सेट डिजाइनर (Set Designer) कैसे बनें?

नमस्कार! आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि सेट डिजाइनर कैसे बनें? इस फील्ड में आमतौर पर वही कैंडिडेट अपना कैरियर बनाना पसंद करते हैं जिनको फिल्म या फिर टीवी धारावाहिकों में सेट डिजाइनिंग का काम करना पसंद होता है। इसके अलावा फिल्म इंडस्ट्री में काम करने के लिए बहुत सारे लोग कोशिश करते हैं क्योंकि इस तरह से उन्हें दौलत और शोहरत दोनों ही हासिल हो जाती हैं। परंतु यहां हम आपको बता दें कि अगर आपको इस इंडस्ट्री में जाने का सही रास्ता मालूम नहीं है तो ऐसे में आप कभी भी सफल नहीं हो सकते। इसीलिए अगर आप सेट डिजाइनर बनने के बारे में जरूरी जानकारी ढूंढ रहे हैं तो हमारे आज के इस आर्टिकल को सारा पढ़ें और जानें पूरी प्रक्रिया के बारे में। 

सेट डिजाइनर क्या होता है (what is Set Designer in Hindi) 

सबसे पहले यहां आपको जानकारी के लिए बता दें कि सेट डिजाइनर एक ऐसा प्रोफेशनल व्यक्ति होता है जो फिल्मों के अलावा टीवी सीरियल्स के लिए भी सेट डिजाइन करने का काम करता है। फिल्मों में आप जितने भी खूबसूरत दृश्य या जगह देखते हैं उन सबको आकर्षक बनाने का  सेट डिजाइनर करता है। बता दें कि किसी भी फिल्म के सेट की डिजाइनिंग करने के लिए सेट डिजाइनर डायरेक्टर की डिमांड के अनुसार अपना काम करता है। 

Also read: स्क्रीनप्ले राइटर (Screenplay Writer) कैसे बनें?

सेट डिजाइनर बनने के लिए प्रक्रिया क्या है

जो छात्र सेट डिजाइनर बनना चाहते हैं इसके लिए उन्हें यहां जानकारी दे दें कि सबसे पहले छात्र को चाहिए कि सबसे पहले वह अपनी 12वीं कक्षा पास करें और उसके बाद फिर वह सेट डिजाइनर से संबंधित किसी कोर्स में डिप्लोमा या डिग्री कोर्स करें। जब छात्र का कोर्स पूरा हो जाए तो उसके बाद उसे चाहिए कि वह किसी टीवी सीरियल या फिर किसी फिल्म प्रोडक्शन हाउस के साथ इंटर्नशिप करें। जब इंटर्नशिप पूरी हो जाएगी तो उसके बाद आप फिल्मों में सेट डिजाइनर असिस्टेंट के तौर पर काम कर सकते हैं और उसके बाद फिर आप कुछ अनुभव हासिल करने के बाद सेट डिजाइनर के तौर पर काम कर सकते हैं। यहां आपको बताते चलें कि इस फील्ड में हर कैटेगरी के कैंडिडेट की आवश्यकता होती है चाहे वह मजदूर हो या फिर कोई हाई डिग्री होल्डर इंजीनियर जिनसे काम करवाने की जिम्मेदारी सेट डिजाइनर की होती है।

सेट डिजाइनर बनने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए 

  • कैंडिडेट ने कम से कम बारहवीं कक्षा किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से पास की होनी चाहिए।
  • उम्मीदवार ने किसी इंस्टिट्यूट से सेट डिजाइनर से जुड़ा कोई डिप्लोमा और डिग्री कोर्स किया हो। 
  • कैंडिडेट में रचनात्मकता होने के साथ-साथ उसके कम्युनिकेशन स्किल्स भी अच्छे होने चाहिए। 
  • डायरेक्टर की डिमांड के अनुसार किसी भी सेट को डिजाइन करना आना चाहिए।
  • कैंडिडेट को कंप्यूटर की जानकारी भी होनी चाहिए। 
  • टीम मैनेजमेंट और टीम के साथ काम करने की कैपेबिलिटी होनी चाहिए। 

