12वीं Science PCM (भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, गणित) के बाद करियर विकल्प

12 वीं विज्ञान पीसीएम के विधार्थी अपनी कक्षा पास करते ही अगला पट्यकर्म में प्रवेश या करियर के लिए सोचते है | यह समय छात्रों के लिए आमतौर पर बहुत महत्वपूर्ण होता है क्योंकि उनको अपने करियर के बारे में निर्णय लेना होता है, 12वीं विज्ञान पीसीएम (भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, गणित) के बाद कौन सा कोर्स करना चाहिए ? इस लेख में हमने उन सभी पाठ्यक्रमों के बारे में बात की है जिन्हें आप 12वीं विज्ञान पीसीएम (भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, गणित) के बाद शामिल करना चाहिए | 12वीं विज्ञान पीसीएम छात्रों के लिए नीचे दिये गये सभी उपलब्ध पाठ्यक्रमों को अवश्य पढ़ना चाहिए |

एनडीए (राष्ट्रीय रक्षा अकादमी) (NDA)

एनडीए फुल फॉर्म राष्ट्रीय रक्षा अकादमी | NDA full form National Defense Academy.

12वीं विज्ञान पीसीएम पास करने के बाद एनडीए में शामिल होने के लिए यूपीएससी द्वारा आयोजित परीक्षा एनडीए निकलना पड़ता है | यह परीक्षा थल सेना, नौसेना, और वायुसेना विंग में शामिल होने के इच्छुक उम्मीदवारों के लिए एक प्रवेश द्वार है | यह परीक्षा वर्ष में दो बार आयोजित किया जाता है NDA-1, NDA-2 | इस परीक्षा को पास करने के बाद तीनों सेनाओं के अकादमेस में एक साथ ट्रैंनिंग दिया जाता है | उसके बाद संबंधित सेवा स्कूलों में प्रवेश मिलती है |

12वीं पीसीएम के बाद कोर्सेज

बीआर्क (इंटीरियर / लैंडस्केप डिजाइन में डिप्लोमा) Biarch (Diploma in Interior / Landscape Design)

बीआर्क (इंटीरियर / लैंडस्केप डिज़ाइन में डिप्लोमा) यह एक 3 साल का लम्बा स्नातक पाठ्यक्रम है जो 12वीं विज्ञान पीसीएम के विधार्थी को प्रदान की जाती है | इस कोर्स में प्रवेश के लिए एंट्रेंस परीक्षा देना पड़ता है जैसे NATA, BITSAT,और यह कॉलेजेस के ऊपर भी निर्भर करता है |

इस कोर्स में निर्माण और मानव उपयोग के लिए विभिन संरचनाओं के व्यवस्थित डिज़ाइन, सामान्य इंजीनियरिंग, और मिट्टी की स्थितियों की जांच और दूसरी डिज़ाइन शामिल है | जो पर्यावरण, सामाजिक-व्यवहार या सौंदर्य परिणामों को प्राप्त करने के लिए होता है | इस कोर्स की फीस 1 लाख से 10 तक के बीच में है |

कोर्स पूरा करने के बाद शुरुआती वेतन 2 लाख से 10 के बीच में मिल सकती है |

योजना और डिजाइन में स्नातक (Bachelor in Planning and Design)

बैचलर ऑफ प्लानिंग एंड डिज़ाइन चार साल का एक अंडर ग्रैजुएट डिग्री कोर्स है | 12वीं विज्ञान पीसीएम पास करने के बाद इस कोर्स में प्रवेश ले सकते है | इस कोर्स में  इन्फ्रास्ट्रक्चर को बेहतर बनाने के लिए कई स्किल्स सिखाते जाते है | जैसे कि डिज़ाइन ऑफ लार्ज टाउन शिप, इंस्टीट्यूशंस, लैंडस्केप्ड एनवायरनमेंटल प्लानिंग टू कंजर्वेशन ऑफ हेरिटेज साइट्स और बिल्डिंग और शहरी मानव बस्तियों से संबंधित चुनौतियों का समाधान करना इत्यादि |

