कंप्यूटर इंजीनियर (Computer Engineer) कैसे बनें

  • Post author:
  • Post category:Career

दोस्तों आज के टाइम में हर इंसान कंप्यूटर के क्षेत्र में अपना भविष्य बनाना चाहता है क्योंकि आज हमारा सारा वर्ल्ड डिजिटलाइज हो चुका है। इसी वजह से 12वीं के बाद बहुत सारे छात्र ऐसे हैं जो कंप्यूटर इंजीनियर बनना चाहते हैं। इस क्षेत्र में युवा वर्ग अत्यधिक आकर्षित हो रहे हैं इसका कारण यह है क्योंकि इसमें उनको आगे बढ़ने के काफी अवसर मिल सकते हैं।

इसीलिए वर्तमान में 12वीं के बाद छात्र कंप्यूटर इंजीनियरिंग कोर्स करने में काफी दिलचस्पी ले रहे हैं। अगर आप भी 12वीं कक्षा में पढ़ रहे हैं या आपने 12वीं कक्षा पास कर ली है और आप कंप्यूटर इंजीनियर बनना चाहते हैं तो हमारा आज का यह आर्टिकल आपके लिए काफी अधिक लाभदायक हो सकता है क्योंकि आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से कंप्यूटर इंजीनियरिंग कोर्स के बारे में पूरी जानकारी देने वाले हैं। 

सिविल इंजीनियर

Contents

कंप्यूटर इंजीनियर क्या होता है (What is  Computer Engineer In Hindi)

एक कंप्यूटर इंजीनियर वह होता है जो किसी कंप्यूटर को या उसके पुर्जो को डिजाइन करने के साथ-साथ टेस्टिंग व इंप्लीमेंटेशन का काम करता है जैसे मदरबोर्ड, राउटर, मेमोरी डिवाइस, प्रोसेसर, ऑपरेटिंग सिस्टम आदि। इसके अलावा एक कंप्यूटर इंजीनियर कंप्यूटर बनाते समय इस बात की जांच भी करता है कि कंप्यूटर के सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर ठीक से काम कर रहे हैं या नहीं। इसके अलावा किसी भी नेटवर्क की टेस्टिंग और सेटिंग का कार्य भी कंप्यूटर इंजीनियर ही करते हैं। कंप्यूटर इंजीनियर कोर्स करने के बाद कैंडिडेट डाटाबेस एडमिनिस्ट्रेशन, नेटवर्किंग इंजीनियर, सॉफ्टवेयर इंजीनियर आदि के पदों पर कार्य कर सकता है। 

कंप्यूटर इंजीनियरिंग कोर्स लिस्ट (Computer Engineering Course List)

जो छात्र 12वीं के बाद कंप्यूटर इंजीनियरिंग कोर्स करना चाहते हैं उनकी जानकारी के लिए बता दें कि इस क्षेत्र में एक नहीं अनेकों कोर्स हैं जिनको करने के बाद वह कंप्यूटर इंजीनियर बन सकते हैं। निम्नलिखित कुछ फेमस कंप्यूटर इंजीनियरिंग कोर्स के नाम हम बता रहे हैं-

  • बीईई इन कंप्यूटर साइंस (BEE in computer science)
  • बीईई इन इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी (BEE in Information Technology)
  • बीटेक इन कंप्यूटर साइंस (B Tech in computer science)
  • बीटेक इन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी (B Tech in Information Technology)
  • बीएससी आईटी (BSc  IT)
  • बीएससी इन कंप्यूटर साइंस (BSc in computer science)
  • डिप्लोमा इन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी (Diploma in information technology)
  • डिप्लोमा इन कंप्यूटर साइंस (Diploma in Computer science)

कंप्यूटर इंजीनियर बनाने के लिए योगयता क्या होनी चाहिए (Computer Engineer Eligibility)

  • छात्र ने 12वीं कक्षा किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से पास की हो।
  • कैंडिडेट ने 12वीं में विज्ञान विषय गणित विषय के साथ पढ़ा हो।
  • उम्मीदवार के 60% अंक होने चाहिए। 

कंप्यूटर इंजीनियरिंग कोर्स के लिए प्रवेश प्रक्रिया (Admission process for Computer engineering course)

