बीए इन हिस्ट्री कोर्स (BA in history course) कैसे करें पूरी जानकारी

नमस्कार! दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे बीए इन हिस्ट्री कोर्स (BA in history course) कैसे करें पूरी जानकारी। 12वीं के बाद बहुत से विद्यार्थी हिस्ट्री में अपनी ग्रेजुएशन करना चाहते हैं। यहां बता दें कि आर्ट स्ट्रीम वाले स्टूडेंट्स के लिए यह एक टॉप लेवल का और बेस्ट कोर्स माना जाता है। 

बताते चलें कि इस ग्रैजुएट प्रोग्राम को करने के लिए जरूरी है कि छात्र पहले इसके बारे में सारी डिटेल्स प्राप्त कर लें। क्योंकि कई बार योग्य स्टूडेंट्स भी जानकारी के अभाव के कारण इस कोर्स में दाखिला नहीं ले पाते। अगर आप भी 12वीं के बाद बीए हिस्ट्री में करना चाहते हैं तो हमारे आज के इस पोस्ट को सारा पढ़ें। इसमें हम आपको बताएंगे हिस्ट्री के इस ग्रैजुएट प्रोग्राम के बारे में सारी डिटेल्स। 

Contents

बीए इन हिस्ट्री कोर्स क्या है (what is BA in history course in Hindi)

यहां सबसे पहले जानकारी के लिए बता दें कि बीए इन हिस्ट्री यानी कि बैचलर ऑफ आर्ट्स इन हिस्ट्री अंडर ग्रैजुएट लेवल का कोर्स है। साथ ही बताते चलें कि इस कोर्स को वही स्टूडेंट्स करते हैं जिनको हिस्ट्री में काफी ज्यादा रुचि होती है। यहां बता दें कि बैचलर ऑफ आर्ट्स इन हिस्ट्री के ग्रेजुएट प्रोग्राम में छात्रों को इंडियन हिस्ट्री, आधुनिक इतिहास, यूरोपीय इतिहास जैसे बहुत से विषय पढ़ाए जाते हैं। 

इसके अलावा जानकारी दे दें कि इस कोर्स में दाखिला लेने के लिए विद्यार्थियों को एंट्रेंस एग्जाम पास करना होता है। लेकिन हमारे देश में ऐसे बहुत से निजी इंस्टिट्यूट भी हैं जहां पर प्रवेश परीक्षा के बिना भी छात्र दाखिला ले सकते हैं। 

अवधि (duration)

अब यहां आपको बता दें कि बीए इन हिस्ट्री कोर्स की अवधि 3 साल की होती है। इसका एग्जाम पैटर्न सेमेस्टर पर आधारित होता है। हर साल में 2 सेमेस्टर होते हैं और छात्रों को उनमें पास होना जरूरी होता है। 

बीए इन हिस्ट्री कोर्स के लिए प्रवेश परीक्षा (entrance test for BA in history course)

जो विद्यार्थी 12वीं के बाद बीए इन हिस्ट्री के डिग्री प्रोग्राम में एडमिशन लेना चाहते हैं उन्हें एंट्रेंस टेस्ट पास करना जरूरी होता है। यहां आपको बता दें कि किसी भी श्रेष्ठ और टॉप कॉलेज में छात्र को एडमिशन लेने के लिए एंट्रेंस टेस्ट क्लियर करना जरूरी है। यहां निम्नलिखित हम पाठ्यक्रम के लिए शीर्ष प्रवेश परीक्षाओं के बारे में बता रहे हैं – 

  • आईपीयू सीईटी (IPU CET) – यहां आपको बता दें कि यह एंट्रेंस टेस्ट गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय के द्वारा कंडक्ट करवाई जाता है। यह एंट्रेंस एग्जाम ऑनलाइन होता है। 
  • जेएनयूईई (JNUEE) –यह प्रवेश परीक्षा जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी के द्वारा कंडक्ट करवाई जाती है। यह एंट्रेंस एग्जाम ऑनलाइन मोड में करवाया जाता है। 
  • डीएसएटी (DSAT) – यह भी एक यूनिवर्सिटी लेवल की प्रवेश परीक्षा है। इस एंट्रेंस टेस्ट को दयानंद सागर यूनिवर्सिटी के द्वारा आयोजित करवाया जाता है। 

बीए इन हिस्ट्री कोर्स के लिए प्रवेश प्रक्रिया क्या है (what is the admission process for BA in history course)

जो स्टूडेंट्स 12वीं के बाद बैचलर ऑफ आर्ट्स इन हिस्ट्री में दाखिला लेना चाहते हैं तो उसके लिए निम्नलिखित प्रोसेस है – 

