आरपीएफ क्या होता है RPF ज्वाइन कैसे करे पूरी जानकारी

अगर आप चाहते हैं कि आप एक सुरक्षा अधिकारी बने तो इसके लिए आप आरपीएफ बन सकते हैं। यह एक ऐसा पद है जिसके अंदर अधिक शैक्षणिक योग्यता की आवश्यकता नहीं होती। दसवीं कक्षा पास करने के बाद कोई भी कैंडिडेट इसके लिए आवेदन कर सकता है। आज के इस आर्टिकल में हम आपको आरपीएफ के बारे में सारी जानकारी देंगे। हम आपको बताएंगे कि आरपीएफ कौन होता है और इसको बनने के लिए किसी कैंडिडेट के पास कितनी योग्यता होनी चाहिए। इसके अलावा हम आपको बताएंगे कि उसका वेतनमान कितना होता है।‌ साथ ही इस पोस्ट से जुड़ी हुई अन्य सभी जानकारी आपको देंगे इसलिए इस आर्टिकल को अंत तक पढ़िएगा। 

आरपीएफ  

आरपीएफ क्या होता है (What is RPF in Hindi)

आरपीएफ यानि रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स वह होता है जो रेलवे की सुरक्षा और उसकी रखवाली का कार्य करता है। इसको रेलवे सुरक्षा बल के नाम से भी जाना जाता है। रेलवे डिपार्टमेंट से जुड़ी तमाम सिक्योरिटी की जिम्मेदारी आरपीएफ की ही होती है। यहां आपकी जानकारी के लिए बता दें कि स्वतंत्रता से पहले रेलवे की सुरक्षा के लिए सुरक्षा दल पैसे देकर बुलाए जाते थे लेकिन मौजूदा समय में सरकार द्वारा इनकी नियुक्ति की जाती है। इसके अलावा आपको बता दें कि आरपीएफ सेंट्रल गवर्नमेंट के अंतर्गत आती है। कोई भी आरपीएफ अधिकारी रेल में हुई किसी भी प्रकार की गलत घटना के ऊपर एक्शन ले सकता है। 

आरपीएफ ज्वाइन कैसे करे  (How to Join RPF in Hindi) 

अगर कोई अभ्यर्थी आरपीएफ ज्वाइन करना चाहता है तो उसके लिए उसे विभिन्न प्रकार के परीक्षा के चरणों से गुजारना पड़ेगा जो कि इस प्रकार हैं-

  • सबसे पहले अपना ऑनलाइन फॉर्म भरना होगा। 
  • ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करने के बाद आपको कंप्यूटर पर एक लिखित परीक्षा देनी होगी।
  • यदि आप लिखित परीक्षा पास कर लेते हैं तो आपको पीईटी यानी फिजिकल एलिजिबिलिटी टेस्ट के लिए बुलाया जाएगा। 
  • अगर आपने पीईटी पास कर लिया है तो उसके बाद आपको पीएमटी (फिजिकल मेजरमेंट टेस्ट) के लिए बुलाया जाता है। 
  • सबसे आखिर में चिकित्सा परीक्षण होता है। 

आरपीएफ में भर्ती होने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए  (Eligibility Criteria)

आरपीएफ में भर्ती होने के लिए किसी भी अभ्यर्थी के लिए एक योग्यता निर्धारित की गई है जो कि आवेदकों को पता होना चाहिए। अगर कोई कैंडिडेट सभी योग्यता मानदंड पर पूरा उतरता है तो वह आरपीएफ के लिए योग्य समझा जाता है। 

नेशनेलिटी (Nationality)/ सिटीजनशिप (Citizenship)- आरपीएफ के लिए उम्मीदवार का भारत का नागरिक होना अनिवार्य है। 

एजुकेशनल क्वालिफिकेशन (educational qualification)

  • आवेदन कर्ता को कम से कम किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से दसवीं कक्षा को पास किया होना चाहिए। 

