वेल्डिंग टेक्नोलॉजी कोर्स (Diploma in Welding Technology) कैसे करें पूरी जानकारी

नमस्कार! दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि वेल्डिंग टेक्नोलॉजी में डिप्लोमा कोर्स (Diploma in Welding Technology) कैसे करें पूरी जानकारी। आज के समय में वेल्डिंग टेक्नोलॉजी में कैरियर बनाने की ओर छात्रों का काफी रुझान बढ़ गया है। इस इंडस्ट्री में रोजगार के बहुत सारे अवसर कैंडिडेट को उपलब्ध हो सकते हैं इसी वजह से आज बहुत से छात्र ऐसे हैं जो 12वीं के बाद इसी फील्ड में जाना चाहते हैं। तो अगर आप भी एक ऐसे स्टूडेंट है जो 12वीं कक्षा में पढ़ रहे हैं या इसमें पास हो चुके हैं और कोई बेहतरीन कोर्स ढूंढ रहे हैं तो आप वेल्डिंग टेक्नोलॉजी में डिप्लोमा कोर्स कर सकते हैं। सारी जानकारी जानने के लिए हमारे आज के इस पोस्ट को पूरा पढ़ें और जानें इससे संबंधित सभी महत्वपूर्ण बातें। 

Contents

वेल्डिंग टेक्नोलॉजी कोर्स क्या है (What is diploma in welding technology in Hindi)

यहां सबसे पहले हम आपको बता दें कि वेल्डिंग टेक्नोलॉजी में डिप्लोमा एक प्रकार का मैकेनिकल इंजीनियरिंग कोर्स है। इस कोर्स के अंतर्गत छात्रों को कार्बन स्टील, स्टेनलेस स्टील, एल्युमिनियम के बारे में जानकारी दी जाती है कि किस प्रकार से इन सभी धातुओं का उपयोग वेल्डिंग में किया जाता है। इसके अलावा बता दें कि छात्रों को शील्डेड मेटल आर्क वेल्डिंग, गैस मेटल आर्क वेल्डिंग, गैस टंगस्टन आर्क वेल्डिंग, सबमर्ज आर्क वेल्डिंग इत्यादि के बारे में भी ट्रेनिंग दी जाती है। इस प्रकार से इस कोर्स को करने के बाद छात्रों को क्वालिटी एश्योरेंस एंड कंट्रोल, इंस्पेक्शन एंड टेस्टिंग, सुपरविजन, फैक्ट्री ट्रेनिंग इत्यादि दी जाती है जिससे कि उनके स्किल्स बेहतर हो सकें।

Also readपेट्रोकेमिकल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा कोर्स (Diploma in Petrochemical Engineering) कैसे करें पूरी जानकारी

अवधि (duration) 

जो छात्र वेल्डिंग टेक्नोलॉजी में डिप्लोमा करना चाहते हैं उन्हें यहां जानकारी के लिए बता दें कि इस कोर्स की अवधि 3 साल की होती है। इस प्रकार से जब कैंडिडेट 3 साल की ट्रेनिंग लेने के बाद संबंधित क्षेत्र में नौकरी करता है तो उसे अच्छे वेतनमान पर काम मिल जाता है। 

वेल्डिंग टेक्नोलॉजी कोर्स के लिए प्रवेश परीक्षा (Entrance test for diploma in welding technology course)

वेल्डिंग टेक्नोलॉजी का डिप्लोमा कोर्स करने के लिए छात्रों को सरकारी कॉलेजों में प्रवेश परीक्षा देनी होती है या फिर मेरिट के आधार पर उन्हें दाखिला मिल जाता है। इसके साथ-साथ बता दें कि अगर किसी कैंडिडेट का एडमिशन सरकारी कॉलेज में नहीं हो पाता है तो तब ऐसे में वह प्राइवेट कॉलेज से अपने इस कोर्स को कर सकता है। क्योंकि हमारे देश में आज ऐसे बहुत सारे निजी संस्थान भी हैं जहां पर वेल्डिंग टेक्नोलॉजी में उत्कृष्ट पढ़ाई करवाई जाती है।  

वेल्डिंग टेक्नोलॉजी कोर्स के लिए प्रवेश प्रक्रिया क्या है (What is the admission process for diploma in welding technology course)