आयु सीमा 

जो कैंडिडेट सेट डिजाइनर के तौर पर काम करना चाहते हैं उन्हें यहां जानकारी के लिए बता दें कि इसके लिए किसी भी तरह की कोई आयु सीमा नहीं रखी गई है इसलिए इस इंडस्ट्री में कैंडिडेट 18 साल की उम्र के बाद काम कर सकता है।

सेट डिजाइनर बनने के कैरियर संभावनाएं क्या है 

यहां अब आपको जानकारी के लिए बता दें कि सेट डिजाइनर बनने के बाद किसी भी कैंडिडेट के सामने नौकरी करने के बहुत सारे अवसर होते हैं जहां पर वह काम कर सकता है जैसे कि –

  • फिल्म
  • टीवी सीरियल
  • टीवी शो 
  • थिएटर
  • मीडिया हाउस
  • एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री 
  • इवेंट्स
  • मॉडलिंग में सेट डिजाइन करना 

वेतन 

सेट डिजाइनर बनने के बाद किसी भी कैंडिडेट को हर महीने उसकी योग्यता के आधार पर उसे लगभग 20,000 से लेकर 25,000 तक का सैलरी पैकेज मिल सकता है। इस प्रकार से जब उसे अनुभव हासिल हो जाता है तो तब इस क्षेत्र में काम करते हुए लाखों रुपए तक भी कमा सकता है। यहां आपको बता दें कि फिल्म इंडस्ट्री या टीवी इंडस्ट्री में अधिकतर काम का जो पैसा मिलता है वह प्रोजेक्ट के अनुसार ही मिलता है इसीलिए अगर कैंडिडेट को कोई बड़ा प्रोजेक्ट मिल जाता है तो उसको अधिक रुपए कमाने के अवसर मिलते हैं। 

सेट डिजाइनर के कार्य 

  • टीवी सीरियल और फिल्मों के लिए सेट डिजाइन करना।
  • फिल्म की मांग के अनुरूप सेट डिजाइन करने का काम करता है। 
  • फिल्म डायरेक्टर को फिल्म बनाने के लिए जैसे वातावरण की आवश्यकता होती है वैसा ही लुक क्रिएट करना।
  • सेट डिजाइनिंग के लिए पूरी टीम के साथ मिलकर प्लानिंग करनी और काम करना। 
  • किसी भी सेट और स्टेज का बैकग्राउंड और लाइटनिंग का काम करना। 
  • स्क्रिप्ट के अनुसार लोकेशन तैयार करना। 

निष्कर्ष

दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिकल सेट डिजाइनर कैसे बनें? इस लेख के माध्यम से हमने आपको यह जानकारी दी कि सेट डिजाइनर क्या होता है और उसके बनने के लिए कैंडिडेट में कितनी योग्यता की आवश्यकता होती है। इसके अलावा हमने इस पोस्ट में यह जानकारी भी दी कि सेट डिजाइनर बनने की पूरी प्रक्रिया क्या होती है और जब कोई कैंडिडेट सेट डिजाइनर के रूप में काम करता है तो उसे हर महीने कितने रुपए तक का वेतन मिलता है एवं उसके द्वारा किए गए कार्यों के बारे में भी हमने इस लेख में आपको बता दिया है। वैसे अगर किसी कैंडिडेट में रचनात्मकता के साथ-साथ टीम वर्क की क्षमता होती है तो वह इंडस्ट्री में काफी आगे तक जा सकता है। अंत में हमारी आपसे यही रिक्वेस्ट है कि अगर आपको हमारे द्वारा दी गई है सारी जानकारी अच्छी लगी हो तो हमारे इस आर्टिकल को उन लोगों के साथ भी जरूर शेयर करें जो 12वीं के बाद सेट डिजाइनर बनने के इच्छुक है।

Deepak Kumar

दीपक कुमार After12th.net के लेखक और संस्थापक हैं। वह छात्रों को उनकी धारा तय करने और उद्योग में पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी प्रदान करने में मदद करता है। वह उन्हें नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने में मदद करता है। उनका उद्देश्य देश में अधिकतम छात्रों के लिए वैध और उपयोगी जानकारी साझा करना है।

Leave a Reply