बीसीए कोर्स क्या है BCA कैसे करे जानिये पूरी जानकारी

BCA Course: अक्सर विद्यार्थी बारहवीं आते आते, सोचते है, कि वह भविष्य में कौन सा स्ट्रीम चुने, जो उनके करियर के लिए अच्छा हो। आजकल की दुनिया डिजिटल वर्ल्ड, कंप्यूटर और प्रौद्योगिकी पर ज़्यादा आधारित है।  भारत ने डिजिटल दुनिया की तरफ बहुत पहले ही अपने कदम बढ़ा चूका है। जिन विद्यार्थियों को कंप्यूटर और टेक्नोलॉजी की ओर ज़्यादा रुझान है, वे बीसीए का कोर्स कर सकते है। 

Full form of BCA – bachelor of Computer Application: बीसीए कोर्स एक स्नातक यानी ग्रेजुएशन डिग्री कोर्स है | यह 3 साल का कोर्स होता है | जिसे पूरा करके आप कंप्यूटर क्षेत्र से जुड़े कंपनियों में नौकरी कर सकते है। आज हम बीसीए कोर्स के सारे डिटेल्स, कोर्स की अवधि, प्रमुख बीसीए कॉलेज इत्यादि के विषय में आपको बताएँगे |

बीसीए कोर्स

बीसीए कोर्स के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए

बारहवीं में किसी भी स्ट्रीम से पास होने के बाद बीसीए कोर्स कर सकते है।  चाहे विद्यार्थी विज्ञान क्षेत्र का हो या आर्ट्स का, बीसीए कोर्स  कर सकता है। 

बारहवीं में न्यूनतम पच्चास और उससे अधिकतम अंक लाने होंगे। कभी कभी प्रतिष्ठित कॉलेज में कट ऑफ परसेंटेज अगर ज़्यादा हुआ, तो उसके अनुसार विद्यार्थी को एडमिशन मिलता है। बीसीए कोर्स को करने के लिए तीन वर्ष लगते है और यह छह सेमेस्टर में विभाजित है।

अगर बारहवीं में गणित ओर कंप्यूटर जैसे विषय है तो और अच्छा है |  कंप्यूटर संबंधित प्राथमिक ज्ञान पहले से ही उनके पास मौजूद होती है तो एडमिशन मिलने में आसानी होती है ।

बीसीए कोर्स के लिए प्रवेश परीक्षा

बीसीए कोर्स में दाखिला प्राप्त करने के लिए हर विश्वविद्यालय द्वारा प्रवेश परीक्षा यानी कॉमन एंट्रेंस टेस्ट आयोजित किया जाता है। यह प्रवेश परीक्षाएँ मई और जून के महीनो में निर्धारित किया जाता है। कुछ कॉलेजों में मेरिट बेसिस पर एडमिशन दिया जाता है।

कुछ कॉलेज में बारहवीं कक्षा के नतीजे को ध्यान में रखकर एडमिशन दिया जाता है। यह दाखिले मेरिट बेसिस और बारहवीं कक्षा के प्रतिशत को ध्यान में रखकर दिए जाते है। बीसीए एंट्रेंस टेस्ट में लॉजिकल क्षमता और रीजनिंग शक्ति पर ज़ोर दिया जाता है। 

इसके अंतर्गत क्वालिटेटिव एप्टीटुड टेस्ट, न्यूमेरिकल एबिलिटी और कंप्यूटर संबंधित ज्ञान की परीक्षा ली जाती है। यह सारे टेस्ट बारहवीं लेवल को ध्यान में रखकर लिए जाते है।

लोकप्रिय बीसीए प्रवेश परीक्षा कुछ इस प्रकार है:

Symbiosis  SET test प्रवेश परीक्षा सिम्बायोसिस इंटरनेशनल द्वारा आयोजित किया जाता है। आप आजकल ऑनलाइन बीसीए कोर्स के लिए अप्लाई कर सकते है। आप ऑनलाइन जाकर खुद से संबंधित सारी जानकारी भर दे और साथ ही अपने ज़रूरी डाक्यूमेंट्स अपलोड करे। और CET, AIMA UGAT, KIITEE BCA , LUCSAT BCA जैसे परीक्षा पास कर बीसीए कोर्स में प्रवेश ले सकते है |

