आईएफएस ऑफिसर (IFS Officer)कैसे बने

दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि आप अपने देश की सेवा कैसे कर सकते हैं क्योंकि अपने देश की सेवा करने के लिए यह जरूरी नहीं है कि आप आर्मी ही ज्वाइन करें। अगर आपने ग्रेजुएशन कर लिया है तो आप आईएफएस ऑफिसर बनकर देश सेवा कर सकते हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यदि आप इस पद पर कार्य करेंगे तो आपको सम्मान के साथ-साथ एक बहुत ही बेहतरीन भविष्य भी मिलेगा।

हम आज के इस आर्टिकल में आईएफएस अधिकारी बनने की पूरी जानकारी देने वाले हैं जिसके अंतर्गत हम आपको बताएंगे कि एक आईएफएस ऑफिसर कौन होता है और उसके कार्य क्या क्या होते हैं। इसके अलावा हम आपको यह भी जानकारी देंगे की इसके लिए कौन सी परीक्षा का आयोजन किया जाता है और परीक्षा की योग्यता के बारे में भी जानकारी देंगे। साथ ही अन्य सभी आवश्यक जानकारी भी आपको बताएंगे इसलिए इस आर्टिकल को पूरा पढ़िएगा ताकि आपको इसके बारे में पूरी जानकारी हो सके।

आईएफएस ऑफिसर

आईएफएस ऑफिसर क्या होता है (What is IFS Officer In Hindi)

आईएफएस ऑफिसर वह होता है जिसके माध्यम से विदेशों में अपने देश का प्रतिनिधित्व किया जाता है। बता दें कि आईएफएस का पूरा नाम इंडियन फॉरेन सर्विस (Indian Foreign Service-IFS) होता है। दूसरे देशों के साथ सांस्कृतिक और व्यापारिक रिश्ते बनाने का काम आईएफएस अधिकारी का ही होता है।

यहां आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आईएफएस ऑफिसर की नियुक्ति केंद्र सरकार के अंतर्गत की जाती है। जो व्यक्ति आईएफएस ऑफिसर के पद पर कार्य करता है उसको उसी तरह सम्मान मिलता है जैसे किसी आईपीएस ऑफिसर को मिलता है। बल्कि अगर देखा जाए तो एक आईपीएस ऑफिसर से भी अधिक सम्मान आईएफएस ऑफिसर को मिलता है। किसी भी युवा के लिए इस पद पर कार्य करना अत्यंत गर्व की बात होती है क्योंकि उस पर अपने देश को विदेशों में रिप्रेजेंट करने का मौका मिलता है। 

आईएफएस ऑफिसर बनाने के लिए शिक्षा आवश्यकताएं/ योग्यता  (IFS Officer Education Requirements)

  • उम्मीदवार ने किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से ग्रेजुएशन किया होना चाहिए। 
  • इसके अलावा उसको अंग्रेजी भाषा का अच्छा ज्ञान होना अनिवार्य है। 

आईएफएस ऑफिसर बनाने के लिए शारीरिक आवश्यकताएं/ योग्यता

जो उम्मीदवार आईएफएस ऑफिसर बनना चाहते हैं उनके पास परीक्षा में बैठने के लिए योग्यता होनी चाहिए। इस पद के लिए जो योग्यताएं निर्धारित की गई है वह इस प्रकार से हैं- 

आयु

  • उम्मीदवार की न्यूनतम आयु 21 साल और अधिकतम आयु 32 साल होनी चाहिए। 
  • आरक्षित वर्ग के उम्मीदवारों को सरकार के निर्देशानुसार आयु सीमा में छूट दी गई है। 

आईएफएस ऑफिसर बनाने के लिए परिक्षाए

जो उम्मीदवार आईएफएस ऑफिसर बनना चाहते हैं उसके लिए उन्हें यूपीएससी के द्वारा आयोजित परीक्षा को पास करना होता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आईएफएस ऑफिसर की चयन परीक्षा 3 चरणों में होती है जिनको उम्मीदवार के लिए पास करना अनिवार्य है। आपको जानकारी देने के लिए निम्नलिखित हम तीनों चरणों की परीक्षा के बारे में बता रहे हैं जो आपके लिए काफी मददगार रहेगी- 

प्रलेमिनिरी एग्जाम (Preliminary Exam) 

