पुलिस कांस्टेबल (Police Constable) कैसे बने

आज की युवा पीढ़ी में ऐसे बहुत सारे लोग हैं जो पुलिस कांस्टेबल की जॉब करना चाहते हैं। ‌ ऐसा करके वे सरकार के साथ भी जुड़ जाते हैं और अपने देश के प्रति अपना कर्तव्य भी निभाते हैं। हमारे देश भारत में हर साल पुलिस कॉन्स्टेबल के लिए बहुत सारी वैकेंसी निकलती है जिन पर कोई भी उम्मीदवार आवेदन कर सकता है। लेकिन सबसे बड़ी मुश्किल की बात यह है कि कांस्टेबल बनने के लिए चयन परीक्षा रखी गई है इसलिए जो कैंडिडेट इस चयन परीक्षा को पास कर लेते हैं उन्हें ही पुलिस कांस्टेबल के पद पर नौकरी मिलती है। 

लेकिन बहुत सारे कैंडिडेट ऐसे भी होते हैं जिन्हें पुलिस कांस्टेबल बनने के लिए दी जाने वाली परीक्षा के बारे में बिल्कुल भी पता नहीं होता और ना ही उन्हें यह पता होता है कि इस परीक्षा की तैयारी कैसे की जाए। अगर उन्हें सफल होना है तो उन्हें आवश्यकता है एक सही मार्गदर्शन की तो इसीलिए हमारी कोशिश है कि आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको पुलिस कांस्टेबल बनने की सारी जानकारी दें। इसलिए इस आर्टिकल को आप पूरा पढ़े ताकि आपको सभी प्रकार की जानकारी प्राप्त हो जाए।

पुलिस कांस्टेबल

पुलिस कांस्टेबल क्या है (What is Police Constable In Hindi)

पुलिस डिपार्टमेंट में सबसे निम्नतम रैंक कॉन्स्टेबल का होता है। पुलिस कांस्टेबल का मुख्य कार्य सभी प्रकार की अपराधिक गतिविधियों पर नजर रखना और उनकी रोकथाम करना होता है। जिस जगह पर उसकी ड्यूटी होती है उस क्षेत्र में पुलिस कॉन्स्टेबल सुरक्षा बनाए रखने में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसके अलावा उसका यह कर्तव्य भी होता है कि वह सभी पुलिस अधिकारियों के सभी संवैधानिक निर्देशों का पालन करे। अपने इलाके के लोगों की जान और माल की हिफाजत एक पुलिस कॉन्स्टेबल ही करता है। 

यदि कोई उम्मीदवार पुलिस में भर्ती होना चाहता है तो वह 10वीं या 12वीं कक्षा के बाद पुलिस कॉन्स्टेबल की परीक्षा देकर इस क्षेत्र में नौकरी कर सकता है। लेकिन एक बात का ध्यान रखना है कि इस क्षेत्र में आपको यदि नौकरी करनी है तो इसके लिए आपका शारीरिक रूप से और मानसिक रूप से स्वस्थ होना भी अत्यंत अनिवार्य है। इसीलिए हर साल लाखों लोग परीक्षा देते हैं लेकिन कुछ हजार लोग ही अपने कॉन्स्टेबल बनने के सपने को पूरा कर पाते हैं क्योंकि कुछ कैंडिडेट शारीरिक परीक्षा में फेल हो जाते हैं जिसके कारण उन्हें पुलिस कांस्टेबल बनने की प्रक्रिया से अलग कर दिया जाता है। 

पुलिस कांस्टेबल भर्तियां

पुलिस विभाग सभी युवाओं को स्वयं से जुड़ने का शानदार मौका देती है जिसके अंतर्गत हर साल दिल्ली पुलिस कॉन्स्टेबल के पदों के लिए भर्तियां निकालती है। इन पदों पर महिला और पुरुष दोनों ही आवेदन कर सकते हैं। लेकिन यदि आप पुलिस कांस्टेबल बनने के लिए आवेदन करना चाहते हैं सबसे पहले यह सुनिश्चित कर लीजिए कि आप इस पद के लिए उम्मीदवार हैं या नहीं। इसका यह मतलब है कि आप यह देख लें कि इस पद पर कार्य करने के लिए जो योग्यताएं मांगी गई है वह आपके अंदर हैं या नहीं। 