बीसीए प्रवेश परीक्षा की तैयारी कैसे करे 

बीसीए कोर्स की तैयारी के लिए क्वालिटेटिव एबिलिटी, जनरल अवेयरनेस,  दसवीं और बाहरवीं में प्राप्त कंप्यूटर ज्ञान, अंग्रेजी, रीजनिंग, जैसे क्षेत्रों की पढ़ाई करनी होगी और अपने आपको तैयार करना होगा।

बीसीए कोर्स की फीस कितनी होती है ( BCA course fees )

बीसीए कोर्स का फीस हर इंस्टिट्यूट में उनके मुताबिक होता है।  अगर आप ज़्यादा फीस अफ़्फोर्ड कर सकते है , तब आप गैर सरकारी यानी प्राइवेट कॉलेज में एडमिशन ले सकते है। यदि आप ज़्यादा फीस देने में असक्षम है तो आप सरकारी कॉलेज का रुख कर सकते है। भारत में अनगिनत बीसीए कोर्स करने के लिए कॉलेज है। कुछ कॉलेज उच्च दर्जे के होते है और कुछ उससे कम, प्रतिवर्ष फीस ऊपर नीचे होती है। आमतौर पर प्रति सेमेस्टर चालीस से पच्चास हज़ार की फीस देनी पड़ती है।  अगर आपको फीस देने में आपत्ति नहीं है तो महंगे कॉलेज है जिनमें तीन साल का फीस लाख से छह साल का होता है।

भारत में शीर्ष बीसीए कोर्स कॉलेज

भारत के कुछ सर्वश्रेष्ठ निम्नलिखित कॉलेज है जहाँ आप बीसीए की पढ़ाई कर सकते है

सिम्बायोसिस इंस्टिट्यूट ऑफ़ कंप्यूटर स्टडीज एंड रिसर्च ( पुणे।  यहाँ ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट की पढ़ाई कर सकते है। यह 1985  में स्थापित हुयी थी। यहाँ फुल टाइम और पार्ट टाइम कोर्स करने का भी विकल्प है। 

क्राइस्ट यूनिवर्सिटी ( बैंगलोर )

यह ugc और naac  एप्रूव्ड है। 

लोयोला कॉलेज ( चेन्नई )

एमिटी इंस्टिट्यूट ऑफ़ इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी ( नॉएडा )

क्रिस्टू जयंती कॉलेज ( एफिलिएटेड टु बैंगलोर यूनिवर्सिटी )

वूमेन क्रिस्टन कॉलेज ( चेन्नई )

सेंट जोसफ कॉलेज ( कर्नाटक )

स्टेल्ला मारिस कॉलेज ( चेन्नई )

प्रेसीडेंसी कॉलेज ( बैंगलोर )

टेक्नो इंडिया यूनिवर्सिटी ( कोलकाता )

dav  कॉलेज ( चंडीगढ़ )

ज़ेवियर इंस्टिट्यूट ऑफ़ कंप्यूटर एप्लीकेशन ( अहमदाबाद ) इत्यादि

बीसीए कोर्स में क्या- क्या विषय होते है ? (BCA course syllabus)

बीसीए कोर्स में सॉफ्टवेयर संबंधित विषयो की पढ़ाई होती है। इसमें सारे कंप्यूटर बेसिक सिखाने के साथ विभिन्न प्रकार के कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज पढ़ाया जाता है। आजकल मार्किट में वेब डिज़ाइनर की काफी मांग है, जो वेबसाइट को भली भाँती मैनेज कर सके इसलिए वेब डिजाइनिंग की पढ़ाई भी करवाई जाती है। सॉफ्टवेयर को कैसे सुचारु रूप से व्यवस्थित किया जा सकता है  यह सारे क्षेत्रों की ट्रेनिंग दी जाती है। और कंप्यूटर नेटवर्किंग के बारें सिखाया पढ़ाया जाता है कंप्यूटर के हर पार्ट्स यानी हार्डवेयर के विषय में जानकारी दी जाती है।  एक कंप्यूटर को दूसरे कंप्यूटर के साथ कैसे कनेक्ट किया जाता है यह सब कुछ सिखाया जाता है। 

