एनवायरमेंटल साइंटिस्ट (Environmental Scientist) कैसे बनें?

नमस्कार! दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि एनवायरमेंटल साइंटिस्ट कैसे बनें? ऐसे बहुत सारे स्टूडेंट है जिन्हें पर्यावरण से बहुत ज्यादा प्यार है और इसमें उनकी गहरी रुचि होती है जिसकी वजह से वह एनवायरमेंटल साइंटिस्ट के तौर पर अपना कैरियर बनाना चाहते हैं। यहां आपको बता दें कि अगर आप भी इस फील्ड में आना चाहते हैं और इससे संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी ढूंढ रहे हैं तो हमारे आज के इस आर्टिकल को सारा पढ़ें और जानें कि आप किस तरह से 12 वी के बाद एनवायरमेंटल साइंटिस्ट बन सकते हैं। 

एनवायरमेंटल साइंटिस्ट क्या है (what is Environmental Scientist in Hindi) 

यहां सबसे पहले आपको यह जानकारी दे दें कि एनवायरमेंटल साइंटिस्ट एक ऐसा प्रोफेशनल होता है जिसको हिंदी में पर्यावरण वैज्ञानिक के नाम से जाना जाता है। यह एक ऐसा पेशेवर है जो सभी वस्तुओं के भौतिक वातावरण के बारे में गहन अध्ययन करता है। साथ ही साथ वह यह स्टडी भी करता है कि वातावरण में मौजूद जितने भी भौतिक, रासायनिक और बायोलॉजिकल कंपोनेंट्स है उनमें आपस में किस प्रकार का इंटरेक्शन होता है। इसके अलावा जानकारी दे दें कि जो एनवायरमेंटल साइंटिस्ट होते हैं वह आमतौर पर इस बात के ऊपर फोकस करते हैं कि मानव गतिविधियों की वजह से पर्यावरण में प्रदूषण और उसकी गिरावट पर क्या प्रभाव पड़ता है। 

Also read: कॉस्मोलॉजिस्ट (Cosmologist) कैसे बनें?

एनवायरमेंटल साइंटिस्ट बनने के लिए प्रक्रिया क्या है

पर्यावरण वैज्ञानिक बनने के लिए कैंडिडेट को चाहिए कि वह सबसे पहले अपनी 12वीं कक्षा साइंस जैसे विषय के साथ पास करें और उसके बाद कैंडिडेट को चाहिए कि वह या तो बीएससी या फिर बीई इन एनवायरमेंटल साइंस के कोर्स में एडमिशन ले ले। इसके अलावा अगर छात्र चाहे तो वह अपनी ग्रेजुएशन केमिस्ट्री, जियोलॉजी, फिजिक्स जैसे विषयों में भी कर सकता है। जब कैंडिडेट की ग्रेजुएशन की डिग्री पूरी हो जाए तो उसे चाहिए फिर वह एमएससी इन एनवायरमेंटल साइंसेज में दाखिला लेकर पढ़ाई पूरी करे। फिर कैंडिडेट को चाहिए कि या तो वह इस क्षेत्र में नौकरी कर ले या फिर अगर वह चाहे तो रिसर्च वर्क करने के साथ-साथ पीएचडी भी कंप्लीट कर सकता है। 

एनवायरमेंटल साइंटिस्ट बनने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए 

  • कैंडिडेट ने किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से बीएससी किया हो।
  • या छात्र ने एनवायरमेंटल साइंस में बीई किया हो।
  • या छात्र ने एनवायरमेंटल साइंसेज में एमएससी की डिग्री हासिल कर रखी हो। 
  • कैंडिडेट को कंप्यूटर के साथ-साथ इंग्लिश की जानकारी भी होनी चाहिए।
  • प्रकृति और पर्यावरण से प्रेम होना चाहिए। 

आयु सीमा 

  • छात्र की आयु कम से कम 17 साल तक होनी जरूरी है।
  • आयु सीमा में छूट सरकारी नियम अनुसार दी गई है।

एनवायरमेंटल साइंटिस्ट बनने के कैरियर संभावनाएं क्या है 

आज के दौर में एनवायरमेंटल साइंटिस्ट की काफी ज्यादा डिमांड बढ़ गई है इसलिए कैंडिडेट को नौकरी के लिए किसी भी तरह की कोई परेशानी नहीं होती और वह अनेकों जगहों पर काम कर सकता है। इस तरह से कैंडिडेट को निम्नलिखित जगहों पर काम करने के अवसर मिल सकते हैं- 

