पाइपिंग इंजीनियर कोर्स (Piping Engineer Course) कैसे करें?

दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे पाइपिंग इंजीनियर कोर्स (Piping Engineer Course) कैसे करें? आज के युवाओं में क्रिएटिविटी, इमैजिनेशन और डिजाइनिंग का कौशल बहुत ज्यादा है जिसकी वजह से वह कोई ऐसा कोर्स करना चाहते हैं जहां पर वह अपनी रूचि के अनुसार अपना कैरियर बना सकें। ऐसे युवाओं के लिए पाइपिंग इंजीनियरिंग एक बहुत ही बेहतरीन कैरियर विकल्प हो सकता है। ‌

अगर आप एक पाइपिंग इंजीनियर बनना चाहते हैं तो हमारे इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें क्योंकि आज के इस पोस्ट में हम आपको बताएंगे कि किस प्रकार से आप एक पाइपिंग इंजीनियर बन सकते हैं। इस लेख में हम आपको सारी अनिवार्य जानकारी देंगे जैसे कि पाइपिंग इंजीनियर बनने के लिए योग्यता, फीस, पाठ्यक्रम, कैरियर ऑप्शन इत्यादि। 

पाइपिंग इंजीनियर कोर्स

पाइपिंग इंजीनियर क्या है? (What is  piping engineer in Hindi)

यहां सबसे पहले आपको बता दें कि एक पाइपिंग इंजीनियर किसे कहते हैं क्योंकि ऐसे बहुत सारे छात्र हैं जिन्हें यह नहीं पता है कि पाइपिंग इंजीनियर होता क्या है तो जानकारी दे दें कि पाइपिंग इंजीनियर वह होता है जो तरल पदार्थों जैसे गैस और पानी को एक स्थान से दूसरे स्थान तक ले जाने के लिए पाइप बनाता है। पाइपिंग इंजीनियर अधिकतर कंस्ट्रक्शन साइटों पर काम करते हैं और वहां पर वह बिल्डिंग या भवन इत्यादि के पाइपिंग प्रणाली को डिजाइन करते हैं। 

यहां जानकारी के लिए बता दें कि एक पाइपिंग इंजीनियर औद्योगिक परियोजनाओं को पूरा करने के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। साथ ही यह भी बता दें कि इस कोर्स की अवधि हर संस्थान में अलग-अलग है जहां पर यह कोर्स 3 माह या फिर 6 माह की अवधि का कराया जाता है। 

पाइपिंग इंजीनियर कोर्स के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए? (piping engineer  course eligibility)

पाइपिंग इंजीनियर कोर्स करने के लिए उम्मीदवार में निम्नलिखित योग्यता होना आवश्यक है जो कि इस प्रकार से हैं- 

  • उम्मीदवार ने किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से बीटेक किया हो।
  • या फिर कैंडिडेट ने आईटीआई डिप्लोमा किया हो। 
  • उम्मीदवार को अंग्रेजी भाषा का ज्ञान होना चाहिए। 
  • कैंडिडेट में बहुत ज्यादा क्रिएटिविटी होनी चाहिए।

भारत में पाइपिंग इंजीनियर कोर्स संस्थान सूची (piping engineer course Institute in India) 

अगर आपने यह निर्णय ले लिया है कि आपको पाइपिंग इंजीनियर बनना है और इसी क्षेत्र में अपना भविष्य बनाना है तो इसके लिए आपको किसी अच्छे इंस्टीट्यूट से पाइपिंग इंजीनियर कोर्स करना होगा। निम्नलिखित हम कुछ ऐसे संस्थानों के नाम बता रहे हैं जो पाइपिंग इंजीनियर कोर्स की बहुत उत्कृष्ट ट्रेनिंग देते हैं उनके नाम इस प्रकार से हैं- 

  • विश्वकर्मा इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, पुणे (Vishkarma Institute of Technology , Pune)
  • इंजीनियरिंग डिजाइन एंड पावर ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट, दिल्ली (Engineering design and power training, Institute Delhi)
  • श्रद्धा टेक्निकल इंस्टीट्यूट मुंबई (Sharddha Technical Institute, Mumbai)
  • ऐएसटीएस ग्लोबल एजुकेशन-पाइपिंग एंड स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग इंस्टीट्यूट, चेन्नई   (ASTS global education –  piping and structural engineering Institute, Chennai)
  • एमईसीसीआई इंजिनियर्स प्राइवेट लिमिटेड नोएडा, नोएडा (MECCI Engineers Private Limited Noida, Noida)
  • पेट्रोकोन इंस्टीट्यूट ऑफ पाइप, फरीदाबाद (Petrocon Institute of pipe, Faridabad)
  • एनआईआईटी गुड़गांव सेक्टर 14 (NIIT Gurgaon sector 14)
  • अल्टीरियर सॉल्यूशन पाइपिंग इंजीनियर इंस्टीट्यूट कोलकाता (Ulterior solutions piping engineer Institute, Kolkata)
  • पुनिया ग्रुप ऑफ एजुकेशन जयपुर (Puniya group of education Jaipur)
  • आईपीईबीएस पाइपिंग इंजीनियरिंग इंस्टीट्यूट हैदराबाद (IPEBS piping engineering Institute, Hyderabad)

