कंप्यूटर गेम डिजाइनर (Computer game designer) कैसे बनें?

नमस्कार! आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कंप्यूटर गेम डिजाइनर (Computer game designer) कैसे बनें। आज के समय में हर कोई गेम का ही दीवाना है चाहे वह छोटा बच्चा हो या फिर बड़ा इंसान। सभी अपने स्मार्टफोन या फिर कंप्यूटर में गेम खेलकर समय बिताना बहुत ज्यादा पसंद करते हैं। वैसे हर इंसान के अंदर कोई ना कोई टैलेंट जरूर होता है जिसका प्रयोग अगर वह ठीक प्रकार से करें तो उनके सामने कैरियर के बहुत सारे ऑप्शन आ जाते हैं जिनमें वह सफलता के साथ काम कर सकने में समर्थ होते हैं। कुछ लोगों को कंप्यूटर गेम खेलना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है तो ऐसे में वहीं कुछ लोग ऐसे हैं जो कंप्यूटर गेम डिजाइनर बनना चाहते हैं और अगर आप भी इस फील्ड में जाने में इंटरेस्ट रखते हैं तो हमारे आज के इस आर्टिकल को पढ़ें और जानें कि आप किस प्रकार से कंप्यूटर गेम डिजाइनर बन सकते हैं। 

कंप्यूटर गेम डिजाइनर क्या होता है (what is Computer game designer in Hindi) 

कंप्यूटर गेम डिजाइनर एक ऐसा प्रोफेशनल होता है जो स्पेशलाइज्ड सॉफ्टवेयर के डिजाइनर और डेवलपर होते हैं जो कि उनका प्रयोग करते हुए अनेकों प्रकार के कंप्यूटर गेम क्रिएट करने में सक्षम होते हैं। किसी भी गेम को बनाते समय कैंडिडेट प्रोजेक्ट की टाइमलाइन और वर्क शेड्यूल के अनुसार अपने काम को पूरा करता है जैसे कि एनिमेशन, डिजाइनिंग पजल्स, कैरक्टर्स, स्टोरीलाइन इत्यादि। यहां बता दें कि इसके लिए कोड लिखने के लिए कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का इस्तेमाल किया जाता है। इस प्रकार आज के समय में बहुत सारे गेम्स कंप्यूटर पर खेलने के लिए भी बनाएं जाते हैं जो कि केवल एक कंप्यूटर गेम डिजाइनर ही क्रिएट कर सकता है। 

Also read:  

कंप्यूटर गेम डिजाइनर बनने के लिए प्रक्रिया क्या है

जो उम्मीदवार कंप्यूटर गेम डिजाइनर बनना चाहते हैं उन्हें इसके लिए सबसे पहले बता दें कि उनको 12वीं कक्षा साइंस विषय में पास करने के बाद कंप्यूटर गेम डिजाइन से संबंधित कोई कोर्स करना होगा जो कि डिप्लोमा या फिर डिग्री कोर्स हो सकता है। यहां बता दें कि अगर किसी कैंडिडेट में क्रिएटिविटी की कमी है तो तब वह इस फील्ड में जाने के बारे में न सोचें क्योंकि इस इंडस्ट्री में केवल रचनात्मक उम्मीदवारों की जरूरत होती है क्योंकि गेम डिजाइनिंग के लिए क्रिएटिविटी सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है। इस तरह से जब छात्र अपना कोर्स पूरा कर लेते हैं तो तब वह गेम डिजाइनर, कैरक्टर एनिमेटर, गेम डेवलपर, गेम प्ले प्रोग्रामर, आर्ट डिजाइनर, लेबल स्क्रिप्टर, स्क्रिप्ट राइटर इत्यादि के रूप में काम कर सकते हैं। 

कंप्यूटर गेम डिजाइनर बनने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए

इसके लिए कैंडिडेट में जो अनिवार्य योग्यता होनी चाहिए उसकी जानकारी हम निम्नलिखित बता रहे हैं जैसे कि-

  • कैंडिडेट ने गेम डिजाइन में बैचलर डिग्री हासिल की हो।
  • या कैंडिडेट ने कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग में डिग्री ले रखी हो।
  • या फिर उम्मीदवार ने ग्राफिक एनिमेशन में डिग्री कोर्स किया हो। 
  • उम्मीदवार में रचनात्मकता होनी बेहद जरूरी है। 
  • कंप्यूटर कोडिंग लैंग्वेज की जानकारी होनी चाहिए। 

