइटर बनने के लिए प्रक्रिया क्या है 

जो छात्र 12वीं के बाद टेक्निकल राइटर बनना चाहते हैं उन्हें चाहिए कि वह सबसे पहले अपनी 12वीं कक्षा की पढ़ाई पूरी करें और उसके बाद छात्र आईटी या फिर कंप्यूटर में ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल करें। इस तरह से वह जब अपनी पढ़ाई पूरी कर ले तो उसके बाद उसे चाहिए कि वह छोटे-छोटे विषयों पर लिखना शुरू करें और धीरे-धीरे उन्हें बढ़ा दें। इस तरह वह कंटेंट राइटिंग का काम शुरू कर सकता है। 

टेक्निकल राइटर बनने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए 

  • कैंडिडेट ने इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी में ग्रेजुएशन किया हो। 
  • या कैंडिडेट ने कंप्यूटर में डिग्री हासिल की हो।
  • टेक्नोलॉजी के बारे में उम्मीदवार को अच्छी जानकारी होनी चाहिए। 
  • जिस भाषा में टेक्निकल राइटिंग करनी है उसमें अच्छी पकड़ होनी चाहिए। 
  • कंप्यूटर की जानकारी होना भी जरूरी है। 

आयु सीमा 

  • छात्र की आयु कम से कम 18 वर्ष तक होनी आवश्यक है।
  • छात्र की अधिकतम आयु सीमा नहीं रखी गई है इसलिए किसी भी उम्र तक कैंडिडेट टेक्निकल राइटर बन सकता है। 

 टेक्निकल राइटर बनने के कैरियर संभावनाएं क्या है 

एक सफल टेक्निकल राइटर के सामने नौकरी करने के बहुत सारे मौके सामने आते हैं जहां पर वह अनेकों कंपनियों के साथ काम कर सकता है। आज क्योंकि ऑनलाइन बिजनेस बहुत तेज़ी के साथ बढ़ रहा है इसीलिए एक अच्छे टेक्निकल राइटर की डिमांड हर कंपनी को होती है। 

वेतन 

अब यहां आपको जानकारी दे दें कि टेक्निकल राइटर को हर महीने 25 हज़ार से लेकर 30 हजार रुपए तक का वेतनमान मिल जाता है और अगर कैंडिडेट अपना काम मेहनत और लगन से करता है तो तब उसे और भी ज्यादा वेतन मिल जाता है। बताते चलें कि आज ऐसे बहुत सारे टेक्निकल राइटर हैं जो हर महीने 50,000 रुपए से भी ज्यादा वेतन प्राप्त कर रहे हैं। 

टेक्निकल राइटर के कार्य 

जब कोई कैंडिडेट टेक्निकल राइटर बन जाता है तो तब उसे राइटिंग के बहुत सारे कार्य करने पड़ते हैं जिनकी जानकारी निम्नलिखित हम बता रहे हैं-

  • किसी भी प्रोडक्ट के डिस्क्रिप्शन की टेक्निकल जानकारी लिखना।
  • ऑनलाइन वेबसाइटों के लिए ब्लॉग लिखने का काम करना।
  • किसी सेवा या उत्पाद के बारे में टेक्निकल इंफॉर्मेशन प्रोवाइड करना।
  • लोगों को विभिन्न तरह के गैजेट्स के बारे में सरल तरीके से जानकारी देना। 
  • कंपनियों के लिए प्रोस्पेक्टर्स ,ब्राउशर इत्यादि बनवाना।
  • ऑनलाइन रिपोर्ट बनाने के साथ-साथ जर्नल और ग्राफिकल प्रेजेंटेशन बनाना।

निष्कर्ष 

दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिकल टेक्निकल राइटर (Technical Writer) कैसे बनें? इस पोस्ट के द्वारा हमने आपको बताया कि टेक्निकल राइटर क्या होता है और उसके बनने की पूरी प्रक्रिया क्या है। इसके अलावा हमने इस लेख के माध्यम से आपको यह जानकारी भी दी कि कैंडिडेट को कितने रुपए का वेतन हर महीने मिल सकता है और इसके अलावा उसे कौन-कौन से कार्य करने पड़ते हैं। ‌वैसे अगर देखा जाए तो टेक्निकल राइटर वह छात्र बन सकते हैं जिनमें लिखने की कला हो और जिन्हें टेक्नोलॉजी की जानकारी भी अच्छी हो। अगर आपको हमारे द्वारा दी गई है सारी जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे अपने उन दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

Leave a Reply