मरीन बायोलॉजिस्ट क्या होता है (Marine Biologist) कैसे बनें?

नमस्कार! दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि मरीन बायोलॉजिस्ट कैसे बनें? अगर आप एक ऐसे छात्र हैं जिसको समुद्री जीव जंतुओं और समुद्री वातावरण के बारे में अध्ययन करना अत्यधिक पसंद है तो इस क्षेत्र में आप अपना कैरियर बना सकते हैं। लेकिन यहां हम आपसे यही कहेंगे कि अगर आप इस फील्ड में काम करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको यह जान लेना जरूरी है कि समुद्र में काम करने के लिए आप में कितनी योग्यता की आवश्यकता होनी चाहिए एवं आप को इसमें कैरियर बनाने के लिए कौन सी प्रोसेस अपनानी होगी। अगर आप मरीन बायोलॉजिस्ट बनने के बारे में सारी जानकारी ढूंढ रहे हैं तो हमारे आज के इस आर्टिकल सारा पढ़ें और जानें पूरी प्रक्रिया के बारे में।

मरीन बायोलॉजिस्ट क्या होता है (what is Marine Biologist in Hindi) 

सबसे पहले यहां आपको जानकारी दे दें कि मरीन बायोलॉजिस्ट एक ऐसा प्रोफेशनल व्यक्ति होता है जिसका काम समुद्री जीव जंतुओं, पौधों एवं समुद्र से संबंधित संपूर्ण वातावरण के बारे में खोज लगाना होता है। इस तरह जितने भी समुद्र में जीव जंतु रहते हैं उन सभी के जीवन को वह करीब से जाकर अध्ययन करने के साथ-साथ सभी पेड़ पौधों के बारे में भी गहराई से पता लगाते हैं जिससे कि उनका संरक्षण किया जा सके। 

Also Read: वॉटरकलर आर्टिस्ट (Watercolour Artist) कैसे बनें?

मरीन बायोलॉजिस्ट बनने के लिए प्रक्रिया क्या है

यदि आप इस क्षेत्र में काम करना चाहते हैं और मरीन बायोलॉजिस्ट बनने के इच्छुक हैं तो इसके लिए आपको सबसे पहले अपनी 12वीं कक्षा विज्ञान विषय के साथ पास करनी होगी जिसके बाद आपको मरीन बायोलॉजी के विषय में ग्रेजुएशन की डिग्री लेनी होगी। यहां अगर आप चाहें तो मरीन बायोलॉजी के सब्जेक्ट में पोस्ट ग्रेजुएशन भी कर सकते हैं लेकिन आप स्नातक के बाद भी इस फील्ड में काम कर सकते हैं। बस आपको समुद्री जीवन से बहुत ही ज्यादा लगाव होना चाहिए ताकि आप सरलतापूर्वक इस फील्ड में काम कर सकें। 

मरीन बायोलॉजिस्ट बनने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए

  • उम्मीदवार ने मरीन बायोलॉजिस्ट के विषय में स्नातक किया होना चाहिए।
  • कैंडिडेट को समुद्री जीव जंतुओं और समुद्री जीवन से लगाव होना चाहिए।
  • छात्र तीव्र बुद्धि का होना चाहिए जो कि समुद्र के बारे में हर रहस्य को तेजी के साथ समझ सके।
  • कंप्यूटर की अच्छी जानकारी होनी चाहिए ताकि कंप्यूटर से संबंधित काम और रिसर्च के कार्य सरलता के साथ कर सके।
  • टीम वर्क में काम करने की एबिलिटी होनी चाहिए। 

आयु सीमा 

  • छात्र की आयु कम से कम एंट्रेंस एग्जाम के समय 17 वर्ष तक होनी आवश्यक है।
  • अधिकतम आयु सीमा में छूट सरकार के निर्देशानुसार निर्धारित की गई है। 

