कॉपी राइटर (Copy Writer) कैसे बनें?

नमस्कार! दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि कॉपी राइटर कैसे बनें? इस समय में एक अच्छे कंटेंट क्रिएटर की डिमांड हर एडवर्टाइजमेंट एजेंसी और ऑनलाइन बिजनेस को होती है और इसीलिए इस इंडस्ट्री में आज कॉपी राइटर की डिमांड बहुत ज्यादा बढ़ गई है। साथ ही साथ आपको बता दें कि आपको अपने घर से बाहर जाकर काम करने की जरूरत भी नहीं होती क्योंकि अगर आप चाहें तो आप फ्रीलांसर राइटर के तौर पर भी काम कर सकते हैं विशेष तौर पर लड़कियां। इसलिए अगर आप क्वालिटी कंटेंट क्रिएट कर सकते हैं तो इस फील्ड में अपना कैरियर बना सकते हैं। लेकिन अगर आपको यह नहीं मालूम कि आप 12वीं के बाद किस तरह से कॉपीराइटर बन सकते हैं तो हमारे आज के इस आर्टिकल को सारा पढ़ें और जानें पूरी प्रक्रिया के बारे में। 

कॉपी राइटर क्या होता है (what is Copy Writer in Hindi) 

यहां सबसे पहले आपको जानकारी के लिए बता दें कि कॉपीराइटर एक ऐसा प्रोफेशनल होता है जो किसी पर्टिकुलर एडवरटाइजमेंट कैंपेन को ध्यान में रखते हुए एक कैची और अट्रैक्टिव कंटेंट क्रिएट करता है। इस तरह से जब उसका क्रिएट किया हुआ कंटेंट लोगों तक जाता है तो लोग उसकी तरफ अट्रेक्ट होते हैं और जिसकी वजह से उस प्रोडक्ट या सर्विस की डिमांड बढ़ती है। वैसे आज के टाइम में कॉन्पिटिशन इतना ज्यादा बढ़ गया है कि इसके लिए कैंडिडेट को बहुत ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है क्योंकि कंस्यूमर जिन चीजों या सर्विसेज की तरफ बहुत ज्यादा अट्रैक्ट होते हैं या उन पर ट्रस्ट करते हैं उन्हीं को लेना चाहते हैं। इस तरह से एक कॉपी राइटर का काम स्क्रिप्ट लिखना, स्लोगन बनाना और सबसे ज्यादा इंपॉर्टेंट होता है पंच लाइन्स क्रिएट करना। 

Also read: सिनेमेटोग्राफर (Cinematographer) कैसे बनें?

कॉपी राइटर बनने के लिए प्रक्रिया क्या है

अगर आप एक कॉपीराइटर के तौर पर अपना कैरियर बनाना चाहते हैं तो यहां आपको बता दें कि इसके लिए आपको 12वीं के बाद इससे संबंधित क्षेत्र में डिप्लोमा या पोस्ट ग्रैजुएट डिप्लोमा करना होगा जिसको करने के लिए आज हमारे देश में बहुत सारे इंस्टिट्यूट्स और यूनिवर्सिटीज हैं, लेकिन वहां पर एडमिशन लेने के लिए आपको एंट्रेंस टेस्ट में भाग लेना होगा। इस तरह से जब आप अपना कोर्स पूरा कर लेंगे तो उसके बाद आप किसी एडवरटाइजिंग एजेंसी को ज्वाइन कर लें या फिर अगर आप चाहें तो आप अपना खुद का भी बिजनेस स्टार्ट कर सकते हैं। 

कॉपी राइटर बनने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए 

  • कैंडिडेट ने किसी मान्यता प्राप्त इंस्टीट्यूट से 12वीं कक्षा पास की होनी चाहिए।
  • कॉपीराइटिंग के क्षेत्र में उसने डिप्लोमा कोर्स किया हो।
  • या फिर कैंडिडेट ने सोशल साइंस, लिबरल आर्ट्स या फिर ह्यूमैनिटीज में ग्रेजुएशन किया होना चाहिए। 
  • कैंडिडेट जिस भाषा में भी राइटिंग कर रहा है उस पर उसकी काफी अच्छी कमांड होनी चाहिए।
  • इमेजिनेटिव पावर स्ट्रांग होनी चाहिए जिससे कि वह बेस्ट तरीके से कॉपीराइटिंग कर सके। ‌
  • किसी एडवरटाइजमेंट की आवश्यकता के अनुसार कांटेक्ट क्रिएट कर सके।
  • कैंडिडेट के कम्युनिकेशन स्किल्स अच्छे होने चाहिए और इसके साथ साथ उसे कंप्यूटर की जानकारी भी होना जरूरी है।

