पॉलिटेक्निक क्या है Polytechnic Course कैसे करें पूरी जानकारी

पॉलिटेक्निक: हर इंसान के मन में यह विचार होता है कि अपनी 10 वीं या 12 वीं शिक्षा पूरी करने के बाद उसे क्या करना है हालांकि बहुत से छात्र ऐसे होते हैं जो आगे पढ़ाई करना चाहते हैं और बहुत से छात्र उनमें से ऐसे भी होते हैं जो कोई टेक्निकल कोर्स करना चाहते हैं। एक कामयाब इंसान बनने के लिए पॉलिटेक्निक बहुत ही अच्छा ऑप्शन है। पॉलिटेक्निक एक डिप्लोमा कोर्स है इसके अंदर बहुत ज्यादा आगे बढ़ने के और सफलता हासिल करने के अवसर मिलते हैं।

अपनी स्कूल की शिक्षा पूरी करने के बाद आप पॉलिटेक्निक कोर्स उसी विषय में कर सकते हैं जिसमें आप को सबसे अधिक दिलचस्पी हो। लेकिन यहां आपको हम यह बता दें कि पॉलिटेक्निक में प्रवेश लेना इतना आसान भी नहीं है। इस कोर्स में प्रवेश लेने के लिए आपको प्रवेश प्रक्रिया से होकर गुजरना होगा और उसको पास करने के लिए आपके अंदर योग्यता भी होनी चाहिए।आज के इस आर्टिकल में हम आपको पॉलिटेक्निक कोर्स से जुड़ी हुई सारी जरूरी जानकारी देंगे जिसमें हम आपको बताएंगे कि यह कोर्स क्या है और इसमें आप कैसे प्रवेश ले सकते हैं।

पॉलिटेक्निक कोर्स

Contents

पॉलिटेक्निक कोर्स क्या है (What is Polytechnic Course in Hindi)

पॉलिटेक्निक कोर्स एक डिप्लोमा कोर्स है जो कि दसवीं और बारहवीं कक्षा को पास करने के बाद किया जा सकता है। यहां आपको यह भी बता दें कि इस तरह आप उसी विषय में पढ़ाई कर सकते हैं जिसके अंदर आपकी रूचि हो।साथ ही आपको हम यह भी बता दें कि पॉलिटेक्निक कोर्स में आप 2 से 3 साल तक का डिप्लोमा कोर्स कर सकते हैंजोकि निर्भर होता है कि आपको कोर्स 10वीं के बाद करना है या 12वीं कक्षा के बाद।हालांकि यदि आप चाहें तो आप पॉलिटेक्निक कोर्स को करने के बाद बीटेक के सेकंड ईयर में भी अपना एडमिशन ले सकते हैं।

पॉलिटेक्निक कोर्स का वर्तमान परिदृश्य क्या है

इस कोर्स में अभी उम्मीदवार प्रवेश लेते हैं जिन्होंने 10वीं और 12वीं कक्षा पास कर लीहो।इस कोर्स को कोई भी छात्रअपनी रूचि के विषय को प्रैक्टिकल तरीके से सीख सकता है।इस तरह यह कोर्स पूरा करने के बाद किसी भी सरकारी या फिर गैर सरकारीविभाग में नौकरी के लिए आवेदन किया जा सकता है।वर्तमान समय में पॉलिटेक्निक कोर्स में छात्रों को अपनी ओर काफी आकर्षित किया है क्योंकि 2 या 3 वर्षीय डिप्लोमा कोर्स करने के बाद उनको अच्छे रोजगार के अवसर मिल जाते हैं।

पॉलिटेक्निक कोर्स के लिए प्रवेश परीक्षा

कक्षा दसवीं के बादप्रवेश परीक्षा-

दसवीं कक्षा पास करने के बाद यदि आप पॉलिटेक्निक कोर्स में एडमिशन लेना चाहते हैं तो यहां आपको हम बता दें कि इसके लिए आपको डिप्लोमा एंटरेंस टेस्ट(Diploma Entrance Test) परीक्षा को पास करना होगा।यहां आपको जानकारी दे दें कि इस परीक्षा के अंदर यदि आपके अच्छे अंक आते हैं तो आप किसी भी सरकारी संस्थान में बहुत आसानी के साथ पॉलिटेक्निक डिप्लोमा कोर्स के लिए दाखिला ले सकते हैं।इसके अलावा बता दें कि दसवीं कक्षा के बाद पॉलिटेक्निक कोर्स डिप्लोमा 3 साल का होता है।

