नौसेना क्या है Navy की तैयारी कैसे करे: पूरी जानकारी

नौसेना का अर्थ

नौसेना का अर्थ है इंडियन नेवी का एक सामुद्रिक अंग जो भारत की समुद्री सीमाओं पर रक्षक के तौर पर तैनात रहती है और अपने देश की रक्षा करने के लिए नियुक्त की जाती है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भारतीय नौसेना भारतीय सभ्यता और संस्कृति रक्षक है जो वर्षों से भारतीय सीमा की सुरक्षा की ज़िम्मेदारी को सफलतापूर्वक निभा रही है। अगर किसी व्यक्ति का सपना अपने देश की सेवा करने का हो तो वह इंडियन नेवी के माध्यम से अपने इस सपने को पूरा कर सकता है। 

नौसेना

नौसेना भर्ती

हर साल हमारे देश में नौसेना के अंदर भर्ती होती है। इसके लिए सबसे ज़रूरी है कि आपने 12वीं कक्षा अच्छे अंकों के साथ पास की हुई हो। अगर आपने 12वीं कक्षा में 50% अंक लिए हैं और आप शारीरिक रूप से भी फिट हैं तो आप भारतीय नौसेना को ज्वाइन करने के लिए परीक्षा की तैयारी की शुरुआत कर सकते हैं। इस में भर्ती होने के लिए कैंडिडेट को लिखित और फिजिकल फिटनेस के साथ-साथ मेडिकल टेस्ट जैसे परीक्षणों से भी होकर गुजरना पड़ता है। नौसेना क्योंकि समुद्री आर्मी सेना के रूप में कार्य करती है इसलिए कैंडिडेट की शारीरिक फिटनेस के ऊपर अत्यंत ध्यान दिया जाता है। 

नौसेना के लिए शैक्षिक योग्यता

नौसेना में जाने के लिए आपकी योग्यता निम्नलिखित होनी चाहिए

  • नेवी में जाने के लिए आपका 12वीं कक्षा पास होना जरूरी है।
  • 12वीं कक्षा में फिजिक्स और केमिस्ट्री में आपके कम से कम 70% मार्क्स होने अनिवार्य है इसके अलावा इंग्लिश के अंदर 50% अंक लाना आवश्यक है। 

नौसेना विषय पाठ्यक्रम  

नौसेना के विषयों को चार भागों में विभाजित किया गया है जो इस प्रकार हैं- 

  1. अंग्रेजी
  2. साइंस
  3. सामान्य ज्ञान
  4. मैथमेटिक्स 

नौसेना शारीरिक स्वस्थ परीक्षण / चिकित्सा मानक 

नौसेना में जाने के लिए सभी आवेदकों को पूरी तरह से स्वस्थ होना चाहिए। अगर कोई आवेदक शारीरिक और मानसिक रूप से पूरी तरह से फिट नहीं है तो वह नौसेना में जाने के लिए योग्य नहीं होता। इसके साथसाथ ही आवेदनकर्ता को किसी भी प्रकार का हड्डियों का या जोड़ों का रोग नहीं होना चाहिए और ना ही उसके शरीर में किसी भी प्रकार का कोई फ्रैक्चर हो। 

  • बता दें कि शारीरिक जांच के लिए कैंडिडेट को कम से कम 7 मिनट पीएफटी में पूरे होने वाली दौड़ में शामिल होना होता है जो कि लगभग 1.6 किलोमीटर की होती है।
  • कम से कम 20 उठक-बैठक यानि स्क्वाट लगवाए जाते हैं और 10 बार दंड बैठक भी पीएफटी में शामिल होते हैं। 
  • पीएफटी की शारीरिक जांच के लिए परीक्षार्थी को तभी बुलाया जाता है जब वह लिखित परीक्षा में पास हो जाता है।  

ऊँचाई: नौसेना में जाने के लिए पुरुषों की ऊंचाई 157 सेंटीमीटर होनी चाहिए। इसके अलावा महिलाओं की ऊंचाई 152 सेंटीमीटर रखी गई है।

आयु सीमा: आवेदक की आयु कम से कम 16.5 वर्ष होनी चाहिए और अधिकतम 19 वर्ष की हो।

 

नौसेना आँखें: नौसेना में जाने के लिए आवेदन कर्ता को किसी भी प्रकार का कोई आंखों का विकार नहीं होना चाहिए। इसके साथ ही उसकी आंखों में कलर ब्लाइंडनेस भी नहीं होना चाहिए। 

