आईएएस ऑफिसर (IAS Officer)कैसे बने

दोस्तों यदि आप एक ऐसी नौकरी करना चाहते हैं जिसमें आपको शक्ति और सम्मान दोनों ही मिले तो यकीन मानिए इसके लिए आप आईएएस अधिकारी बन सकते हैं। यहां आपको बता दें कि आईएएस हमारे देश में सर्वश्रेष्ठ पदों में से एक है जिस पद पर कार्य करने के लिए उम्मीदवार दिन-रात चयन परीक्षा की तैयारी करते हैं। लेकिन सिविल परीक्षा को पास करना इतना भी आसान नहीं होता है। इस परीक्षा में केवल वही उम्मीदवार पास हो सकता है जो अत्याधिक कठिन परिश्रम के साथ-साथ एक बेहतरीन प्लानिंग के साथ परीक्षा की तैयारी करता है।

आज के इस आर्टिकल के द्वारा हम आपको आईएएस ऑफिसर से जुड़ी हुई सारी अनिवार्य बातें बताएंगे ताकि आपको एक सही गाइडेंस मिल जाए क्योंकि अकसर सही मार्गदर्शन नहीं होने के कारण भी कैंडिडेट इस परीक्षा में असफल हो जाते हैं। तो आज के इस आर्टिकल को आप पूरा अवश्य पढ़िएगा ताकि आपको आईएएस ऑफिसर से जुड़ी हुई सारी आवश्यक बातें पता चल सकें।

आईएएस ऑफिसर

आईएएस ऑफिसर क्या होता है (What is IAS Officer In Hindi)

आईएएस का फुल फॉर्म होता है इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस (Indian Administrative service-IPS) और इसे हिंदी में भारतीय प्रशासनिक सेवा कहते हैं। जानकारी के लिए बता दें कि आईएएस के पद पर कार्य करने के लिए उम्मीदवार को यूपीएससी का एग्जाम पास करना होता है। 

यहां आपको यह भी बता दें कि हर वर्ष यूपीएससी 24 सर्विस के लिए चयन परीक्षा कंडक्ट करती है जिसमें से एक आईएएस भी है। जो उम्मीदवार इस परीक्षा को पास कर लेते हैं उन्हें अलग-अलग क्षेत्रों में अलग-अलग पदों पर नियुक्त कर दिया जाता है जैसे- डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट, एसडीएम इत्यादि। इसके अलावा आपको बता दें कि आईएस उम्मीदवार देश के विभिन्न मंत्रालय एवं जिलों के मुखिया भी बनाए जाते हैं और यह सबसे ऊंचे पद यानी केबिनेट सेक्रेट्री तक भी चले जाते हैं। 

आईएएस ऑफिसर बनाने के लिए शिक्षा आवश्यकताएं/ योग्यता  (IAS Officer Education Requirements)

वह उम्मीदवार जो आईएएस ऑफिसर के पद पर कार्य करना चाहते हैं और इसकी चयन परीक्षा में बैठना चाहते हैं तो उसके लिए हम बता दें कि यूपीएससी की परीक्षा में बैठने के लिए कुछ योग्यताएं निर्धारित की गई है जिनकी जानकारी इस प्रकार से है-

  • कैंडिडेट के पास किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन की डिग्री होनी चाहिए। 
  • जो उम्मीदवार ग्रेजुएशन के अंतिम वर्ष में है वह भी इस परीक्षा में बैठ सकते हैं। 

आईएएस ऑफिसर बनाने के लिए शारीरिक आवश्यकताएं/ योग्यता

आईएएस ऑफिसर बनने के लिए किसी भी उम्मीदवार के अंदर निम्नलिखित योग्यताएं होना अनिवार्य है-

आयु

  • उम्मीदवार की आयु न्यूनतम 21 साल होनी चाहिए और अधिकतम आयु 32 साल होनी चाहिए। 
  • ओबीसी वर्ग के कैंडिडेट को अधिकतम आयु सीमा में 3 वर्ष की छूट दी गई है। 
  • एससी और एसटी वर्ग के उम्मीदवारों को अधिकतम आयु सीमा में 5 साल की छूट दी गई है।
  • जो उम्मीदवार शारीरिक रूप से विकलांग है उनको अधिकतम आयु सीमा में 10 साल की छूट दी गई है। 

