स्टॉक ब्रोकर (Stock Broker) कैसे बनें?

नमस्कार! दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि स्टॉक ब्रोकर कैसे बनें? जो छात्र 12वीं कक्षा में कॉमर्स के विषय की पढ़ाई करते हैं और अगर वह चाहें तो स्टॉक ब्रोकर बन कर अपना एक शानदार कैरियर बना सकते हैं क्योंकि आज हमारे देश में शेयर मार्केट इंडस्ट्री में काफी ज्यादा वृद्धि हुई है जिसकी वजह से रोजगार के बहुत सारे अवसर इस क्षेत्र में योग्य उम्मीदवारों के लिए उपलब्ध हुए हैं। इसीलिए अगर आप भी इस फील्ड में जाना चाहते हैं तो हमारे आज के इस आर्टिकल को सारा पढ़ें और जानें स्टॉक ब्रोकर बनने की पूरी प्रक्रिया के बारे में। 

स्टॉक ब्रोकर क्या होता है (what is Stock Broker in Hindi) 

यहां आपको बता दें कि स्टॉक ब्रोकर फाइनेंसियल मार्केट का एक ऐसा एक्सपर्ट होता है जो उन लोगों को स्टॉक मार्केट के बारे में उचित राय देता है जो इसमें अपना निवेश करना चाहते हैं। बता दें कि हर इंसान को शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट करने के बारे में जानकारी नहीं होती है जिसकी वजह से उन्हें काफी पैसों का नुकसान हो जाता है। तो ऐसे में अगर किसी प्रोफेशनल की राय ले ली जाए तो उससे फायदा ही होता है। इसीलिए अपने ग्राहकों की जगह पर स्टॉक ब्रोकर पैसा लगाते हैं जिससे कि उन्हें मुनाफा अधिक हो और नुकसान होने का खतरा ना के बराबर हो। 

Also read: सिक्योरिटीज एनालिस्ट (Securities Analyst) कैसे बनें?

स्टॉक ब्रोकर बनने के लिए प्रक्रिया क्या है

अब आपको यहां जानकारी दे दें कि जो व्यक्ति स्टॉक ब्रोकर बनना चाहते हैं उन्हें इसके लिए सबसे पहले अपनी 12वीं कक्षा को कॉमर्स विषय के साथ पास करना अनिवार्य है फिर उसके बाद उन्हें चाहिए कि वह अपना ग्रेजुएशन कॉमर्स, इकोनॉमिक्स, फाइनेंस या फिर बिजनेस मैनेजमेंट में करें। इसके अलावा कैंडिडेट अगर चाहे तो वह स्टॉक मार्केट से संबंधित कोई कोर्स किसी अच्छे संस्थान से करने के बाद भी वह स्टॉक ब्रोकर के रूप में काम कर सकता है‌।

स्टॉक ब्रोकर गार्ड बनने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए 

स्टॉक ब्रोकर बनने के लिए किसी भी कैंडिडेट में जो योग्यताएं होनी चाहिए उनकी जानकारी इस प्रकार से है-

  • कैंडिडेट ने किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से बीकॉम किया हो।
  • या फिर कैंडिडेट ने अपना ग्रेजुएशन फाइनेंस में किया होना चाहिए।
  • या उम्मीदवार ने एमबीए किया हो।
  • शेयर मार्केट की अच्छी जानकारी।
  • अंग्रेजी भाषा के साथ-साथ कंप्यूटर की जानकारी भी होना जरूरी है। 

आयु सीमा 

अब यहां आपको यह बता दें कि जो कैंडिडेट स्टॉक ब्रोकर बनना चाहते हैं इसके लिए उन्हें चाहिए कि वह 20-21 वर्ष की आयु तक इस क्षेत्र में जा सकते हैं। हालांकि इस इंडस्ट्री में जाने के लिए कैंडिडेट की कोई आयु सीमा नहीं है लेकिन फिर भी यह जरूरी है कि वह अपना ग्रेजुएशन करने के बाद ही इस फील्ड में अपना कैरियर बनाएं। 

स्टॉक ब्रोकर बनने के कैरियर संभावनाएं क्या है 

स्टॉक ब्रोकर बनने के बाद किसी भी व्यक्ति के सामने कैरियर के बहुत सारे विकल्प आ जाते हैं जहां पर वह काम कर सकता है जैसे कि स्टॉक ब्रोकिंग फर्म, म्यूच्यूअल फंड रिसर्च सेंटर, इन्वेस्टमेंट बैंक्स, पेंशन फंड, इन्वेस्टमेंट बैंकर, फाइनेंशियल एडवाइजर इत्यादि के रूप में कैंडिडेट अपना फ्यूचर बना सकते हैं। 

वेतन 

जब कोई व्यक्ति स्टॉक ब्रोकर बन जाता है तो उसके बाद उसे नौकरी की शुरुआत में ही हर महीने 30,000 से लेकर 40,000 तक का वेतन आसानी से मिल जाता है। लेकिन अगर कैंडिडेट में योग्यता है तो वह उसके आधार पर हर महीने लाखों रुपए भी कमा सकता है क्योंकि शेयर मार्केट में पर कोई कैंडिडेट उचित रणनीति के साथ काम करे तो वह आसानी के साथ काफी पैसा हासिल कर सकता है। 

स्टॉक ब्रोकर के कार्य 

  • स्टॉक एक्सचेंज और निवेशकों के बीच में एक कड़ी की तरह होता है। 
  • शेयर मार्केट में अपने ग्राहक के सभी लेनदेन वाले कामों की देखरेख करने का काम करता है।
  • ग्राहक को शेयर मार्केट से संबंधित उचित राय देता है। 
  • अपने क्लाइंट के लिए स्टॉक मार्केट में उन जगहों पर इन्वेस्टमेंट करता है जहां पर उन्हें लाभ ज्यादा हो।
  • शेयर बाजार के उतार-चढ़ाव को समझ कर उसी के अनुसार खरीद-फरोख्त करें। 
  • ग्राहक को सही टाइम पर सही गाइडेंस देने का काम करना। 

निष्कर्ष

दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिकल Stock Broker कैसे बनें? इस लेख के माध्यम से हमने आपको जानकारी दी कि स्टॉक ब्रोकर क्या होता है और उसमें कितनी योग्यता होनी आवश्यक है। साथ ही साथ हमने इस आर्टिकल के माध्यम से यह जानकारी भी दी कि स्टॉक ब्रोकर बनने की प्रक्रिया क्या होती है और जब कोई कैंडिडेट स्टॉक ब्रोकर बन जाता है तो तब उसे हर महीने कितने रुपए तक का वेतनमान मिलता है। इसके अलावा हमने यह भी बताया कि जो कैंडिडेट स्टॉक ब्रोकर के रूप में काम करता है तो उसे इस पद पर रहते हुए कौन-कौन से कार्य करने होते हैं। वैसे अगर देखा जाए तो शेयर मार्केट में कैरियर बनाना कोई मुश्किल काम नहीं है क्योंकि अगर कैंडिडेट को शेयर बाजार के उतार-चढ़ाव की समझ हो तो वह इंडस्ट्री में काफी आगे तक जा सकता है। अगर आपको हमारे द्वारा दी गई है जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे अपने उन दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें जो 12वीं के बाद स्टॉक ब्रोकर बनने के इच्छुक हैं। 

Leave a Reply