पुलिस कांस्टेबल बनने के लिए शिक्षा योग्यता (Police Constable Education Requirements)

  • पुलिस कांस्टेबल बनने के लिए कैंडिडेट को किसी भी विषय से 12वीं कक्षा पास होना चाहिए।‌ 

पुलिस कांस्टेबल बनाने के लिए शारीरिक आवश्यकताएं

पुलिस कांस्टेबल बनने के लिए केवल शिक्षा योग्यता ही काफी नहीं है इसके लिए कुछ शारीरिक योग्यताएं भी रखी गई है। अगर कोई उम्मीदवार पुलिस कांस्टेबल बनना चाहता है तो निम्नलिखित शारीरिक आवश्यकताएं हम बता रहे हैं जो महिला और पुरुष दोनों के लिए भिन्न-भिन्न है-

पुरुष  

  • लंबाई-  सामान्य वर्ग, ओबीसी और अनुसूचित कैटेगरी के उम्मीदवारों की लंबाई 168 सेंटीमीटर होनी चाहिए।
  • अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवारों की ऊंचाई 160 सेंटीमीटर होना अनिवार्य है। 
  • छाती का माप- सामान्य वर्ग के उम्मीदवार की छाती बिना फुलाए 83 सेंटीमीटर होनी चाहिए और फुलाकर 87 सेंटीमीटर होनी चाहिए। 
  • सभी आरक्षित श्रेणियों के लिए छाती काम माप बिना फुलाए 81 सेंटीमीटर होना चाहिए और फुलाकर 85 सेंटीमीटर होना अनिवार्य है। 

महिला

  • सामान्य वर्ग की महिलाओं की लंबाई 160 सेंटीमीटर होनी चाहिए। 
  • सभी महिला उम्मीदवार जो ओबीसी, एससी और एसटी की कैटेगरी में आती है उनकी लंबाई 157 सेंटीमीटर होनी चाहिए। 

आयु सीमा 

  • उम्मीदवार की न्यूनतम आयु 18 साल और अधिकतम आयु 25 साल होनी चाहिए।
  • ओबीसी वर्ग के उम्मीदवारों को आयु सीमा में 3 साल की छूट दी गई है। 
  • एससी और एसटी कैटेगरी के उम्मीदवारों को आयु सीमा में 5 साल की छूट दी गई है। 

पुलिस कांस्टेबल बनने के लिए परीक्षाएं

पुलिस कांस्टेबल बनने के लिए आपको निम्नलिखित चयन परीक्षा में सफलता हासिल करनी होगी तभी आप पुलिस विभाग में कॉन्स्टेबल बन सकते हैं। इसके लिए जो परीक्षाएं रखी गई हैं उनकी जानकारी इस प्रकार से है-

लिखित परीक्षा 

सभी उम्मीदवार जो पुलिस कांस्टेबल बनना चाहते हैं उनको सबसे पहले एक लिखित परीक्षा को पास करना होगा। लिखित परीक्षा में 75 अंकों का प्रश्नपत्र आएगा जिसमें ऑब्जेक्टिव टाइप के प्रश्न होंगे। इस परीक्षा में अभ्यर्थियों को 150 प्रश्न करने होते हैं जिसके लिए 2 घंटे का समय दिया जाता है। हर सही उत्तर के लिए ½ अंक मिलता है और यदि किसी प्रश्न का उत्तर गलत होता है तो उसके लिए 75% अंक काट लिया जाता है। यहां आपकी जानकारी के लिए यह भी बता दें कि यह परीक्षा ओएमआर शीट (OMR Sheet)  पर ऑफलाइन होती है। 