 कंप्यूटर गेम डिजाइनर बनने के कैरियर संभावनाएं क्या है 

जो कैंडिडेट कंप्यूटर गेम डिजाइनर बनना चाहते हैं उनके लिए कैरियर के बहुत सारे ऑप्शन मौजूद है जैसे कि गेम एनिमेटर, गेम ऑडियो इंजीनियर, गेम प्रोग्रामर, गेम डिजाइनर, क्रिएटिव गेम डायरेक्टर, गेम आर्टिस्ट, गेम सिस्टम डिजाइनर इत्यादि। इस प्रकार कैंडिडेट को ब्रॉडकास्टिंग कंपनीज, क्रिएटिव एजेंसीज, कंप्यूटिंग एंड इलेक्ट्रॉनिक्स ऑर्गेनाइजेशंस, गेम फर्म्स, सॉफ्टवेयर डेवलपर जैसी कंपनियों में काम करने के मौके मिल जाते हैं। 

वेतन 

कंप्यूटर गेम डिजाइनर बनने के बाद कैंडिडेट को हर महीने 30 हजार से लेकर 35 हजार रुपए तक का सैलरी पैकेज सरलता से मिल जाता है लेकिन यहां यह भी बता दें कि जब कैंडिडेट को वेतन मिलता है तो उसकी योग्यता, स्किल एवं हुनर के अनुसार अधिक भी मिल सकता है। इसलिए इस क्षेत्र में उन्हीं कैंडिडेट को जॉब के अच्छे अवसर मिलते हैं जो अपने काम को मेहनत और क्रिएटिविटी के साथ करने में विश्वास रखते हैं। 

कंप्यूटर गेम डिजाइनर के कार्य

कंप्यूटर गेम डिजाइनर के पद पर काम करने वाले कैंडिडेट को निम्नलिखित कार्य करने होते हैं जैसे कि-

  • गेमिंग डिपार्टमेंट में प्रोड्यूसर के रूप में काम करते हैं।
  • 2D और 3D मॉड्यूलिंग और सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करते हुए डिजाइनिंग करना। 
  • अगर कैंडिडेट वीडियो गेम प्रोड्यूसर के रूप में काम करता है तो पूरे प्रोडक्शन के काम को अपनी निगरानी में करवाना। 
  • अपनी क्रिएटिविटी, एनिमेशन के द्वारा गेम बनाना। 
  • कोडिंग लैंग्वेज का इस्तेमाल करके कंप्यूटर गेम डिजाइन करना। 
  • गेम ग्राफिक्स के साथ-साथ ड्राइंग गेम करैक्टर की एनिमेटिंग करना। 
  • किसी भी गेम की स्टोरी डिसाइड करना और उसे डिजाइन करना।
  • गेम की कोडिंग करना। 

 निष्कर्ष

दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिकल जिसमें हमने आपको बताया कि कंप्यूटर गेम डिजाइनर (Computer game designer) कैसे बनें? इस पोस्ट में हमने आपको बताया कि कंप्यूटर गेम डिजाइनर क्या है और इसके लिए कितनी योग्यता कैंडिडेट में होनी चाहिए। साथ ही साथ हमने यह भी बताया कि कंप्यूटर गेम डिजाइनर बनने के लिए प्रक्रिया क्या है और यह भी जानकारी दी कि कंप्यूटर गेम डिजाइनर बनने के बाद क्या होती है और महीने कैंडिडेट को कितना वेतन मिल जाता है। इसके अलावा दूसरी बातें भी हमने इस पोस्ट में बता दी हैं जो आपके लिए हेल्पफुल रहीं होंगी। वैसे यहां बता दें कि इस फील्ड में उन छात्रों के लिए कामयाबी ही कामयाबी है जिनको रचनात्मकता के अलावा कंप्यूटर की कोडिंग लैंग्वेज की जानकारी भी है।

अंत में हमारी आप से रिक्वेस्ट है कि अगर आपको हमारा यह लेख पसंद आया हो तो इसे उन लोगों के साथ भी जरूर शेयर करें जो 12वीं के बाद कंप्यूटर गेम डिजाइनर बनना चाहते हैं। 

Deepak Kumar

दीपक कुमार After12th.net के लेखक और संस्थापक हैं। वह छात्रों को उनकी धारा तय करने और उद्योग में पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी प्रदान करने में मदद करता है। वह उन्हें नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने में मदद करता है। उनका उद्देश्य देश में अधिकतम छात्रों के लिए वैध और उपयोगी जानकारी साझा करना है।

Leave a Reply