12वीं Science पीसीएमबी के छात्रों के लिए करियर विकल्प क्या है ?

यदि आप 12वीं पीसीएमबी (PCMB) का छात्र है, तो यह आर्टिकल आपके लिए बहुत फ़ायदेमंद होगा | इस आर्टिकल में हम  उपलब्ध courses after 12th, PCMB छात्रों के लिए list करेंगे | जैसे बीएससी डेयरी टेक्नोलॉजी, बैचलर ऑफ फार्मेसी, कृषि में बी.टेक, बीएससी बायो-टेक्नोलॉजी, और  बीएससी कृषि |

भारत में सैकड़ों पाठ्यक्रम और हजारों कॉलेज है, जिसमें कोर्स चुनना एक चुनौती पूर्ण कार्य है | आपको सही कोर्स का चयन करने के लिए हमने 12 वीं पीसीएमबी (PCMB) का छात्रों के लिए कोर्सेज का व्यापक विवरण किया है |

बीएससी डेयरी टेक्नोलॉजी (B.Sc. in Dairy Technology)

बीएससी डेयरी प्रौद्योगिकी एक स्नातक कृषि विज्ञान और प्रौद्योगिकी पाठ्यक्रम है |  यह पाठ्यक्रम तीन साल का है, जो दूध और उसके उत्पादों से संबंधित है | जिसमें जैव रसायन, जीवाणु विज्ञान और पोषण के विज्ञान का उपयोग करके विभिन्न डेयरी उत्पादों जैसे दूध और आइसक्रीम के प्रसंस्करण, वितरण और परिवहन शामिल है | 

इस कोर्स में प्रवेश के लिए 12 वीं के छात्रों को न्यूनतम 50 – 60% अंक प्राप्त होना चाहिए | और  शिक्षा संस्थान की नीति के आधार पर यह भिन्न भी हो सकता हैं | यह एक जॉब ओरिएंटेड कोर्स है | इस कोर्स की फीस 1 लाख से 2 के बीच है | 

Also read12वीं विज्ञान, वाणिज्य और कला के छात्रों के लिए कोर्सेज

बैचलर ऑफ फार्मेसी (Bachelor of Pharmacy)

B.Pharma का फुल फॉर्म बैचलर ऑफ फार्मेसी है | बैचलर ऑफ फार्मेसी यह भारत में 4 साल का स्नातक डिग्री कोर्स होता है, यह एक जॉब ओरिएंटेड कोर्स है | इस कोर्स में फार्मास्यूटिकल्स, फार्माकोलॉजी, फार्मास्युटिकल केमिस्ट्री और फार्माकोग्नॉसी सहित मुख्य विषयों का अध्ययन करता है | एक फार्मेसी व्यवसायी जो दवाओं के अनुसंधान और दवाओं के विकास में प्रमुख रूप से काम करता है |

इस कोर्स में प्रवेश के लिए 12 वीं के स्टूडेंट को पीसीएमबी (भौतिकी, रसायन विज्ञान और जीव विज्ञान या भौतिकी, रसायन विज्ञान और गणित) सब्जेक्ट होना आवश्यक है | बैचलर ऑफ फार्मेसी का वेतन INR 2.5-4 लाख प्रति वर्ष है |

कृषि में बी.टेक (B.Tech in Agriculture)

बी.टेक इन एग्रीकल्चरल 4 साल का कृषि इंजीनियरिंग स्नातक पाठ्यक्रम है | इस कोर्स में छात्रों को फसल उत्पादन प्रणाली में सुधार, पशु सुविधाओं को डिजाइन करने, मशीनरी का परीक्षण करने और खाद्य उत्पादन प्रणालियों का विश्लेषण सिखाया जाता हैं | 

इस कोर्स में प्रवेश के लिए 12 वीं में फ़िज़िक्स, केमिस्ट्री, बॉयोलॉजी और मैथमेटिक्स आवश्यक है | और 12 वीं कक्षा में छात्रों को न्यूनतम 50% से 60% होनी चाहिए | भारत में इस कोर्स का औसत वार्षिक ट्यूशन फीस INR 1.5 लाख और 3.9 लाख के बीच है | यह एक जॉब ओरिएंटेड कोर्स है |

बीएससी बायो-टेक्नोलॉजी (B.Sc Bio-Technology)

बीएससी बायोटेक्नोलॉजी एक 3- वर्षीय स्नातक कोर्स  है, जिसमें विभिन्न प्रकार की प्रौद्योगिकियों और उत्पादों के विकास के लिए जैव प्रौद्योगिकी कोशिकाओं, ऊतकों, और जीवों की आनुवंशिक, रासायनिक और भौतिक विशेषताओं का अध्यन करते है | जो लोगों के जीवन और स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में योगदान देता है | 

12 वीं छात्रों को इस कोर्स के लिए न्यूनतम 50 – 55% अंक आवश्यक है | बीएससी बायो टेक्नोलॉजी कोर्स का सालाना फीस INR 35,000 से INR 1,00,000 प्रतिवर्ष है | इस कोर्स को सफलतापूर्वक संपन्न करने बाद शुरुआत में INR 2 लाख से 3 लाख के बीच वेतन मिल सकता है |

Also readएग्रीकल्चर कोर्स (Agriculture Course) कैसे करे पूरी जानकारी

बीएससी कृषि (B.Sc. in Agriculture)

बीएससी एग्रीकल्चर एक 4 साल का अंडरग्रेजुएट कोर्स है, जो  विभिन्न प्रकार की कृषि पद्धतियों, प्लांट ब्रीडिंग, एग्रीकल्चर माइक्रोबायोलॉजी, सॉयल साइंस, प्लांट पैथोलॉजी, आदि अनुसंधान और प्रथाओं पर केंद्रित है |

बीएससी कृषि में कृषि विज्ञान, बागवानी, पादप रोग विज्ञान, एन्टोमोलॉजी, खाद्य प्रौद्योगिकी, कृषि अर्थशास्त्र, गृह विज्ञान, मत्स्य पालन, और पशु चिकित्सा विज्ञान जैसे  विषय से स्पेशलाइजेशन डिग्री कोर्स कर सकते है | 

इस कोर्स में प्रवेश करने के लिए न्यूनतम 12 वीं पास आवश्यक है | जिसमें 50% अंक और भौतिकी, रसायन विज्ञान, गणित और जीव विज्ञान होना आवश्यक है | इस कोर्स का फीस 7000 से 40000 रुपये के बीच  है |

निष्कर्ष

दोस्तों, हमने आपको 12 वीं पीसीएमबी के बाद छात्रों के लिए उपलब्ध कोर्सेज की जानकारी दिया है, उम्मीद है ये सभी कोर्सेज आपको पसंद आये होंगे | 

Leave a Reply