पाइपिंग इंजीनियर कोर्स पाठ्यक्रम (piping engineer course syllabus) 

अगर आपके मन में अब यह सवाल आ रहा है कि पाइपिंग इंजीनियर कोर्स के दौरान आपको संस्थान में क्या-क्या सिलेबस पढ़ाया जाएगा तो आपकी जानकारी के लिए बता दें कि piping engineering course के तहत आपको जो विषय पढ़ाए जाएंगे उनकी जानकारी निम्नलिखित है- 

  • इंट्रोडक्शन टू पाइपिंग इंजीनियरिंग (Introduction to piping engineering)
  • ऑल ऑफ ए पाइपिंग इंजीनियर इन वैरीयस फील्ड ऑफ इंडस्ट्री (Role of a piping engineer in various field of industry)
  • फंडामेंटल्स ऑफ पाइप, पाइप फिटिंग एंड पाइपिंग सिस्टम  (Fundamentals of pipe, pipe fitting and piping system) 
  • वैरीयस पाइपिंग सिस्टम्स (Various piping systems)
  • प्रोसीजर ऑफ डिजाइनिंग सिस्टम (Procedure of designing system)
  • पाइपिंग मेथड्स (Piping methods)
  • मैटेरियल सिलेक्शन फॉर वैरीयस प्रोसेस सर्विसेज (Material selection for various process services)
  • पाइपिंग एलिमेंट्स (Piping elements)
  • पाइपिंग लेआउट (Piping layout)
  • इंडस्ट्रियल प्लॉट प्लान (Industrial plot plan)

फीस (fees) 

जो उम्मीदवार पाइपिंग इंजीनियर कोर्स करना चाहते हैं उनकी जानकारी के लिए बता दें कि इस कोर्स को करने के लिए उन्हें 50,000 रुपए से लेकर 1 लाख तक फीस का भुगतान करना पड़ सकता है। इसके साथ-साथ आपको यह भी बता दें कि हर संस्थान की फीस अलग-अलग होती है और इसलिए कैंडिडेट को सही फीस का अनुमान उस समय लगता है जब वह उस संस्थान में दाखिला लेने के लिए जाता है। 

वेतन(salary) 

यहां बता दें कि पाइपिंग इंजीनियर कोर्स करने के बाद कैंडिडेट इससे संबंधित छोटे या बड़े क्षेत्रों में काम कर सकता है जैसे कि कंस्ट्रक्शन, प्रोजेक्ट प्लानिंग, कॉस्ट ऐस्टीमेशन, डिजाइन रिसर्च एंड डेवलपमेंट इत्यादि। इस प्रकार piping engineer course करने के बाद कैंडिडेट को हर महीने 20,000 रुपए से लेकर 40,000 रुपए तक की वेतन मिल जाती है। अगर कैंडिडेट अपना काम पूरी क्रिएटिविटी और लगन के साथ करता है तो अनुभव होने के बाद और भी अधिक वेतन पा सकता है। 

निष्कर्ष 

दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिकल जिसमें हमने आपको जानकारी दी कि पाइपिंग इंजीनियर कोर्स (Piping Engineer Course) कैसे करें? इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको जानकारी दी कि आप किस प्रकार से पाइपिंग इंजीनियर बन सकते हैं और इस क्षेत्र में अपना एक सफल कैरियर बना सकते हैं। 

इसके साथ-साथ हमने आपको यह भी बताया कि भारत के कौन से ऐसे संस्थान हैं जहां से आप पाइपिंग इंजीनियर कोर्स कर सकते हैं और हमने आपको यह भी बताया कि piping engineer course की फीस कितनी होती है। इसके अलावा इस पोस्ट में हमने आपको यह जानकारी भी दी कि पाइपिंग इंजीनियर बनने के बाद आप हर माह कितने रुपए तक का वेतनमान पा सकते हैं और पाइपिंग इंजीनियर कोर्स से जुड़ी हुई अन्य दूसरी महत्वपूर्ण बातों की जानकारी भी हमने आपको दे दी है। हमें पूरी आशा है कि यह लेख आपको काफी पसंद आया होगा इसलिए हमारी आपसे यह रिक्वेस्ट है कि इसे दूसरों लोगों के साथ भी अवश्य शेयर करें। 

Leave a Reply