आईएएस ऑफिसर बनाने के लिए परिक्षाए

आईएएस ऑफिसर एक बहुत ही ऊंचा पद है इसीलिए इस पद पर परीक्षा भी अत्यंत कठिन होती है जिसको पास करना बहुत ही मुश्किल होता है। इस परीक्षा में हर वर्ष लाखों उम्मीदवार भाग लेते हैं लेकिन यह परीक्षा इतनी कठिन है कि उसमें बहुत कम उम्मीदवारी ही सफल हो पाते हैं। निम्नलिखित हम आपको यूपीएससी एग्जाम पैटर्न बता रहे हैं जो आईएएस बनने के लिए देना अनिवार्य होता है-

प्रिलिम्स एग्जाम (Prelims exam) 

यूपीएससी प्रेलिमिनेरी परीक्षा के अंतर्गत दो पेपर उम्मीदवारों से करवाता है। यह पेपर एक दिन के अंदर ही होते हैं। यहां आपको बता दें कि इन दोनों पेपरों में ही उम्मीदवार से बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाते हैं। यह परीक्षा एक प्रकार से एक क्वालीफाइंग परीक्षा है और इस परीक्षा में जो उम्मीदवार पास होते हैं वही आगे मेंस एग्जाम के लिए आमंत्रित किए जाते हैं। जानकारी के लिए बता दें कि इस परीक्षा में जनरल स्टडीज-l और जनरल स्टडीज-ll दोनों में ही कैंडिडेट से ऑब्जेक्टिव टाइप प्रश्न पूछे जाते हैं। 

इसके अलावा आपको बता दें कि जनरल स्टडीज-l पेपर में 100 प्रश्न आते हैं जिनके लिए 200 अंक रखे गए हैं। इस पेपर की अवधि 2 घंटे रखी गई है और इसमें यदि आप किसी सवाल का गलत उत्तर देंगे तो आपके अंक भी काट लिए जाएंगे। 

इसी प्रकार जनरल स्टडीज-ll  (सीएसएटी-CSAT) में भी उम्मीदवार से ऑब्जेक्टिव टाइप प्रश्न पूछे जाते हैं और सभी प्रश्नों की संख्या 80 होती है जिनके लिए 200 अंक रखे गए हैं। परीक्षा की अवधि भी 2 घंटे की होती है और इसमें नेगेटिव मार्किंग भी रखी गई है। 

आईएएस एग्जाम पैटर्न फॉर मेंस (IAS exam pattern for Mains)

यूपीएससी की आईएएस कि यह परीक्षा देश की सबसे अधिक कठिन परीक्षाओं में से एक है। बता दें कि इस परीक्षा में वही कैंडिडेट भाग लेते हैं जो प्रारंभिक परीक्षा को पास करते हैं। यहां आपको बता दें कि इस परीक्षा में नौ पेपर उम्मीदवारों से करवाए जाते हैं। इसके अंतर्गत अभ्यर्थियों से जनरल स्टडीज, सोसाइटी, एग्रीकल्चर, गवर्नेंस,  इंग्लिश लैंग्वेज, क्वालिटी कॉन्स्टिट्यूशन इंटरनेशनल रिलेशन, इकोनामिक डेवलपमेंट इत्यादि विषयों पर आधारित प्रश्न पूछे जाते हैं। यहां आपको बता दें कि प्रत्येक पेपर की अवधि 3 घंटे की होती है और पेपर ए और पेपर बी 300- 300 अंक के होते हैं और इसके अलावा बाकी अन्य सारे पेपर 250-250 के होते हैं। इस परीक्षा के अंदर जितने भी उम्मीदवार उत्तीर्ण होते हैं उन सब को फिर साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है। 

आईएएस इंटरव्यू (IAS Interview) 

आईएएस एग्जाम की यह सबसे आखिरी स्टेज होती है। इसमें उन्हीं उम्मीदवारों को बुलाया जाता है जो यूपीएससी मेंस परीक्षा को पास कर लेते हैं। यहां आपको बता दें कि यह एक तरह से उम्मीदवार का पर्सनैलिटी टेस्ट होता है। ‌इसके माध्यम से उम्मीदवार की मानसिक क्षमता को आंका जाता है और यह देखा जाता है कि वह व्यक्तिगत तौर पर फैसले लेने में कितना सक्षम है। इसके साथ-साथ उम्मीदवार की जनरल नॉलेज को भी जांचा जाता है। इंटरव्यू परीक्षा के लिए 275 अंक रखे गए हैं। अगर उम्मीदवार इस इंटरव्यू परीक्षा में भी पास हो जाते हैं तो फिर उन्हें आईएएस ऑफिसर के पद पर नियुक्त कर दिया जाता है। 