जो छात्र वेल्डिंग टेक्नोलॉजी कोर्स में दाखिला लेना चाहते हैं उन्हें यहां बता दें कि इसके लिए उन्हें सबसे पहले 12 वीं कक्षा विज्ञान विषय के साथ पास करनी होगी। उसके बाद कैंडिडेट को चाहिए कि विभिन्न संस्थानों और कॉलेजों में से किसी एक का चुनाव करें जिसमें उसे अपना एडमिशन लेना है। चुने गए कॉलेज में अपना रजिस्ट्रेशन करवा दें और उसके बाद अगर वहां पर एंट्रेंस टेस्ट के बाद दाखिला दिया जाता है तो छात्र को एंट्रेंस एग्जाम में भाग लेना होगा। इस प्रकार से छात्र को उसके पसंदीदा कोर्स में दाखिला मिल जाता है। इसके अलावा अगर कैंडिडेट किसी निजी कॉलेज से कोर्स करने का इच्छुक है तो वह वहां पर बिना किसी प्रवेश परीक्षा के दाखिला ले सकता है। 

Also readमेडिकल इलेक्ट्रॉनिक्स में डिप्लोमा कोर्स (Diploma in Medical Electronics) कैसे करें पूरी जानकारी

वेल्डिंग टेक्नोलॉजी कोर्स के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए (What should be the qualification for diploma in welding technology course)

वेल्डिंग टेक्नोलॉजी में डिप्लोमा करने के लिए छात्रों में कुछ योग्यता का होना जरूरी है जैसे कि – 

  • छात्र ने किसी से मान्यता प्राप्त बोर्ड से कम से कम 12वीं कक्षा पास की हो।
  • 12वीं क्लास में कैंडिडेट ने फिजिक्स केमिस्ट्री बायोलॉजी और मैथमेटिक्स जैसे सब्जेक्ट की पढ़ाई की होनी चाहिए। 

फीस (fees)

हमारे देश भारत में वेल्डिंग टेक्नोलॉजी कोर्स में डिप्लोमा करने के लिए छात्रों को जो फीस देनी पड़ती है वह पूरी तरह से कॉलेज के ऊपर निर्भर करती है। सरकारी कॉलेजों में निजी कॉलेजों की अपेक्षा कम फीस का भुगतान करना पड़ता है। इस प्रकार से अनुमान के तौर पर इस पाठ्यक्रम के लिए स्टूडेंट्स को 50 हजार रुपए से लेकर 3 लाख रुपए तक की फीस देनी पड़ सकती है। 

Also readइंडस्ट्रियल इलेक्ट्रॉनिक्स में डिप्लोमा कोर्स (Diploma in Industrial Electronics) कैसे करें पूरी जानकारी।

भारत में वेल्डिंग टेक्नोलॉजी कोर्स करने के लिए कॉलेज (College to do welding technology course in India)

भारत में वेल्डिंग टेक्नोलॉजी कोर्स में डिप्लोमा करने के लिए बहुत सारे कॉलेज और संस्थान हैं जहां कोई भी कैंडिडेट एडमिशन ले कर इसकी पढ़ाई कर सकता है जैसे कि – 

  • जादवपुर यूनिवर्सिटी कोलकाता (Jadavpur University Kolkata) 
  • संत लोंगोवाल इंस्टीट्यूट आफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी पंजाब (Sant longowal Institute of engineering and Technology Panjab)
  • गोवा टेक्निकल इंस्टीट्यूट गोवा (Goa Technical Institute Goa)
  • हुतात्मा राष्ट्रीय इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग सेंटर महाराष्ट्र (Hutatma rashtriya industrial training centre Maharashtra) 
  • गवर्नमेंट इंस्टिट्यूट ऑफ पोस्ट डिप्लोमा कोर्स इन इंजीनियरिंग टेक्नोलॉजी हैदराबाद (Government institute of post diploma course in engineering Technology Hyderabad) 
  • उमाचरण पटनायक इंजीनियर स्कूल उड़ीसा (Umacharan Patnaik engineering School Orissa)
  • इंस्टिट्यूट ऑफ शिपबिल्डिंग टेक्नोलॉजी गोवा (Institute of shipbuilding Technology Goa) 
  • दिल्ली इंस्टीट्यूट ऑफ वोकेशनल ट्रेनिंग सेंटर (Delhi Institute of vocational training centre Delhi) 
  • इंडियन पेसिफिक इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट दिल्ली (Indian Pacific Institute of Technology and management New Delhi)
  • एगनेल टेक्निकल कॉलेज मुंबई (Agnel Technical College Mumbai)

