डिजिटल मार्केटिंग कोर्स (Digital Marketing Course) कैसे करे

दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे डिजिटल मार्केटिंग कोर्स (Digital Marketing  Course) कैसे करें। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि मौजूदा समय में डिजिटल मार्केटिंग एक ऐसा क्षेत्र है जो बहुत तेजी के साथ ग्रो कर रहा है और इस क्षेत्र में हर कोई अपना कैरियर बनाना चाहता है। लेकिन डिजिटल मार्केटिंग में कैरियर बनाने से पहले आपको इस फील्ड से जुड़ी हुई सारी जानकारी होना आवश्यक है। 

यहां आपको यह भी बता दें कि 12वीं के बाद यह एक बहुत ही अच्छा कैरियर ऑप्शन हो सकता है। अगर आपको इंटरनेट पर समय बिताना पसंद है और आप ने 12वीं पास कर ली है तो आप इस क्षेत्र में अपना करियर बना सकते हैं। आज के इस आर्टिकल में हम आपको डिजिटल मार्केटिंग से जुड़ी हुई सारी आवश्यक बातें बताएंगे ताकि अगर आप 12वीं के बाद इसमें अपना कैरियर बनाना चाहते हैं तो आपको सही गाइडेंस मिल जाए।‌

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स

डिजिटल मार्केटिंग क्या है (What is Digital Marketing  Course in Hindi)

डिजिटल मार्केटिंग एक ऐसा कोर्स है जिसमें कैंडिडेट को इंटरनेट मार्केटिंग की ट्रेनिंग दी जाती है यानी उसे यह सिखाया जाता है कि ऑनलाइन किसी भी प्रोडक्ट या सेवा को डिजिटल माध्यम के द्वारा कैसे प्रमोट किया जाता है। यहां आपको बता दें कि डिजिटल माध्यम से तात्पर्य इंटरनेट, फोन, सोशल मीडिया, कंप्यूटर आदि है और इनके द्वारा किसी प्रोडक्ट का प्रचार करने को ही डिजिटल मार्केटिंग कहते हैं। 

जानकारी के लिए बता दें कि डिजिटल मार्केटिंग एक ऐसा कोर्स है जिसमें यह सिखाया जाता है कि किस प्रकार आप डिजिटल वर्ल्ड में काम कर सकते हैं। इसके अलावा बता दें कि यह कोर्स 3 महीने, 6 महीने या फिर 1 साल तक का होता है। 

इस कोर्स में कैंडिडेट को डिजिटल मार्केटिंग के विभिन्न विषयों के बारे में ट्रेनिंग दी जाती है जैसे एसीईओ (SEO), एसईएम (SEM), सोशल मीडिया मार्केटिंग (Social Media Marketing), कंटेंट मार्केटिंग (Content Marketing), गूगल एडवर्ड्स (Google AdWords), गूगल ऐडसेंस (Google AdSense) इत्यादि और यदि कोई चाहे तो किसी एक विषय में भी ट्रेनिंग ले सकता है। 

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स के लिए योगयता क्या होनी चाहिए (Digital Marketing Course Eligibility)

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स करने के लिए कैंडिडेट में निम्नलिखित योग्यता होनी चाहिए-

  • छात्र किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से कम से कम 12वीं कक्षा पास होना चाहिए। 
  • अगर किसी छात्र ने ग्रेजुएशन कर लिया है तो वह भी इस कोर्स को कर सकता है। 
  • बेसिक कंप्यूटर की जानकारी।

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स संस्थान सूची (Digital Marketing Course Institute List)

यदि आप डिजिटल मार्केटिंग कोर्स करना चाहते हैं और आपको यह नहीं पता कि आप कौन से संस्थान से अपना कोर्स करें तो इसके लिए हम आपको बता दें कि जब भी आप डिजिटल मार्केटिंग कोर्स के लिए संस्थान का चुनाव करें तो केवल उसी इंस्टिट्यूट में प्रवेश लें जिसका डिजिटल मार्केटिंग के क्षेत्र में ट्रेनिंग देने का रिकॉर्ड अच्छा हो। अगर आप बिना जानकारी हासिल किए किसी भी संस्थान में दाखिला ले लेंगे तो आपका समय और पैसा दोनों ही व्यर्थ जाएंगे।