मेडिकल क्वालीफिकेशन (medical qualification) – 

वे सभी अभ्यर्थी जो आरपीएफ बनना चाहते हैं उन्हें लिखित परीक्षा के अलावा अपना चिकित्सा परीक्षण भी करवाना होगा जिसमें अभ्यर्थी की सभी चीजों को ठीक तरह से चेक किया जाएगा। मेडिकल क्वालिफिकेशन के लिए अभ्यर्थियों की जो जांच होगी वह इस प्रकार से है- 

  • कैंडिडेट की आंख 6/6  की होनी चाहिए।
  • अभ्यर्थी को रंगों को पहचानने में किसी प्रकार की दुविधा नहीं होनी चाहिए यानी कलर ब्लाइंडनेस नहीं होना चाहिए। 
  • कैंडिडेट को लेजर सर्जरी करवाने की अनुमति नहीं होती है। 
  • यदि किसी अभ्यर्थी के चश्मा लगा है तो उसको रिजेक्ट कर दिया जाता है। 
  • अगर कैंडिडेट को किसी भी प्रकार की आंखों की कोई समस्या है तो उसको अयोग्य समझा जाता है।
  • उसकी सुनने की शक्ति ठीक होनी चाहिए मतलब उसे सुनने में किसी प्रकार की कोई समस्या नहीं हो।
  • आवेदन कर्ता का वजन उसकी उम्र और उसकी लंबाई के अनुसार होना आवश्यक होता है।

आयु सीमा: 

कैंडिडेट की आयु 18 से लेकर 25 साल के बीच में होनी चाहिए। 

आरपीएफ में भर्ती के लिए शारीरिक आवश्यकताएं:

आरपीएफ भर्ती होने के लिए पीईटीफिजिकल एफिशिएंसी टेस्ट (PET-Physical Efficiency Test) और पीएमटीफिजिकल मेजरमेंट टेस्ट (PMT-Physical Measurement Test)  दोनों परीक्षणों को पास करना बेहद अनिवार्य होता है। साथ ही आपको बता दें कि यह दोनों केवल एक क्वालीफाइंग परीक्षा है जिसको पास करने के लिए कोई अंक नहीं दिए जाएंगे। महिलाओं और पुरुष के लिए शारीरिक मापदंड अलग अलग हैं जो कि इस प्रकार हैं

पुरुषों के लिए शारीरिक मापदंड

ऊंचाई- 

  • जो कैंडिडेट सामान्य और अन्य पिछले वर्ग के अंतर्गत आते हैं उनकी ऊंचाई कम से कम 165 सेंटीमीटर होनी चाहिए। 
  • अनुसूचित जनजाति और अनुसूचित जाति की कैटेगरी के अभ्यर्थियों की न्यूनतम ऊंचाई 160 सेंटीमीटर होनी चाहिए। 
  • इसके अलावा जो लोग पहाड़ी इलाकों में रहते हैं जैसे गढ़वाली, कुमाऊं, मराठा डोगरा इनकी ऊंचाई कम से कम 163 सेंटीमीटर होनी चाहिए। 
  • सिक्किम अरुणाचल प्रदेश, असम हिमाचल प्रदेश, त्रिपुरा, मणिपुर, नागालैंड, मिजोरम मेघालय, कश्मीर, जम्मू और कश्मीर आदि राज्यों के अभ्यर्थियों की ऊंचाई भी 163 सेंटीमीटर होनी चाहिए। 

सीना

  • पिछड़े वर्ग, अनुसूचित जातियों और सामान्य वर्ग के कैंडिडेट का सीने का नाप 76.2 सेंटीमीटर बिना फुलाए होना चाहिए। इसके साथ ही 85 सेंटीमीटर सीने का माप फुलाने पर होना चाहिए।
  • मराठा, गोरखा, कुमाऊं, गढ़वाली आदि श्रेणी के अंतर्गत आने वाले आवेदकों का सीने का माप न्यूनतम बिना फुलाए 80 सेंटीमीटर होना चाहिए और 85 सेंटीमीटर फुलाने पर होना चाहिए। 

