सरकारी टीचर (Government Teacher) कैसे बने पूरी जानकारी

  • Post author:
  • Post category:Arts

टीचर का दर्जा हमारे समाज में बहुत अधिक सम्मानजनक होता है लेकिन अगर कोई सरकारी टीचर है तो फिर उसके सम्मान में चार चांद लग जाते हैं। एक प्राइवेट टीचर की तुलना में एक सरकारी टीचर को ज्यादा इज्जत दी जाती है। कुछ छात्र ऐसे होते हैं जो अपने शिक्षकों से बहुत प्रभावित हो जाते हैं और उन्हीं की तरह अपना ज्ञान समाज में बांटना चाहते हैं। तो इसके लिए सबसे अच्छा ऑप्शन है अध्यापक बनना।

आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि एक सरकारी टीचर क्या होता है और उसके लिए क्या-क्या पढ़ाई करनी पड़ती है। इसके अलावा हम आपको यह भी बताएंगे कि आप कैसे एक सरकारी टीचर बन सकते हैं और बच्चों को पढ़ा सकते हैं। 

सरकारी टीचर कैसे बनें (How to Become Government Teacher in Hindi)

सरकारी टीचर बनने के लिए सबसे अधिक ज़रूरी है कि आपको उसमें इंटरेस्ट हो यानि कि आपको पढ़ना भी पसंद होना चाहिए और पढ़ाना भी। इसके अलावा आपको यह चुनाव भी करना होगा कि आप कौन सी कक्षा को पढ़ाने में रुचि रखते हैं। फिर उसी हिसाब से आपको अपने टीचर बनने की तैयारी करने की आवश्यकता पड़ेगी। यहां आपकी जानकारी के लिए हम बता दें कि सरकारी टीचर के पोस्ट को तीन वर्गों में बांटा गया है जो कि इस प्रकार हैं-

  • पीआरटी यानि प्राइमरी टीचर (PRT-Primary Teacher)
  • टीजीटी यानि ट्रेंड ग्रेजुएट टीचर (TGT-Trained Graduate Teacher)
  • पीजीटी यानि पोस्ट ग्रैजुएट टीचर (PGT- Post Graduate Teacher)

Also readएनटीटी कोर्स (NTT Course) कैसे करें पूरी जानकारी

पीआरटी-प्राइमरी टीचर 

प्राइमरी टीचर वह होता है जो कक्षा 1 से लेकर कक्षा 5 तक के छोटे बच्चों को पढ़ाता है। यदि आप प्राइमरी स्कूल टीचर बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपके पास बारहवीं कक्षा के साथ-साथ बीएलएड की डिग्री होनी चाहिए। इसके अलावा यदि किसी के पास नर्सरी टीचर ट्रेनिंग की डिग्री है तो वह भी टीचर बन सकता है।‌ यहां आपको बता दें कि अगर आपने एनटीटी किया हुआ है तो आप नर्सरी क्लास के छोटे-छोटे बच्चों को ही शिक्षा दे सकते हैं। 

टीजीटी-ट्रेंड ग्रेजुएट टीचर 

टीजीटी टीचर छठी क्लास से लेकर दसवीं क्लास तक के बच्चों को शिक्षा देता है। अगर कोई टीजीटी टीचर बनना चाहता है तो उसके लिए ग्रेजुएशन के बाद उसके पास बीएड की डिग्री होनी चाहिए। 

पीजीटी-पोस्ट ग्रेजुएट टीचर 

पोस्ट ग्रेजुएट टीचर उन सभी बच्चों को पढ़ा सकते हैं जो कक्षा ग्यारहवीं और बारहवीं में पढ़ते हैं। अगर आपने पोस्ट-ग्रेजुएशन किया हुआ है और उसके साथ-साथ बीएड की डिग्री आपके पास है तो आप पीजीटी टीचर बन सकते हैं। 

योग्यता (Eligibility Criteria)

  • उम्मीदवार ने पीआरटी, टीजीटी, पीजीटी किया हुआ हो।
  • आवेदक ने CTET / टीईटी क्लियर किया हो। 

Also readबीएड कोर्स (B.Ed Course) कैसे करे पूरी जानकारी

सरकारी टीचर बनने के लिए शिक्षा आवश्यकताएँ (Education Requirements)

