ऑप्टिशियन (Optician) कैसे बनें?

नमस्कार! दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि ऑप्टिशियन कैसे बनें? अगर आप एक ऐसे छात्र हैं जो 12वीं के बाद ऑप्टिशियन बनने के इच्छुक हैं तो बता दें कि यह बहुत अच्छा विकल्प आपके कैरियर के लिए हो सकता है क्योंकि इस क्षेत्र में रोजगार के अवसर भी काफी है और योग्य उम्मीदवारों की डिमांड भी इस फील्ड में बहुत रहती है। लेकिन अगर आप ऑप्टिशियन बनना चाहते हैं तो सबसे पहले आपके लिए जरूरी है कि आप इसके बारे में पूरी जानकारी एकत्रित करें क्योंकि पर्याप्त जानकारी के अभाव में आप इस पेशे में कामयाब नहीं हो सकते। अगर आपको ऑप्टिशियन से संबंधित सारी जानकारी जाननी है तो हमारे आज के इस आर्टिकल को सारा पढ़ें और जानें पूरी प्रक्रिया के बारे में। 

ऑप्टिशियन क्या है (what is Optician in Hindi) 

यहां सबसे पहले जानकारी के लिए बता दें कि ऑप्टिशियन एक ऐसा प्रोफेशनल होता है जो आई केयर से संबंधित काम करता है जैसे कि वह लोगों की आंखों की जांच करके उनकी आंखों का नंबर उन्हें बताता है और इसके साथ साथ उनका चश्मा भी बनाने का काम करता है। केवल एक अच्छा ऑप्टिशियन ही अपने पेशेंट को उचित चश्मे का चुनाव करने में सहायता कर सकता है क्योंकि कई बार पेशेंट को यह समझ में नहीं आता कि वह अपने लिए कौन से चश्मे का चयन करें तो वहां पर ट्रेंड ऑप्टिशियन की सहायता ली जा सकती है। यहां बता दें कि इस इंडस्ट्री में काम करने वाले कैंडिडेट को अन्य लोगों की तरह ही काफी मान सम्मान मिलता है क्योंकि इंसान के लिए उसकी आंखें काफी ज्यादा महत्वपूर्ण होती हैं। इसीलिए इस इंडस्ट्री में ऐसे लोगों की काफी ज्यादा इज्जत होती है जो आंखों की देखभाल इत्यादि से संबंधित काम करते हैं। 

Also read: नैनोटेक्नोलॉजिस्ट (Nanotechnologist) कैसे बनें?

ऑप्टिशियन बनने के लिए प्रक्रिया क्या है

जो छात्र 12वीं के बाद ऑप्टिशियन बनना चाहते हैं उन्हें यहां जानकारी के लिए बता दें कि सबसे पहले कैंडिडेट को चाहिए कि वह साइंस सब्जेक्ट के साथ अपनी 12वीं कक्षा पास करें। उसके बाद छात्र किसी भी अच्छे एवं रिकॉग्नाइज्ड शिक्षा संस्थान से बायोलॉजी में ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल करें। यहां बता दें कि किसी भी उत्कृष्ट संस्थान से पढ़ाई करने के लिए कैंडिडेट को प्रवेश प्रक्रिया से होकर गुजरना पड़ेगा और उसके बाद ही उसे उसके पसंदीदा कॉलेज में दाखिला मिल सकता है। इस प्रकार जब कैंडिडेट अपना डिग्री कोर्स पूरा कर लेता है तो तब ही वह ऑप्टिशियन के तौर पर काम कर सकता है। 

ऑप्टिशियन बनने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए 

  • छात्र ने बायोलॉजी और फिजिक्स जैसे विषयों में ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की होनी चाहिए।
  • कैंडिडेट को मैथमेटिकल गणना करना अच्छी तरह से आना चाहिए। 
  • अपने काम को करने के लिए उसमें दृढ़ इच्छा के साथ साथ पेशेंट की सहायता करने में रूचि होनी चाहिए।
  • कैंडिडेट के कम्युनिकेशन स्किल्स काफी अच्छे होने चाहिए।
  • कंप्यूटर की जानकारी होना अनिवार्य है।

