पेंटर (Painter) कैसे बनें?

नमस्कार! दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि Painter कैसे बनें? ऐसे बहुत सारे विद्यार्थी हैं जिन्हें अपने बचपन से ही पेंटिंग करने का शौक होता है और इसीलिए वह आगे जाकर अपना कैरियर पेंटर के रूप में बनाना चाहते हैं। लेकिन यहां आपको यह जानकारी दे दें कि एक प्रोफेशनल पेंटर के रूप में काम करने के लिए कैंडिडेट को चाहिए कि वह पूरे प्रोसेस को फॉलो करे ताकि उसके आर्ट को एक सही दिशा मिल सके और वह इस क्षेत्र में कामयाबी के साथ अपना कैरियर बना सके। इसलिए अगर आप भी चाहते हैं कि आप एक सफल पेंटर बनें तो हमारे आज के इस आर्टिकल को सारा पड़े क्योंकि हम इसके बारे में सारी इनफार्मेशन इस लेख में देने वाले हैं। इसीलिए सारी प्रक्रिया जानने के लिए  हमारे इस पोस्ट को सारा पढ़ें। 

पेंटर क्या होता है ( what is Painter in Hindi) 

सबसे पहले यहां आपको बता दें कि पेंटर एक ऐसा प्रोफेशनल आर्टिस्ट होता है जो पिक्चर्स बनाने के साथ-साथ उसमें रंग भरने का काम करता है। इसके अलावा विभिन्न तरह के सरफेस पर रंग करने का काम भी Painter का ही होता है ‌। घरों में और इंडस्ट्रियल जगहों पर भी पेंटिंग का काम पेंटर के द्वारा ही किया जाता है। किसी भी घर, ऑफिस, स्कूल, विद्यालय, कॉलेज, संस्थान इत्यादि को सजाने के लिए पेंटर रंग और वॉलपेपर का इस्तेमाल करते हैं। इस तरह कहा जा सकता है कि किसी भी जगह को खूबसूरत बनाने का काम काफी हद तक पेंटर के हाथ में होता है। एक पेंटर अपनी कला का इस्तेमाल करते हुए अनेकों प्रकार की पेंटिंग्स बनाने का काम करता है। इसलिए इस काम को वही व्यक्ति कर सकता है जो इस कला में पूरी तरह से निपुण हो। 

Also read: नुमिस्मैटिस्ट (Numismatist) कैसे बनें?

पेंटर बनने के लिए प्रक्रिया क्या है

जो कैंडिडेट पेंटर बनना चाहते हैं उन्हें यहां जानकारी के लिए बता दें कि सबसे पहले वह किसी भी विषय में अपनी 12वीं कक्षा की पढ़ाई पूरी करें और उसके बाद उसे चाहिए कि वह पेंटर बनने से संबंधित कोई डिप्लोमा या डिग्री कोर्स करें। अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद अगर छात्र चाहे तो पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स में भी दाखिला ले सकता है लेकिन अगर छात्र नौकरी करना चाहे तो वह पेंटर के रूप में ग्रेजुएशन के बाद भी काम कर सकता है। 

पेंटर बनने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए 

  • कैंडिडेट ने किसी भी मान्यता प्राप्त विद्यालय से पेंटिंग में बीए किया हो।
  • या फिर कैंडिडेट ने पेंटिंग में बीएफए में किया होना चाहिए।
  • या उम्मीदवार ने पेंटिंग में सर्टिफिकेट/ डिप्लोमा कोर्स किया हो। 
  • कैंडिडेट को रंगों की अच्छी जानकारी होनी चाहिए।
  • विभिन्न तरह के रंगों को मिक्स और मैच करना आना चाहिए। 
  • कम्युनिकेशन स्किल्स अच्छे होने आवश्यक हैं।

आयु सीमा 

  • इच्छुक उम्मीदवार की आयु कम से कम 20 वर्ष होनी चाहिए।
  • कैंडिडेट की अधिकतम आयु सीमा निर्धारित नहीं की गई है इसलिए किसी भी आयु तक इस क्षेत्र में काम किया जा सकता है।

पेंटर बनने के कैरियर संभावनाएं क्या है 

जब कोई कैंडिडेट पेंटर बन जाता है तो तब उसके सामने कैरियर के बहुत सारे मौके आते हैं जहां पर वह अपनी योग्यता के अनुसार आर्ट गैलरी , मैगजीन, न्यूज़पेपर, टीवी और फिल्म इंडस्ट्री में काम करने के लिए आवेदन दे सकता है। इसके साथ साथ अगर वह चाहे तो अपना स्वयं का काम भी कर सकता है  और अगर उसे पढ़ाने का शौक हो तो वह किसी फाइन आर्ट इंस्टीट्यूट में पढ़ाने का काम भी कर सकता है। 

वेतन 

जब कोई कैंडिडेट पेंटर बन जाता है तो उसका वेतनमान इस बात के ऊपर निर्भर करता है कि उसके द्वारा किया गया काम लोगों को कितना ज्यादा पसंद आता है और अपना काम वह कितने अच्छे तरीके से करता है। वैसे यहां आपको बता दें कि एक पेंटर को शुरुआत में 20,000 से लेकर 30,000 तक का सैलरी पैकेज हर महीने मिल सकता है और जब उसे इस क्षेत्र में अच्छा-खासा अनुभव हासिल हो जाता है तो तब उसके वेतन में और भी ज्यादा वृद्धि हो जाती है। 

पेंटर के कार्य 

  • पेंटिंग के लिए विभिन्न सतहों का मिलान करना और उनमें रंग भरना।
  • पेंटिंग से जुड़े हुए टचअप के कार्य पूरे करना। 
  • विभिन्न तरह की डोमेस्टिक और औद्योगिक परियोजनाओं को पूरा करना। 
  • घरों को फिर से सजाने का कार्य करना। 
  • कमरों को सजाने के लिए वॉलपेपर का इस्तेमाल करना। 
  • अनेकों प्रकार के चित्र बनाने का काम करना। 

निष्कर्ष

दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिकल जिसमें हमने आपको बताया कि Painter कैसे बनें? इस लेख के माध्यम से हमने आपको जानकारी दी कि पेंटर किसे कहते हैं और पेंटर बनने के लिए किसी भी व्यक्ति में कितनी योग्यता होनी आवश्यक होती है। इसके अलावा इस आर्टिकल में हमने आपको यह भी बताया कि पेंटर बनने की पूरी प्रक्रिया क्या है और जब कोई व्यक्ति पेंटर बन जाता है तो तब उसे कौन-कौन से कार्य करने पड़ते हैं एवं हर महीने उसे कितने रुपए तक का सैलरी पैकेज मिल सकता है। वैसे यहां देखा जाए तो अगर किसी कैंडिडेट को बचपन से ही रंगों से खेलने का शौक हो और विभिन्न तरह के क्रिएटिव कार्य करना पसंद हो तो वह पेंटर बन कर अपना एक शानदार और कामयाब भविष्य बना सकता है। अंत में हमारा आपसे यही निवेदन है कि अगर आपको हमारा यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो इसे अपने उन दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें जो 12वीं के बाद पेंटर बनना चाहते हैं ताकि उन्हें भी पेंटर बनने की पूरी प्रक्रिया के बारे में जानकारी हासिल हो जाए।

Leave a Reply