महिलाओं के लिए शारीरिक मापदंड

ऊंचाई- 

  • वे महिलाएं जो जनरल और ओबीसी की कैटेगरी में आती हैं उनकी ऊंचाई कम से कम 157 सेंटीमीटर होनी चाहिए। 
  • एससी और एसटी महिला आवेदकों की कम से कम ऊंचाई 152 सेंटीमीटर होनी चाहिए।
  • इसके अलावा यदि कोई महिला पहाड़ी क्षेत्र की निवासी है जैसे कुमाऊं, मराठा गोरखा, गढ़वाली आदि है और ऐसी महिलाएं जो मणिपुर, हिमाचल प्रदेश, मेघालय, सिक्किम, असम, मिजोरम, जम्मू और कश्मीर, कश्मीर आदि राज्यों से आती है तो उनकी ऊंचाई कम से कम 155 सेंटीमीटर होनी चाहिए। 

आरपीएफ में भर्ती होने के लिए परीक्षा

आरपीएफ में भर्ती होने के लिए अभ्यर्थी को जो परीक्षाएं देनी होती हैं उनकी जानकारी यहां नीचे दी गई हैं-

कंप्यूटर बेस्ड एग्जामिनेशन (Computer Based Examination) – वह सभी अभ्यर्थी जिन्होंने सफलता पूर्वक अपना रजिस्ट्रेशन किया हो उनको सीबीई यानि कंप्यूटर बेस्ड एग्जामिनेशन के लिए बुलाया जाएगा। इस परीक्षा में कैंडिडेट से ऑब्जेक्टिव मल्टीपल चॉइस टाइप क्वेश्चन (objective multiple choice type question) करवाए जाएंगे। जानकारी के लिए बता दें कि इस प्रश्नपत्र के तीन भाग होंगे जिसके 120 प्रश्न करने के लिए दिए जाएंगे। यह तीनों सब्जेक्ट जनरल अवेयरनेस, अर्थमैटिक, जनरल इंटेलिजेंस एंड रीजनिंग के ऊपर आधारित होंगे। 

इस कंप्यूटर बेस्ट परीक्षा को पास करने के लिए आपको 90 मिनट का टाइम दिया जाएगा। 

शारीरिक मापन परीक्षण– वे सभी अभ्यर्थी जो कंप्यूटर बेस्ट ऑनलाइन परीक्षा को पास कर लेते हैं उनको फिजिकल मेजरमेंट टेस्ट के लिए बुलाया जाता है। इस प्रक्रिया में अभ्यर्थियों की छटाई होती है। वह सभी अभ्यर्थी जो फिजिकल मेजरमेंट टेस्ट को पास नहीं कर पाते उनको अयोग्य घोषित कर दिया जाता है। 

  • पीएमटी परीक्षा में अभ्यर्थियों को लगभग 1600-1800 की दौड़ के लिए सिर्फ एक बार ही अवसर दिया जाता है। इसके अलावा हाई जंप और लॉन्ग जंप के लिए दो-दो मौके दिए जाते हैं।
  • वह कैंडिडेट जो पूर्व सैनिक है उनको इस परीक्षा में भाग लेने की जरूरत नहीं होती जबकि उन्हें फिजिकल एबिलिटी मेजरमेंट को पास करना होता है। 
  • वह सभी कैंडिडेट जिनकी ऊंचाई न्यूनतम मापदंडों के अनुसार नहीं होगी उन्हें आगे छाती के माप के लिए बुलाया नहीं जाता और उन्हें आरपीएफ पद के लिए रद्द कर दिया जाता है। 

शारीरिक दक्षता परीक्षा (Physical Efficiency Test) – टीईटी परीक्षा के माध्यम से यह देखा जाता है कि कैंडिडेट शारीरिक रूप से फिट है या नहीं। यहां आपको बता दें कि यदि किसी अभ्यर्थी ने कंप्यूटर बेस्ड एग्जाम पास कर लिया है और यदि वह फिजिकल टेस्ट में फेल हो जाता है तो उसको नौकरी नहीं मिल पाएगी।  