टैटू (गोदना):  आजकल के समय में अकसर लोगों को अपने शरीर पर टैटू खुदवाने का भी बहुत अधिक शौक होता है। लेकिन आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि यदि आप नौसेना के अंदर जाना चाहते हैं तो आपके बाजू के अंदरूनी भाग पर ही टैटू होना चाहिए। यह टैटू कलाई से लेकर हथेली के पिछले भाग पर हो और इसके अलावा कैंडिडेट के किसी भी हिस्से पर यदि टैटू पाया जाता है तो उसे भर्ती प्रक्रिया में शामिल नहीं किया जाता। 

नौसेना के लिए चयन प्रक्रिया

भारतीय नेवी में जाने के लिए उम्मीदवार को प्रवेश परीक्षा पास करनी होती है। यदि कोई आवेदन चयन प्रक्रिया के दौरान योग्य नहीं पाया जाता तो वह नौसेना के अंदर नहीं जा सकता। चयन प्रक्रिया के अंदर एनडीए एग्जाम के अलावा अभ्यर्थी का शारीरिक परीक्षण भी काफी महत्वपूर्ण होता है। इसके अलावा इस बात की छानबीन भी की जाती है कि आवेदन कर्ता का कोई क्रिमिनल रिकॉर्ड तो नहीं है। यदि आप एनडीए की परीक्षा पास कर लेते हैं और आप शारीरिक रूप से फिट है तो आप चयन प्रक्रिया के दौरान निश्चित ही सिलेक्ट हो जाएंगे। 

नौसेना के लिए परीक्षा

अगर आपका सपना इंडियन नेवी में जाकर अपने देश की सेवा करना है तो उसके लिए आपको नौसेना के लिए परीक्षा देना भी जरूरी होगा। आपको जानकारी दे दें कि यदि आप बारहवीं कक्षा के बाद नौसेना में जाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको प्रवेश परीक्षा देनी होगी जिसको एनडीए कहते हैं। यह परीक्षा दो प्रारूपों में होती है एक लिखित और दूसरी इंटरव्यू। वह उम्मीदवार जो लिखित परीक्षा में पास हो जाते हैं उनको इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है। उम्मीदवार इंटरव्यू को भी पास कर लेता है तो उसका फिर इंडियन नेवी के लिए चुनाव कर लिया जाता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इंडियन नेवी के लिए जो प्रवेश परीक्षा होती है उसकी तैयारी यदि आप दसवीं कक्षा पास होने के बाद ही शुरू कर देंगे तो आप इस परीक्षा को आसानी के साथ क्लियर कर सकेंगे।

यहां आपको हम यह भी बता दें कि एनडीए की परीक्षा जो लिखित होती है उसमें दो पेपर करवाए जाते हैं। एक पेपर सामान्य ज्ञान का होता है और दूसरा गणित का। यह भी जान लें कि एनडीए का मैथ का पेपर 100 अंको का होता है जिस को हल करने के लिए लगभग 150 मिनट का टाइम दिया जाता है। इसके अंदर आपसे मैट्रिक्स, बीजगणित, ट्रिग्नोमेट्री ज्योग्राफी, इक्वेशन डिफरेंशियल स्टैटिक्स आदि टॉपिक पर सवाल पूछे जाते हैं। 

नौसेना भर्ती के लिए जो सामान्य ज्ञान का एग्जाम होता है उसमें 600 अंक होते हैं। इस पूरे पेपर को दो हिस्सों में बांटा गया है। जिसमें पहला हिस्सा इंग्लिश का होता है और इसके लिए 200 अंक रखे गए हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस पेपर को वही लोग पार कर सकते हैं जिनकी इंग्लिश अच्छी हो। इसके अलावा दूसरा हिस्सा होता है वह 400 अंको का होता है जिसके अंदर उम्मीदवार से सामान्य ज्ञान, केमिस्ट्री, भूगोल, इंडियन हिस्ट्री, करंट अफेयर्स आदि के ऊपर प्रश्न पूछे जाते हैं। सामान्य ज्ञान का पेपर काफी मुश्किल होता है जिसके लिए आपको कठिन परिश्रम की आवश्यकता होती है। 

नौसेना प्रशिक्षण एवं नियुक्ति

वह सभी कैंडिडेट जो प्रवेश परीक्षा में पास हो जाते हैं उनको उसके बाद 22 हफ्तों का प्रशिक्षण दिया जाता है जो 8 सेमेस्टर में पूरा हो जाता है। सेमेस्टर में से हर 2 सेमेस्टर के बाद 4 हफ्ते का अवकाश दिया जाता है। सभी कैंडिडेट जो सफलतापूर्वक अपना प्रशिक्षण पूरा कर लेते हैं उनको विभिन्न पदों पर नियुक्त कर दिया जाता है। 

