लैंड सर्वेयर (Land Surveyor) कैसे बनें?

नमस्कार! आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे लैंड सर्वेयर (Land Surveyor) कैसे बनें? वर्तमान में लैंड सर्वेयर के रूप में काम करने वाले उम्मीदवारों की संख्या बढ़ती ही जा रही है इसकी वजह है कि हमारे देश का इंफ्रास्ट्रक्चर काफी तेजी से ग्रोथ कर रहा है। इसीलिए इस फील्ड में कैंडिडेट अपनी शिक्षा प्राप्त करने के तुरंत बाद ही काम करना चाहते हैं जिससे कि वह आत्मनिर्भर बन सकें। लेकिन इस इंडस्ट्री में केवल वही कैंडिडेट काम कर सकते हैं जिनको भूमि के नक्शे बनाना पसंद होता है। इसके साथ-साथ किसी भी जमीन के बारे में सही अनुमान लगाने की जिम्मेदारी भी एक लैंड सर्वेयर की होती है। अगर आप भी इस इंडस्ट्री में काम करना चाहते हैं तो हमारे आज के इस आर्टिकल को सारा पढ़ें और जानें कि आप किस प्रकार से एक सफल लैंड सर्वेयर बन सकते हैं। 

लैंड सर्वेयर क्या होता है (what is Land Surveyor in Hindi) 

यहां आपको बता दें कि लैंड सर्वेयर वह होता है जो सरकारी उद्देश्यों के लिए जमीन के बारे में सटीक अनुमान लगाकर मैपिंग करता है। इसके अलावा उसका काम स्केलिंग करने का भी होता है जिससे कि भूमि के सही मानचित्र बनाए जा सकें। इस प्रकार से सर्वेयर को जब भी कोई स्थान या फिर लैंड का सर्वेक्षण करने के लिए कहा जाता है तो वह भू-मापन और गणना के द्वारा से मानचित्र से जुड़े हुए रिकॉर्ड को मेंटेन करने के लिए उत्तरदाई होता है। 

Also read: फायर इंजन ड्राइवर (Fire engine driver) कैसे बनें?

लैंड सर्वेयर बनने के लिए प्रक्रिया क्या है

जो व्यक्ति लैंड सर्वेयर बनना चाहता है उसे इसके लिए जानकारी के लिए बता दें कि लैंड सर्वेयर बनने के लिए कैंडिडेट को इंजीनियरिंग डिग्री हासिल करनी होती है जिसके बाद कैंडिडेट इस क्षेत्र में काम करने के लिए योग्यता हासिल कर लेते हैं।‌ वैसे आपको यहां बता दें कि पुराने समय में अगर कोई कैंडिडेट इस क्षेत्र में काम करना चाहता था तो तब उसे किसी भी प्रकार की फॉर्मल क्वालिफिकेशन की आवश्यकता नहीं होती थी लेकिन अब ऐसा नहीं है और इसीलिए कैंडिडेट को इससे संबंधित कोर्स करना होता है जिसको करने के बाद वह इस काबिल हो जाता है कि वह इस क्षेत्र में काम कर सके। 

लैंड सर्वेयर बनने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए 

  • कैंडिडेट ने सिविल इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की हो।  
  • या फिर बीटेक किया हो। 
  • या फिर सिविल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा किया हो। 
  • विभिन्न प्रकार की भूमि की पहचान करना आना चाहिए। 
  • नक्शे बनाने में निपुण होना चाहिए। 
  • मैथमेटिक्स काफी स्ट्रांग होना चाहिए। 

आयु सीमा 

जो भी कैंडिडेट इस इंडस्ट्री में काम करने के इच्छुक होते हैं वो अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करके इस फील्ड में काम कर सकते हैं और इस प्रकार से कैंडिडेट की आयु 20 या 21 साल तक होनी चाहिए। इस फील्ड में काम करने के लिए अधिकतम आयु सीमा 35 साल तक है। लेकिन कहीं-कहीं पर अधिकतम आयु सीमा 40 साल तक रखी गई है। 

Also read: रेलवे गुड्स गार्ड (Railway Goods Guard) कैसे बनें?

