ड्रग इंस्पेक्टर (Drug Inspector) कैसे बनें?

नमस्कार! दोस्तों आज के इस आर्टिकल Drug Inspector कैसे बनें में हम आपको बताएंगे कि अगर आपका सपना एक ड्रग इंस्पेक्टर बनने का है तो आप किस प्रकार से बन सकते हैं। ‌यहां सबसे पहले हम आपको यही कहेंगे कि इसके लिए आपको इससे संबंधित सारी आवश्यक जानकारी होना बेहद अनिवार्य है क्योंकि कई बार सही जानकारी ना होने की वजह से कैंडिडेट अपने लक्ष्य को हासिल नहीं कर पाते हैं। तो इसलिए यदि आप अपनी जिंदगी को बेहतर तरीके से गुजारना चाहते हैं और सरकारी नौकरी करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको बहुत मेहनत करने की आवश्यकता होगी ‌क्योंकि सरकारी नौकरियों में प्रतिस्पर्धा बहुत ज्यादा होती है और इसीलिए वही उम्मीदवार सफल होते हैं जो इस नौकरी को पाने के लिए ठीक तरह से मेहनत करते हैं। अगर आपको ड्रग इंस्पेक्टर के पद पर सरकारी नौकरी चाहिए तो हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पूरा पढ़ें क्योंकि आपको इस पोस्ट में इससे संबंधित सारी बातों की जानकारी मिल जाएगी। 

ड्रग इंस्पेक्टर कैसे बनें

ड्रग इंस्पेक्टर क्या होता है? (What is Drug Inspector?)

तो यहां सबसे पहले आपको यह जानकारी दे दें कि एक Drug Inspector क्या होता है? तो बता दें कि ड्रग इंस्पेक्टर केंद्र सरकार और राज्य सरकार से जुड़े हुए स्वास्थ्य विभागों व स्वास्थ्य परियोजनाओं में काम करते हैं। यहां जानकारी दे दें कि एक ड्रग इंस्पेक्टर की पोस्ट बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण होती है और इसके अंतर्गत उसे ड्रग प्रोडक्शन, रिटेल या फिर होलसेल में किसी भी तरह की होने वाली ब्लैक मार्केटिंग पर नजर रखना होता है। इसके अलावा बता दें कि अगर कोई रिटेल में या फिर होलसेल ड्रग डिस्ट्रीब्यूटर बनना चाहता है तो उसे सबसे पहले ड्रग इंस्पेक्टर से लाइसेंस लेना होगा। ‌अगर कोई ड्रग इंस्पेक्टर से लाइसेंस नहीं लेगा तो फिर ऐसे में वह अपने द्वारा बनाई गई दवाई को कहीं भी नहीं भेज सकता है। इसके साथ-साथ ड्रग इंस्पेक्टर इस बात को भी सुनिश्चित करता है कि कोई भी कंपनी नकली दवाई की मैन्युफैक्चरिंग ना करें। इसीलिए एक ड्रग इंस्पेक्टर बनने के लिए कैंडिडेट को मेडिसन की पढ़ाई करना बहुत जरूरी होता है और इसके अंतर्गत उसे काफी अधिक मेहनत करने की आवश्यकता भी होती है।

ड्रग इंस्पेक्टर बनने के लिए शिक्षा आवश्यकताएं / योग्यता (drug inspector education requirements) 

जो अभ्यर्थी ड्रग इंस्पेक्टर बनना चाहते हैं उनके अंदर निम्नलिखित शिक्षा योग्यताएं होना अनिवार्य है जो कि इस तरह से है –

  • कैंडिडेट ने किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या फिर संस्थान से फार्मेसी की डिग्री प्राप्त की है। 
  • या फिर कैंडिडेट ने क्लीनिकल फार्मोकोलॉजी में स्नातक किया हो।
  • या माइक्रोबायोलॉजी में स्पेशलाइजेशन किया हो व मेडिसन की स्नातक डिग्री भी हो। 

