टैली कोर्स (Tally Course) कैसे करे पूरी जानकारी

टैली कोर्स: आज का समय इंटरनेट और कंप्यूटर का समय है और इसीलिए हर काम के लिए इंसान को कंप्यूटर की जरूरत पड़ती है।इसी तरह से बहुत सारी कंपनियां ऐसी हैं जो अपने सारे अकाउंट के काम करने के लिए अलग-अलग तरह के सॉफ्टवेयर का प्रयोग करती हैं।टैली उन्हीं में सेएक है जो काफी प्रसिद्ध है।इस समयअधिकतर लोग टैली का कोर्स करने के बाद विभिन्न कंपनियों में जॉब कर रहे हैं।

यह कोर्स उन स्टूडेंट्स के लिए बहुत अच्छा है जिन्होंने 12वीं कक्षा तक कॉमर्स की पढ़ाई की हो क्योंकि इस कोर्स को करने के बाद वह अपना बहुत बेहतरीन कैरियर बना सकते हैं।सबसे अच्छी बात यह है कि यह कोर्स महंगा नहीं हैइसलिए इसे कोई भी करसकता है।आज के इस आर्टिकल में हम आपको टैली कोर्स से जुड़ी हुई सभी आवश्यक बातें बताएंगे जिनको जाना आपके लिए बहुत जरूरी है।

टैली कोर्स

टैली कोर्स क्या है (What is Tally Course in Hindi)

टैली अकाउंटिंग का ऐसा कोर्स हैजिसका प्रयोगविभिन्न कंपनियां अपना रिकॉर्ड तैयार करने और अपने व्यापार का आवश्यक डाटा सुरक्षितरखने में करती हैं।इस तरह यह कहा जा सकता हैकि एक सॉफ्टवेयर के माध्यम से सभी कामों का पूरा विवरण ठीक प्रकार से मेंटेन करके रखने के कार्य को टैली कहते हैं।इस कोर्स को करने के बाद नौकरी करने के बहुत सारे चांस मिलते हैं।यह कोर्स उन लोगों के लिए बहुत अच्छा है जिनके पास कोई अच्छा कोर्स करने के लिए पर्याप्त पैसा नहीं होता तो ऐसे में उन छात्रों को चाहिए कि वह टैली कोर्स करके आत्म निर्भर बनें।

Also read: सीसीएनए कोर्स (CCNA Course) कैसे करें

वर्तमान परिदृश्य

मौजूदा समय में टैली कोर्स लोगों के बीच काफी लोकप्रिय है क्योंकि यह कोर्स केवल 3 महीने का होता है और जिसको करने के बाद कोई भी व्यक्ति अपने पैरों पर खड़ा हो सकता है।अगर किसी ने टैली किया हुआ हो तो उसेबहुत सारेऑफिशियलऔर एकाउंटिंग केकार्य करने आ जाते हैं।यहां बता दें कि टैली कोर्सको एकाउंटिंग की दुनिया में मौजूदा समय में अत्यधिक महत्व दिया गया है।अगर कोई एकाउंटिंग को ठीक प्रकार से मेंटेन करना सीख ले तो फिर वह बहुत ही आसानी के साथ मार्केट में काम कर सकता है।वर्तमान समय में इस कोर्स की डिमांड हर साल तेजी के साथ बढ़ती ही जा रही है क्योंकि इस कोर्स को करने के बाद स्टूडेंट्स को अच्छी नौकरियां मिल जाती हैं।

टैली कोर्स के लिए प्रवेश प्रक्रिया क्या है

टैली कोर्स करने के लिए किसी भी प्रकार की प्रवेश प्रक्रिया नहीं है।इस कोर्स को करने के लिए आपका 12वीं कक्षा को कॉमर्स स्ट्रीम से पास किया होना चाहिए।

टैली कोर्स के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए

  • किसी मान्यता प्राप्त संस्थान सेबारहवीं कक्षा का सर्टिफिकेट
  • कक्षा बारहवीं में कॉमर्स विषय पढ़ा हुआ होना जरूरी है
  • अंग्रेजी का ज्ञान होना चाहिए क्योंकि टैली सीखने के लिए आपको कंप्यूटर पर काम करना होगा जहां पर सारा कार्य अंग्रेजी भाषा में होता है।

