आर्ट एंड क्राफ्ट में डिप्लोमा कोर्स (Diploma in Art and Craft) कैसे करें पूरी जानकारी

नमस्कार! दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे आर्ट एंड क्राफ्ट में डिप्लोमा कोर्स (Diploma in Art and Craft) कैसे करें पूरी जानकारी। कुछ छात्रों को स्कूल टाइम से ही आर्ट एंड क्राफ्ट में बहुत ही ज्यादा रुचि होती है जिसकी वजह से वह अपनी एजुकेशन समाप्त करने के बाद इस क्षेत्र में अपना कैरियर बनाना पसंद करते हैं। यहां बता दें कि अगर किसी कैंडिडेट में क्रिएटिविटी है तो वह आर्ट एंड क्राफ्ट इंडस्ट्री में काफी बेहतरीन भविष्य बना सकता है। अगर आप भी एक ऐसे कैंडिडेट हैं जो इस फील्ड में जाना चाहते हैं और इससे संबंधित सभी आवश्यक जानकारी ढूंढ रहे हैं तो हमारे आज के इस आर्टिकल को सारा पढ़ें। क्योंकि इस लेख में हम आपको बताएंगे कि आप किस तरह से 12वीं के बाद आर्ट एंड क्राफ्ट में डिप्लोमा कोर्स कर सकते हैं।

इसके अलावा इस कोर्स से संबंधित सभी महत्वपूर्ण बातें हम आपको बताएंगे जो कि आपके लिए काफी अधिक उपयोगी साबित होंगी। 

Contents

आर्ट एंड क्राफ्ट कोर्स क्या है (What is diploma in art and craft  in Hindi)

यहां सबसे पहले आपको हम जानकारी के लिए बता दें कि आर्ट एंड क्राफ्ट एक ऐसा कोर्स है जिसके अंतर्गत छात्रों को आर्ट और क्राफ्ट से संबंधित पढ़ाई करवाई जाती है। इस कोर्स में स्टूडेंट्स को सिखाया जाता है कि वह किस तरह से सुंदर डेकोरेटिव पीस, पोट्रेट, पेंटिंग, स्केचिंग इत्यादि बना सकते हैं। यहां बता दें कि छात्र जब इस कोर्स को पूरा कर लेते हैं तो तब वह अपने घर में पड़ी हुई फालतू और बेकार चीजों से भी बहुत ही सुंदर-सुंदर चीजें क्रिएट कर सकते हैं। इस कोर्स में अधिकतर वही कैंडिडेट दाखिला लेते हैं जिन्हें तरह-तरह की चीजें बनाना पसंद होता है। 

Also readबीएसटीसी कोर्स (BSTC Course) कैसे करे

आर्ट एंड क्राफ्ट कोर्स की अवधि (art and craft course duration) 

आर्ट एंड क्राफ्ट कोर्स की अवधि की अगर बात करें तो यह 2 साल का डिप्लोमा कोर्स है लेकिन कुछ संस्थानों में 1 साल का डिप्लोमा कोर्स भी कैंडिडेट को करवाया जाता है। आप अपनी सुविधा के अनुसार इस कोर्स में दाखिला ले सकते हैं। साथ ही आपको बता दें कि इसके लिए सेमेस्टर वाइज या फिर एनुअल एग्जामिनेशन की प्रक्रिया रखी गई है। 

आर्ट एंड क्राफ्ट कोर्स के लिए प्रवेश परीक्षा (Entrance test for diploma in art and craft course)

जो कैंडिडेट आर्ट एंड क्राफ्ट कोर्स करना चाहते हैं उन्हें हम यहां जानकारी के लिए बता दें कि इस डिप्लोमा कोर्स के लिए उन्हें किसी भी प्रकार की प्रवेश परीक्षा में शामिल नहीं होना पड़ता है। क्योंकि इस कोर्स में कैंडिडेट को मेरिट बेस्ड एडमिशन मिलता है। लेकिन कुछ संस्थान हमारे देश में ऐसे भी हैं जहां पर इस डिप्लोमा कोर्स में दाखिला लेने के लिए कॉलेज का स्वयं का एंट्रेंस टेस्ट रखा गया है जो कि बहुत आसान होता है। परंतु अधिकतर कॉलेजों में बिना प्रवेश परीक्षा के दाखिला मिल जाता है। 