ड्रग इंस्पेक्टर बनने के लिए शारीरिक आवश्यकताएं / योग्यता

आयु

  • कैंडिडेट की उम्र 21 साल से लेकर 30 साल तक के बीच में होनी अनिवार्य है।
  • जो कैंडिडेट किसी रिजर्व कैटेगरी से संबंध रखते हैं उन्हें आयु सीमा में 5 वर्ष की छूट दी गई है। 

ड्रग इंस्पेक्टर बनने के लिए परीक्षाएं 

अगर आप एक Drug Inspector बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको दो परीक्षाओं में सफल होना आवश्यक होता है। यहां जानकारी दे दें कि यह दोनों परीक्षाएं लिखित होती हैं जो कि यूपीएससी के द्वारा कंडक्ट की जाती हैं और इसके अलावा स्टेट पब्लिक सर्विस कमीशन के द्वारा भी ड्रग इंस्पेक्टर बनने के लिए लिखित परीक्षा का आयोजन करवाया जाता है। निम्नलिखित हम उन परीक्षाओं के बारे में जानकारी दे रहे हैं जो कि इस प्रकार से हैं- 

फार्मेसी लिखित परीक्षा

यह परीक्षा 200 अंको की होती है जिसके लिए उम्मीदवार को 2 घंटे का समय दिया जाता है। यहां जानकारी के लिए बता दें कि इस परीक्षा में कैंडिडेट को फॉरेंसिक साइंस, मैन्युफैक्चरिंग फार्मेसी, मेडिसिन केमिस्ट्री, हेल्थ केयर इत्यादि पर आधारित प्रश्न हल करने होते हैं। 

जनरल नॉलेज परीक्षा 

यह परीक्षा 50 अंकों की होती है जिसके लिए उम्मीदवार को एक घंटे का समय मिलता है। इस टेस्ट के होने के बाद कैंडिडेट का इंटरव्यू लिया जाता है। 

इंटरव्यू

जो उम्मीदवार फार्मेसी और जनरल नॉलेज की परीक्षा में पास हो जाते हैं उन्हें फिर इंटरव्यू के लिए आमंत्रित किया जाता है। इस इंटरव्यू में उम्मीदवार से मेडिसन के ऊपर आधारित और कुछ जनरल नॉलेज के ऊपर आधारित प्रश्न पूछे जाते हैं। अगर उम्मीदवार सभी सवालों के जवाब कुशलतापूर्वक और सही देता है तो फिर उसे ड्रग इंस्पेक्टर के पद पर नियुक्त कर दिया जाता है। 

ड्रग इंस्पेक्टर बनने के लिए पुस्तकें और अध्ययन सामग्री 

ड्रग इंस्पेक्टर बनने के लिए कैंडिडेट को यूपीएससी द्वारा कंडक्ट की जाने वाली परीक्षा को पास करना होता है जिसके लिए उम्मीदवार को परीक्षा की तैयारी करने के लिए विभिन्न प्रकार की किताबों की आवश्यकता होती है। इसलिए किताबों का चुनाव बहुत ही समझदारी के साथ करना चाहिए ताकि परीक्षा के समय किसी भी प्रकार की परेशानी ना हो। निम्नलिखित हम कुछ पुस्तकों के नाम बता रहे हैं जिनकी सहायता से आप अपने एग्जाम की तैयारी कर सकते हैं- 

  • फॉरेंसिक फार्मेसी बाय सी कोकाटे (Forensic pharmacy by C. Kokate) 
  • फार्मास्यूटिक्स-।: जनरल एंड डिस्पेंसिंग फार्मेसी बाय गुप्ता  (Pharmaceutics-।: General and dispensing pharmacy by Gupta)
  • डिस्पेंसिंग फार्मेसी बाय कूपर एंड गुन (Dispensing pharmacy by Cooper and Gunn)
  • ट्यूटोरियल फार्मेसी बाय कूपर एंड गुन (Tutorial pharmacy by Cooper and Gunn)
  • टेक्स्ट बुक ऑफ फॉरेंसिक फार्मेसी बाय जीपी मोहंती (Textbook of forensic pharmacy by GP mohanty)
  • लुसेंट्स जनरल नॉलेज बाय लुसेंट्स (Lucent’s general knowledge by Lucent’s)