लैंड सर्वेयर बनने के कैरियर संभावनाएं क्या है 

लैंड सर्वेयर बनने के बाद किसी भी कैंडिडेट के सामने कैरियर के बेहतरीन अवसर उपलब्ध हो जाते हैं जैसे कि वह गवर्नमेंट इंफ्रास्ट्रक्चर डिपार्टमेंट में काम कर सकते हैं और इसके अलावा वह प्राइवेट इंफ्रास्ट्रक्चर में भी कार्य करने के लिए योग्य हो जाते हैं। इसके अलावा कैंडिडेट अपना स्वयं का काम भी शुरू कर सकते हैं ।

वेतन 

जब कोई व्यक्ति एक लैंड सर्वेयर के रूप में काम करता है तो उसे उसकी योग्यता के आधार पर वेतन दिया जाता है जो कि कम या अधिक हो सकता है। लेकिन फिर भी अगर एवरेज सैलेरी की बात करें तो उसे हर महीने 30,000 से लेकर 40,000 रुपए तक तक का वेतन मिल जाता है। साथ ही साथ यह भी बता दें कि अगर कोई कैंडिडेट निजी तौर पर अपना काम शुरू करता है तो तब उसे हर महीने बहुत ही ज्यादा आमदनी हो जाती है जो कि लाखों रुपए से भी अधिक हो सकती है। लेकिन स्वयं का काम शुरू करने के लिए यह जरूरी है कि कैंडिडेट में एक्सपीरियंस और स्किल होने चाहिए। 

Also read: इंश्योरेंस एजेंट (Insurance Agent) कैसे बनें?

लैंड सर्वेयर के कार्य 

जो कैंडिडेट लैंड सर्वेयर के रूप में काम करते हैं उन्हें इस पद पर रहते हुए जो कार्य करने होते हैं उनकी जानकारी इस प्रकार से हैं-

  • किसी भी जमीन की भौगोलिक परिस्थिति का सर्वेक्षण करना।
  • भूमापन और गणना का कार्य करना।
  • मानचित्र से जो भी रिकॉर्ड संबंधित हो उसको पूरी तरह से मेंटेन करके रखना। 
  • अगर जरूरत पड़े तो नक्शे में फेरबदल का कार्य करने के साथ-साथ उनमें सुधार कार्य करना।
  • अपने से बड़े अधिकारियों के निर्देश के अनुसार लैंड का नक्शा बनाकर तैयार करना।
  • किसी भी लैंड या फिर स्थान की वास्तविक स्थिति के बारे में संपूर्ण आंकलन करना। 
  • किसी भी लैंड की स्केलिंग, मैपिंग इत्यादि करना।

निष्कर्ष

यह था हमारा आज का आर्टिकल जिसमें हमने आपको बताया लैंड सर्वेयर (Land Surveyor) कैसे बनें? इस प्रकार इस पोस्ट में हमने आपको जानकारी दी कि लैंड सर्वेयर क्या होता है और लैंड सर्वेयर बनने की प्रक्रिया क्या है। साथ ही साथ हमने यह भी बताया कि लैंड सर्वेयर बनने के लिए किसी भी व्यक्ति में कितनी योग्यता होनी आवश्यक होती है और जब कोई व्यक्ति इस इंडस्ट्री में काम करता है तो उसे हर महीने कितने रुपए तक का वेतनमान मिल जाता है। इसके अलावा हमने यह जानकारी भी दी कि लैंड सर्वेयर को कौन-कौन से कार्य करने होते हैं। हालांकि अगर देखा जाए तो यह फील्ड ऐसे लोगों के लिए बहुत ही अच्छी है जो गणित विषय में बहुत अच्छे हैं और जिन्होंने इंजीनियरिंग के क्षेत्र में पढ़ाई की है।

इस प्रकार वह लैंड सर्वेयर बनकर अपने कैरियर में काफी कामयाबी हासिल कर सकते हैं। अंत में हमारी आपसे यही रिक्वेस्ट है कि अगर आपको हमारा यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो इसे अपने उन दोस्तों के साथ भी अवश्य शेयर करें जो लैंड सर्वेयर बनने के इच्छुक हैं।

Leave a Reply