पीआरटी टीचर बनने के लिए शिक्षा आवश्यकताएं

  • किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से कक्षा बारहवीं 50% अंकों के साथ पास होना चाहिए। 
  • आवेदक बीएलएड, एनटीटी और बीटीसी किया होना चाहिए।
  • उसके पास सीटीईटी (CTET)  या फिर  टीईटी (TET) का सर्टिफिकेट होना चाहिए। 

टीजीटी टीचर बनने के लिए शिक्षा आवश्यकताएं

  • आवेदक किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से ग्रेजुएशन होना चाहिए।
  • आवेदक ने बीएड किया हो।  
  • आवेदक के पास सीटीईटी (CTET)  या फिर स्टेट टीईटी (TET) का सर्टिफिकेट होना चाहिए। 

पीजीटी टीचर बनने के लिए शिक्षा आवश्यकताएं 

  • किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री।
  • आवेदक ने बीएड किया हो। 

यहां आपको हम बता दें कि यदि आप सरकारी टीचर बनना चाहते हैं तो ऊपर लिखी सभी शिक्षा आवश्यकताओं के साथ साथ सीटीईटी (CTET) और टीईटी (TET) सर्टिफिकेट की आवश्यकता होती है। 

आयु सीमा

  • कैंडिडेट की आयु कम से कम 21 साल और अधिक से अधिक 40 साल होनी चाहिए। 
  • इसके अलावा केंद्रीय विद्यालय में अधिकतम आयु सीमा 35 साल रखी गई है।
  • केंद्रीय विद्यालयों में प्राइमरी टीचर या पीआरटी की नौकरी के लिए कैंडिडेट की अधिकतम आयु 30 वर्ष होनी चाहिए। 

Also readबीएसटीसी कोर्स (BSTC Course) कैसे करे

सरकारी टीचर बनने के लिए कौन से परीक्षा पास करनी पड़ती है 

CTET exam 

Central Board Eligibility Test परीक्षा पास करना होती है। यह परीक्षा सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन द्वारा करवाई जाती है। अगर आप इस परीक्षा को क्वालीफाई कर लेंगे तो आप सरकारी टीचर बन सकते हैं। अगर आप इस परीक्षा को पास करना चाहते हैं तो हम आपको बता दें कि कक्षा बारहवीं या फिर ग्रेजुएशन के बाद आपको दो भाग में परीक्षा देनी होगी। पेपर एक और पेपर दो। 

जानकारी दे दें कि यदि आप प्राइमरी कक्षा यानि कक्षा 1 से लेकर कक्षा 5 तक के छात्रों को पढ़ाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको पेपर 1 की तैयारी करनी होगी। इसके अलावा कक्षा छठी से लेकर कक्षा दसवीं तक के बच्चों को यदि आपने पढ़ाना है तो इसके लिए आपको पेपर 2 की तैयारी करनी होगी।  

टीईटी टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट 

टीईटी की परीक्षा को हर साल राज्य सरकार और सेंट्रल सरकार के द्वारा आयोजित करवाया जाता है और इस परीक्षा को जो कैंडिडेट पास कर लेते हैं वह सरकारी टीचर बन सकते हैं। इस एग्जाम को यदि आप देना चाहते हैं तो इसके लिए हम आपको बता दें कि आपके इसके लिए 12वीं कक्षा और ग्रेजुएशन में 50% अंक होने चाहिए। इसके साथ ही वही लोग टीईटी की परीक्षा दे सकते हैं जिन्होंने बीएड, बीएलएड और बीटीसी कर रखा हो।

इस तरह आपको इस परीक्षा की दो भागो में तैयारी करनी होगी यदि आपने प्राइमरी लेवल के बच्चों को पढ़ाना है तो आपको पेपर 1 की तैयारी करनी है और कक्षा 6 से लेकर 10 तक के बच्चों को पढ़ाने के लिए पेपर 2 देना होगा। साथ ही हम आपको इस बात की भी जानकारी दे दें कि यदि कोई कैंडिडेट चाहता है कि वह पहली कक्षा से लेकर दसवीं कक्षा तक के छात्रों को पढ़ाए तो फिर उसे दोनों पेपर देने पड़ेंगे। ‌ 