आर्ट एंड क्राफ्ट कोर्स के लिए प्रवेश प्रक्रिया क्या है (What is the admission process for diploma in art and craft course)

आर्ट एंड क्राफ्ट कोर्स में दाखिला लेने के लिए कैंडिडेट को सबसे पहले 12वीं कक्षा पास करनी पड़ती है और उसके बाद वह अपने द्वारा चुने गए किसी भी कॉलेज में दाखिला ले सकता है जहां पर यह कोर्स करवाया जाता है। इसके लिए कोई एंट्रेंस टेस्ट नहीं रखा गया है इसलिए इस पाठ्यक्रम में दाखिला लेने के लिए छात्रों को किसी भी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ता। इसलिए जब कॉलेजों में एडमिशन की शुरुआत होती है तो उस टाइम आप रजिस्ट्रेशन फॉर्म ऑनलाइन या फिर ऑफलाइन माध्यम के द्वारा भर सकते हैं। आपको अपने स्कूल के जरूरी डॉक्यूमेंट भी एडमिशन के समय जमा करने होते हैं। इस तरह से छात्र कला से जुड़े हुए इस कोर्स में बहुत आसानी के साथ पढ़ाई कर सकता है।

Also readआर्टिस्ट (Artist) कैसे बनें?

आर्ट एंड क्राफ्ट कोर्स के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए (What should be the qualification for diploma in art and craft course)

यहां आपको जानकारी के लिए बता दें कि आर्ट एंड क्राफ्ट कोर्स करने के लिए कैंडिडेट में कुछ योग्यता का होना अत्यंत जरूरी है जैसे कि – 

  • छात्र ने किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से कम से कम 12वीं कक्षा पास की होनी चाहिए।
  • 12वीं क्लास में छात्र के कम से कम 45% अंक होने चाहिए।
  • कैंडिडेट को आर्ट एंड क्राफ्ट में रूचि होनी चाहिए। 

फीस (fees)

अब आपके मन में यह सवाल भी जरूर आ रहा होगा कि इस कोर्स के लिए आपको कितने रुपए तक की फीस का भुगतान करना पड़ सकता है। तो यहां हम आपको बता दें कि इस कोर्स के लिए फीस इस बात के ऊपर डिपेंड करती है कि आप प्राइवेट संस्थान से कोर्स कर रहे हैं या फिर सरकारी संस्थान से। अगर आप किसी प्राइवेट कॉलेज में लेते हैं तो आपको ज्यादा फीस का भुगतान करना पड़ सकता है तो वहीं गवर्नमेंट कॉलेज में फीस काफी कम होती है। यहां अनुमान के तौर पर हम आपको बता दें कि एवरेज फीस 10,000 से लेकर 70,000 रुपए तक की हो सकती है।

Also readवॉटरकलर आर्टिस्ट (Watercolour Artist) कैसे बनें?

भारत में आर्ट एंड क्राफ्ट कोर्स करने के लिए कॉलेज (College to do art and craft course in India)

अगर आप यह जानना चाहते हैं कि भारत में आप कौन से कॉलेजों से आर्ट एंड क्राफ्ट कोर्स कर सकते हैं तो यहां हम आपकी जानकारी के लिए कुछ बेहतरीन कॉलेजों के नाम बता रहे हैं जिनमें से किसी एक में आप एडमिशन ले कर यह कोर्स कर सकते हैं। उन कॉलेजों के नाम इस प्रकार से हैं – 

  • देश भगत इंस्टिट्यूट ऑफ आर्ट एंड क्राफ्ट (Desh Bhagat Institute of art and craft) 
  • ज्योति विद्यापीठ वूमेंस यूनिवर्सिटी (Jyoti vidyapeeth women’s University)
  • हिमांशु आर्ट इंस्टीट्यूट (Himanshu Art Institute) 
  • महारानी किशोरी जट कन्या महाविद्यालय (Maharani kishori Jat kanya mahavidyalaya)
  • साउथ दिल्ली पॉलिटेक्निक फॉर वुमन (South Delhi Polytechnic for women)
  • इंस्टीट्यूट ऑफ फाइन आर्ट्स चंडीगढ़ (Institute of fine arts Chandigarh)
  • दिल्ली स्कूल ऑफ आर्ट (Delhi school of art) 
  • सावित्री पॉलिटेक्निक फॉर वुमन (Savitri Polytechnic for women) 
  • अभिलाषी यूनिवर्सिटी (Abhilashi University) 