आरपीएफ की तैयारी के लिए संदर्भ पुस्तकें और अध्ययन सामग्री

  • रेलवे आरपीएफ आरपीएसएफ कांस्टेबल भर्ती परीक्षा बाय विद्या प्रकाशन (railway RPF RPSF Constable Bharti Pariksha by Vidya Prakashan) 
  • रेलवे आरपीएफ आरपीएसएफ कांस्टेबल प्रैक्टिस वर्कबुक बाय किरण पब्लिकेशन (railway RPF RPSF Constable Workbook by Kiran Publication)
  • रेलवे आरपीएफ आरपीएसएफ कांस्टेबल एंड एसआई प्रैक्टिस वर्क बुक बाय किरण पब्लिकेशन (Railway RPF RPSF constable and SI practice workbook by Kiran publication)
  • रेलवे कॉन्स्टेबल व सब इंस्पेक्टर भर्ती बाय भारती प्रकाशन (Railway Constable va Sub Inspector Bharti by Bharti Prakashan 
  • इसके अलावा विभिन्न प्रकार के एमसीक्यू प्रश्न उत्तर हल करना एवं पिछले वर्ष के प्रश्न पत्रों को सॉल्व करें। 

आरपीएफ परीक्षा की तैयारी के लिए कोचिंग सेंटर

  • स्पार्क अकैडमी हैदराबाद (Spark Academy Hyderabad)
  • श्री बालाजी कोचिंग दिल्ली (Shri Balaji coaching Delhi) 
  • अविजन इंस्टीट्यूट वेस्ट बंगाल (Avision Institute West Bengal)
  • आईबीटीएस अकेडमी चंडीगढ़ (IBTS Academy Chandigarh) 
  • चहल अकैडमी दिल्ली (Chahal Academy Delhi)
  • लक्ष्य इंस्टिट्यूट आंध्र प्रदेश (Lakshay Institute Andhra Pradesh)
  • पावर माइंड इंस्टीट्यूट जयपुर (Power Mind Institute Jaipur)

वेतनमान / आरपीएफ का वेतन कितनी होती है 

वह कैंडिडेट जो सफलतापूर्वक आरपीएफ की पोस्ट पर कार्यरत हो जाते हैं उनको सरकार की तरफ से वेतन के अलावा बहुत सारी अन्य प्रकार की सुविधाएं भी दी जाती हैं जैसे ट्रांसपोर्टेशन एलाउंस, हाउस रेंट, महंगाई भत्ता इत्यादि। इन सभी सुविधाओं के अलावा आरपीएफ कांस्टेबल का बेसिक वेतनमान 21,700 रुपए होता है जिसमें ग्रेड पे 2,000 है।

निष्कर्ष

हमें आशा है कि आपको इस आर्टिकल के द्वारा यह जानकारी मिल गई होगी कि आरपीएफ कैसे बन सकते हैं और आरपीएफ बनने के लिए कौन-कौन सी प्रवेश प्रक्रिया से होकर गुजरना पड़ता है। इस आर्टिकल में हमने आपको आरपीएफ से जुड़ी हुई सभी आवश्यक जानकारी देने की पूरी कोशिश की है लेकिन फिर भी यदि आपको किसी भी तरह की कोई परेशानी है या कोई सवाल आपने पूछना है तो आप हमें कमेंट करके अपना सवाल पूछ सकते हैं। साथ ही आप हमें यह भी बता सकते हैं कि आपको हमारा यह आर्टिकल कैसा लगा और इस आर्टिकल को अपने दोस्तों और जानने वालों के साथ शेयर अवश्य करें। 

Deepak Kumar

दीपक कुमार After12th.net के लेखक और संस्थापक हैं। वह छात्रों को उनकी धारा तय करने और उद्योग में पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी प्रदान करने में मदद करता है। वह उन्हें नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने में मदद करता है। उनका उद्देश्य देश में अधिकतम छात्रों के लिए वैध और उपयोगी जानकारी साझा करना है।

Leave a Reply