मैट परीक्षा (MAT Exam) की तैयारी कैसे करे

दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको जानकारी देने वाले हैं मैट परीक्षा क्या है | MAT Exam की तैयारी कैसे करें। अगर आपने मैनेजमेंट के क्षेत्र में जाने का इरादा किया है तो आप मैट परीक्षा में सफलता हासिल करने के बाद एमबीए की पढ़ाई कर सकते हैं। हमारे देश की अधिकतर युवा पीढ़ी मैनेजमेंट की फील्ड में जाना चाहती है क्योंकि इस क्षेत्र में आगे तक जाने के बहुत विकल्प मौजूद हैं जहां एक बहुत अच्छा भविष्य बनाया जा सकता है। 

आज के इस आर्टिकल में हम आपको मैट परीक्षा से संबंधित सारी आवश्यक जानकारी देने वाले हैं ताकि आप इस परीक्षा में बिना किसी समस्या के सफलता हासिल कर सकें। तो दोस्तों अगर आप का सपना एमबीए कोर्स करने का है तो यह आर्टिकल शुरू से लेकर अंत तक पूरा पढ़ें क्योंकि आपको यहां पर सारी जानकारी हम उपलब्ध कराने वाले हैं।  

मैट परीक्षा

मैट परीक्षा क्या है (What is MAT Exam in Hindi)

मैट परीक्षा का पूरा नाम मैनेजमेंट एप्टीट्यूड टेस्ट (Management Aptitude Test-MAT)  है। जानकारी के लिए बता दें कि यह एक राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा है जिसे ऑल इंडिया मैनेजमेंट एसोसिएशन (All India Management Association-AIMA)  द्वारा साल में 4 बार आयोजित करवाया जाता है। 

मैट परीक्षा में वे उम्मीदवार भाग लेते हैं जो एमबीए या फिर मैनेजमेंट में पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स करना चाहते हैं। साथ ही आपको बताते चलें कि इस परीक्षा का आयोजन प्रत्येक साल फरवरी, मई, सितंबर और दिसंबर के महीने में होता है। इसके अलावा आपको यह भी बता दें कि सारे भारत में मैट परीक्षा को काफी महत्वपूर्ण माना जाता है और जो उम्मीदवार इस परीक्षा को पास कर लेते हैं उनको मैनेजमेंट के लगभग 600 बिजनेस संस्थानों में से किसी एक में प्रवेश मिल जाता है। 

मैट परीक्षा के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए (MAT Exam Eligibility)

मैट परीक्षा की तैयारी के लिए उम्मीदवार के अंदर निम्नलिखित योग्यता होनी चाहिए-

  • उम्मीदवार ने किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से 3 वर्षीय डिग्री कोर्स यानी ग्रेजुएशन किया हो।
  • जो छात्र अपनी ग्रेजुएशन के अंतिम साल में है वह भी इस परीक्षा में भाग ले सकते हैं। 

मैट कॉलेजों सूची (MAT Colleges List)

मैट परीक्षा में जो उम्मीदवार सफलता प्राप्त कर लेते हैं उनको देश के विभिन्न मैनेजमेंट संस्थानों में प्रवेश मिल जाता है जिसमें वह अपने एमबीए बनने के सपने को पूरा कर सकते हैं। निम्नलिखित हम आपको कुछ मैट कॉलेजों नाम बता रहे हैं जो कि इस प्रकार से हैं-

  • एआईएमए-सेंटर फॉर मैनेजमेंट एजुकेशन न्यू दिल्ली (AIMA-Centre for Management Education, New Delhi)
  • बिरला इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट टेक्नोलॉजी, ग्रेटर नोएडा (Birla Institute of Management Technology, Greater Noida
  • अंसल यूनिवर्सिटी, गुड़गांव (Ansal University, Gurgaon)
  • एबीएस एकेडमी ऑफ साइंस , टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट, दुर्गापुर (ABS Academy of Science, Technology and Management, Durgapur)
  • एआरकेए जैन यूनिवर्सिटी रांची (ARKA Jain University Ranchi)
  • एशियन स्कूल ऑफ बिजनेस, मैनेजमेंट, भुवनेश्वर (Asian School of Business Management Bhubaneswar)
  • भारतीय विद्या भवन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट साइंस, कोलकाता (Bhartiya Vidya Bhavan Institute of Management Science, Kolkata)
  • डेवलपमेंट मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट, पटना (Development Management Institute, Patna)
  • एनईआरआईएम ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस, गुवाहाटी (NERIM Group of Institutions, Guwahati)
  • क्रिस्ट इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट पुणे (Christ Institute of Management Pune)
  • इंस्टिट्यूट ऑफ़ रूरल मैनेजमेंट जयपुर (Institute of Rural Management Jaipur)