मरीन बायोलॉजिस्ट बनने के कैरियर संभावनाएं क्या है 

जो कैंडिडेट मरीन बायोलॉजिस्ट बन जाते हैं उनके सामने कैरियर के बहुत सारे ऑप्शन आ जाते हैं क्योंकि यह इंडस्ट्री बहुत ज्यादा बड़ी और फैली हुई है। इसलिए योग्य उम्मीदवार समुद्र में काम करने के साथ-साथ म्यूजियमों, चिड़ियाघरों, टीवी चैनलों, स्कूलों  व विश्वविद्यालयों में शिक्षक के तौर पर काम कर सकते हैं। इसके अलावा बहुत सारे ऐसे लोग भी होते हैं जो फ्रीलांसर बनकर इंफॉर्मेशन इकट्ठा करते हैं और उन्हें अच्छे पैसों में बेच देते हैं। 

वेतन 

मरीन बायोलॉजिस्ट बन जाने के बाद कैंडिडेट को जो सैलरी पैकेज मिलता है वह उसकी मेहनत लगन और योग्यता को देखते हुए निर्धारित किया जाता है इसलिए कोई कैंडिडेट इस फील्ड में ज्यादा सैलरी प्राप्त करता है तो कोई कम। वैसे अगर एक एवरेज सैलरी की बात करें तो उसे हर महीने लगभग 35,000 से लेकर 40,000 तक मिल जाते हैं और जब उसे इस इंडस्ट्री में काम करते हुए कुछ अनुभव प्राप्त हो जाता है तो तब वह एक लाख रुपए से भी अधिक का वेतन हर महीने प्राप्त कर सकता है। 

मरीन बायोलॉजिस्ट के कार्य 

  • समुद्र में रहने वाले सभी प्रकार के जीव जंतुओं के बारे में गहन अध्ययन करना।
  • जो पेड़ पौधे समुद्र के अंदर गहराई में उगे हुए रहते हैं उनके बारे में भी रिसर्च करना और जानकारी जमा करना।
  • समुद्र में जितने भी जीव और पेड़ पौधे रहते हैं उनके रहन-सहन के बारे में पर्याप्त जानकारी इकट्ठा करना।
  • उन विभिन्न प्रकार के रहस्यों के बारे में पता लगाना जो समुद्र के अंदर छिपे हुए हैं। 
  • समुद्री जीवों के संरक्षण के ऊपर काम करना। 
  • जो बड़े-बड़े जंतु समुद्र में रहते हैं उनके बारे में भी रिसर्च वर्क करना। 

निष्कर्ष

दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिकल मरीन बायोलॉजिस्ट कैसे बनें? इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको जानकारी दी कि मरीन बायोलॉजिस्ट क्या होता है और उसके बनने के लिए किसी भी छात्र में कितनी योग्यता का होना आवश्यक है एवं इसके साथ-साथ हमने आपको यह भी बताया कि अगर आप इस फील्ड में काम करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको कौन सी प्रक्रिया अपनानी होगी। इसके अलावा इस लेख के माध्यम से हमने आपको यह जानकारी भी दे दी है कि जो छात्र मरीन बायोलॉजिस्ट बन जाते हैं उन्हें हर महीने कितने रुपए तक का सैलरी पैकेज प्राप्त हो सकता है और इस पद पर रहते हुए उन्हें कौन-कौन से कार्य करने पड़ते हैं। वैसे अगर किसी कैंडिडेट को मरीन लाइफ से प्यार है और उसे समुद्री जीव जंतुओं से संबंधित जानकारी इकट्ठा करना अच्छा लगता है तो वह क्षेत्र में काफी सक्सेस हासिल कर सकता है। अंत में हम आपसे यही कहेंगे कि अगर आपको हमारे द्वारा दी गई है सारी जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे अपने उन दोस्तों के साथ भी अवश्य शेयर करें जो 12वीं के बाद मरीन बायोलॉजिस्ट बनना चाहते हैं। 

Deepak Kumar

दीपक कुमार After12th.net के लेखक और संस्थापक हैं। वह छात्रों को उनकी धारा तय करने और उद्योग में पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी प्रदान करने में मदद करता है। वह उन्हें नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने में मदद करता है। उनका उद्देश्य देश में अधिकतम छात्रों के लिए वैध और उपयोगी जानकारी साझा करना है।

Leave a Reply