अगर आप कंप्यूटर इंजीनियर बन कर इस क्षेत्र में अपना भविष्य बनाना चाहते हैं तो आपको बता दें कि यह एक बहुत ही अच्छा ऑप्शन आपके लिए हो सकता है क्योंकि इसमें मौजूदा समय के साथ-साथ भविष्य में नौकरी करने के अनेकों अवसर आपको मिलेंगे। लेकिन एक कंप्यूटर इंजीनियर बनने के लिए आपको राष्ट्रीय लेवल या राज्य लेवल की प्रवेश परीक्षाओं को पास करना होता है। 

इसके अलावा ऐसे बहुत सारे संस्थान हैं जो अपनी खुद की एंट्रेंस परीक्षा रखते हैं और कुछ प्राइवेट कॉलेज ऐसे भी हैं जहां पर बिना किसी प्रवेश परीक्षा के एडमिशन दे दिया जाता है। वैसे यहां आपको बता दें कि कंप्यूटर इंजीनियर बनने के लिए आपको AIEEE (एआईईईई), बिटसेट (BITSAT), आईआईटी (IIT), सीईटी (CET), ईएएमसीईटी  (EAMCET), केएलईई (KLEE) इत्यादि परीक्षाओं में से किसी एक को पास करना होता है। 

भारत में टॉप 10 कंप्यूटर इंजीनियरिंग कॉलेजों (Top 10 Computer Engineering Colleges in India)

वह सभी उम्मीदवार जो कंप्यूटर इंजीनियरिंग की प्रवेश परीक्षा को पास कर लेते हैं उन्हें भारत के शीर्ष कॉलेजों में कंप्यूटर की पढ़ाई करने का अवसर दिया जाता है जहां से वह बहुत ही उत्कृष्ट इंजीनियर बन कर निकलते हैं। निम्नलिखित हम आपको कुछ कंप्यूटर संस्थानों के नाम बता रहे हैं जो कि इस प्रकार से है –

  1. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, मुंबई (Indian Institute of Technology, Mumbai)
  2. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, दिल्ली (Indian Institute of Technology, Delhi)
  3. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी मद्रास (Indian Institute of Technology Madras)
  4. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, हैदराबाद (Indian Institute of Technology, Hyderabad)
  5. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, खरगपुर (Indian Institute of Technology, Kharagpur)
  6. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, रुड़की (Indian Institute of Technology, Roorkee)
  7. अन्ना विश्वविद्यालय, चेन्नई (Anna Vishwavidyalay, Chennai)
  8. दिल्ली यूनिवर्सिटी, दिल्ली (Delhi University, Delhi)
  9. पंजाब यूनिवर्सिटी (Punjab University)
  10. इंटरनेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी, हैदराबाद (International Institute of Information Technology, Hyderabad)

कंप्यूटर इंजीनियरिंग कोर्स फीस (Computer engineering course fees)

अगर आप एक कंप्यूटर इंजीनियर बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको इसका डिप्लोमा या फिर डिग्री कोर्स करना होगा जिसके लिए हमारे देश में बहुत सारे प्राइवेट और सरकारी संस्थान एवं पॉलिटेक्निक खुले हुए हैं। यहां आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अगर आप कंप्यूटर इंजीनियरिंग कोर्स करना चाहते हैं तो आपको इसके लिए हर संस्थान में अलग-अलग फीस देनी पड़ सकती है क्योंकि निजी और सरकारी संस्थानों में फीस एक समान नहीं होती है। 

इसी प्रकार अगर आप डिप्लोमा कोर्स करेंगे तो उसकी फीस अलग होगी और डिग्री कोर्स की अलग। इस तरह से एक कंप्यूटर इंजीनियरिंग कोर्स के लिए आपको हर साल 50 हजार रुपए से लेकर 2 लाख रुपए तक का फीस भुगतान करना पड़ सकता है।   

कंप्यूटर इंजीनियरिंग कोर्स के बाद प्राइवेट सेक्टर में जॉब्स (Jobs in private sector after computer engineering course)

जब कोई उम्मीदवार कंप्यूटर इंजीनियरिंग कोर्स करके कंप्यूटर इंजीनियरिंग के क्षेत्र में कदम रखता है तो उसे इस फील्ड में प्राइवेट सेक्टर में बहुत सारे नौकरी करने के अवसर मिल जाते हैं जहां पर वह नौकरी करके अपने कैरियर की शुरुआत कर सकता है जैसे प्राइवेट स्कूल, प्राइवेट बैंक, प्राइवेट संस्थान, प्राइवेट कंपनियां  इत्यादि। 