कक्षा बारहवीं के बाद प्रवेश परीक्षा

बारहवीं कक्षा के बाद पॉलिटेक्निक कोर्स करने के लिए आपको सरकारी पॉलिटेक्निक कॉलेज में प्रवेश लेने के लिए कॉमन एंटरेंस टेस्ट (Common Entrance Test) परीक्षा को पास करना होगा।लेकिन यहां आपको हम बता दें कि बारहवीं कक्षा के बाद यदि आप पॉलिटेक्निक डिप्लोमा कोर्स करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको कक्षा 12वीं में गणित, केमिस्ट्री और फिजिक्स जैसे विषय पढ़ने होंगे।इस तरह से आप 12वीं के बादपॉलिटेक्निक डिप्लोमा कोर्स कर सकते हैं जोकि 2 साल का होता है।

पॉलिटेक्निक कोर्स के लिए प्रवेश प्रक्रिया क्या है

अगर आप किसी सरकारी पॉलिटेक्निक संस्थान सेयहकोर्स करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको प्रवेश परीक्षा देनी होगी।इसके साथ-साथ हम आपको यह भी बता दें कियदि आप किसी सरकारी संस्थान में प्रवेश परीक्षा पास नहीं कर सके या फिर आपके 10वीं या 12वीं कक्षा में अच्छे अंक नहीं आए हैं तो ऐसे में आप किसी प्राइवेट संस्थान में दाखिला ले सकते हैं।इसके अलावा यह भी जान लें कि अच्छे पॉलिटेक्निक कॉलेज में प्रवेश लेने के लिए आपको प्रवेश प्रक्रिया में रैंक लाना होगा ।

पॉलिटेक्निक कोर्स के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए

इस कोर्समें एडमिशन लेने के लिएआवेदक के पास उपयुक्त योग्यता होनी चाहिए।हालांकि इस कोर्स के लिए योग्यता बहुत अधिक नहीं मांगी गई हैलेकिन जो योग्यता निर्धारित की गई है वही उम्मीदवार इस कोर्स को कर सकेंगे।पॉलिटेक्निक कोर्स करने के लिए योग्यता इस प्रकारहै-

  • किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से कक्षा 10वीं या 12वीं पास होना
  • यदि बारहवीं कक्षा के बाद प्रवेश लेना है तो इसके लिए 12वीं में और मैथमेटिक्स जैसे विषय होने चाहिए।

पॉलिटेक्निक कोर्स की फीस कितनी है

अगर आपने अपना एडमिशन किसी सरकारी पॉलिटेक्निक कॉलेज में लिया है तो इसके लिए आपको बता दें कि आपको बहुत ही कम फीस देनी होगी जो कि लगभग 2,000 रुपए से लेकर 5,000रुपएतक हर साल देनीहोगी।हालांकिप्राइवेट पॉलिटेक्निक कॉलेजों मेंअधिक फीस ली जाती है लेकिनयहां आप यह भी जान लीजिए कि हर कॉलेज की फीस प्रक्रिया अलग-अलग होती है।अगरहम अनुमान लगाएं तो यह फीस लगभग 10 हजार से लेकर 30 हजाररुपए तक के बीच में हो सकतीहैहालांकिआपको फीस के बारे में ठीक जानकारी उस संस्थान से कांटेक्ट करने पर ही मिलेगी जहां से आपको कोर्स करनाहै।

भारत में पॉलिटेक्निक कोर्स करने के लिए कॉलेज

भारत में बहुत सारे पॉलिटेक्निक कॉलेजजहां से आप अपना पॉलिटेक्निक डिप्लोमा कोर्स पूरा कर सकते हैं निम्नलिखित हम आपको कुछ कॉलेज के नाम बता रहे हैं जो कि पॉलिटेक्निक कोर्स में डिप्लोमा करवाते हैं।इन कॉलेजो के नाम इस प्रकारसेहैं-

