डीजीपी कौन होता है (DGP) कैसे बने पूरी जानकारी

हर इंसान की यह तमन्ना होती है कि वह अपनी जिंदगी में एक ऐसा रुतबा हासिल करें जो उसको मान सम्मान दिलाने के साथ-साथ समाज में एक ऊंचा मकाम भी दे। अगर आपका भी ऐसा सपना है कि आप समाज में एक बहुत ही सम्मानजनक जीवन जिएं और अपने समाज की सेवा भी करें तो उसके लिए डीजीपी एक बहुत ही उत्तम विकल्प है। 

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि किसी भी क्षेत्र का डीजीपी इलाके के सभी पुलिस अधिकारियों का हेड होता है। लेकिन इस पद को प्राप्त करना इतना आसान नहीं होता इसके लिए बहुत अधिक परिश्रम की आवश्यकता होती है। इस पद को प्राप्त करने के लिए आईपीएस की परीक्षा में सफलता प्राप्त करना भी बहुत अनिवार्य होता है। हम आपको बता दें कि यदि आप पूरी रणनीति बनाकर अपनी तैयारी करेंगे तो आप के डीजीपी बनने के सपने में किसी भी प्रकार की कोई रुकावट नहीं आएगी।

आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि आप किस तरह से डीजीपी बन सकते हैं और इसके लिए आपके पास कितनी योग्यता होनी चाहिए। साथ ही हम आपको बताएंगे कि आप किस तरह से अपनी तैयारी कर सकते हैं। 

डीजीपी

डीजीपी कौन होता है (DGP in Hindi)

डीजीपी पुलिस विभाग का एक बहुत ही बड़ा और प्रतिष्ठित पद होता है। डीजीपी का मुख्य कार्य अपने अधिकारों का प्रयोग करके अपने क्षेत्र में रहने वाले लोगों की सुरक्षा को मजबूत करना होता है और कानून व्यवस्था को भी पूरी तरह से बनाए रखना होता है। 

आपको यह भी बता दें कि डीजीपी अधिकारी पुलिस विभाग में राज्य के कैबिनेट मंत्री के समान होता है। यह भी जान लें कि किसी भी क्षेत्र के डीजीपी के हाथ में बहुत अधिक शक्तियां होती हैं जिनके द्वारा वह अपना कार्य भली-भांति तरीके से करता है। साथ ही अपने सभी पुलिस अधिकारियों से किसी भी समय किसी भी अपराध या केस की जानकारी ले सकता है। इसके अलावा यदि कोई पुलिस अधिकारी अपना कार्य ठीक प्रकार से नहीं कर रहा है तो वह उसके ऊपर भी एक्शन ले सकता है। 

डीजीपी का फुल फॉर्म क्या है? (DGP Full Form)

डीजीपी (DGP) का फुल फॉर्म है Director General of Police (डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस)। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह पुलिस विभाग का सबसे शीर्ष पर होता है। अगर आप डीजीपी बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको आईपीएस करना आवश्यक होता है। आईपीएस की परीक्षा में जो व्यक्ति पास हो जाते हैं उनको डीजीपी का सम्मानजनक पद मिलता है जिसमें उनको काफी अच्छा वेतनमान भी मिलता है। जानकारी के लिए बता दें कि यदि कोई व्यक्ति इस पद पर आसीन हो जाता है तो उसके लिए इससे बढ़कर सम्मान की कोई बात नहीं होती। 

डीजीपी बनने की योगयता (Eligibility Criteria)

जो व्यक्ति डीजीपी बनना चाहता है उसके लिए उस व्यक्ति का स्नातक होना अनिवार्य है। अगर कोई व्यक्ति ग्रेजुएट नहीं है तो वह डीजीपी पद के लिए योग्य नहीं होता। इसके अलावा डीजीपी बनने के लिए यूपीएससी की परीक्षा को पास करना पड़ता है। जो व्यक्ति यूपीएससी की परीक्षा देते हैं और उसमें पास हो जाते हैं तो फिर वह आईएएस, आईपीएस और डीजीपी एवं अन्य दूसरे पदों के लिए योग्य बनते हैं। आपकी जानकारी के लिए यह भी बता दें कि कोई भी आईपीएस ऑफिसर अपनी सर्विस के जब 30 साल गुजार देता है तब वह डीजीपी बनता है। 

डीजीपी शिक्षा आवश्यकताएँ (Education Requirements)

  • किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से कम से कम ग्रेजुएशन किया हुआ होना जरूरी है। 
  • इसके अलावा डीजीपी बनने के लिए यूपीएससी का एग्जाम भी पास करना होता है। 

आयु सीमा:

  • सामान्य वर्ग के लिए आयु सीमा न्यूनतम 21 साल और अधिकतम 32 साल की होनी चाहिए।  
  • जो लोग ओबीसी केटेगरी में आते हैं उनके लिए आयु सीमा में 3 साल की छूट है।
  • इसके अलावा एससी और एसटी कैटेगरी के लोगों की आयु सीमा में 5 साल की छूट है। 

डीजीपी शारीरिक आवश्यकताएं:

डीजीपी क्योंकि एक पुलिस अधिकारी होता है इसलिए उसका शारीरिक रूप से फिट होना अत्यंत आवश्यक है। भारत में डीजीपी के पद के लिए शारीरिक आवश्यकताएं पुरुष और महिला दोनों के लिए अलग-अलग हैं जो कि हमने नीचे दी है-

पुरुष: 

  • ऊंचाई (Height)-सामान्य वर्ग, ओबीसी और एससी के लिए पुरुष की हाइट 165 सेंटीमीटर होनी चाहिए। वहीं अगर एसटी कैंडिडेट है तो उसकी हाइट 162.5 सेंटीमीटर होनी चाहिए।
  • चेस्ट (Chest)- सामान्य, ओबीसी और एससी कैंडिडेट की चेस्ट अविस्तारित (unexpanded) 77 सेंटीमीटर और विस्तारित (expanded) 82 सेंटीमीटर होनी चाहिए।
  • भार (weight)- सभी कैंडिडेट का वेट उनकी एज और उनकी हाइट के हिसाब से होना चाहिए। 
  • आंखों की दृष्टि (visual standards)-प्रत्येक वर्ग के लिए दाई आंख की रोशनी 6/6 होनी चाहिए और बाई आंख की रोशनी 6/12 होनी चाहिए। इसी प्रकार दोनों आंखों की रोशनी बिना चश्मे के 6/9 हो। 

महिला:

  • ऊंचाई (height)- सामान्य, ओबीसी और एससी महिलाओं के लिए 155 सेंटीमीटर हाइट होनी चाहिए और 154 सेंटीमीटर एसटी कैंडिडेट के लिए हाइट होनी चाहिए।
  • महिलाओं की बाकी अन्य योग्यताएं पुरुषों के समान ही हैं जो कि हमने ऊपर बताई हुई हैं।  

भारत में डीजीपी के लिए शीर्ष कोचिंग

भारत में डीजीपी के लिए बहुत सारे कोचिंग सेंटर हैं जहां पर यूपीएससी एग्जाम की तैयारी करवाई जाती है। इन कोचिंग में दाखिला लेने के साथ-साथ आपको स्वयं भी अत्यधिक पढ़ाई करनी होगी और मेहनत करनी होगी तभी आप यूपीएससी परीक्षा को पास कर सकेंगे। इस बात को आप अच्छी तरह से समझ लीजिए कि यदि आप यह सोच रहे हैं कि बिना मेहनत करे आप डीजीपी बन जाएंगे तो ऐसा बिल्कुल भी संभव नहीं है। इसके लिए आपको सही किताबें पढ़नी होंगी और अपना अध्ययन बहुत ही अच्छी प्रकार से करना होगा ताकि यूपीएससी प्रवेश परीक्षा को आप बिना किसी कठिनाई के पास कर लें और अपने समाज के लोगों का कल्याण कर सकें। अगर आप भारत के अंदर यूपीएससी के लिए बेस्ट कोचिंग की तलाश में है तो हम आपको नीचे बता रहे हैं कुछ शीर्ष कोचिंग के नाम जहां से आप अपनी प्रवेश परीक्षा की बहुत अच्छी तैयारी कर सकते हैं। 

  • एलाइट आईएएस अकैडमी, दिल्ली (Elite IAS Academy,  Delhi)
  • वाजीराम एंड रवि, दिल्ली (Vajiram and Ravi, Delhi)
  • ब्रिलिएंट ट्यूटोरियल्स, चेन्नई (Brilliant Tutorials, Chennai)
  • ब्रेन ट्री, हैदराबाद (Brain Tree, Hyderabad)
  • शंकर आईएएस अकैडमी, चेन्नई (Shankar IAS Academy, Chennai)
  • विजन आईएएस, दिल्ली (Vision IAS, Delhi)
  • अस्तित्व आईसीए अकैडमी, जयपुर (Astitva ICA Academy, Jaipur)
  • खान स्टडी ग्रुप, दिल्ली (Khan Study Group, Delhi)