फीस

टैली कोर्स करने के लिए 4,000 रुपए बेसिक कोर्स के लिए देने होते हैं जो कि 1 महीने का होता है।इसी तरह से एडवांस कोर्स करने के लिए 8,000 रुपए की फीस देनी होती है।लेकिन भिन्न-भिन्न संस्थानों में टैली कोर्स कीफीस अलग-अलग हैजो कि इस बात के ऊपर निर्भर करती है कि संस्थान कितना अच्छा और प्रतिष्ठित है।

Also readदिल्ली के सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेज की सूची

टैली कोर्स कहाँ से करे

अगर आपने मन बना लिया है कि आपको टैली कोर्स करना है तो आपकी जानकारी के लिए  बता दें कि इस कोर्स को किसी अच्छे संस्थान से ही करना चाहिएक्योंकिएक अच्छा संस्थान ही आपको बेस्ट ट्रेनिंग देगाजो कि आपको जिंदगी में सफलता दिलाने और अच्छा कैरियर बनाने में सहायता करेगा।निम्नलिखित कुछ टैली कोर्स के इंस्टिट्यूट है जहां सेयहकोर्स किया जा सकताहै।

  • मदर इंस्टिट्यूट ऑफ इलेक्ट्रॉनिक टेक्नोलॉजी अहमदाबाद (Mother itnstitute of Electronics Technology Ahmedabad)
  • सेंट गेज बाबा अमरावती यूनिवर्सिटी (Sant Gadge Baba Amravati University)
  • रामानुजन कॉलेज (Ramanujan College)
  • नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी दिल्ली(National institute of Electronics and information technology)
  • द इंस्टीट्यूटऑफकंप्यूटर अकाउंटेंट्स बोरीवली (The Institute of computer accountants Borivali)

टैली कोर्स का पाठ्यक्रम/ सब्जेक्ट्स क्या-क्या है

  • फंडामेंटल्स ऑफ एकाउंटिंग(Fundamentals of Accounting)
  • इन्वेंटरी मैनेजमेंट (Inventory Management)
  • रिसिवेबल्स एंड पेएबल्स मैनेजमेंट(Receivables and Payables Management)
  • जनरेटिंग एमआईएस रिपोर्ट(Generating MIS Report)
  • मेंटेन इन जीएसटीकॉम्प्लीयंट रिकॉर्ड्स यूजिंग टैली (Maintain in GST compliaints RecordsUsing Tally)
  • एकाउंटिंग ऑफ टीडीएस अदर देन सैलेरी (Accounting of TDS other than salary)
  • बैंकिंग एंड पेमेंट्स (Banking and Payments)
  • एकाउंटिंग डेटुडेट्रांजैक्शंस(Accounting day to day transaction)
  • स्टोरेज एंड क्लासिफिकेशन ऑफ इन्वेंटरी (Storage and Classification of Inventory)
  • एडमिनिस्ट्रेशन ऑफ कंप्लीट ऑर्डर प्रोसेसिंग साइकिल (Administration of complete order processing cycle)
  • स्टैचुअरी एंड टैक्सेशन जीएसटी एंड टीडीएस ((Statuary and taxation GST and TDS)
  • डाटा मैनेजमेंट(Data Management)
  • प्रिंसिपल्स ऑफ एकाउंटिंग (Principle of Accounting)
  • ऑर्डर प्रोसेसिंग (Order processing)
  • एलोकेटिंग एंड ट्रैकिंग ऑफ एक्सपेंसिव एंड इनकम(Allocated and tracking of expensive and income)
  • डाटा मैनेजमेंट एंड टेक्निकल एस्पेक्ट्स (Data management and technical aspects)
  • इंट्रोडक्शन टू जीएसटी(Introduction to GST)
  • गेटिंग स्टार्टेड विद जीएसटी (गुड्स) (Getting started with GST, goods)
  • गेटिंग स्टार्टड विद जीएसटी (सर्विसेज) (getting started with GST, services)
  • रिकॉर्डिंग एडवांस्ड एंड एडजेस्टमेंट एंट्रीज (Recording advance and adjustment entries)
  • ई-वे बिल(E-Way Bill)
  • जनरेटिंग जीएसटी रिपोर्ट(Generating GST Report)