यह विषय अध्ययन सिद्धांतों और तकनीकों के सैद्धांतिक और व्यावहारिक पहलुओं पर केंद्रित है | जैसे कि कंप्यूटर एडेड डिज़ाइन और सिमुलेशन, योजना निर्माण और विशिष्ट भवन डिज़ाइन, जल आपूर्ति और स्वच्छता, रोशनी और विद्युत सेवाएं, ऊर्जा कुशल डिज़ाइन, मॉड्यूलर समन्वय , महानगरीय योजना, बुनियादी ढाँचा योजना, आवास और सामुदायिक योजना में कंप्यूटर अनु प्रयोग |

इस कोर्स का फीस 1 लाख से 3 लाख के बीच है | यह कोर्स पूरा करने के बाद शुरुआती वेतन 3 लाख से 4 लाख पर साल मिल सकता है |

भारतीय सेना में तकनीकी प्रवेश योजना (TES)

12वीं विज्ञान पीसीएम संपन्न करने के बाद सेना में जाना चाहते है तो भारतीय सेना में तकनीकी पदों के लिए टीईएस एक माध्यम है, जिसके द्वारा एक तकनीकी अधिकारी के रूप में भारतीय सेना में प्रवेश कर सकते है। चयनित उम्मीदवारों को सेना द्वारा इंजीनियरिंग कोर्स में प्रवेश दिया जाता है,  और कोर्स सफलता पूर्वक उत्तीर्ण करने के बाद उन्हें सीधे लेफ्टिनेंट रैंक पर नियुक्त किया जाता है |

बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी (बीटेक)

बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी (बीटेक) एक चार साल का स्नातक इंजीनियरिंग डिग्री प्रोग्राम है, 12वीं विज्ञान पीसीएम के पूरा होने के बाद इंजीनियरिंग के लिए यवाओं में भारी क्रेज होता है, वो इंजीनियर बनना चाहते हैं इसलिए बीटेक विकल्प चुनते हैं | जिन छात्रों ने पीसीएम या भौतिकी, रसायन विज्ञान और गणित को अनिवार्य विषय के रूप में लिया है, उन्हें इस कोर्स  के लिए प्राथमिकता दी जाती है।

बीटेक विभिन्न विषयों में पाठ्यक्रम प्रदान किया जाता हैं, रुचि के अनुसार छात्र निम्नलिखित विषयों में कोर्स कर सकते है | जैसे कंप्यूटर विज्ञान और इंजीनियरिंग, सिविल इंजीनियरिंग, मैकेनिकल इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रॉनिक्स और संचार इंजीनियरिंग, आदि।

इस कोर्स को करने के लिए लगभग 5 लाख खर्च करने पड़ सकते है |

इंजीनियरी स्नातक (Bachelor of Engineering)

बीई का फुलफॉर्म बैचलर ऑफ इंजीनियरिंग होता है | Full Form of BE is Bachelor of Engineering.

यह एक इंजीनियरिंग अंडरग्रेजुएट डिग्री कोर्स है जिसकी अवधि चार साल होती है |  इस कोर्स को 12वीं विज्ञान पीसीएम पास करने के बाद किया जाता है, बीई पाठ्यक्रम मुख्य रूप से वैज्ञानिक सिद्धांत अवधारणाओं और प्रयोगों पर केंद्रित है | यह कोर्स बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी (बीटेक) डिग्री के बराबर होता है | यह कोर्स कई शाखाओं से किया जाता है जैसे कंप्यूटर, मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल, इलेक्ट्रॉनिक्स और दूरसंचार, नागरिक, रसायन, एयरोस्पेस, ऑटोमोबाइल, आदि

बीई कोर्स की फीस 25,000 से लेकर 2 लाख प्रति वर्ष तक है, यह पाठ्यक्रम शुल्क विश्वविद्यालयों  के आधार पर भिन्न होता है |

प्रत्यक्ष द्वितीय वर्ष इंजीनियरिंग डिप्लोमा (Direct second year engineering diploma)

12 वीं pcm के बाद प्रत्यक्ष द्वितीय वर्ष इंजीनियरिंग डिप्लोमा (direct second year engineering diploma) में प्रवेश कर सकते है | जिसका उद्देश्य छात्रों को इंजीनियरिंग, वैज्ञानिक, कंप्यूटिंग, गणितीय तकनीक के कुछ बुनियादी ज्ञान, और समस्या को हल करने की क्षमता प्रदान करना है |