बीसीए कोर्स के निम्नलिखित पाट्यक्रम विषय है |

नेटवर्किंग

वर्ल्ड वाइड वेब

डेटा स्ट्रक्चर 

एडवांस्ड  सी भाषा प्रोग्रामिंग

डेटाबेस मैनेजमेंट 

गणित 

विसुअल बेसिक 

कम्युनिकेशन सॉफ्ट स्किल 

प्रिंसिपल्स ऑफ़ मैनेजमेंट , डिजिटल इलेक्ट्रॉनिक्स ,बिज़नेस एकाउंटिंग ,ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग कंप्यूटर आर्गेनाइजेशन एंड आर्किटेक्चर , ऑपरेटिंग सिस्टम , एजाइल सिस्टम , पाइथन स्क्रिप्टिंग , डिजिटल मार्केटिंग , एंड्राइड डेवलपमेंट , कंप्यूटर ग्राफ़िक्स एंड एनीमेशन , इनफार्मेशन सिक्योरिटी, जावा , ओरेकल , वेब स्क्रिप्टिंग , C language , C++ , java , vishual basics , foxpro इत्यादि |

Practical Skills 

व्यवहारिक ज्ञान 

प्रोग्रामिंग इन c  लैब 

कंप्यूटर फंडामेंटल्स एंड इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी लैब 

डेटा स्ट्रक्चर लैब 

ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग , ऑपरेटिंग सिस्टम लैब , पाइथन स्क्रिप्टिंग लैब , इनफार्मेशन सिक्योरिटी , एंड्राइड डेवलपमेंट लैब , डिजिटल मार्केटिंग लैब  इत्यादि। बीसीए कोर्स के प्रक्टिकल्स में इन ज़रूरी विषयो की पढ़ाई होती है जो व्यवहारिक ज्ञान प्रदान करती है। 

बीसीए कोर्स करने के बाद एडवांस कोर्स 

मास्टर्स ऑफ़ कंप्यूटर एप्लीकेशन 

मास्टर्स डिग्री इन इनफार्मेशन मैनेजमेंट 

मास्टर्स इन कंप्यूटर मैनेजमेंट 

पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम इन कॉर्पोरेट स्टडीज 

इनफार्मेशन सिक्योरिटी मैनेजमेंट 

मास्टर्स ऑफ़ बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन

बीसीए कोर्स के बाद करियर सम्भावनाएँ ( Career options after BCA course )

बीसीए कोर्स करने के पश्चात आप उच्च शिक्षा जैसे MCA  मास्टर ऑफ़ कंप्यूटर एप्लीकेशन कर सकते है।  इस कोर्स के ज़रिये आप कंप्यूटर साइंस और प्रौद्योगिकी संबंधित क्षेत्रों का विशेष गहन अध्ययन कर पाएँगे और भविष्य में आपका करियर स्कोप बढ़ जाएगा। MCA  कोर्स करने के लिए कम्पैटिटिव टेस्ट क्लियर करने होंगे। अगर आप चाहे तो बीसीए करने के पश्चात MBA  कोर्स भी कर सकते है। MBA  कोर्स में दाखिला पाने के लिए CAT, XAT, MAT जैसे प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण करना अनिवार्य है। बीसीए करने के पश्चात आप एडवांस कोर्स जैसे MCM, ISM ,MIM , PGPCS जैसे कोर्स कर सकते है ताकि भविष्य में आप बेस्ट नौकरी कर सके।

आप बीसीए कोर्स करने के बाद निम्नलिखित पदों पर कार्य कर सकते है

इंडिपेंडेंट कंसलटेंट 

सॉफ्टवेयर पब्लिशर 

फाइनेंस मैनेजर 

कंप्यूटर सपोर्ट सर्विस स्पेशलिस्ट 

कंप्यूटर प्रोग्रामर

मार्केटिंग मैनेजर 

सॉफ्टवेयर डेवलपर , सिस्टम एडमिनिस्ट्रेटर , इनफार्मेशन सिस्टम मैनेजर , डेटाबेस एडमिनिस्ट्रेटर 