प्रलेमिनिरी एग्जाम के अंतर्गत उम्मीदवार को दो पेपर देने होते हैं। पहले पेपर के अंदर जनरल स्टडीज पर आधारित प्रश्न पूछे जाते हैं जैसे हिस्ट्री, ज्योग्राफी, कल्चर, इकोनॉमिक्स, साइंस, टेक्नोलॉजी, करंट अफेयर्स इत्यादि विषयों पर बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाते हैं। इसी प्रकार इसके दूसरे पेपर में आपसे इंग्लिश रिजनिंग एप्टिट्यूड और डिसीजन मेकिंग से संबंधित बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाते हैं। इन दोनों को पास करना आवश्यक होता है तभी आपको अगले चरण के लिए बुलाया जाता है। 

यहां आपको यह जानकारी भी दे दें कि इस परीक्षा के बाद आपसे एक फॉर्म भरवाया जाता है जिसमें आपको अपने बारे में सारी डिटेल भरनी होती है और इसके साथ-साथ आपको यह भी भरना होता है कि आप किस तरह के पोस्ट पर काम करना चाहते हैं। इसलिए आप इस फार्म के अंदर अपना पूरा विवरण बहुत ही ध्यान पूर्वक भरें और जो भी डिटेल आप से मांगी जाए और सब को भी ठीक से भरें। 

मेंस एग्जाम (Mains Exam) 

इस परीक्षा के अंतर्गत उम्मीदवारों से 9 प्रश्नपत्र करवाए जाते हैं और आपको बता दें कि हर एक प्रश्न पत्र अलग-अलग विषय पर आधारित होता है। यहां जानकारी के लिए बता दें कि इस परीक्षा में कैंडिडेट से एथिक्स, नैतिकता, जनरल स्टडीज, हिंदी और इंग्लिश जैसे विषयों पर प्रश्न पूछे जाते हैं। इसके अलावा निबंध के लिए भी एक अलग प्रश्नपत्र होता है जो कि सभी उम्मीदवारों को करना जरूरी होता है।  

इंटरव्यू (Interview)

पहले दोनों चरणों की परीक्षाओं को जो उम्मीदवार सफलतापूर्वक पास कर लेते हैं उनको फिर इंटरव्यू के लिए आमंत्रित किया जाता है। यह इस परीक्षा का सबसे आखरी चरण होता है जिसमें उम्मीदवार से विभिन्न विषयों पर चर्चा की जाती है। अगर उम्मीदवार इंटरव्यू में भी सफल हो जाते हैं तो उन्हें फिर आईएफएस ऑफिसर के पद पर नियुक्ति दे दी जाती है। यहां आपको यह बात भी बता दें कि प्रथम चरण की परीक्षा के बाद आपसे जो एक फॉर्म भरवाया गया था जिसमें आपने अपना सारा विवरण और किस पोस्ट पर आप काम करना चाहते हैं के बारे में आपने जानकारी भरी थी उसके अनुसार आपको नौकरी दे दी जाती है। 

भारत में टॉप 10 आईएफएस कोचिंग सेंटर्स

  • चहल अकैडमी, दिल्ली (Chahal Academy Delhi)
  • कौटिल्य अकैडमी, चेन्नई (Kautilya Academy Chennai)
  • ब्रिलियंट एजुकेशन ब्यूरो चेन्नई (Brilliant education bureau, Chennai)
  • नानो एजुकेशनल अकैडमी, हैदराबाद (Nano educational Academy, Hyderabad)
  • स्टडी केंपस मुंबई (Study campus Mumbai)
  • एएलएस सेटेलाइट एजुकेशन प्राइवेट लिमिटेड मुंबई (ALS satellite education Private limited, Mumbai)
  • सक्सेस फोरम, पुणे (Success forum, Pune)
  • टीचवेल इंस्टीट्यूट, सोनीपत (Teachwell institute, Sonipat)
  • इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैथमेटिकल साइंसेज दिल्ली (Institute of mathematical sciences Delhi)
  • सेंट थॉमस अकैडमी फॉर रिसर्च एंड ट्रेनिंग, केरला (St. Thomas Academy for Research and training, Kerala)

आईएफएस ऑफिसर बनने के लिए पुस्तकें और अध्ययन सामग्री

किसी भी परीक्षा के लिए पुस्तकें अत्यंत महत्वपूर्ण होती है क्योंकि उनकी सहायता से कोई भी व्यक्ति ठीक प्रकार से अपनी पढ़ाई कर सकता है। इसलिए आप हमेशा इस बात को ध्यान में रखें कि जब भी आप मार्केट से किताबें खरीदने जाए तो केवल उन्हीं किताबों का चुनाव करें जो आपकी एग्जाम को पास करने में मदद करें। निम्नलिखित कुछ किताबों के नाम हम बता रहे हैं जिन को खरीदकर आप आईएफएस परीक्षा की तैयारी कर सकते हैं- 