यह कोर्स 2 साल को होता है, जिसमे 4 सेमेस्टर होता है | यह कोर्स विभिन्न अनुशासन में कर सकते है जैसे कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग, सिविल इंजीनियरिंग, मैकेनिकल इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिक इंजीनियरिंग, इत्यादि | इस कोर्स का सालाना फीस 32000 है, इस कोर्स को सफलतापूर्वक संपन्न करने के बाद पॉलिटेक्निक डिप्लोमा (Polytechnic Diploma) डिग्री प्रदान की जाएगी |

कंप्यूटर विज्ञान स्नातक (BCS) Bachelor of Computer Science

कंप्यूटर विज्ञान के स्नातक (बीसीएस) (Bachelor of Computer Science) कंप्यूटर विज्ञान, सॉफ्टवेयर और हार्ड वेयर से संबंधित विशेषज्ञता के साथ 3 साल का स्नातक पाठ्यक्रम है | जो कंप्यूटर के सिद्धांतों और उपयोग का अध्ययन करता है | कुछ संस्थान बी.एससी (कंप्यूटर साइंस) नाम करण के साथ पाठ्यक्रम प्रदान करते हैं | इस कोर्स को करने के लिए छात्रों को 12 वीं पीसीएम  में कम से कम 45% से उत्तीर्ण होना चाहिए |

इस कोर्स की फीस भारत में लगभग INR 50,000 है, यह कॉलेज की संबद्धता और स्थान के आधार पर शुल्क भिन्ना हो सकती है |

बीसीए, Bachelor in Computer Application (BCA)

BCA का फुल फॉर्म बैचलर्स इन कंप्यूटर एप्लीकेशन है |

बैचलर इन कंप्यूटर अप्लीकेशन तीन साल का स्नातक डिग्री पाठ्यक्रम है | यह कोर्स आपको कंप्यूटर की और इसके अनु प्रयोगों के बारे में जानकारी देता है | जो सॉफ्टवेयर डवलपमेंट और कंप्यूटर एप्लिकेशन की मूल बातों से संबंधित है, और कंप्यूटर प्रोग्रामिंग से लेकर नेटवर्किंग तक, सब कुछ बीसीए पाठ्यक्रम में शामिल है | जो सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में करियर शुरू करने के लिए सबसे लोकप्रिय कोर्सेज में से एक BCA है |

यह कोर्स दूरस्थ शिक्षा डिग्री के रूप में भी उपलब्ध है | उम्मीदवार अपनी रुचि और क्षमता के अनुसार चयन कर सकते हैं | इस कोर्स को करने के लिए न्यूनतम योग्यता 12 वीं, और आवश्यक अंक 45% से 50% है | यह कॉलेजेस के ऊपर भी निर्भर करता है |

बीसीए कोर्स की फीस लगभग 80,000-2,00,000 है | निजी कॉलेजों की तुलना में बीसीए कोर्स की फीस सरकारी कॉलेजों में कम होता है |

विज्ञान स्नातक (बीएससी) Bachelor of Science (BSc)

बैचलर ऑफ साइंस (बीएससी) 3 साल का स्नातक पाठ्यक्रम है, जो विज्ञान और अनुसंधान में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं | यह कक्षा 12 वीं विज्ञान के छात्र इस कोर्स को चुन सकते है | यह कोर्स विभिन्न विषय पाठ्यक्रम में उपलब्ध है जैसे बीएससी फ़िज़िक्स, बीएससी कंप्यूटर साइंस, बीएससी केमिस्ट्री, बीएससी बॉयोलॉजी, बीएससी मैथमेटिक्स आदि हैं |

12 वीं छात्रों को किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से न्यूनतम 50% – 60% कुल अंकों के साथ विज्ञान पीसीएम पास करना चाहिए | इस कोर्स को डिस्टेंस एजुकेशन के माध्यम से भी कर सकते है | इस कोर्स को करने के लिए एक औसतन फीस Inr 8,000 – 50,000 के बीच है |