मैट परीक्षा पाट्यक्रम (MAT Exam Syllabus)

मैट परीक्षा क्रैक करने के लिए सबसे पहले आप इसका परीक्षा पाठ्यक्रम जानें क्योंकि बिना पाठ्यक्रम के आप इस परीक्षा की तैयारी नहीं कर सकते। 

अगर आप वास्तव में यह चाहते हैं कि आप इस एग्जाम को बिना किसी कठिनाई के सफलतापूर्वक पास कर लें तो इसके लिए आप इसके सिलेबस को अच्छी तरह से समझें और फिर इस परीक्षा की तैयारी करें। निम्नलिखित हम आपको इस परीक्षा का पूरा पाठ्यक्रम बता रहे हैं जो कि इस प्रकार से है- 

लैंग्वेज कंप्रीहेंशन सिलेबस 

  • वोकेबुलरी (Vocabulary)
  • ग्रामर (Grammar)
  • सेंटेंस मेकिंग एंड करेक्शन (Sentence making and correction)
  • इडियम्स/फ्रेसिस (Idioms/Phrases)
  • रीडिंग कंप्रीहेंशन (Reading Comprehension)
  • पैरा जंबल (Para jumble)
  • फिल इन द ब्लैंक्स (Fill in the blanks)
  • स्पीच (Speech)
  • नाउन, प्रोनाउन, एडजेक्टिव , एडवर्ब (Noun, Pronoun, Adjective, Adverb)

इंटेलिजेंस एंड क्रिटिकल रीजनिंग सिलेबस 

  • फैमिली ट्री (Family Tree)
  • अरेंजमेंट्स (Arrangements)
  • कैलेंडर्स (Calendars)
  • पाई चार्ट (Pie Chart)
  • स्टेटमेंट कंक्लुजंस (Statement Conclusions)
  • ब्लड रिलेशंस (Blood Relations)
  • पजल्स (Puzzles)
  • सीरीज (Series)
  • कोडिंग एंड डिकोडिंग (Coding and Decoding)
  • मल्टी डाइमेंशनल अरेंजमेंट्स (Multi Dimensional Arrangements)
  • न्यूमैरिक ग्रिड  (Numeric Grid)
  • विजुअल रिजनिंग (Visual Reasoning)
  • क्रिटिकल रीजनिंग (Critical Reasoning)
  • ग्राफ्स रिप्रेजेंटिंग एरिया (Graphs Representing Area)

इंटेलिजेंस एंड क्रिटिकल रीजनिंग सिलेबस

  • डाटा टेबल्स (Data Tables)
  • डाटा चार्ट्स (Data Charts)
  • पाई चार्ट (Pie Charts)
  • बार डायग्राम एंड चार्ट्स इंक्लूडिंग सिंपल, स्टैक्ड, कम्पोजिट बार चार्ट्स (Bar Diagram and Charts Including Simple, Stacked, Composite Bar Charts)
  • ग्राफ्स-लाइन X-Y ग्राफ्स  (Graphs- Line X-Y Graphs)
  • डाटा एनालिसिस एंड डाटा कंपैरिजन (Data Analysis and Data Comparison)
  • कैसलेट बेस्ड डाटा (Caselet based data)
  • वैन डायग्राम (Venn diagram)
  • डाटा सफिशिएंसी (Data sufficiency) 