आर्ट एंड क्राफ्ट कोर्स का पाठ्यक्रम/ सब्जेक्ट्स क्या-क्या है (What are the syllabus / subjects of art and craft course)

अब आपके मन में यह प्रश्न भी जरूर आ रहा होगा कि आर्ट एंड क्राफ्ट कोर्स के अंतर्गत आपको कौन-कौन से सब्जेक्ट्स पढ़ाए जाएंगे तो उनकी जानकारी हम आपको निम्नलिखित दे रहे हैं जो कि इस प्रकार से है –

कलर कांसेप्ट (Colour concept) 

  • मूवमेंट ऑफ पेंसिल (movement of pencil)
  • हाउ टू कलर (How to color)
  • ड्राइंग मेजरमेंट (Drawing measurement) 
  • फ्री हैंड ड्रॉइंग (Freehand drawing)

हैंडीक्राफ्ट (Handicraft)

  • टाई एंड डाई (tie and die) 
  • हैंड एंब्रॉयडरी (Hand embroidery)
  • पेपर वर्क/ क्राफ्ट पपेट्स  (Paperwork / crafts puppets) 
  • सेरेमिक वर्क (Ceramic work) 
  • क्ले वर्क (Clay work)
  • ब्रेड क्राफ्ट (Bread craft) 

क्रिएटिव आर्ट (Creative art)

  • फोटो फ्रेम (photo frame) 
  • फ्लावर मेकिंग (Flower making) 
  • ओरिगामी पपेट (Origami puppet)  
  • पोट मेकिंग (Pot making)
  • फेस मास्क पेपर (Face mask paper) 
  • कैंडल मेकिंग (Candle making) 
  • पेंटिंग ऑन टीशर्ट (Painting on T-shirt)
  • मेटल पेंटिंग (Metal painting)
  • तंजौर पेंटिंग (Tanjore painting) 
  • मार्बल पेंटिंग (Marble painting)
  • ग्लास पेंटिंग (Glass painting

पेंटिंग एंड स्केचिंग (Painting and sketching) 

  • सेंड पेंटिंग (Sand painting)
  • वेलवेट पेंटिंग (Velvet painting) 
  • एंबोस पेंटिंग (Emboss painting)
  • स्टिक पेंटिंग्स (Stick painting)
  • मोसैक पेंटिंग (Mosaic painting) 
  • फैब्रिक पेंटिंग (Fabric painting) 
  • फॉइल पेंटिंग्स (Foil painting)
  • लैंडस्केप्स (Landscapes)
  • क्रिएटिंग सींस (Creating scenes)
  • हैंड स्केचिंग (Hand sketching) 
  • लेग स्केचिंग (Leg sketching) 
  • पोट्रेट स्केचिंग (Portrait sketching)
  • स्केचिंग ऑफ फेस (Sketching of face) 

आर्ट एंड क्राफ्ट कोर्स के बाद कैरियर संभावनाएँ क्या है (What are the career prospects after art and craft course)

जो कैंडिडेट आर्ट एंड क्राफ्ट में डिप्लोमा कोर्स कर लेते हैं उनके सामने कैरियर के बहुत सारे सुनहरे अवसर आते हैं जहां पर वह काम कर सकते हैं जैसे कि – 

  • एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स (educational Institutes)
  • एडवरटाइजिंग एजेंसीज (Advertising agencies)
  • टेक्सटाइल कंपनीज (Textile companies)
  • थिएटर सोसाइटीज (Theatre societies)
  • बुटीक्स (Boutiques)
  • फैशन हाउसिज़ (Fashion houses)
  • एनजीओज़ (NGOs) 

वेतन (salary)