भारत में टॉप 10 आईएएस कोचिंग सेंटर्स

  • वजीराम एंड रवी आईएएस कोचिंग, दिल्ली (Vajiram and Ravi IAS coaching, Delhi)
  • विजन इंडिया आईएएस कोचिंग, दिल्ली (Vision India IAS coaching, Delhi)
  • केएसजी आईएएस कोचिंग, बेंगलुरु (KSG IAS coaching, Bangalore)
  • राज मल्होत्रा आईएएस कोचिंग चंडीगढ़ (Raj Malhotra IAS coaching Chandigarh)
  • योजना आईएएस कोचिंग कोलकाता (Yojana IAS coaching Kolkata)
  • वैद्स आईसीएस आईएएस कोचिंग, लखनऊ (Vaid’s Ics IAS Coaching, Lucknow)
  • चाणक्य आईएएस अकैडमी, बिहार (Chanakya IAS Academy, Bihar)
  • नवनीत इंस्टीट्यूट, अहमदाबाद (Navneet institute, Ahmedabad)
  • उज्जवल आईएएस अकैडमी, जम्मू एंड कश्मीर (Ujjwal IAS Academy, Jammu and Kashmir)
  • लिगेसी आईएएस अकैडमी कर्नाटका (Legacy IAS academy Karnataka) 

आईएएस ऑफिसर बनने के लिए पुस्तकें और अध्ययन सामग्री

कामयाब वही इंसान होता है जो ठीक प्रकार से प्लानिंग करके अपनी परीक्षा की तैयारी करें और किताबें इसके अंदर सबसे अधिक महत्वपूर्ण रोल निभाती है। इन किताबों को पढ़कर ही कोई भी उम्मीदवार आईएएस की परीक्षा को पास कर सकता है। लेकिन जब आप मार्केट में पुस्तके लेने जाएंगे तो वहां पर आपको अलग-अलग विषयों की बहुत सारी किताबें देखने को मिलेंगे जिसके कारण आप अत्यधिक दुविधा में पड़ जाएंगे कि कौन सी किताब लेना आपके लिए उचित रहेगा।

इसलिए किताबें खरीदते समय आपको काफी समझदारी दिखानी होगी और उन्हीं किताबों को खरीदना होगा जो आपकी आईएएस ऑफिसर बनने की परीक्षा में मदद कर सकें।‌ निम्नलिखित कुछ किताबों के नाम आपको बता रहे हैं जो आपकी यूपीएससी परीक्षा की तैयारी के लिए अत्यधिक सहायता करेंगी- 

  • इंडियाज स्ट्रगल फॉर इंडिपेंडेंस बाय (India’s struggle for independence by Bipan Chandra)
  • सर्टिफिकेट फिजिकल ज्योग्राफी बाय सीजी  लिओंग (Certificate physical geography by CG Leong)
  • इंडियन पालिटी बाय एम लक्ष्मीकांत  (Indian Polity by M Laxmikanth)
  • इकोनामिक डेवलपमेंट एंड पॉलिसीज इन इंडिया बाय जैन ओहरी (Economic development and policies in India by Jain and ohri)
  • वर्बल एंड नॉनवर्बल रीजनिंग बाय आरएस अग्रवाल (Verbal and Non-Verbal Reasoning RS Aggarwal)
  • इंडिया आफ्टर इंडिपेंडेंस बाय बिपन  चंद्र (India after independence by Bipan Chandra)
  • हिस्ट्री ऑफ मेडिकल इंडिया बाय सतीश चंद्र (History of mediaeval India by Satish Chandra)
  • ज्योग्राफी ऑफ इंडिया बाय मजीद हुसैन (Geography of India by Majid Husain)
  • वर्ल्ड ज्योग्राफी बाय मजीद हुसैन (World geography by Majid Husain)
  • इंट्रोडक्शन टू द कॉन्स्टिट्यूशन ऑफ़ इंडिया बाय डीडी बसु (Introduction to the constitution of India by DD Basu)
  • इंडियन इकोनामी बाय रमेश सिंह (Indian economy by Ramesh Singh)
  • कक्षा 11वीं और 12वीं की एनसीईआरटी की किताबें (Class 11th and 12th NCERT books)
  • पिछले वर्ष के प्रश्न पत्र। 