मैथमेटिकल स्किल्स सिलेबस

  • एलसीएम एंड एचसीएफ (LCM and HCF)
  • परसेंटेज (Percentage)
  • प्रॉफिट एंड लॉस (Profit and Loss)
  • इंटरेस्ट -सिंपल एंड कंपाउंड (Interest -Simple and Compound) 
  • स्पीड (Speed)
  • टाइम एंड डिस्टेंस, टाइम एंड वर्क, एवरेजिस, रेशों एंड प्रोपोर्शन एंड अदर्स  (Time and Distance, Time and Work, Averages, Ratio and Oroportion and Others) 
  • नंबर सिस्टम (Number System)
  • एलिमेंट्री मैथमेटिक्स (Elementary Mathematics)
  • यूनिटरी मेथड (Unitary Method)
  • मिक्सचर्स एंड एलिगेशन Mixtures and Allegation
  • कमर्शियल मैथ्स (Commercial Maths) 
  • पर मोटेशन एंड कांबिनेशंस (Permutation and Combinations)
  • सीक्वेंस एंड सीरीज (Sequence and Series)
  • हाइट्स एंड डिस्टैंसिस (Heights and Distances)
  • ट्राएंगल्स (Triangles)
  • सर्कल्स (Circles)
  • कोऑर्डिनेट ज्योमेट्री (Co-ordinate Geometry)
  • वैन डायग्राम (Venn Diagram)
  • लिनियर इक्वेशंस (Linear Equations)
  • क्वाड्रेटिक इक्वेशंस (Quadratic Equations)
  • कंपलेक्स नंबर्स (Complex Numbers)
  • बायनॉमिनल थ्योरम (Binomial Theorem)
  • सर्डस इंडिसीज (Surds and Indices)
  • इनिक्वालिटीज (Inequalities)
  • सेट थ्योरी (Set Theory)
  • ट्रिग्नोमेट्री (Trigonometry)
  • लीनियर प्रोग्रामिंग (Linear Programming)

इंडियन एंड ग्लोबल एनवायरमेंट सेक्शन सिलेबस 

  • करंट अफेयर्स (Current Affairs)
  • टॉप ऑफिशल्स आफ बिग कंपनीज (Top Officials of Big Companies)
  • पंच लाइन ऑफ़ कंपनीज (Punch Line of Companies)
  • इंपॉर्टेंट कोटेशंस (Important Quotations)
  • साइंस (Science)
  • सपोर्ट्स (Sports)
  • वर्ल्ड रिकॉर्ड्स (World Records) 
  • फेमस अवॉर्ड्स एंड प्राइजेस (Famous awards and Prizes)
  • हिस्ट्री (History)
  • सोशल इश्यूज (Social Issues)
  • फाइनेंस (Finance)
  • एंटरटेनमेंट (Entertainment)
  • बुक्स एंड ऑथर्स (Books and  Authors)
  • इंटरनेशनल ऑर्गेनाइजेशन (International Organisation)
  • ज्योग्राफी (Geography)
  • पॉलिटिक्स (Politics)
  •  मेजर कॉरपोरेट न्यूज़ (Major Corporate News)

मैट परीक्षा पैटर्न (MAT Exam Pattern)

यदि आप भी उन उम्मीदवारों में से हैं जो मैट परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो सबसे पहले आप इस परीक्षा का पैटर्न जानें और ठीक प्रकार से समझें। इस प्रकार परीक्षा का पूरा पैटर्न समझने के बाद आप ठीक प्रकार से तैयारी कर सकेंगे और निश्चित रूप से परीक्षा में सफलता भी हासिल कर सकेंगे।

यहां सबसे पहले आपको बता दें कि मैट परीक्षा का पैटर्न 5 खंडों में विभाजित किया गया है। इसलिए उम्मीदवार से लैंग्वेज कंप्रीहेंशन, मैथमेटिकल स्किल्स, डेटा एनालिसिस और सफिशिएंसी, इंटेलिजेंस एंड क्रिटिकल रीजनिंग, इंडियन एंड ग्लोबल एनवायरमेंट जैसे विषयों पर आधारित प्रश्न पूछे जाते हैं। 

