क्लर्क कम कैशियर (Clerk Cum Cashier) कैसे बनें?

नमस्कार! आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे Clerk Cum Cashier कैसे बनें? आज भारत के बहुत सारे छात्र अपनी पढ़ाई को पूरा करने के बाद बैंकिंग सेक्टर में जाना चाहते हैं क्योंकि मौजूदा समय में इंडियन इकोनामी में बैंकिंग सेक्टर बहुत ही ज्यादा तेज़ी से विकसित हो रहा है। वैसे तो बैंक में बहुत सारे पद होते हैं लेकिन आमतौर पर अधिकतर छात्र यही चाहते हैं कि वह बैंक में क्लर्क कम कैशियर बन कर काम करें। लेकिन इस पोस्ट पर काम करने के लिए किसी भी अभ्यर्थी को बहुत ही अधिक मेहनत करनी पड़ती है क्योंकि इस सेक्टर में केवल वही अभ्यर्थी काम कर सकते हैं जो इस से संबंधित चयन परीक्षा में पास हो जाते हैं। यदि आप भी एक ऐसे कैंडिडेट है जो बैंकिंग सेक्टर में जाना चाहते हैं और इससे जुड़ी जानकारी ढूंढ रहे हैं तो हमारे आज के इस पोस्ट को सारा पढ़े और जानें कि आप किस प्रकार से क्लर्क कम कैसे बन सकते हैं। 

क्लर्क कम कैशियर क्या होता है (what is Clerk Cum Cashier in Hindi) 

आपको बता दें कि क्लर्क कम कैशियर एक ऐसा व्यक्ति होता है जो अपने कार्यरत बैंक में हर दिन की फाइनेंशियल ट्रांजैक्शन का ध्यान रखता है और आम भाषा में इसे बैंक क्लर्क भी कहा जाता है। इस प्रकार बैंक में जब भी कोई ग्राहक आता है तो तब उसे ट्रांजैक्शन में सहायता करने के साथ-साथ बैंक से संबंधित विभिन्न प्रकार की सुविधाओं को भी ग्राहकों तक पहुंचाता है। यहां बता दें कि जब कोई कैंडिडेट किसी भी बैंक में इस पद पर काम करता है तो उसके सामने काफी सफल कैरियर होता है।

Also read: बैंक प्रोबेशनरी ऑफिसर (Bank Probationary Officer) कैसे बनें?

क्लर्क कम कैशियर बनने के लिए प्रक्रिया क्या है

जो अभ्यर्थी किसी बैंक में क्लर्क कम कैशियर बनना चाहते हैं तो यहां उसके लिए बता दें कि कैंडिडेट को अगर किसी सरकारी बैंक में नौकरी करने हैं तो तब उसे लिखित परीक्षा में भाग लेना होता है जिस में सफलता पाने के बाद उसे गवर्नमेंट बैंकों में नौकरी मिल जाती है। इसी प्रकार प्राइवेट बैंकों में अभ्यर्थियों को उनकी योग्यता और इंटरव्यू के आधार पर को जॉब दे दी जाती है।  

क्लर्क कम कैशियर बनने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए 

  • कैंडिडेट ने किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से कम से कम ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की हो। 
  • अभ्यर्थी को कंप्यूटर का संपूर्ण ज्ञान होना चाहिए जिससे कि वह बिना किसी समस्या के अपना काम कर सकें।
  • अपने क्षेत्र की लोकल भाषा के अलावा अंग्रेजी भाषा में भी अच्छी पकड़ होनी चाहिए। 
  • कम्युनिकेशन स्किल्स अच्छे होने चाहिए। 

आयु सीमा 

  • इच्छुक उम्मीदवार की आयु 18 साल से लेकर 27 साल के बीच में होनी अनिवार्य है।
  • आरक्षित वर्ग को आयु सीमा में सरकार के निर्देशानुसार छूट दी गई है। 

क्लर्क कम कैशियर बनने के कैरियर संभावनाएं क्या है 

अब यहां आपको बता दें कि जब कोई अभ्यर्थी क्लर्क कम कैशियर के रूप में कैरियर बनाना चाहता है तो तब उसके सामने विभिन्न प्राइवेट और सरकारी बैंकों में काम करने के मौके होते हैं जहां पर वह नौकरी के लिए आवेदन देकर काम कर सकता है। 

वेतन 

जब कोई अभ्यर्थी किसी बैंक में क्लर्क कम कैशियर के रूप में कार्यरत हो जाता है तो तब उसे हर महीने 25,000 से लेकर 35,000 रुपए तक का वेतनमान हर महीने मिल जाता है और इस प्रकार जब उसे नौकरी करते हुए कुछ वर्षों का अनुभव प्राप्त हो जाता है जो तब उसे 40,000 रुपए तक का सैलरी पैकेज मिल सकता है। 

क्लर्क कम कैशियर के कार्य 

किसी भी बैंक में क्लर्क कम कैशियर के पद पर काम करने वाले कैंडिडेट की भूमिका बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण होती है और उसे जो कार्य करने होते हैं उनकी जानकारी निम्नलिखित है-

  • ग्राहक की ट्रांजैक्शन की प्रोसेसिंग का काम करता है।
  • यदि बैंक में कोई नया ग्राहक आता है तो उसके सभी सवालों के जवाब देना और अपने बैंक के बारे में भी सारी जानकारी प्रदान करना।
  • किसी भी ग्राहक की पर्सनल और फाइनैंशल इंफॉर्मेशन को वेरीफाई करना।
  • कस्टमर का फाइनेंशियल डाटा मेंटेन करना।
  • कैश मैनेजमेंट से जुड़ी हुई सभी एक्टिविटीज को सपोर्ट करना। 
  • यदि किसी ग्राहक को कोई समस्या आ रही है तो उसका समाधान करना। 

निष्कर्ष

दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिकल Clerk Cum Cashier कैसे बनें? इस पोस्ट में हमने आपको बताया कि क्लर्क कम कैशियर क्या होता है और इसके लिए कैंडिडेट में कितनी योग्यता होनी चाहिए। इसके अलावा हमने इस लेख में आपको यह भी जानकारी दी कि क्लर्क कम कैशियर बनने की पूरी प्रक्रिया क्या होती है और इस पद पर जो अभ्यर्थी काम करते हैं उन्हें हर महीने कितने रुपए तक का सैलरी पैकेज प्राप्त हो सकता है। साथ ही साथ हमने इस पोस्ट में यह भी बताया कि क्लर्क कम कैशियर को कौन-कौन से कार्य करने होते हैं। वैसे यहां हम यही कहेंगे कि अगर किसी कैंडिडेट में बैंकिंग सेक्टर की चयन परीक्षा को पास करने की योग्यता है तो उसे इस क्षेत्र में अपना करियर जरूर बनाना चाहिए। अंत में हमारा यही निवेदन है कि अगर आपको हमारे द्वारा दी गई सारी जानकारी उपयोगी लगी हो तो इसे अपने उन दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करें जो क्लर्क कम कैशियर बनना चाहते हैं। 

Leave a Reply