आर्ट एंड क्राफ्ट में डिप्लोमा कोर्स करने के बाद कैंडिडेट को जो सैलरी पैकेज मिलता है वह काफी अच्छा होता है। यहां बता दें कि कैंडिडेट अपनी योग्यता के आधार पर अपने कैरियर की शुरुआत में ही हर महीने 25,000 से लेकर 40,000 रुपए तक का वेतनमान प्राप्त कर सकता है। वहीं अगर उसकी नौकरी किसी प्रतिष्ठित और बड़ी कंपनी में लगती है तो तब उसे इससे भी ज्यादा वेतन मिल सकता है। कुछ वर्षों का अनुभव हासिल करने के बाद उसके वेतन में काफी वृद्धि हो जाती है। 

Also readवॉइस ओवर आर्टिस्ट (Voice Over Artist) कैसे बनें?

प्राइवेट सेक्टर में जॉब्स (Jobs in private sector after)

आर्ट एंड क्राफ्ट में डिप्लोमा हासिल करने के बाद कैंडिडेट को उसकी कौशलता के आधार पर प्राइवेट सेक्टर में काफी अच्छी नौकरी मिल जाती है जहां पर वह निम्नलिखित पदों पर काम कर सकता है – 

  • कैंडिडेट स्कूल और प्राइवेट संस्थानों में टीचर के तौर पर काम कर सकते हैं।
  • असिस्टेंट डिज़ाइनर के रूप में काम किया जा सकता है।
  • फर्नीचर डिजाइनर या सेट डिजाइनर बन सकते हैं।
  • 3D आर्टिस्ट बना जा सकता है।
  • अपरेल डिज़ाइनर के तौर पर काम कर सकता है।
  • अपना खुद का काम शुरू कर सकता है। 

गवर्नमेंट सेक्टर में जॉब्स (Jobs in government sector)

आर्ट एंड क्राफ्ट में डिप्लोमा कोर्स करने के बाद कैंडिडेट को जहां निजी विभागों में काम करने का मौका मिलता है तो वहीं कैंडिडेट को सरकारी विभागों में भी काम करने के मौके मिल सकते हैं। बता दें कि हर साल इस क्षेत्र से संबंधित बहुत सारी जॉब्स सरकार निकालती है जिन पर काम करने के लिए आप अपना आवेदन दे सकते हैं। 

निष्कर्ष

दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिकल आर्ट एंड क्राफ्ट में डिप्लोमा कोर्स (diploma in art and craft) कैसे करें पूरी जानकारी। इस पोस्ट में हमने आपको बताया कि आर्ट एंड क्राफ्ट कोर्स क्या होता है और इसकी अवधि कितने वर्ष तक की होती है। इसके अलावा हमने आपको जानकारी दी कि इस कोर्स को करने के लिए एंट्रेंस टेस्ट क्या है और एडमिशन प्रोसेस क्या है। साथ ही साथ हमने आपको यह जानकारी दी कि अगर आप इस कोर्स में दाखिला लेना चाहते हैं तो इसके लिए आप में कितनी एजुकेशनल क्वालिफिकेशन होनी चाहिए। 

इसके अलावा इस लेख के माध्यम से हमने आपको जानकारी दी कि भारत में आर्ट एंड क्राफ्ट कोर्स के लिए बेहतरीन कॉलेज कौन-कौन से हैं और साथ ही हमने इस कोर्स का पाठ्यक्रम भी आपको बताया। इस लेख में हमने आपको यह जानकारी भी दी कि जब कोई कैंडिडेट इस 2 वर्षीय डिप्लोमा कोर्स को पूरा कर लेता है तब तो उसके सामने प्राइवेट और गवर्नमेंट सेक्टर में कैरियर की क्या संभावनाएं होती हैं और वहां उसे हर महीने कितना वेतनमान मिल सकता है। अगर आपकी आर्ट एंड क्राफ्ट में रुचि है तो आप इस क्षेत्र में काफी सुनहरा कैरियर बना सकते हैं। 

अंत में हमारी बस आपसे यही रिक्वेस्ट है कि अगर आपको हमारा यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे अपने उन दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें जो 12वीं के बाद इस कोर्स को करने के इच्छुक हैं। 

Leave a Reply