  • इंजीनियरिंग कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग पुणे
  • गुरु नानक देव इंजीनियरिंग कॉलेज लुधियाना
  • दिल्ली टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी दिल्ली
  • गुरु गोबिंद सिंह आईपी यूनिवर्सिटी दिल्ली
  • डीएवी इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग और टेक्नोलॉजी जालंधर
  • एमिटी स्कूल ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी नोएडा
  • पंजाबटेक्निकल यूनिवर्सिटी जालंधर
  • चंडीगढ़समूह कॉलेज चंडीगढ़
  • थापर इंस्टीट्यूट आफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी पटियाला
  • नेताजी सुभाष इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी दिल्ली
  • पंजाबी यूनिवर्सिटी पटियाला
  • चित्रकारा यूनिवर्सिटी चंडीगढ़
  • एसबीएस कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी फिरोजपुर

पॉलिटेक्निक कोर्स का पाठ्यक्रम/ सब्जेक्ट्स क्या-क्या है

वैसे तो पॉलिटेक्निक एक बहुत बड़ी फील्ड है जिस में भिन्न-भिन्न प्रकार के कोर्स हर इंसान को उसके इंटरेस्ट के हिसाब से करने के लिए मिल जाते हैं।पॉलिटेक्निककोर्स का पाठ्यक्रम इस प्रकार से है –

  • डिप्लोमा इन मैकेनिकलइंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा इन इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा इन सिविल इंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा इन केमिकल इंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा इन कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा इन आईटी इंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा इनआईसी इंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा इन ईसी इंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा इन इलेक्ट्रॉनिक्सइंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा इन इलेक्ट्रॉनिक्स एंड टेलीकम्युनिकेशन इंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा इन पैट्रोलियमइंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा इनएयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा इन एयरोस्पेस इंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा इन ऑटोमोबाइलइंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा इन बायोटेक्नोलॉजी इंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा इन जेनेटिक इंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा इन प्लास्टिक इंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा इन फूड प्रोसेसिंग एंड टेक्नोलॉजी
  • डिप्लोमा इन एग्रीकल्चरलइंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा इन डेरी टेक्नोलॉजी एंड इंजीनियरिंग
  • एग्रीकल्चरल इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी
  • डिप्लोमा इन पावर इंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा इन प्रोडक्शन इंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा इन इन्फ्राट्रक्चर इंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा इन मोटर स्पोर्ट इंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा इन टैक्सटाइल इंजीनियरिंग
  • डिप्लोमा इन एनवायरमेंटल इंजीनियरिंग

पॉलिटेक्निक कोर्स के बाद कैरियर संभावनाएँ क्या है

जो भी कैंडिडेट पॉलिटेक्निक डिप्लोमा कोर्स पूरा कर लेता है उसको बहुत आसानी से सरकारी और प्राइवेट सेक्टर में नौकरियां मिल जाती हैं।ऐसे बहुत सारे सरकारी विभाग हैंजो पॉलिटेक्निक डिप्लोमा कोर्स वाले उम्मीदवारों को प्राथमिकता देते हैं।यहां आपको हम यह भी बता दें कि ऐसे छात्रजो आर्थिक समस्या से जूझ रहे हैं उनके लिए यह कोर्स बहुत ही उत्तम है क्योंकि यह उनको आत्मनिर्भर बनाता है।

पॉलिटेक्निक कोर्स के बाद वेतन कितनी मिलती है

पॉलिटेक्निकल कोर्स कोर्स को करने के बाद किसी भी डिप्लोमा होल्डर को 15,000 से लेकर 20,000रुपएतककीनौकरी मिल जाती है।अगर आप मेहनत और लगन से अपना काम करते रहेंगे तो जल्दी ही आप तरक्की भी करसकते हैं।

पॉलिटेक्निक कोर्स के बाद प्राइवेट सेक्टर में जॉब्स

पॉलिटेक्निक कोर्स करने के बाद प्राइवेट सेक्टर में भी आपको बहुतप्रकार की नौकरी करने के मौके मिलेंगे।ऐसी बहुत सारी प्राइवेट कंपनियां है जो पॉलिटेक्निक डिप्लोमा धारकों को अपनी कंपनी में नौकरी देती है।कोई भी पॉलिटेक्निक डिप्लोमा धारक बहुत सारी प्राइवेट कंपनियोंजैसे- संचार फर्म, एयरलाइंस, निर्माण फर्म, ऑटोमोबाइल, इलेक्ट्रिकल, मैकेनिकल, इंजीनियरिंग फर्म आदि में काम कर सकता है।