इस परीक्षा में कैंडिडेट को 200 प्रश्नों को हल करना होता है जिसके लिए उसे 150 मिनट यानी 2 घंटे 30 मिनट का समय दिया जाता है। साथ ही यह भी जान लीजिए कि इस परीक्षा में प्रत्येक सही उत्तर देने के लिए उम्मीदवार को 1 अंक देने का प्रावधान है और अगर कोई उम्मीदवार किसी प्रश्न का गलत उत्तर देगा तो 0.25  अंक काटने का प्रावधान है। 

मैट परीक्षा की तैयारी के लिए कोचिंग सेंटर्स (MAT Exam Preparation Coaching Centers)

  • द अल्टीमेट क्लासेस एजुकेशन सर्विसेज, दिल्ली (The Ultimate Classes Education Services, Delhi)
  • एरूडाइट एजुकेशन पार्क स्ट्रीट, कोलकाता (Erudite Education Park Street, Kolkata)
  • प्लानेट ई दादर, ईस्ट मुंबई (Planet E Dadar, East Mumbai)
  • सक्सेस फोरम मुंबई (Success Forum, Mumbai)
  • करियर लॉन्चर इंडिया लिमिटेड चेन्नई (Career Launcher India ltd, Chennai) 
  • ग्रेट लर्निंग एचएसआर लेआउट , बेंगलोर (Great Learning HSR Layout, Bangalore)
  • पुनिया ग्रुप ऑफ एजुकेशन जयपुर (Punia Group of Education, Jaipur)
  • डाइस अकैडमी हैदराबाद (Dice Academy, Hyderabad)
  • आईएमएस लर्निंग रिसोर्सेस प्राइवेट लिमिटेड आगरा (IMS learning resources Private limited, Agra)
  • एप्टिट्यूड मैट नोएडा (Aptitude Mate, Noida)

मैट परीक्षा के लिए किताबें और अध्ययन सामग्री  (Books & Study  Materials for MAT Exam Preparation) 

इसमें कोई शक नहीं कि किताबे इंसान की सबसे अच्छी साथी और उत्तम मददगार होती हैं। अगर आप अपनी परीक्षा को पास करने के लिए सही किताबों से अपनी पढ़ाई करेंगे तो निश्चित ही आप मैट परीक्षा को पास कर लेंगे। निम्नलिखित हम आपको MAT Exam की तैयारी के लिए कुछ किताबों के नाम बता रहे हैं-

  • वर्बल एबिलिटी एंड कंप्रीहेंशन फॉर कैट/जैट/जीमैट/सीमैट/मैट/बैंक पीओ/एसएससी बाय भारत पटौदी एंड आदित्य चौधरी (Verbal Ability and Comprehension for CAT/XAT/ GMAT/IIFT/CMAT/MAT/Bank PO/SSC by Bharat Pataudi and Aditya Chaudhari)
  • हाउ टो प्रिपेयर फॉर डाटा इंटरप्रिटेशन फॉर मैट बाय अरुण शर्मा (How to prepare for data interpretation for MAT by Arun Sharma)
  • एनालिटिकल एंड लॉजिकल रीजनिंग फॉर कैट एंड अदर मैनेजमेंट एंटरेंस टेस्ट्स बाय पीयूष भारद्वाज (Analytical and Logical Reasoning for CAT  and other Management Entrance Tests by Piyush Bhardwaj)
  • फेस टू फेस मैट 19 इयर्स (1997-2016)  बाय बीएस सिजवाली  (Face to face MAT with 19 years  (1997-2016) by BS Sijwali)
  • द मेगा ईयर बुक 2016-करंट अफेयर्स एंड जनरल नॉलेज कॉम्पिटेटिव एक्जाम बाय दिशा एक्सपर्ट्स (The Mega Year Book 2016- current affairs and general knowledge for competitive exams by Disha experts)
  • मैट स्कोर एक्सीलरेटिड बाय दिशा एक्सपर्ट्स (MAT Score Accelerated by Disha experts)
  • मिशन एमबीए मैट बाय बीएस सिजवाली एंड तरुण गोयल (Mission MBA MAT by BS Sijwali and Tarun Goyal)
  • मनोरमा ईयर बुक बाय केएम मैथ्यू एंड मेम्मन मैथ्यू (Manorama year book by KM Mathew and Mammen Mathew)

Tips for मैट परीक्षा की तैयारी के लिए (MAT Exam Preparation)