  • नेचर कंजर्वेशन
  • पॉल्यूशन कंट्रोल डिपार्टमेंट
  • रीजनल डेवलपमेंट एंड एनवायरमेंटल एजुकेशन 
  • द नेशनल पार्क बोर्ड 
  • प्राइवेट ऑर्गेनाइजेशन 

वेतन 

जो कैंडिडेट पर्यावरण वैज्ञानिक के तौर पर काम करते हैं उन्हें जो सैलरी मिलती है वह इस बात के ऊपर डिपेंड करती है कि उम्मीदवार की एकेडमिक क्वालीफिकेशन क्या है और उसके अंदर कितनी योग्यता है। इस तरह से कैंडिडेट को जो एवरेज सैलरी मिलती है वह तकरीबन 35,000 से लेकर 40,000 रुपए हर महीने मिल जाती है। वहीं अगर किसी की नौकरी किसी अच्छे डिपार्टमेंट में लग जाती है तो तब उसे इससे भी ज्यादा वेतनमान मिल सकता है। 

एनवायरमेंटल साइंटिस्ट के कार्य 

जब कैंडिडेट एनवायरमेंटल साइंटिस्ट बन जाता है तो तब उसे अनेकों प्रकार के काम करने पड़ते हैं जैसे कि- 

  • वह अनेकों प्रकार के प्रोजेक्ट पर रिसर्च करने के अलावा डाटा कलेक्शन और सर्वे करते हैं।
  • हवा, पानी, मिट्टी, भोजन और दूसरी सामग्रियों के सैंपल के माध्यम से पर्यावरणीय डाटा जमा करते हैं और उसको संकलित करते हैं।
  • पर्यावरण के लिए जो चीज ख़तरनाक है उनकी पहचान करते हैं और उनका मूल्यांकन करके नमूने इकट्ठा करते हैं। 
  • भूमि या जल पोलूशन जैसी पर्यावरणीय परेशानियों को रोकने के साथ-साथ उन्हें कंट्रोल करके ठीक करने की योजना बनाते हैं। 
  • वह संभावित एनवायरमेंटल खतरों के बारे में पता लगा कर सरकारी अधिकारियों और आम जनता को जानकारी देने के साथ-साथ उनका मार्गदर्शन भी करते हैं। 
  • इसके अलावा उन्हें पर्यावरण से जुड़ी हुई टेक्निकल रिपोर्ट बनाने के साथ-साथ प्रेजेंटेशन का काम भी करना होता है। 

निष्कर्ष

दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिकल एनवायरमेंटल साइंटिस्ट कैसे बनें? इस लेख के माध्यम से हमने आपको बताया कि एनवायरमेंटल साइंटिस्ट क्या होता है और उसके बनने के लिए किसी भी छात्र में कितनी योग्यता का होना जरूरी है। इसके अलावा हमने आपको यह जानकारी भी दी कि अगर आप पर्यावरण वैज्ञानिक बनना चाहते हैं तो इसके लिए पूरी प्रक्रिया क्या है। साथ ही साथ इस आर्टिकल के द्वारा हमने आपको यह भी बताया कि एनवायरमेंटल साइंटिस्ट को हर महीने कितनी सैलरी मिलती है और उसे इस पद पर रहते हुए कौन-कौन से कार्य करने पड़ते हैं। वैसे इस क्षेत्र में वह छात्र अपना कैरियर काफी शानदार बना सकते हैं जिन्हें साइंस जैसे विषय में रुचि हो और पर्यावरण से लगाव हो। अंत में हमारा आपसे बस यही निवेदन है कि अगर आपको हमारे द्वारा दी गई है सारी जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे अपने उन दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें जो 12वीं के बाद एनवायरमेंटल साइंटिस्ट बनना चाहते हैं। 

Deepak Kumar

दीपक कुमार After12th.net के लेखक और संस्थापक हैं। वह छात्रों को उनकी धारा तय करने और उद्योग में पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी प्रदान करने में मदद करता है। वह उन्हें नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने में मदद करता है। उनका उद्देश्य देश में अधिकतम छात्रों के लिए वैध और उपयोगी जानकारी साझा करना है।

Leave a Reply