फिल्म और टेलीविजन डिप्लोमा (FTII) Film and television diploma

फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (FTII) Film and television diploma कोर्सेज 1 – 3 साल का होता है | FTII की स्थापना भारत सरकार ने 1960 में तत्कालीन प्रभात स्टूडियो, पुणे के परिसर में की थी | यहाँ कई शाखाओं में FTII के कोर्स कराये जाते है जैसे दिशा और पटकथा लेखन, छायांकन, संपादन, ध्वनि रिकॉर्डिंग और ध्वनि डिजाइन, कला निर्देशन और उत्पादन डिजाइन, स्क्रीन अभिनय, स्क्रीन लेखन (फिल्म, टीवी और वेब श्रृंखला), टीवी विंग, दिशा, इलेक्ट्रॉनिक छायांकन, वीडियो संपादन, ध्वनि रिकॉर्डिंग और टेलीविजन अभियांत्रिकी, इत्यादि |

Film and television diploma कोर्स के लिए न्यूनतम योग्यता अन्य ग्रेजुएट या 12 वीं पास आवश्यक है |

होटल प्रबंधन में स्नातक (Bachelor of Hotel Management) BHM

Bachelor of Hotel Management: बीएचएम एक तीन साल स्नातक पाठ्यक्रम है |  हालांकि, कुछ कॉलेज इसे चार साल के डिग्री कोर्स के रूप में पेश करते हैं | 12 वीं के बाद इस कोर्स को कर सकते है, परन्तु इस बीएचएम पाठ्यक्रम में व्यक्तिगत कौशल को विकसित करने और बढ़ाने पर जोर देता है | क्योंकि एक अच्छा व्यक्तित्व और अत्यंत अच्छे संचार कौशल इस करियर के लिए बहुत जरूरी है |

इस कोर्स का फीस लगभग 3 लाख से 10 लाख के बीच में है | इस कोर्स को सफल पूर्वक संपन्न करने के बाद आपकी वेतन inr 6 लाख सालाना हो सकता है |

निष्कर्ष

हमने आपको 12वीं विज्ञान पीसीएम के बाद किये जाने वाले लगभग सभी कोर्सेज के बारे में डिसकस किया है, उम्मीद है यह लेख आपको पसंद आएगी |

Deepak Kumar

दीपक कुमार After12th.net के लेखक और संस्थापक हैं। वह छात्रों को उनकी धारा तय करने और उद्योग में पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी प्रदान करने में मदद करता है। वह उन्हें नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने में मदद करता है। उनका उद्देश्य देश में अधिकतम छात्रों के लिए वैध और उपयोगी जानकारी साझा करना है।

This Post Has One Comment

  1. Praveen kumar

    मेरा नाम praveen kumar pandit है और मै बिहार राज्य का रहने वाला हूँ

    मैंने 2020 मे 12th पास किया है. 10th मे 345 और 12th मे 379 अंक प्राप्त किया.

    मै science (PCM) छात्र हूं.

    मुझे कोई ऐसा सरकारी या प्राइवेट नौकरी चाहिए जिसमे मुझे बहुत पैसा मिले और बहुत सारा OFFER भी. और काम करने मे भी आसान हो.

    मै 12TH पास हू तो अब कोई एक कोर्स करने के बाद नौकरी मिले तो बहुत अच्छा है

    मेरा परिवार ज्यादा पैसा खर्च नहीं सकते तो कम पैसे मे होने वाला कोर्स बताए

    मुझमे कुछ कमियां है

    . मुझे ज्यादा पढ़ाई करने का मन नहीं करता
    . मुझे ENGLISH बिल्कुल समझ में नहीं आता है
    . मुझे आख़ से बहुत कम दिखाई देता है
    . मुझे STAMMERING की समस्या है
    . मुझे लोगो से बाते करना बिल्कुल पसंद नहीं है

    मेरे लायक जो भी नौकरी है कृपया मुझे बताए

    मै बहुत परेशान हूं,

    कृप्या अपना जवाव हमे Email या Whatsapp कर दे plzz

    Whatsapp *********
    ******************

    Thankyou, Sir!

Leave a Reply