वेल्डिंग टेक्नोलॉजी कोर्स का पाठ्यक्रम/ सब्जेक्ट्स क्या-क्या है (What are the syllabus / subjects of welding technology course)

वेल्डिंग टेक्नोलॉजी में डिप्लोमा कोर्स करने के दौरान छात्रों को जो सिलेबस पढ़ाया जाता है उसकी जानकारी निम्नलिखित हम दे रहे हैं जो कि इस प्रकार से है – 

  •  ओएडबल्यू एंड एसएमएडबल्यू प्रैक्टिसेज (Oaw and Smaw practices) 
  • वेल्डिंग एंड कटिंग प्रोसेसेस (Welding and cutting processes) 
  • इंजीनियरिंग ड्राइंग (Engineering drawing)
  • टेक्निकल मैथमेटिक्स  (Technical mathematics) 
  • फाउंडेशन इंग्लिश (Foundation English)
  • इस्लामिक/मोरल स्टोरीज  (Islamic/moral studies)
  • जीटीएडबल्यू एंड जीएमएडब्ल्यू प्रैक्टिसेज (GTAW and GMAW practices)
  • मैटेरियल साइंस (Material science)
  • कम्युनिकेशन इंग्लिश  (communication English) 
  • वेल्डिंग ज्वाइंट एनालिसिस (Welding joint analysis) 
  • वेल्ड डिफेक्ट्स एंड एनडीटी (Weld defects and NDT)
  • मैथमेटिक्स फॉर टेक्नोलॉजिस्ट (Mathematics for technologist)
  • कंप्यूटर ऐडेड ड्राफ्टिंग- ऑटोकैड (Computer aided drafting-Auto CAD)
  • स्टैटिक्स एंड डायनॉमिक्स (Statics and dynamics) 
  • वेल्डिंग सेफ्टी (Welding safety) 
  • वेल्डिंग प्रोसीजर एंड स्पेसिफिकेशन (Welding procedure and specification) 
  • मेटालुअर्जी  (Metallurgy)
  • प्रेशर वेसल एंड पाइपिंग ड्राइंग (Pressure vessel and piping drawing) 
  • वेल्डिंग मैनेजमेंट (Welding management) 
  • इंट्रोडक्शन टू एंटरप्रेन्योरशिप (Introduction to entrepreneurship) 
  • वेल्डिंग इंस्पेक्शन एंड टेस्टिंग (Welding inspection and testing) 
  • स्ट्रेंथ ऑफ मेटेरियल (Strength of material) 
  • वेल्डिंग मेटालुअर्जी (Welding metallurgy) 
  • इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग (Industrial training) 

Also readटूरिज्म स्टडीज में डिप्लोमा कोर्स (Diploma in Tourism Studies ) कैसे करें पूरी जानकारी

वेल्डिंग टेक्नोलॉजी कोर्स के बाद कैरियर संभावनाएँ क्या है (What are the career prospects after welding technology course)

वेल्डिंग टेक्नोलॉजी का डिप्लोमा कोर्स करने के बाद छात्रों के सामने इस इंडस्ट्री में कैरियर की बहुत सारी संभावनाएं आ जाती है जैसे कि –

  • कॉलेजेस एंड यूनिवर्सिटीज (colleges and universities) 
  • वेल्डिंग शॉप्स (welding shops
  • कंस्ट्रक्शन साइट्स (Construction sites) 
  • ट्रांसपोर्टेशन (Transportation)
  • कंपनीज़ (Companies) 
  • वेल्डिंग स्टोर्स (Welding stores) 

वेतन (salary)