आयु सीमा 

  • कैंडिडेट की कम से कम आयु 18 वर्ष तक होनी चाहिए।
  • छात्र की अधिकतम आयु सीमा में छूट सरकारी नियम अनुसार दी गई है।

ऑप्टिशियन बनने के कैरियर संभावनाएं क्या है 

जो कैंडिडेट ऑप्टिशियन बन जाते हैं उनके सामने प्राइवेट सेक्टर के साथ-साथ कॉरपोरेट सेक्टर में भी काम करने की बहुत संभावनाएं उपलब्ध हैं क्योंकि यह एक ऐसी इंडस्ट्री है जिसमें योग्य और ट्रेन्ड प्रोफेशनल की मांग हमेशा रहती है। इसलिए जो व्यक्ति कबिल हैं और उसे अपने काम करने से भी अत्याधिक लगाव है तो वह नौकरी करने के बहुत सारे अवसर आसानी के साथ प्राप्त कर सकता है। इस तरह से वह निजी आंखों के अस्पतालों के अलावा सरकारी अस्पतालों में भी काम करने के लिए अपना आवेदन दे सकता है। वहीं अगर कोई कैंडिडेट चाहे तो अपना स्वयं का काम भी शुरू कर सकता है। 

वेतन 

जब कोई कैंडिडेट बीएससी करने के बाद ऑप्टिशियन बन जाता है तो उसको उसके कैरियर की शुरूआत में हर महीने लगभग 15,000 से लेकर 25,000 तक का वेतनमान मिल जाता है। इस तरह से अगर उसे किसी अच्छी जगह पर नौकरी मिल जाती है तो तब उसे ओर भी ज्यादा सैलरी पैकेज मिल सकता है। 

ऑप्टिशियन के कार्य 

  • पेशेंट की आंखों को चेक करके उसके लिए सही नंबर बताना ताकि वह अपने लिए चश्मा बनवा सके। 
  • लोगों को उनके चेहरे के अनुसार चश्मे के सही फ्रेम के बारे में सलाह देना।
  • फैशन और स्टाइल को मद्देनजर रखते हुए पेशेंट को चश्मे सिलेक्ट करने में मदद करना।
  • मेजरिंग डिवाइस का प्रयोग करते हुए पेशेंट की आंखों की जांच करना। 
  • पेशेंट को आईग्लासेस और लैंसेज के बारे में सलाह देना।

निष्कर्ष

दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिकल ऑप्टिशियन कैसे बनें? इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको बताया कि ऑप्टिशियन क्या होता है और उसके बनने के लिए किसी छात्र में कितनी योग्यता का होना जरूरी है। इसके अलावा हमने इस लेख में आपको यह जानकारी भी दी कि optician बनने के लिए पूरी प्रक्रिया क्या है और अगर कोई कैंडिडेट इस क्षेत्र में काम करता है तो तब उसे हर महीने कितने रुपए तक का सैलरी पैकेज मिल जाता है एवं इस पद पर रहते हुए उसे कौन-कौन से कार्य करने पड़ते हैं। इसके अलावा दूसरी अन्य महत्वपूर्ण बातों की जानकारी भी हमने इस आर्टिकल में आपको दे दी है जो कि आपके लिए उपयोगी रही होगी। वैसे अगर किसी छात्र को बायोलॉजी और फिजिक्स जैसे विषय पसंद है और उसका मैथमेटिक्स भी अच्छा है तो वह इस क्षेत्र में अपना कैरियर बना सकता है। अंत में हमारी आपसे बस यही एक रिक्वेस्ट है कि अगर आपको हमारी यह सारी जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे अपने उन दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करें जो 12वीं के बाद ऑप्टिशियन बनना चाहते हैं।

Deepak Kumar

दीपक कुमार After12th.net के लेखक और संस्थापक हैं। वह छात्रों को उनकी धारा तय करने और उद्योग में पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी प्रदान करने में मदद करता है। वह उन्हें नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने में मदद करता है। उनका उद्देश्य देश में अधिकतम छात्रों के लिए वैध और उपयोगी जानकारी साझा करना है।

Leave a Reply