बीईएम कोर्स (BEM Course) कैसे करें पूरी जानकारी

नमस्कार! After 12th में आपका स्वागत है। दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे बीईएम कोर्स (BEM Course) कैसे करें पूरी जानकारी। बहुत से छात्र जो 12वीं पास कर लेते हैं वह किसी ऐसे कोर्स को करना चाहते हैं जिसको करने के बाद उन्हें अच्छी कंपनियों में जॉब मिल सके। 

इसीलिए काफी विद्यार्थी बीईएम कोर्स में एडमिशन लेते हैं। लेकिन आमतौर पर स्टूडेंट्स को यह समझ में नहीं आता कि वो किस तरह से किसी अच्छे कॉलेज में दाखिला ले सकते हैं। इसलिए जरूरी है कि वह अपने पाठ्यक्रम को करने से पहले उसके बारे में सारी डिटेल्स के बारे में पता कर लें। 

अगर आप भी एक ऐसे स्टूडेंट हैं जो 12वीं के बाद बीईएम कोर्स करना चाहते हैं तो हमारे आज के इस आर्टिकल को सारा पढ़ें और जानें इसके बारे में सारी डिटेल्स विस्तार से। 

बीईएम कोर्स क्या है (what is BEM course in Hindi)

सबसे पहले आपको हम जानकारी के लिए बता दें कि बीईएम (BEM) का पूरा नाम बैचलर ऑफ इवेंट मैनेजमेंट (Bachelor of event management) है। यह उनके लिए काफी अच्छा पाठ्यक्रम है जो मैनेजमेंट के क्षेत्र में जाना चाहते हैं। 

यहां बताते चलें कि इवेंट मैनेजमेंट का मतलब होता है कि किसी प्रोजेक्ट को बड़े या छोटे पैमाने पर डिजाइन करना। बता दें कि हमारे देश में कॉन्सर्ट, शादियां, पार्टियां, त्यौहार इत्यादि काफी बड़े पैमाने पर सेलिब्रेट किए जाते हैं। इन सब की प्लानिंग और ऑर्गेनाइजिंग करना ही इवेंट मैनेजमेंट के ग्रेजुएट प्रोग्राम में छात्रों को सिखाया जाता है। इस तरह से इस कोर्स को करने के बाद स्टूडेंट्स एक ट्रेंड प्रोफेशनल के तौर पर अपना काम बेहतर तरीके से करते हैं। 

अवधि (duration)

बैचलर ऑफ मैनेजमेंट कोर्स की अवधि 3 साल की होती है। बता दें कि छात्रों को इस कोर्स के दौरान 6 सेमेस्टर पास करने होते हैं। इस प्रकार से जो कैंडिडेट सभी सेमेस्टर्स में पास हो जाते हैं उन्हें बीईएम की डिग्री मिल जाती है। 

बीईएम कोर्स के लिए प्रवेश परीक्षा (entrance test for BEM course)

बीईएम कोर्स में छात्रों को आमतौर पर डायरेक्ट एडमिशन मिल जाता है। लेकिन बहुत से उत्कृष्ट कॉलेजों में छात्रों को एंट्रेंस एग्जाम देना होता है। यह प्रवेश परीक्षा संस्थान के द्वारा ही आयोजित करवाई जाती है। जो कैंडिडेट एंट्रेंस टेस्ट को पास कर लेते हैं उन्हें भारत के प्रेस्टीजियस कॉलेजों में पढ़ाई करने का चांस मिलता है। 

अगर किसी वजह से विद्यार्थी प्रवेश परीक्षा में सफल नहीं हो पाते हैं तो दुखी होने की जरूरत नहीं है। वो अपना एडमिशन किसी दूसरे कॉलेज या फिर प्राइवेट संस्थान में ले सकते हैं। 

बीईएम कोर्स के लिए प्रवेश प्रक्रिया क्या है (what is the admission process for BEM course)

जो विद्यार्थी 12वीं के बाद बीईएम कोर्स करना चाहते हैं इसके लिए जो प्रवेश प्रक्रिया है वह इस प्रकार से है

  • सबसे पहले कैंडिडेट को चाहिए कि वह जिस भी कॉलेज से अपना कोर्स करना चाहते हैं उसकी ऑफिशल वेबसाइट पर जाएं। 
  • वेबसाइट के होम पेज पर उन्हें बैचलर ऑफ इवेंट मैनेजमेंट एडमिशन से संबंधित लिंक मिलेगा उस पर क्लिक कर दें। 
  • फिर छात्रों के सामने एक दूसरा पेज खुल कर आता है जिसमें वह अपनी सारी जानकारी ठीक प्रकार से भरने के बाद ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। 
  • इस प्रकार से अगर कॉलेज में एंट्रेंस टेस्ट के बाद ही दाखिला होता है तो स्टूडेंट्स को प्रवेश परीक्षा में भाग लेना होता है। 
  • अगर एंट्रेंस एग्जाम में छात्र सफल हो जाते हैं तो उन्हें अच्छे कॉलेज में दाखिला मिल जाता है। 
  • वहीं अगर किसी कैंडिडेट ने किसी प्राइवेट इंस्टिट्यूट में अपना आवेदन जमा किया है तो उसे भी बहुत आसानी के साथ उसके पसंदीदा कॉलेज में दाखिला मिल जाता है। 