आयु सीमा 

  • छात्र की आयु कम से कम 17 से लेकर 18 साल के बीच में होनी चाहिए।
  • सरकार के नियम अनुसार आरक्षित श्रेणी के छात्रों को आयु सीमा में कुछ वर्षों की छूट दी गई है। 

कॉपी राइटर बनने के कैरियर संभावनाएं क्या है 

जब कोई कैंडिडेट एक कॉपी राइटर बन जाता है तो उसके सामने फिर नौकरी करने के बहुत ही ज्यादा अवसर आ जाते हैं क्योंकि आज ऐसे बहुत सारे प्राइवेट और पब्लिक ऑर्गेनाइजेशन है जहां पर इनकी जरूरत होती है। इसके अलावा स्टेट और सेंट्रल गवर्नमेंट में भी इन्हें काम करने के अवसर आसानी के साथ मिल जाते हैं। साथ ही साथ कैंडिडेट को निम्नलिखित जगहों पर भी कई तरह की कैरियर अपॉर्चुनिटीज मिल जाती है जैसे कि –

  • टूरिस्ट एजेंसी।
  • एडवरटाइजमेंट एजेंसी।
  • मॉडल्स और फिल्म स्टार्स के लिए शॉर्ट स्लोगन लिखने का जॉब।
  • अपना खुद का बिजनेस भी स्टार्ट कर सकते हैं।

वेतन 

कैंडिडेट को क्षेत्र में काम करते हुए शुरुआत में ही हर महीने 20 से लेकर 25 हजार रुपए तक का सैलरी पैकेज मिल जाता है और इस फील्ड में काम करते हुए जब उसे कुछ सालों का अनुभव हासिल हो जाता है तो तब उसे हर महीने 35,000 रुपए या उससे ज्यादा का भी वेतन मिल सकता है। साथ ही साथ यह भी बता दें कि जो लोग अपना खुद का बिजनेस शुरू करते हैं वो हर महीने 1 लाख रुपए से भी ज्यादा की कमाई भी कर सकते हैं। 

कॉपी राइटर के कार्य 

कॉपीराइटर के कार्य बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण होते हैं जिनके बारे में हम आपको निम्नलिखित जानकारी दे रहे हैं- 

  • स्लोगन्स लिखना।
  • केच लाइंस लिखना।
  • सोशल मीडिया के लिए यूजर्स को अट्रैक्ट करने के लिए हाई क्वालिटी कंटेंट लिखना।
  • जिस कंपनी में वह काम करते हैं उसकी ब्रांड को इफेक्टिव और अट्रैक्टिव तरीके से लोगों के सामने लाना।
  • ऐसा कंटेंट क्रिएट करना जो कंपनी के स्टाइल और गाइडलाइंस के अकॉर्डिंग हो। 
  • कंपनी के प्रोडक्ट या सर्विस के बारे में अट्रैक्टिव कंटेंट क्रिएट करना। 

निष्कर्ष 

दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिकल कॉपी राइटर कैसे बनें? इस पोस्ट के माध्यम से हमने आप को जानकारी दी कि कॉपीराइटर क्या होता है और उसके बनने के लिए किसी भी छात्र में कितनी योग्यता की आवश्यकता है। इसके साथ ही साथ हमने आपको यह भी बताया कि कॉपी राइटर बनने के लिए पूरी प्रक्रिया क्या होती है और जब कैंडिडेट इस पद पर काम करता है तो उसे कौन-कौन से कार्य करने पड़ते हैं एवं इसके अलावा हमने यह भी जानकारी दी कि उसे हर महीने कितने रुपए तक का वेतन मिल सकता है। वैसे अगर देखा जाए तो जो लोग अच्छा कंटेंट लिखना जानते हैं वह इस क्षेत्र में अपना कैरियर काफी सफलतापूर्वक बना सकते हैं। अंत में हमारा आपसे बस यही निवेदन है कि अगर आपको हमारा यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो इसे अपने उन दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें जो 12वीं के बाद कॉपीराइटर बनना चाहते हैं। 

Leave a Reply