टैली कोर्स के बाद कैरियर संभावनाएँ क्या है

टैली कोर्स करने के बाद किसी भी कैंडिडेट के पास अनेकों कैरियर अवसरहोते हैं।इस कोर्स में जब आपको सर्टिफिकेट मिल जाता है तो उसके बाद नौकरियों के बहुत सारे विकल्प आपके सामने आ जाते हैं जिसमें जो आपको अपने लिए उपयुक्त लगे उसे आप कर सकते हैं।इस कोर्स को कर लेने के बाद आप किसी भी चार्टर्ड अकाउंटेंट या फिर वकील के पास भी प्राइवेट जॉब कर सकते हैं।इसके अलावा आप किसी दुकानदार या व्यापारी के अकाउंट को भी मेंटेन करनेकी जॉब भी कर सकते हैं।

Also read: दिल्ली के सरकारी पॉलिटेक्निक कॉलेज की सूची

वेतन

इस कोर्स को करने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि आप इससे अच्छे खासे पैसे हर महीने कमा सकते हैं जिसके लिए आपको फुल टाइम नहीं बल्कि पार्ट टाइम काम भी कर सकते हैं। बस आवश्यकता है आपको एकाउंटिंग की पूरी जानकारी हो और आपको यह पता होना चाहिए कि उसे कैसे मेंटेन करें तो फिर आप आसानी से पार्ट टाइम 8,000 से 10,000 तक आसानी से कमा सकते हैं।यदि आप फुल टाइम काम करना चाहते हैं तो आप शुरुआत में ही 15,000-30,000कमा सकते हैं।

प्राइवेट सेक्टर में जॉब्स

प्राइवेट सेक्टर में टैली कोर्स करने के बाद आपको जॉब के लिए भटकना नहीं पड़ेगाक्योंकि प्राइवेट सेक्टर के लोग उन लोगों की तलाश में रहते हैं जो उनका अकाउंट्स मेंटेन रखें और रिटर्ंस को भी देख ले।अगर आप इन दोनोंकी अच्छी जानकारी रखते हैं तो विभिन्न प्रकार की नौकरियांकर सकते हैं जैसे-टैली ऑपरेटर, अकाउंट मैनेजर।यहां यह भी जान लें कि टैली कोर्स करने के बादआप किसी भीलोन कंपनी, फाइनैंशल संस्थान, वित्तीय संस्थान में भी नौकरी कर सकतेहैं।

गवर्नमेंट सेक्टर में जॉब्स

गवर्नमेंट सेक्टर में भी आपको जॉब करने के बाद अच्छे अवसर मिल सकते हैं।आप किसी भी सरकारी संस्थान में टैली ऑपरेटर का काम कर सकते हैं इसके अलावा किसी बैंक, और दूसरी अन्य तरह की नौकरियां भी आपको मिल जाएंगी।

निष्कर्ष

तो दोस्तों यह थाहमारा आज का आर्टिकल टैली कोर्स क्या है और टैली कोर्स कैसे करें।हमने इस आर्टिकल के माध्यम से आपको इस कोर्स से जुड़ी हुई सारी जानकारी देने की कोशिश कीहै यदि आप बारहवीं कक्षा के बाद अपने पैरों पर खड़ा होना चाहते हैं तो आप इस कोर्स को करके ऐसा कर सकते हैं।हमारे आज के इस आर्टिकल को आप अपनेदोस्तोंऔरसहपाठियों के साथ भी शेयर करें ताकि अगरवह भी टैली कोर्स करना चाहते हैंतोउन्हेंभी इसकी पूरी जानकारीहो जाए।

This Post Has 4 Comments

  1. Yatika

    Kya tally hm …. 12 th class se bhi suru kr skte h

  2. Yatika

    Should we start tally in 12th class

  3. Naval ram

    11th arts or 12th arts ki he sir
    Kya me telly course kr skta hu ya nhi

  4. Deepak madhukar

    Ye course biology se bhi ho sakta h kya..???

Leave a Reply