बीईएम कोर्स के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए (what should be the qualification for BEM course)

जो स्टूडेंट्स 12वीं के बाद बीईएम करना चाहते हैं इसके लिए उनमें निम्नलिखित योग्यता होना जरूरी है – 

  • छात्र ने किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं कक्षा पास की हो।
  • 12वीं क्लास में छात्र के कम से कम 50% अंक होने चाहिए। 
  • विद्यार्थी के कम्युनिकेशन स्किल्स अच्छे होने के साथ-साथ उसे कंप्यूटर की जानकारी भी होनी चाहिए। 
  • छात्र में प्रॉब्लम सॉल्विंग कैपिसिटी होने के साथ-साथ उसके मैनेजमेंट स्किल्स भी अच्छे होने चाहिए।
  • कैंडिडेट अपने काम के प्रति समर्पित और हार्ड वर्किंग होना चाहिए।
  • मल्टी टास्क करने की एबिलिटी होनी चाहिए।

फीस (Fees

बैचलर ऑफ इवेंट मैनेजमेंट कोर्स करने के लिए छात्रों को जो फीस भुगतान करनी पड़ती है वह हर कॉलेज के अलग-अलग होती है। यहां जानकारी के लिए बता दें कि जो प्राइवेट कॉलेज हैं उनमें सरकारी कॉलेजों की अपेक्षा फीस काफी ज्यादा ली जाती है। 

इस प्रकार से देखा जाए तो हर कॉलेज के अनुसार स्टूडेंट्स को इस पाठ्यक्रम के लिए 30 हजार रुपए से 3 लाख से अधिक फीस देनी पड़ सकती है। सही फीस के बारे में जानकारी केवल एडमिशन के दौरान ही छात्रों को पता लग पाती है। 

भारत में बीईएम कोर्स करने के लिए कॉलेज (college to do BEM course in India)

हमारे देश भारत में बीईएम कोर्स करने के लिए बहुत से कॉलेज है जहां पर छात्र दाखिला ले सकते हैं जैसे कि – 

  • एमिटी यूनिवर्सिटी नोएडा (Amity University Noida)
  • जैन यूनिवर्सिटी बेंगलोर (Jain University Bangalore)
  • दून बिजनेस स्कूल देहरादून (Doon Business School Dehradun)
  • मेवार यूनिवर्सिटी चितौड़गढ़ (Mewar University chittorgarh)
  • संस्कृति यूनिवर्सिटी मथुरा (Sanskriti University Mathura)
  • इंस्टिट्यूट ऑफ़ बिज़नस मैनेजमेंट एंड रिसर्च इंदौर (Institute of business management and Research Indore) 
  • आईआईकेएम बिजनेस स्कूल चेन्नई (IIKM Business School Chennai)
  • क्रिस्ट इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट राजकोट (Christ Institute of Management Rajkot) 
  • ब्लू व्हेल अकैडमी मुंबई (Blue whale Academy Mumbai) 
  • चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी चंडीगढ़ (Chandigarh University Chandigarh) 

बीईएम कोर्स का पाठ्यक्रम/सब्जेक्ट क्या क्या है (what are the syllabus/subjects of BEM course) 

यहां अब आपको हम बीईएम कोर्स के सिलेबस के बारे में जानकारी देंगे। इससे आप इस पूरे पाठ्यक्रम को ठीक से समझ सकेंगे कि आपको कोर्स के दौरान क्या-क्या सब्जेक्ट पढ़ाए जाएंगे। तो इवेंट मैनेजमेंट के ग्रैजुएट प्रोग्राम में छात्रों को निम्नलिखित विषय पढ़ाए जाते हैं

  • कम्युनिकेशन स्किल्स (Communication skills) 
  • कॉरपोरेट कम्युनिकेशन (Corporate communication) 
  • इवेंट प्लानिंग (Event planning)
  • बेसिक्स ऑफ इवेंट मैनेजमेंट (Basics of event management)
  • इवेंट प्रोडक्शन प्रोसेस (Event production process) 
  • स्टाफ मैनेजमेंट (Staff management)
  • सेफ्टी मैनेजमेंट (Safety management)
  • ब्रांड मैनेजमेंट (Brand management)
  • इवेंट प्रमोशन (Event promotion)
  • एचआर मैनेजमेंट (HR management)
  • फाइनेंस मैनेजमेंट (Finance Management)
  • स्टाफ मैनेजमेंट (Staff management)
  • टाइप्स ऑफ मेजर इवेंट्स (Types of major events) 
  • मीडिया मैनेजमेंट (Media management) 
  • इवेंट एडवरटाइजिंग (Event advertising) 
  • लीगल एस्पेक्ट्स रिलेटेड टू इवेंट मैनेजमेंट (Legal aspects related to event management) 
  • आईटी एंड कंप्यूटर एजुकेशन (IT and computer education)