निम्नलिखित हम आपको कुछ डिजिटल मार्केटिंग इंस्टीट्यूट के बारे में जानकारी दे रहे हैं जो कि इस प्रकार से हैं – 

  • सिंपलीलर्न, बेंगलोर (Simplilearn, Bangalore)
  • एआईएमए-ऑल इंडिया मैनेजमेंट एसोसिएशन, दिल्ली (AIMA- All India Management Association, Delhi)
  • डीएसआईएम- दिल्ली स्कूल आफ इंटरनेट मार्केटिंग, दिल्ली एंड बेंगलोर (DSIM- Delhi School of internet marketing, Delhi and Bangalore)
  • लर्निंग कैटालिस्ट मुंबई (Learning Catalyst, Mumbai)
  • डिजिटल विद्या ब्रांचेस ऑल ओवर इंडिया (Digital Vidya, branches all over India)
  • न्यू दिल्ली वाईएमसीए, दिल्ली (New Delhi YMCA, Delhi)
  • जिका, इंदौर (Zica, Indore)
  • इंस्टीट्यूट आफ डिजिटल मार्केटिंग-आईडीएम मुंबई (Institute of digital marketing-IDM, Mumbai)
  • इंटरनेट मार्केटिंग स्कूल, कोलकाता (Internet Marketing School, Kolkata) 

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स पाट्यक्रम (Digital Marketing Course Syllabus)

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स करने के दौरान आपको निम्नलिखित पाठ्यक्रम की ट्रेनिंग दी जाती है ताकि आप एक अच्छे डिजिटल मार्केटर बन सके- 

  • इंट्रोडक्शन टो डिजिटल मार्केटिंग (Introduction to digital marketing)
  • वेबसाइट प्लैनिंग एंड क्रिएशन (Website planning and creation)
  • सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन-एसईओ (Search engine optimisation-SEO)
  • सर्च इंजन मार्केटिंग- एसईएम (Search engine marketing-SEM)
  • सोशल मीडिया मार्केटिंग-एसएमएम (Social media marketing-SMM)
  • कंटेंट स्ट्रेटजी (Content strategy)
  • वेब एनालिटिक्स (Web analytics)
  • डिजिटल मीडिया प्लैनिंग एंड बाइंग (Digital media planning and buying) 
  • वेब रीमार्केटिंग  (Web  Remarketing)
  • ईमेल मार्केटिंग (Email marketing)
  • मोबाइल मार्केटिंग (Mobile marketing)
  • यूट्यूब एडवरटाइजिंग (YouTube advertising)
  • ई-कॉमर्स मैनेजमेंट (E-Commerce management)
  • ऑनलाइन रेपुटेशन मैनेजमेंट (Online reputation management)
  • ऐडसेंस (AdSense)
  • ब्लॉगिंग एंड एफिलिएट मार्केटिंग (Blogging and affiliate marketing)
  • कैंपेन सेटिंग (Campaign setting) 

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स की किताबें और अध्ययन सामग्री (Books & Study Materials for Digital Marketing Course)

अगर आप डिजिटल मार्केटिंग कोर्स कर रहे हैं तो निम्नलिखित किताबें आपके लिए काफी उपयोगी साबित होंगी- 

  • डिजिटल मार्केटिंग बाय रियान डीस एंड रस हैनबेरी (Digital marketing by Ryan Deiss and Russ Hennberry)
  • गूगल एडवर्ड्स फॉर बिगनर्स: ए डू इट योरसेल्फ गाइड टु पीपीसी एडवरटाइजिंग बाय कोरे राबाजिंस्की  (Google AdWords for beginners: a do-it-yourself guide to PPC advertising by Corey Rabazinski)
  • एसईओ फॉर बिगनर्स: एन इंट्रोडक्शन टयू एसईओ बेसिक्स बाय सर्च इंजन जनरल (SEO for beginners: an introduction to SEO basics by Search Engine Journal)
  • परमिशन मार्केटिंग बाय सेठ गोडिन (Permission Marketing by Seth Godin) 
  • इंटरनेट मार्केटिंग: टॉप टेन मोस्ट इफेक्टिव स्ट्रेटजी बाय सर्गेइ पुचकोव (Internet marketing: top 10 most effective strategies by Sergey Puchkov)
  • होगी और हेडर्स बाय जे बाएर (Hug your haters by Jay Baer)
  • सोशल मीडिया मार्केटिंग बाय मार्क स्मिथ (Social media marketing by Mark Smith)
  • एपिक्स कंटेंट मार्केटिंग बाय जो (Epic content marketing by Joe)
  • वेब एनालिटिक्स 2.0 बाय अविनाश कोशिक (Web analytics 2.0 by Avinash Kaushik)
  • परमिशन मार्केटिंग बाय सेठ गोडिन (Permission Marketing by Seth Godin)
  • इनबॉउंड मार्केटिंग बाय ब्रायन हल्लिगन एंड धर्मेश शाह (Inbound Marketing by Brian Halligan and Dharmesh Shah)