मैकेनिकल इंजीनियरिंग फर्म: वोल्टास,थर्मैक्स,थाइसेनकृप, लार्सन एंड टुब्रो,गोदरेज ग्रुप, हिंदुस्तान यूनिलीवर, एसीसी लिमिटेड आदि

कंप्यूटर इंजीनियरिंग फर्म: विप्रो, पोलारिस, टेक महिंद्रा, एचसीएल, टीसीएस, ,इंफोसिस, कॉग्निज़ेंट इत्यादि।

संचार फर्म: आइडिया सेल्युलर, भारती एयरटेल, रिलायंस कम्युनिकेशंस, BSNL,जियो आदि।

मोटर फर्म: बजाज ऑटो, टाटा मोटर्स, महिंद्रा, टोयोटा, मारुति सुजुकी, हीरो मोटोकॉर्प लि, अशोक लीलैंड लि आदि।

बिजली फर्म: सीमेंस, टाटा पावर, बीएसईएस, एलएंडटी,एबीबी इंडिया लि, भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लि, हैवेल्स इंडिया लि आदि।

एयरलाइंस: जेट एयरवेज, स्पाइसजेट, इंडिगो, गोएयर, एयरएशिया इंडिया, विस्तारा, एयर इंडिया एक्सप्रेस, आदि

निर्माण फर्मों: मितास, जीएमआर इंफ्रा, डीएलएफ, यूनिटेक, जेपी एसोसिएटेड, लार्सन एंड टर्बो ग्रुप, टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड, शापूरजी पलोनजी एंड कंपनी लिमिटेड, इरकॉन इंटरनेशनल एल.एम.टी. आदि।

पॉलिटेक्निक कोर्स के बाद गवर्नमेंट सेक्टर में जॉब्स

अगर आप पॉलिटेक्निक कोर्स करने के बाद किसी सरकारी क्षेत्र में नौकरी करना चाहते हैं तो आपको जानकारी दे दें कि ऐसी बहुत सारीसरकारी कंपनियों है जहां पर आप जूनियर लेवल पोजीशन और तकनीशियन स्तर की नौकरियां कर सकते हैं।इसके अलावा रेलवे, भारतीय सेना, लोक कार्य विभाग, भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड, भारत संचार निगम लिमिटेड, गैस अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड, तेल और प्राकृतिक गैस निगम, इंडियन पेट्रो केमिकल्स लिमिटेड, रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन, इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट एजेंसियां, सिंचाई विभाग, सार्वजनिक कार्य विभाग, राष्ट्रीय नमूना सर्वेक्षण संगठन इत्यादि कंपनियों में भी आप काम कर सकते हैं ।

निष्कर्ष

तो दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हमने आपकोपॉलिटेक्निक कोर्स से संबंधित सभी आवश्यक जानकारी दी है।अगर आप इंजीनियर बनना चाहते हैं तो आप अपनी स्कूल की पढ़ाई के बाद यहां पर प्रवेश लेकर अपने सपने को पूरा कर सकते हैं।आज के इस आर्टिकल में हमने पॉलिटेक्निक कोर्स के बारे में सारी ज़रूरी जानकारी आपकोदे दी है ताकि आपको किसी भी प्रकार की कोई समस्या या कन्फ्यूजन न रहे।हमेंपूरी उम्मीद है कि आज का यह आर्टिकल आपके लिए जरूर सहायक रहेगा। इस आर्टिकल को अपने दोस्तों और जानने वाले लोगों के साथ शेयर करें।

Deepak Kumar

दीपक कुमार After12th.net के लेखक और संस्थापक हैं। वह छात्रों को उनकी धारा तय करने और उद्योग में पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी प्रदान करने में मदद करता है। वह उन्हें नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने में मदद करता है। उनका उद्देश्य देश में अधिकतम छात्रों के लिए वैध और उपयोगी जानकारी साझा करना है।

Leave a Reply