साथ ही यहां इस बात को भी जान लीजिए कि इस चयन परीक्षा के अंतर्गत उम्मीदवार से सामान्य ज्ञान, सामाजिक विज्ञान, सामान्य विज्ञान, भूगोल राजनीति, आर्थिक स्थिति, संस्कृति एवं कला और महिलाओं तथा बच्चों से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। 

फिजिकल एफिशिएंसी टेस्ट- पीईटी (Physical Efficiency Test-PET)

जो कैंडिडेट लिखित परीक्षा में सफल हो जाते हैं उन्हें फिजिकल एफिशिएंसी टेस्ट परीक्षा के लिए बुलाया जाता है। इस परीक्षा के तहत उम्मीदवार की शारीरिक दक्षता को जांचा जाता है। इस परीक्षा में महिला पुरुष दोनों के लिए ही अलग-अलग मापदंड रखे गए हैं जिसकी जानकारी नीचे दी गई है- 

पुरुष

  • दौड़- सभी पुरुष उम्मीदवारों को 5 किलोमीटर की दौड़ को 25 मिनट के अंदर पूरा करना होता है। इसके लिए 15 अंक रखे गए हैं। 

महिला

  • सभी महिला उम्मीदवारों को 5 किलोमीटर की दौड़ को पूरा करने के लिए 35 मिनट दिए जाते हैं। अगर वह सफलता पूर्वक इस दौड़ को पूरा करती है तो उन्हें 15 अंक दिए जाएंगे। 

फिजिकल स्टैंडर्ड टेस्ट-पीएसटी (Physical Standard Test-PST)

जो कैंडिडेट शारीरिक दक्षता की परीक्षा को पास कर लेते हैं उन्हें सिर्फ शारीरिक माप तोल परीक्षा के लिए आमंत्रित किया जाता है। इस परीक्षा में उनका शारीरिक माप तोल होता है जैसे उनकी ऊंचाई, छाती का माप इत्यादि। जो अभ्यर्थी इन सभी कसौटियों पर  पूरा उतरते हैं उन्हें कॉन्स्टेबल पद के लिए भर्ती कर लिया जाता है। 

मेडिकल 

मेडिकल परीक्षा का मुख्य कारण सभी उम्मीदवारों की स्वास्थ्य की जानकारी प्राप्त करना होता है। इस परीक्षा में कैंडिडेट की आंख, कान और शरीर के दूसरे अन्य हिस्सों को बारीकी से जांचा जाता है और यह पता लगाने की कोशिश की जाती है कि उम्मीदवार को किसी प्रकार का कोई रोग तो नहीं है। इसके अलावा कैंडिडेट की आंखें भी बिल्कुल ठीक होनी चाहिए और आंखों में कोई नंबर नहीं होना चाहिए जो कि 6/6 दोनों आंखों की दृष्टि होनी अनिवार्य है। यहां इस बात का भी ध्यान रखना कि इस मेडिकल परीक्षा में अगर कोई कैंडिडेट फेल हो जाता है तो उसे पुलिस कांस्टेबल की चयन परीक्षा से निकाल दिया जाता है। 

साक्षात्कार 

जो उम्मीदवार पुलिस कॉन्स्टेबल की उपरोक्त सभी परीक्षाओं में पास हो जाते हैं उन्हें फिर व्यक्तिगत रूप से परखने के लिए साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है। इसमें कैंडिडेट से विभिन्न प्रकार के सामाजिक और देश विदेश मैं घट रही घटनाओं पर आधारित सवाल जवाब किए जाते हैं। यहां पर आपको इस बात का ध्यान रखना है कि आप हर सवाल का जवाब बिल्कुल ठीक दें और यदि आपको किसी प्रश्न का जवाब नहीं पता है तो उसका उत्तर जल्दबाजी में गलत नहीं दें। अगर उम्मीदवार का साक्षात्कार भी ठीक तरह से हो जाता है तो फिर वह पुलिस कॉन्स्टेबल के पद पर नौकरी करने के लिए योग्य समझा जाता है। 