अब यहां आपको बता दें कि डिप्लोमा इन वेल्डिंग टेक्नोलॉजी कोर्स करने के बाद किसी भी कैंडिडेट को जो वेतन मिलता है वह पूरी तरह से उसके स्किल्स के ऊपर डिपेंड करता है। लेकिन अगर एक एवरेज सैलेरी की बात करें तो इस क्षेत्र में काम करने वाले लोगों को हर महीने उनके कैरियर की शुरुआत में 20,000 से लेकर 35000 तक का सैलरी पैकेज मिल जाता है। इसके अलावा अनुभव हासिल होने के बाद उनका वेतन बढ़ जाता है। 

Also read:  ड्राइंग एंड पेंटिंग में डिप्लोमा कोर्स (Diploma in Drawing and Painting) कैसे करें पूरी जानकारी

प्राइवेट सेक्टर में जॉब्स (Jobs in private sector after)

वेल्डिंग टेक्नोलॉजी का कोर्स करने के बाद किसी भी कैंडिडेट को उसकी योग्यता के आधार पर काम मिल जाता है। इस प्रकार से कैंडिडेट निम्नलिखित प्रकार की नौकरियां कर सकता है – 

  • एडवांस्ड मैटेरियल इंजीनियर (Advanced material engineer) 
  • स्टोर ऑफिसर (Store officer)
  • स्टोर एग्जीक्यूटिव (Store executive)
  • असिस्टेंट मैनेजर (Assistant manager)
  • असिस्टेंट अकाउंटेंट नॉन सुपरवाइजरी (Assistant accountant non supervisory)
  • लैबोरेट्री इंस्पेक्टर (Laboratory inspector) 
  • प्रोडक्शन टेक्नोलॉजिस्ट (Production technologist) 
  • मैकेनिकल डिजाइन इंजीनियर (Mechanical design engineer)
  • टीचर (Teacher)
  • लेक्चरर (Lecturer) 

गवर्नमेंट सेक्टर में जॉब्स (Jobs in government sector)

जिस प्रकार से कैंडिडेट को प्राइवेट सेक्टर में जॉब करने के अनेकों मौके मिलते हैं ठीक इसी तरह से गवर्नमेंट सेक्टर में भी योग्य छात्रों को काम करने के मौके मिल जाते हैं। यहां बता दें कि हर साल वेल्डिंग टेक्नोलॉजी इंडस्ट्री में अनेकों सरकारी नौकरियों के लिए रिक्तियां निकलती है जहां पर इच्छुक उम्मीदवार नौकरी के लिए आवेदन दे सकते हैं। 

Also readआर्ट एंड क्राफ्ट में डिप्लोमा कोर्स (Diploma in Art and Craft) कैसे करें पूरी जानकारी

निष्कर्ष

दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिकल वेल्डिंग टेक्नोलॉजी में डिप्लोमा कोर्स (Diploma in Welding Technology) कैसे करें पूरी जानकारी। इस पोस्ट में हमने आपको बताया कि वेल्डिंग टेक्नोलॉजी कोर्स क्या होता है और इसकी अवधि कितनी होती है। इसके अलावा हमने आपको यह भी जानकारी दी कि इस पाठ्यक्रम के लिए प्रवेश परीक्षा और प्रवेश प्रक्रिया क्या होती है। साथ ही हमने आपको यह जानकारी भी दी कि छात्रों में इस कोर्स को करने के लिए कितनी योग्यता होनी चाहिए और कॉलेजों में इसके लिए उन्हें कितने रुपए तक की फीस देनी पड़ सकती है। 

इस आर्टिकल में हमने आपको यह जानकारी भी दी हमारे देश भारत में वेल्डिंग टेक्नोलॉजी का डिप्लोमा कोर्स करने के लिए कौन कौन से कॉलेज अच्छे हैं और वहां पर जो सिलेबस पढ़ाया जाता है उसके बारे में भी हमने आपको बताया। साथ ही साथ हमने आपको यह भी बताया कि वेल्डिंग टेक्नोलॉजी कोर्स करने के बाद कैंडिडेट के सामने प्राइवेट और गवर्नमेंट सेक्टर में नौकरी करने की क्या क्या संभावनाएं होती हैं। 

अंत में हमारी आपसे बस यही रिक्वेस्ट है कि अगर आपको हमारा यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो इसे अपने उन दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें जो 12वीं के बाद वेल्डिंग टेक्नोलॉजी का डिप्लोमा कोर्स करने में रुचि रखते हैं।

Leave a Reply