आईएएस ऑफिसर के कार्य

  • एक आईएएस का सबसे प्रमुख कार्य देश में सरकार की नीतियों को लागू करने के साथ-साथ उन पर पालन करवाना भी होता है। 
  • सभी आवश्यक सरकारी मामलों को संभालने का काम भी आईपीएस ऑफिसर को सौंपा जाता है। 
  • वह कानून जो संसद में बनाए जाते हैं उनको आईएएस अधिकारी के द्वारा उनके अपने इलाकों में लागू करवाया जाता है। 
  • आईपीएस ऑफिसर सरकार के द्वारा चलाए गए विकास कार्यक्रमों की देखरेख भी करता है। इसके अलावा कई विकास कार्यक्रमों के लिए फंड की इजाजत भी आईएस ऑफिसर ही देता है। 
  • वह यह सुनिश्चित करता है कि उसके क्षेत्र में कार्य करने वाले सभी सरकारी कर्मचारी या फिर सरकारी अधिकारी किसी प्रकार का कोई भ्रष्टाचार तो नहीं कर रहे हैं। 
  • एक आईएएस ऑफिसर अपने अंतर्गत काम करने वाले सभी कर्मचारियों और अधिकारियों को नियंत्रित रखता है।
  • अगर विकास के लिए कोई प्रोजेक्ट चल रहा है और उस पर ठीक से काम नहीं हो रहा है तो आईएस ऑफिसर उस प्रोजेक्ट को रुकवाने की शक्ति रखता है। 

आईएएस ऑफिसर का वेतन कितनी होती है

कोई भी उम्मीदवार जो आईएएस ऑफिसर बन जाता है उसको सातवें पे कमीशन के अनुसार हर महीने 2,50,000 प्रतिमाह दी जाती है इसके अलावा उसको अन्य भत्ते भी दिए जाते हैं जैसे ट्रैवल एलाउंस, हाउस रेंट अलाउंस, डियरनेस एलाउंस, मेडिकल बेनिफिट्स आदि। यहां आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आईएएस ऑफिसर को रहने के लिए घर, गार्ड, डोमेस्टिक सर्वेंट, कार इत्यादि अन्य सुविधाएं भी दी जाती हैं। 

निष्कर्ष

दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हमने आपको बताया आईएएस ऑफिसर कैसे बनें। इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको आईएएस ऑफिसर बनने के लिए यूपीएससी जो परीक्षा कंडक्ट करवाता है उसके बारे में भी पूरी जानकारी दी और हमने आपको आपकी परीक्षा के लिए कुछ अत्यंत महत्वपूर्ण किताबों के बारे में भी बताया। इसके साथ हमने आपको यह भी जानकारी दी कि भारत में कौन से सबसे अच्छे कोचिंग हैं जहां से आप आईएएस की कोचिंग ले सकते हैं। हमें पूरी आशा है कि यह आर्टिकल आपके लिए अत्यंत लाभदायक रहेगा जिसकी मदद से आपको आईएएस ऑफिसर बनने के लिए एक उचित मार्गदर्शन मिलेगा। 

हमने इस आर्टिकल में आपको सारी जानकारी दे दी है लेकिन फिर भी अगर आईएएस ऑफिसर को लेकर या इसकी परीक्षा को लेकर किसी भी तरह की कोई दुविधा है या फिर कोई प्रश्न आपके मन में आ रहा है तो आप हमसे कमेंट करके पूछ सकते हैं।  

Deepak Kumar

दीपक कुमार After12th.net के लेखक और संस्थापक हैं। वह छात्रों को उनकी धारा तय करने और उद्योग में पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी प्रदान करने में मदद करता है। वह उन्हें नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने में मदद करता है। उनका उद्देश्य देश में अधिकतम छात्रों के लिए वैध और उपयोगी जानकारी साझा करना है।

Leave a Reply