मैट परीक्षा को आप बिना किसी परेशानी के पास कर सकते हैं अगर आप इस परीक्षा की तैयारी ठीक प्रकार से करें। इसके लिए सबसे अधिक आपको आवश्यकता है एक सही दिशा में मेहनत करने की। यहां यह बात भी जान लीजिए कि यह परीक्षा एक कठिन परीक्षा है जिसमें देश के काफी उम्मीदवार भारी तादाद में भाग लेते हैं इसलिए मैट परीक्षा में कामयाब होने के लिए आपको बहुत अधिक मेहनत, लगन और सकारात्मक सोच के साथ पढ़ाई पर फोकस करना होगा। निम्नलिखित हम आपको कुछ टिप्स बता रहे हैं जो परीक्षा की तैयारी के लिए बहुत अधिक उपयोगी रहेंगे-

  • मैट परीक्षा की तैयारी आप सभी कर सकते हैं अगर आपको इस परीक्षा का पूरा पैटर्न और सिलेबस ठीक प्रकार से पता होगा। इसलिए सबसे पहले इन दोनों को ठीक प्रकार से जानें और समझें। 
  • अब आप खुद का आंकलन करें और यह देखें कि आप किस विषय में कमजोर है और किस विषय में अच्छे हैं। 
  • मैट परीक्षा के सभी विषयों को अच्छी तरह से पढ़ लें और हर दिन अधिक से अधिक प्रश्न हल करने की कोशिश करें। 
  • पढ़ाई करने के लिए बाजार से उन किताबों को लेकर आएं जो आपकी परीक्षा को क्रैक करने में सहायता करें। 
  • मैट परीक्षा की तैयारी के लिए आप जितने ज्यादा मॉक टेस्ट करेंगे उतना ही आपको उसका फायदा होगा इसलिए अधिक से अधिक मॉक टेस्ट करें। 
  • आप चाहें तो आप परीक्षा की तैयारी के लिए किसी अच्छे कोचिंग सेंटर में भी प्रवेश ले सकते हैं। 
  • अगर आपकी अंग्रेजी भाषा पर अच्छी पकड़ नहीं है तो इसके लिए आप हर रोज न्यूज़ पेपर पढ़ें, इंग्लिश मूवीस, न्यूज़ चैनल इत्यादि देखें। 
  • करंट अफेयर्स के लिए आप हर रोज अखबार अवश्य पढ़ें इस से रिलेटेड जो किताबें हैं वह भी अवश्य पढ़ें। 

निष्कर्ष

दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिकल जिसमें हमने आपको जानकारी दी कि आप मैट परीक्षा की तैयारी किस प्रकार कर सकते हैं। इस आर्टिकल में हमने आपको यह जानकारी दी कि आप जब मैट परीक्षा को पास कर लेंगे तो उसके बाद आपको भारत के कौन-कौन से मैनेजमेंट कॉलेजों में दाखिला मिल सकेगा। 

इसके अलावा हमने आपको यह भी बताया कि इस परीक्षा में कामयाब होने के लिए आपको कौन-कौन सी आवश्यक किताबों को लेना चाहिए। साथ ही हमने आपको यह भी टिप्स भी दी कि किस प्रकार आप XAT Exam की तैयारी कर सकते हैं और हमने आपको परीक्षा की तैयारी करने के लिए कुछ कोचिंग सेंटर्स के नाम भी बताए हैं जो काफी लोकप्रिय हैं। 

हमें यह पूरी आशा है कि आप को यह आर्टिकल बहुत अधिक पसंद आया होगा और आपके लिए काफी उपयोगी भी रहा होगा इसलिए हमारी आपसे एक छोटी सी रिक्वेस्ट है कि हमारे इस आर्टिकल को सोशल मीडिया पर अवश्य शेयर करें।

Deepak Kumar

दीपक कुमार After12th.net के लेखक और संस्थापक हैं। वह छात्रों को उनकी धारा तय करने और उद्योग में पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी प्रदान करने में मदद करता है। वह उन्हें नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने में मदद करता है। उनका उद्देश्य देश में अधिकतम छात्रों के लिए वैध और उपयोगी जानकारी साझा करना है।

Leave a Reply