भारतीय नौसेना के कार्य

भारतीय नौसेना का कार्य करने का दायरा बहुत ही अधिक बड़ा होता है जिसमें देश की सीमा को समुद्री सुरक्षा प्रदान करने के साथ-साथ आपदा से जुड़े राहत कार्य भी करने होते हैं। इसके साथ ही नौसेना का उद्देश्य होता है कि कोई भी दुश्मन देश को किसी भी प्रकार की क्षति ना पहुंचा सके। भारतीय नौसेना के कार्य निम्नलिखित हैं– 

  • समुंद्री हमलों से सुरक्षा 
  • निगरानी
  • पनडुब्बी रोधी ऑपरेशन करना 
  • सतह रोधी ऑपरेशन 
  • हवा रोधी ऑपरेशन 
  • जलस्थली ऑपरेशन
  • सभी प्रकार के सूचना ऑपरेशन 
  • इलेक्ट्रॉनिक युद्ध 
  • विशेष ऑपरेशन के लिए रणनीति बनाना 
  • बारूदी सुरंग संबंधित युद्ध 
  • वीबीएसएस और बंदरगाह की रक्षा करना 
  • समुद्र कि चारों ओर से रक्षा करना 
  • एनसीएजीएस ऑपरेशन 

नौसेना के कार्य स्थान इस प्रकार से हैं – 

  • गोवा
  • कोच्चि
  • मुंबई
  • चेन्नई
  • कोलकाता
  • पोर्ट ब्लेयर
  • विशाखापट्टनम 

भारतीय नौसेना के पद

भारतीय नौसेना एक बहुत बड़ी ब्रांच है जिसमें विभिन्न प्रकार के पदों के लिए नौकरियां निकाली जाती हैं। इन सभी पदों के नाम इस प्रकार है

  • लेफ्टिनेंट
  • सब लेफ्टिनेंट
  • कमांडर ‌ 
  • लेफ्टिनेंट कमांडर
  • कैप्टन
  • कोमोडोर 
  • रीयर एडमिरल 
  • वाइस एडमिरल 
  • डी जी प एफ एम एस 

नौसेना में वेतन और सुविधाए

वह सभी कैंडिडेट जो नौसेना के लिए प्रवेश परीक्षा को पास कर लेते हैं उनको प्रशिक्षण दिया जाता है और प्रशिक्षण के दौरान उनको हर महीने 5,700 रुपए की दर से वेतन दिया जाता है। जब वह अपना प्रशिक्षण पूरा कर लेते हैं तो उसके बाद उनको काफी अच्छा वेतन और अन्य सुविधाएं दी जाती हैं। अन्य सुविधाओं से हमारा मतलब है जैसे अवकाश, हाउसिंग स्कीम, वर्दी, ट्रैवल खर्च, रहने की सुविधा, राशन एवं अन्य सुविधाएं प्रदान की जाती हैं। 

निष्कर्ष 

आज के इस आर्टिकल में हमने आपको नौसेना के बारे में पूरी जानकारी दी जिसमें हमने आपको बताया कि नौसेना क्या है और इस में जाने के लिए आपको क्या-क्या तैयारी करनी होगी। हमने आपको बताया कि नौसेना में वेतन कितना मिलता है? भारतीय नौसेना के कार्य भारतीय नौसेना में जाने के लिए आपको कौन-कौन सी परीक्षा देनी । 

हमें पूरी उम्मीद है कि यह आर्टिकल आपके लिए काफी हेल्पफुल रहा होगा। आपके वह मित्र और संबंधी जो इंडियन नेवी के अंदर जाना चाहते हैं या नौसेना की तैयारी कर रहे हैं इस आर्टिकल को उनके साथ शेयर करिए ताकि उन्हें सही जानकारी मिले और वह अपना सपना पूरा कर सकें। 

Deepak Kumar

दीपक कुमार After12th.net के लेखक और संस्थापक हैं। वह छात्रों को उनकी धारा तय करने और उद्योग में पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी प्रदान करने में मदद करता है। वह उन्हें नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने में मदद करता है। उनका उद्देश्य देश में अधिकतम छात्रों के लिए वैध और उपयोगी जानकारी साझा करना है।

Leave a Reply