कंप्यूटर शिक्षक  इत्यादि।

बीसीए कोर्स करने के बाद सरकारी नौकरी 

बीसीए कोर्स करने के बाद आप सरकारी नौकरी कर सकते है। सरकारी संगठन जैसे  इंडियन एयर फाॅर्स, इंडियन आर्मी, इंडियन नेवी ऐसे बहुत सारे बीसीए ग्रेजुएट पेशेवरों को अपने आईटी डिपार्टमेंट में कार्य करने के लिए नियुक्त करते है। आप बीसीए कोर्स अच्छे अंक से उत्तीर्ण करके इन निम्नलिखित पदों पर कार्य कर सकते है

सिस्टम इंजीनियर – इसमें आप सॉफ्टवेयर संबंधित टेस्ट कार्य और साथ ही इवैल्यूएशन कर सकते है। आप विभिन्न डेवलपमेंट फर्म्स में प्रोग्रम्मेर बनकर कार्य कर सकते है। 

आप वेब डेवलपर बनकर नौकरी कर सकते है। इसमें आपको वर्ल्ड वाइड वेब एप्लीकेशन विशेष ज्ञान होना ज़रूरी है। वेब डेवलपर का काम हो सकता है कि वह वेबसाइट का निर्माण कर सके और वेबसाइट को मेन्टेन करने का कार्य कर सके। आप सॉफ्टवेयर डेवलपर बनकर कार्य कर सकते है।  सॉफ्टवेयर डेवलपर का कार्य होता है, सॉफ्टवेयर का निर्माण करना जो लोगो के कार्य को सरल कर दे और लोग सॉफ्टवेयर पर अच्छे से कार्य कर पाए। इसके अलावा कई सारे फील्ड है जिसमे सरकारी नौकरी के लिए आवेदन कर सकते है |

बीसीए कोर्स करने के बाद प्राइवेट नौकरी

इस कोर्स को करने के बाद  विप्रो, Hexaware Technologies , टेक महिंद्रा ,एक्सेंचर, टीसीएस, कॉग्निजेंट ,एचसीएल,एनआईआईटी जैसे प्राइवेट कम्पनीज बीसीए ग्रेजुएट को अपनी कंपनी में नौकरी प्रदान करते है। ऐसी कम्पनीज में आप विभिन पदों पर कम कर सकते है जैसे सॉफ्टवेयर टेस्टर , जूनियर प्रोग्रामर, मल्टीमीडिया एंड VFX स्पेशलिस्ट ,सर्टिफाइड एथिकल हैकर , डेवलपर, डिज़ाइनर, एडुकेशनिस्ट  इत्यादि |

बीसीए कोर्स के बाद वेतन 

बीसीए कोर्स पूरा करने के बाद ज़्यादातर आईटी कम्पनीज में पच्चीस हज़ार से चालीस हज़ार तक वेतन मिलता है। आपकी योग्यता, आपका ज्ञान और आपके इंटरव्यू पर आपकी सैलरी निर्धारित की जाती है। वक़्त के साथ साथ अगर आप कंपनी में अच्छा प्रदर्शन करेंगे तो निश्चित तौर पर आपके वेतन में वृद्धि अवश्य होगी।

निष्कर्ष 

हम उम्मीद करेंगे कि आपको बीसीए कोर्स से संबंधित सारी एहम जानकारी प्राप्त हो गयी होगी। आप कंप्यूटर और टेक्नोलॉजी क्षेत्र से जुड़े बड़ी बड़ी नामचीन कंपनियों में कार्य कर सकेंगे।  बीसीए करने के पश्चात भविष्य को और मज़बूत बनाने के उद्देश्य से एडवांस्ड कोर्स कर सकते है और कड़ी मेहनत और लगन के साथ बीसीए कोर्स को पूरा करे और प्रत्येक विषय का अच्छे से अध्ययन करे और प्रैक्टिकल कक्षाओं को गंभीरता से ले। आप निसंकोच अपने लक्ष्य प्राप्ति में कामयाब होंगे।

Deepak Kumar

दीपक कुमार After12th.net के लेखक और संस्थापक हैं। वह छात्रों को उनकी धारा तय करने और उद्योग में पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी प्रदान करने में मदद करता है। वह उन्हें नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने में मदद करता है। उनका उद्देश्य देश में अधिकतम छात्रों के लिए वैध और उपयोगी जानकारी साझा करना है।

Leave a Reply