प्रवेश परीक्षा को पास करने के बाद अभ्यर्थियों को इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है और वहां पर फाइनल सिलेक्शन प्रक्रिया चलती है। जो कैंडिडेट इंटरव्यू प्रक्रिया को पास कर लेते हैं वह सरकारी टीचर बन जाते हैं। 

भारत में सरकारी टीचर के लिए शीर्ष कोचिंग सेंटर 

  • अतुल्य कोचिंग इंस्टीट्यूट उत्तम नगर  दिल्ली (Atul coaching Institute Uttam Nagar Delhi)
  • टीचर प्रोफेशनल स्टडीज इंस्टीट्यूट पीतमपुरा दिल्ली (Teacher Professional Studies Institute Pitampura, Delhi)
  • क्रिएटिव एजुकेशन इंस्टीट्यूट कोलकाता (Creative Education Institute Kolkata)
  • अचार्य अकैडमी मुंबई (Acharya Academy Mumbai)
  • इंडियन पब्लिक कैरियर इंस्टीट्यूट दादर मुंबई (Indian Public Career Institute Dadar Mumbai)
  • वी शाइन अकैडमी चेन्नई (We Shine Academy Mumbai) 
  • वेद टेक्नोलॉजी बेंगलुरु (Weda Technology Bengaluru)
  • अंशु कोचिंग क्लासेस जयपुर (Anshu Coaching Classes Jaipur)
  • ऋषि एकेडमी ऑफ कॉम्पिटेटिव एग्जाम्स हैदराबाद (Rishi Academy of Competitive Exam Hyderabad)

सरकारी टीचर बनने के लिए पुस्तकें और अध्ययन सामग्री 

  • चाइल्ड डेवलपमेंट एंड पेडागोजी बाय दिशा पब्लिकेशन (Child Development and Pedagogy by Disha Publication)
  • सीटीईटी बुक्स फॉर मैथमेटिक्स बाय विले पब्लिकेशन (CTET  books for    Mathematics by Wiley Publication)
  • सीटीईटी बुक्स फॉर एनवायरमेंटल स्टडीज बाय विले पब्लिकेशन (CTET books for Environmental studies)
  • मैथमेटिक्स एंड पेडागोजी बाय दिशा पब्लिकेशन (Mathematics and Pedagogy by Disha Publication) 
  • इंग्लिश लैंग्वेज बाय गीता साहनी (English language by Geeta Sahni)
  • हिंदी लैंग्वेज बाय अरिहंत पब्लिकेशन (Hindi Language by Arihant Publications)
  • सोशल स्टडीज बुक बाय पीयरसन पब्लिकेशन (Social Studies book by Pearson) 

Also readडीएलएड कोर्स क्या है ? DLED Course कैसे करे पूरी जानकारी

सरकारी टीचर का वेतन

एक सरकारी टीचर बनने के बाद आप काफी अच्छी सैलरी पा सकते हैं। सभी सरकारी शिक्षकों को वेतनमान उनके लेवल के अनुसार मिलता है। लेकिन यदि हम बात करें और अनुमान लगाएं कि वेतनमान कितना हो सकता है तो 9,000 से लेकर 34,000 तक हो सकता है। जैसे-जैसे आप पुराने टीचर होते जाओगे वैसे वैसे आपका वेतनमान भी बढ़ता जाएगा। 

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको बताया कि सरकारी टीचर कौन होता है और सरकारी टीचर कैसे बन सकते हैं। इस लेख में हमने आपको यह भी बताया कि सरकारी टीचर बनने के लिए क्या-क्या योग्यता होनी चाहिए और एक सरकारी टीचर महीने में कितनी तनख्वाह पा सकता है। हमें पूरी उम्मीद है कि हमारा यह आर्टिकल आपको अवश्य पसंद आया होगा।

अगर आपके मन में सरकारी टीचर से संबंधित कोई प्रश्न है तो कृपया हमें कमेंट करें ताकि आपके प्रश्न का जवाब हम आपको दे सकें। साथ ही दोस्तों हम आपसे कहेंगे कि इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शेयर करना मत भूलना। 

Leave a Reply