कंप्यूटर इंजीनियरिंग कोर्स के बाद गवर्नमेंट सेक्टर में जॉब्स (Jobs in government sector after computer engineering course)

जिस प्रकार एक कंप्यूटर इंजीनियर को बहुत आसानी के साथ प्राइवेट सेक्टर में जॉब मिल जाती है उसी तरह से एक कंप्यूटर इंजीनियर अगर चाहे तो गवर्मेंट सेक्टर में भी नौकरी कर सकता है। कोई भी उम्मीदवार जो कंप्यूटर इंजीनियरिंग कोर्स पूरा कर लेता है उसको विभिन्न सरकारी संस्थानों, स्कूलों और अस्पतालों इत्यादि में नौकरी करने के काफी मौके मिल जाते हैं। 

कंप्यूटर इंजीनियर के कार्य (computer engineer work)

आज के युग में एक कंप्यूटर इंजीनियर का बहुत अधिक महत्व है और इसके कार्य भी बहुत सारे होते हैं जो उसको करने होते हैं। निम्नलिखित हम आपको एक कंप्यूटर इंजीनियर के कार्यों के बारे में जानकारी दे रहे हैं जो कि इस प्रकार से है-

  • एक कंप्यूटर इंजीनियर कंप्यूटर का रख-रखाव करने के साथ-साथ उसके पार्ट्स को भी रिपेयर करता है। 
  • कंप्यूटर इंजीनियर कंप्यूटर की प्रोग्रामिंग के साथ-साथ उसकी डिजाइनिंग का कार्य भी करता है।
  • कंप्यूटर के सॉफ्टवेयर का मेंटेनेंस और डेवलपमेंट का काम भी कंप्यूटर इंजीनियर का ही होता है। 
  • एक कंप्यूटर इंजीनियर पीसी के लिए हार्डवेयर कंपनी डिजाइन का काम भी करता है।
  • इसके साथ-साथ एक कंप्यूटर इंजीनियर हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर, नेटवर्किंग, स्कैनिंग इत्यादि जैसे मुद्दों को भी मैनेज करने का कार्य करता है। 
  • साथ ही एक कंप्यूटर इंजीनियर किसी भी ऐप का निर्माण करने का कार्य भी करता है। 

कंप्यूटर इंजीनियर का वेतन कितनी होती है (What is the salary of Computer engineer)

जब कोई कैंडिडेट कंप्यूटर इंजीनियरिंग का कोर्स पूरा कर लेता है तो उसके बाद उसको बहुत आराम से किसी भी कंपनी में नौकरी मिल जाती है और उसको शुरू में ही हर महीने 20 हजार से लेकर 25 हजार रुपए तक वेतनमान मिल जाता है। बाद में जब उसको तीन-चार साल का अनुभव हो जाता है तो उसकी सैलरी काफी अधिक हो जाती है। ऐसे बहुत सारे कैंडिडेट भी हैं जो कंप्यूटर इंजीनियरिंग कोर्स करने के बाद विदेशों में नौकरी करना पसंद करते हैं तो ऐसे में उन्हें हर महीने लाखों की कमाई करने का अवसर मिल जाता है। 

निष्कर्ष

दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिकल जिसमें हमने आपको बताया कि कंप्यूटर इंजीनियर (Computer Engineer) कैसे बनें। इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको यह जानकारी दी कि अगर आप कंप्यूटर इंजीनियरिंग कोर्स करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको कौन-कौन सी प्रवेश परीक्षाओं से गुजरना होगा। साथ ही हमने आपको भारत के विभिन्न टॉप कंप्यूटर इंजीनियरिंग कॉलेजों के नाम भी बताएं और हमने आपको यह जानकारी भी दी कि कंप्यूटर इंजीनियरिंग के लिए आपको हर वर्ष कितनी फीस देनी पड़ सकती है। 

इसके साथ-साथ हमने आपको इस आर्टिकल में यह जानकारी दी थी कि आप कंप्यूटर इंजीनियर बनने के बाद शुरू में हर महीने कितने तक का वेतनमान पा सकते हैं एवं अन्य दूसरी महत्वपूर्ण जानकारियां दी हमने आपको बता दी हैं। अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया हो तो आप इस आर्टिकल को अपने उन दोस्तों के साथ भी शेयर करें जो 12 वीं के बाद कंप्यूटर इंजीनियरिंग के क्षेत्र में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं। 

Leave a Reply