ड्रग इंस्पेक्टर के कार्य 

एक ड्रग इंस्पेक्टर का पद बेहद प्रभावशाली होने के साथ-साथ बहुत ही ज्यादा जिम्मेदारी वाला भी होता है जिस पर उसे अनेकों प्रकार के कार्य करने होते हैं जो कि इस प्रकार से हैं- 

  • ड्रग इंस्पेक्टर की यह जिम्मेदारी होती है कि वह सभी खाद्य पदार्थों, कॉस्मेटिक, ड्रग्स और दवाइयों की जांच करें। 
  • अगर कोई व्यक्ति रिटेल में या फिर होलसेल में दवाइयों का व्यापार करता है तो इस बात को सुनिश्चित करें कि वह नकली दवाइयों का उत्पादन बिल्कुल भी ना करें।
  • नकली दवा विक्रेताओं और नकली कॉस्मेटिक्स का मैन्युफैक्चर करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करना और उनका लाइसेंस रद्द करना।
  • उन सभी स्थानों की जांच करना जहां पर दवाइयां, ड्रग्स, कॉस्मेटिक्स, खाद्य पदार्थ इत्यादि का उत्पादन किया जाता है।
  • सभी बिजनेस संस्थानों की साफ सफाई की जांच और निगरानी का कार्य भी ड्रग इंस्पेक्टर करता है। 
  • केमिकल परीक्षणों और बैक्टीरियल परीक्षणों के लिए सैंपल जमा करना। ‌
  • नकली, अशुद्ध, नशीली और खराब वस्तुओं को जप्त करना और उन्हें नष्ट करना।
  • लोगों में दवाइयों के नियमों एवं शर्तों के बारे में जागरूकता फैलाना। ‌

वेतन 

अब यहां आपको जानकारी दे दें कि एक Drug Inspector को हर महीने कितना वेतन मिलता है। इसके लिए आपको बता दें कि हर राज्य में ड्रग इंस्पेक्टर का वेतनमान अलग-अलग निर्धारित किया गया है। जो कैंडिडेट इंस्पेक्टर के पद पर कार्य करते हैं उन्हें हर महीने सातवें वेतन आयोग के अनुसार 45,000 रुपए से लेकर एक लाख 42 हजार तक सैलरी प्राप्त होती है। इसके अलावा हाउस रेंटल अलायंस, ट्रैवल एलाउंस इत्यादि भी दिया जाता है। 

निष्कर्ष

दोस्तों यह तो हमारा आज का पोस्ट Drug Inspector कैसे बनें? इस लेख में हमने आपको सारी जानकारी दे दी है कि आप किस प्रकार से ड्रग इंस्पेक्टर बन सकते हैं। इस में हमने आपको जानकारी दी कि एक ड्रग इंस्पेक्टर बनने के लिए कौन-कौन सी परीक्षाओं से होकर गुजरना पड़ता है और जब कैंडिडेट ड्रग इंस्पेक्टर की पोस्ट पर कार्यरत हो जाता है तो फिर उसे हर महीने कितने रुपए का वेतनमान मिलता है। इसके अलावा इससे संबंधित परीक्षा की तैयारी करने के लिए हमने कुछ किताबों के नाम भी बताए हैं और ड्रग इंस्पेक्टर बनने के बाद उम्मीदवार को जो कार्य करने होते हैं उनके बारे में भी सारी जानकारी दे दी है। हमें पूरी उम्मीद है कि हमारी यह पोस्ट आपको काफी अधिक लाभदायक लगी होगी इसलिए हमारे इस आर्टिकल को उन दोस्तों के साथ भी शेयर करें जिनका लक्ष्य ड्रग इंस्पेक्टर की सरकारी नौकरी करने का है।

Deepak Kumar

दीपक कुमार After12th.net के लेखक और संस्थापक हैं। वह छात्रों को उनकी धारा तय करने और उद्योग में पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी प्रदान करने में मदद करता है। वह उन्हें नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने में मदद करता है। उनका उद्देश्य देश में अधिकतम छात्रों के लिए वैध और उपयोगी जानकारी साझा करना है।

Leave a Reply