  • इंडियन आर्ट एंड कल्चर बाय नितिन सिंघानिया (Indian art and culture by Nitin Singhania)
  • मॉडर्न इंडिया बाय बिपिन चंद्र (Modern India by Bipin Chandra)
  • मॉडर्न इंडिया फ्रॉम स्पेक्ट्रम पब्लिकेशन बाय राजीव अहीर (Modern India from spectrum Publication by Rajiv Ahir)
  • एनसीईआरटी बुक -क्लास Xl  (NCERT book – Class Xl )
  • इंडिया ए कंप्रिहेंसिव ज्योग्राफी बाय खुल्लर (India A comprehensive geography by Khullar)
  • इंडियन इकोनामी बाय संजीव वर्मा (Indian economy by Sanjiv Verma)
  • सोशल प्रॉब्लम बाय राम आहूजा (Social problem by Ram Ahuja)
  • आवर कॉन्स्टिट्यूशन बाय शुभम सी कश्यप  (Our constitution by Shubham C.  Kashyap)
  • बायोलॉजी एनसीईआरटी बुक – क्लास Xll (Biology NCERT book- class Xll)

आईएफएस ऑफिसर के कार्य

निसंदेह एक आईएफएस ऑफिसर का पद काफी महत्वपूर्ण होता है जिसके तहत उसको अपनी जिम्मेदारी बहुत सावधानी पूर्वक निभानी होती है। यहां हम आपको आईएफएस ऑफिसर के कुछ कार्य बता रहे हैं जो कि इस प्रकार से हैं-

  • विदेशों के अलावा देश में भी विभिन्न मुद्दों पर अपने देश के हितों की रक्षा करना और देश की प्रगति के लिए निरंतर प्रयास करते रहना।
  • दूसरे देशों के साथ अपने देश के सांस्कृतिक संबंध स्थापित करने के साथ-साथ सफलतापूर्वक राजनीतिक संबंध भी स्थापित करना। 
  • अपने देश की विदेश नीति का सुचारू रूप से निर्माण करना।
  • विदेशों में अपने देश का विभिन्न मुद्दों पर प्रतिनिधित्व करना। 
  • आईएफएस ऑफिसर की यह भी जिम्मेदारी होती है कि वह जिस देश में नियुक्त किया गया है वहां अपने देश के राष्ट्रीय हितों को सुनिश्चित करें। 
  • आईएफएस ऑफिसर का यह भी कार्य होता है विदेशों में घटने वाली उन सभी घटनाओं के बारे में सही जानकारी देते हैं जो देश की नीति निर्माण को प्रभावित कर सकती हैं। 

आईएफएस ऑफिसर का वेतन कितनी होती है

आईएफएस ऑफिसर को बेसिक पे 16500 रुपए से लेकर 40000 रुपए तक मिलती है जिसमें 5400 रुपए ग्रेड पे भी मिलती है। इसके अलावा आईएफएस ऑफिसर को अन्य दूसरे भत्ते भी मिलते हैं जैसे ट्रैवल एलाउंस (TA), हाउस रेंट अलाउंस (HRA), डियरनेस  एलाउंस (DA) इत्यादि। इस प्रकार एक आईएफएस ऑफिसर को प्रतिमाह 50,000 रुपए तक का वेतनमान मिलता है। 

निष्कर्ष

दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिकल जिसमें हमने आपको बताया आईएफएस ऑफिसर (IFS Officer)कैसे बनें। इस लेख के माध्यम से हमने आपको उन सभी जरूरी किताबों के बारे में बताया जो आपकी आईएफएस परीक्षा को पास करने में सहायक रहेंगी। इसके साथ साथ ही हमने आपको यह भी बताया कि भारत में कौन से ऐसे कोचिंग सेंटर है जहां से आप आईएफएस की कोचिंग ले सकते हैं। हमें पूरी उम्मीद है कि यह आर्टिकल आपके लिए अत्यधिक सहायक रहेगा। 

इस आर्टिकल को आप अपने उन सभी दोस्तों के साथ भी शेयर करें जो आईएफएस ऑफिसर बनना चाहते हैं। हमने इस आर्टिकल के माध्यम से आपको सारी आवश्यक जानकारी दे दी है परंतु यदि फिर भी आपके मन में किसी प्रकार की कोई दुविधा या प्रश्न है तो आप हमसे कमेंट करके पूछ सकते हैं। 

Deepak Kumar

दीपक कुमार After12th.net के लेखक और संस्थापक हैं। वह छात्रों को उनकी धारा तय करने और उद्योग में पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी प्रदान करने में मदद करता है। वह उन्हें नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने में मदद करता है। उनका उद्देश्य देश में अधिकतम छात्रों के लिए वैध और उपयोगी जानकारी साझा करना है।

Leave a Reply