डीजीपी बनने के लिए पुस्तकें और अध्ययन सामग्री

अगर आप डीजीपी बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको यूपीएससी की परीक्षा में सफलता हासिल करना होता है। आपको यूपीएससी की तैयारी करने के लिए बहुत सारी पुस्तकों और अध्ययन सामग्री की आवश्यकता पड़ेगी। निम्नलिखित हम कुछ किताबों और अध्ययन सामग्री के बारे में आपको विवरण दे रहे हैं-

  • जियोग्राफी ऑफ इंडिया बाय माजिद हुसैन (geography of India by Majid Husain)
  • इंडियन पोलिटी बाय लक्ष्मीकांत फिफ्थ एडिशन (Indian Polity by Laxmikanth 5 Addition)
  • इंडियन इकोनामी बाय रमेश सिंह (Indian economy by Ramesh Singh) 
  • ए ब्रीफ हिस्ट्री ऑफ मॉडर्न इंडिया बाय स्पेक्ट्रम (A brief history of modern India by spectrum)
  • जनरल स्टडीज बेस्ड ऑन एनसीईआरटी सिलेबस (General Studies Based on NCERT Syllabus)
  • इसके अलावा आपको विभिन्न प्रकार के पिछले वर्ष के प्रश्न पत्रों का अभ्यास भी करते रहना होगा। 

डीजीपी के कार्य 

जैसा कि हमने बताया कि डीजीपी पुलिस विभाग में सबसे ऊंचा पद है इसलिए जो भी व्यक्ति डीजीपी के पद को संभालता है उसकी जिम्मेदारी और कार्य भी बहुत अधिक होते हैं। 

  • डीजीपी का सबसे मुख्य कार्य अपने क्षेत्र में शांति व्यवस्था और कानून व्यवस्था को पूरी तरह से कायम करना होता है। 
  • डीजीपी अपने राज्य में कानून व्यवस्था की निगरानी करता है और उस को सुचारू रूप से चलाने का कार्य भी उसी का होता है। 
  • डीजीपी अधिकारी को जो अधिकार उसके पद के कारण मिलते हैं उनका प्रयोग करते हुए उसे राज्य सरकार के सहयोग के साथ अपने क्षेत्र के कार्यों में सुधार और प्रोत्साहन करना होता है। 
  • सारा पुलिस डिपार्टमेंट डीजीपी के अंतर्गत आता है और उसी के हिसाब से काम करता है। 

वेतनमान / डीजीपी का वेतन:

डीजीपी यानी पुलिस महानिदेशक का वेतन काफी अधिक होता है। हर माह डीजीपी को 56 हजार रुपए से लेकर 2 लाख 25 हजार रुपए तक सैलरी के रूप मे मिलते हैं। इसके अलावा सरकार से अन्य तरह की सुविधाएं भी डीजीपी को दी जाती हैं। लेकिन आपको यह भी बता दें कि जितनी अधिक डीजीपी की सैलरी होती है उससे भी ज्यादा उसकी जिम्मेदारियां और कर्तव्य होते हैं जिसको बखूबी निभाना होता है। 

निष्कर्ष

दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हमने आपको डीजीपी बनने के बारे में पूरी प्रक्रिया के के बारे में बताया जिसमें आपने जाना कि-

*डीजीपी कौन होता है और डीजीपी कैसे बन सकते हैं

*डीजीपी की शैक्षणिक योग्यता

*इसके अलावा आपने जाना कि डीजीपी की जिम्मेदारियां क्या-क्या होती हैं

*साथ ही हमने आपको बताया कि आईपीएस एग्जाम के लिए आपको कौन-कौन सी पुस्तकें और अध्ययन सामग्री पढ़नी चाहिए 

अगर आपको हमारा आर्टिकल पसंद आया हो तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें ताकि यदि वह भी डीजीपी बनने का सपना देख रहे हैं तो वह अपनी तैयारी ठीक प्रकार से कर सकें। 

Deepak Kumar

दीपक कुमार After12th.net के लेखक और संस्थापक हैं। वह छात्रों को उनकी धारा तय करने और उद्योग में पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी प्रदान करने में मदद करता है। वह उन्हें नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने में मदद करता है। उनका उद्देश्य देश में अधिकतम छात्रों के लिए वैध और उपयोगी जानकारी साझा करना है।

Leave a Reply