बीईएम कोर्स के बाद कैरियर संभावनाएं क्या है (what are the career prospects after BMS course)

इवेंट मैनेजमेंट में ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल करने के बाद कैंडिडेट को प्राइवेट और गवर्नमेंट सेक्टर में काम करने के अच्छे अवसर मिल जाते हैं। योग्य अभ्यर्थी एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में काम करने के साथ-साथ प्रोडक्शन फर्म्स, अवॉर्ड शोज, फैशन शोज में भी काम कर सकते हैं। इसके अलावा अगर कैंडिडेट चाहें तो वो अपनी खुद की कंपनी भी शुरू करके हर महीने काफी अच्छे पैसे कमा सकते हैं। 

वेतन (salary)

बीईएम कोर्स करने के बाद किसी भी उम्मीदवार को जो सैलरी मिलती है वह पूरी तरह से उसकी योग्यता के ऊपर डिपेंड करती है। इसके साथ साथ उसका वेतन इस बात के ऊपर भी बहुत निर्भर करता है कि वह कौन सी कंपनी में नौकरी करता है। 

लेकिन अगर एक एवरेज सैलेरी की बात की जाए तो कैंडिडेट को हर महीने 25,000 से लेकर 40,000 तक मिल जाते हैं। कुछ वर्षों का अनुभव होने के बाद इस क्षेत्र में और भी ज्यादा सैलरी पैकेज मिल जाता है। 

प्राइवेट सेक्टर में जॉब्स (Jobs in private sector)

जो कैंडिडेट बैचलर ऑफ इवेंट मैनेजमेंट का 3 वर्षीय कोर्स पूरा कर लेते हैं उन्हें प्राइवेट सेक्टर में नौकरी के बहुत बेहतर मौके मिलते हैं। यहां बता दें कि कैंडिडेट निम्नलिखित पदों पर आसानी से काम हासिल कर सकते हैं – 

  • वेडिंग प्लानर (Wedding planner)
  • कॉरपोरेट इवेंट मैनेजर (Corporate event manager)
  • कॉन्फ्रेंस मैनेजर (Conference manager)
  • डिजाइन मैनेजर (Design manager)
  • मीटिंग प्लानर (Meeting planner)
  • टूरिज्म मैनेजर (Tourism manager)
  • पब्लिक रिलेशन एग्जीक्यूटिव (Public relation executive) 
  • सेल्स डायरेक्टर (Sales director)
  • रिसोर्ट जनरल मैनेजर (Resort General Manager) 

गवर्नमेंट सेक्टर में जॉब्स (Jobs in government sector)

जो अभ्यर्थी बैचलर ऑफ इवेंट मैनेजमेंट का कोर्स करने के बाद गवर्नमेंट सेक्टर में काम करना चाहते हैं तो उन्हें चाहिए कि वह एंप्लॉयमेंट न्यूज़ रोज़ पढ़ें। इसके साथ-साथ ऑनलाइन ऐसी बहुत सारी वेबसाइट्स हैं जहां पर सरकारी नौकरियों के बारे में जानकारी दी जाती है। इस प्रकार से जब संबंधित विभाग में नौकरी की कोई अपॉर्चुनिटी निकले तो कैंडिडेट वहां पर आवेदन कर सकते हैं।

निष्कर्ष

दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिकल बीईएम कोर्स (BEM Course) कैसे करें पूरी जानकारी। इस पोस्ट में हमने आपको बताया बीईएम कोर्स क्या है और इसकी अवधि कितनी होती है। इसके साथ ही साथ हमने आपको यह भी बताया कि इस पाठ्यक्रम में एडमिशन के लिए प्रवेश परीक्षा और प्रवेश प्रक्रिया क्या होती है। 

इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको इवेंट मैनेजमेंट में ग्रेजुएशन करने के लिए योग्यता के बारे में भी बताया और यह भी जानकारी दी कि इसके लिए विद्यार्थियों को कितनी फीस देनी पड़ सकती है। इसके साथ ही साथ हमने यह भी जानकारी दी कि हमारे देश भारत में बैचलर ऑफ इवेंट मैनेजमेंट में कोर्स करने के लिए कौन कौन से कॉलेज अच्छे हैं। 

हमने इस लेख के द्वारा आपको यह भी बताया कि बीईएम कोर्स के अंतर्गत विद्यार्थियों को क्या सिलेबस पढ़ाया जाता है। इसके अलावा हमने आपको यह डिटेल्स भी दीं कि जब कैंडिडेट अपना कोर्स पूरा कर लेते हैं तो उनके सामने प्राइवेट सेक्टर में और गवर्नमेंट सेक्टर में जॉब की क्या-क्या संभावनाएं होती हैं। हमें पूरी उम्मीद है कि हमारे द्वारा दी गई यह सारी जानकारी आपके लिए उपयोगी रही होगी। 

इसलिए अंत में हमारी आपसे बस यही रिक्वेस्ट है कि हमारे इस पोस्ट को अपने उन दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करें जो 12वीं के बाद बीईएम कोर्स करना चाहते हैं।

Leave a Reply