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स फीस (Digital Marketing Course Fees)

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स की फीस इस बात के ऊपर निर्भर करती है कि आप कौन से संस्थान से अपना कोर्स कर रहे हैं क्योंकि हर इंस्टिट्यूट में अलग-अलग फीस ली जाती है। ऐसे बहुत सारे संस्थान हैं जो काफी प्रतिष्ठित है और जहां पर बहुत उत्तम डिजिटल मार्केटिंग की ट्रेनिंग दी जाती है लेकिन ऐसे संस्थानों में फीस बहुत अधिक होती है तो वहीं पर कुछ ऐसे संस्थान भी हैं जहां पर फीस कम ली जाती है। वैसे अगर हम देखें तो डिजिटल मार्केटिंग कोर्स करने के लिए आपको 10,000 रुपए से लेकर 60,000 रुपए तक की फीस का भुगतान करना पड़ सकता है। 

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स  करने के बाद  वेतन कितनी मिलती है (Salary After Digital Marketing Course)

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स एक ऐसा कोर्स है जिसको करने के बाद आपको नौकरी के लिए बिल्कुल भी समस्या नहीं होगी क्योंकि इस क्षेत्र में कैंडिडेट को कोर्स करने के फौरन बाद ही नौकरी मिल जाती है। लेकिन आप का वेतनमान इस बात के ऊपर डिपेंड करता है कि आप डिजिटल  मार्केटिंग में कितने एक्सपर्ट हैं और आप किस कंपनी में काम कर रहे हैं। किसी भी डिजिटल मार्केटर को शुरू में 15,000 रुपए से लेकर 25,000 रुपए तक का वेतनमान हर महीने मिल जाता है। 

निष्कर्ष

दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिकल जिसमें हमने आपको डिजिटल मार्केटिंग कोर्स के बारे में सारी जानकारी दी। अपने इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको बताया कि डिजिटल मार्केटिंग क्या है और डिजिटल मार्केटिंग कोर्स आप कैसे कर सकते हैं। इसके अलावा हमने आपको यह जानकारी भी दी कि डिजिटल मार्केटिंग कोर्स करने के लिए आपको कितनी फीस देनी पड़ सकती है और कोर्स करने के बाद आपको हर महीने कितनी सैलरी मिल सकती है। 

साथ ही हमने आपको यह भी बताया कि वह कौन सी डिजिटल मार्केटिंग की किताबें हैं जिनकी सहायता से आप अपनी डिजिटल मार्केटिंग के स्किल को और भी अधिक इंप्रूव कर सकते हैं। इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको यह भी बताया कि भारत में कौन-कौन से ऐसे संस्थान हैं जहां से आप डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स कर सकते हैं। 

हमें पूरी आशा है कि हमारा आज का यह आर्टिकल आपके लिए बहुत उपयोगी रहा होगा। इस आर्टिकल को आप सोशल मीडिया पर भी शेयर करें ताकि यदि अगर कोई कैंडिडेट 12वीं के बाद डिजिटल मार्केटिंग में अपना कैरियर बनाना चाहता है तो उसे सही जानकारी प्राप्त हो सके।‌

Deepak Kumar

दीपक कुमार After12th.net के लेखक और संस्थापक हैं। वह छात्रों को उनकी धारा तय करने और उद्योग में पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी प्रदान करने में मदद करता है। वह उन्हें नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने में मदद करता है। उनका उद्देश्य देश में अधिकतम छात्रों के लिए वैध और उपयोगी जानकारी साझा करना है।

Leave a Reply