पुलिस कांस्टेबल के कार्य

  • अपने क्षेत्र के बीट्स (Beats), पेट्रोल्स (Patrols) और पिकेट्स (Pickets)  में ड्यूटी करने के साथ-साथ संभावित अपराधियों पर नजर बनाए रखना एवं उनकी निगरानी करना। 
  • असामाजिक तत्वों जैसे आतंकवादियों, अपराधियों इत्यादि से संबंधित अनिवार्य सूचना जमा करना और उसे अपने प्राधिकृत अधिकारी को पहुंचाना। 
  • सभी समितियों, संगठनों एवं स्थानीय नागरिकों के बारे में पूरी जानकारी रखना और उनके साथ सौहार्दपूर्ण संबंध रखना। 
  • यदि क्षेत्र में कोई असामाजिक घटना घटती है तो उस घटना से जुड़े व्यक्तियों के बारे में जानकारी एकत्रित करना।
  • सांप्रदायिक झगड़ों, स्थानीय विवादों के साथ-साथ जातिगत विवादों के बारे में जानकारी रखना और सजग रहना  तथा इनके बारे में सारी जानकारी एसएचओ को देना। 
  • किसी भी मामले में जांच अधिकारी की सहायता करना जैसे किसी अपराधी की गिरफ्तारी, गवाहों को ढूंढना, किसी व्यक्ति की पहचान और सुरक्षा इत्यादि। ‌
  • यदि किसी व्यक्ति की गिरफ्तारी के लिए वारंट निकलता है तो उस व्यक्ति को तुरंत हिरासत में लेना।
  • किसी झगड़े या दंगे में घायल और मृत व्यक्तियों को अस्पताल तक लेकर जाना।
  • यदि कोई कैदी हिरासत में है तो उसे पुलिस स्टेशन तक सुरक्षित पहुंचाना। 
  • इसके साथसाथ यदि उसे फोटोग्राफी, कार्टोग्राफी, डाटा एंट्री ऑपरेटर जैसे कार्यों की जानकारी है तो इन पर काम करना। 

पुलिस कांस्टेबल को वेतन कितनी मिलती है

एक पुलिस कांस्टेबल को हर महीने बेसिक सैलेरी 5,200 रुपए से लेकर 20,190 तक मिलती है जिसमें 1,900 रुपए की ग्रेड पे भी होती है। इसके अलावा उसको हाउस रेंट अलाउंस, ट्रांसपोर्ट एलाउंस, डियरनेस एलाउंस इत्यादि भत्ते भी दिए जाते हैं। इस प्रकार एक पुलिस कांस्टेबल को प्रतिमा लगभग 24,000 रुपए का वेतन मिलता है। 

निष्कर्ष 

दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिकल पुलिस कांस्टेबल कैसे बनें। इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको बताया कि कैसे आप अपना पुलिस कॉन्स्टेबल बनने का सपना पूरा कर सकते हैं। इस आर्टिकल के जरिये हमने आपको यह जानकारी भी दी कि पुलिस कांस्टेबल बनने के लिए आपके अंदर क्या क्या योग्यताएं होनी चाहिए एवं हमने आपको इससे संबंधित परीक्षाओं के बारे में भी विस्तार पूर्वक जानकारी दी है। 

हमें पूरी उम्मीद है कि यह आर्टिकल आपके लिए अत्यधिक सहायक रहेगा इसलिए हमारी आप से रिक्वेस्ट है कि इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें ताकि यदि उन्हें भी पुलिस कॉन्स्टेबल बनना हो तो उन्हें भी सारी अनिवार्य जानकारी प्राप्त हो जाए। 

Deepak Kumar

दीपक कुमार After12th.net के लेखक और संस्थापक हैं। वह छात्रों को उनकी धारा तय करने और उद्योग में पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी प्रदान करने में मदद करता है। वह उन्हें नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने में मदद करता है। उनका उद्देश्य देश में अधिकतम छात्रों के लिए वैध और उपयोगी जानकारी साझा करना है।

Leave a Reply