  • बारहवीं कक्षा का रिजल्ट आने के बाद विभिन्न कॉलेजों और यूनिवर्सिटीज में आवेदन स्टार्ट हो जाता है। 
  • तो कैंडिडेट को चाहिए कि अपने पसंदीदा कॉलेज या यूनिवर्सिटी में एप्लीकेशन फॉर्म भर कर जमा कर दें।
  • उसके बाद फिर छात्र को प्रवेश परीक्षा में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया जाता है।
  • इस प्रकार से विद्यार्थियों के प्रदर्शन के आधार पर उन्हें बीए इन हिस्ट्री में दाखिला मिलता है।
  • इसके अलावा बता दें कि बहुत से प्राइवेट संस्थानों में बिना किसी प्रवेश परीक्षा के भी छात्रों को 12वीं के अंकों के आधार पर दाखिला मिल जाता है। 

योग्यता

बीए इन हिस्ट्री डिग्री प्रोग्राम करने के लिए किसी भी छात्र में निम्नलिखित योग्यता होनी चाहिए – 

  • छात्र ने किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं कक्षा पास की हो।
  • 12वीं क्लास में विद्यार्थी ने मिनिमम 50% तक अंक हासिल किए हों।
  • आरक्षित श्रेणी के उम्मीदवारों के अंक 45 परसेंट तक होने जरूरी हैं।
  • छात्र ने प्रवेश परीक्षा पास की हो। 

फीस (Fees) 

12वीं के बाद बैचलर ऑफ आर्ट्स इन हिस्ट्री के लिए छात्रों को जो फीस देनी होती है वह कॉलेज के ऊपर निर्भर करती है। यहां जानकारी के लिए बता दें कि छात्रों को हर सेमेस्टर के लिए एक हजार से लेकर 25 हजार तक शुल्क भुगतान करना पड़ सकता है। 

भारत में बीए इन हिस्ट्री कोर्स करने के लिए कॉलेज (college to do BA in history course in India)

भारत में बीए इन हिस्ट्री कोर्स करने के लिए बहुत से कॉलेज हैं। लेकिन फिर भी दाखिले के समय छात्र बहुत ज्यादा कंफ्यूज रहते हैं कि वह अपना कोर्स कौन से कॉलेज से करें। यहां हम कुछ टॉप कॉलेजेस के नाम बता रहे हैं जहां पर विद्यार्थी 12वीं के बाद एडमिशन ले सकते हैं – 

  • लेडी श्री राम कॉलेज फॉर वुमन दिल्ली (Lady Shri Ram College for women Delhi)
  • लोयोला कॉलेज चेन्नई (Loyola College Chennai)
  • सेंट जेवियर्स कॉलेज मुंबई (St. Xaviers College Mumbai) 
  • इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट क्राइस्ट यूनिवर्सिटी बेंगलुरू (Institute of Management Christ University Bengaluru) 
  • मीरांडा हाउस यूनिवर्सिटी कॉलेज फॉर वुमन दिल्ली (Miranda house University College for women Delhi) 
  • प्रेसिडेंसी कॉलेज बरहमपुर (Presidency College berhampur)
  • मद्रास क्रिश्चियन कॉलेज चेन्नई (Madras Christian College Chennai) 
  • हिंदू कॉलेज न्यू दिल्ली (Hindu College New Delhi)
  • हंसराज कॉलेज दिल्ली (Hansraj College Delhi) 
  • फर्गुसन कॉलेज पुणे (Fergusson College Pune) 

बीए इन हिस्ट्री कोर्स का पाठ्यक्रम/सब्जेक्ट क्या क्या है (what are the syllabus/subjects of BA in history course

12वीं के बाद बीए इन हिस्ट्री कोर्स में जो विद्यार्थी एडमिशन लेते हैं उन्हें निम्नलिखित सिलेबस पढ़ाया जाता है – 

फर्स्ट ईयर सिलेबस 

  • लैंग्वेज (Language)
  • इंग्लिश (English)
  • हिस्ट्री ऑफ इंडिया अप टू 1206 एडी (History of India up to 1206 AD) 
  • हिस्ट्री ऑफ इंडिया फ्रॉम 1206 एडी टू 1707 एडी  (History of India from 1206 AD to 1707 AD) 
  • आउटलाइन ऑफ़ पोलिटिकल थ्योरी (Outline of Political theory)
  • स्टडीज ऑन स्टेट्स एंड गवर्नमेंट्स (Studies on states and governments)
  • प्रिंसिपल्स ऑफ़ पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन (Principles of public administration) 
  • प्रिंसिपल्स ऑफ़ सोशियोलॉजी (Principles of sociology) 
  • एनवायरमेंटल स्टडीज (Environmental studies) 
  • हिस्ट्री ऑफ इंडिया फ्रॉम एडी 1707 टू 1885 (History of India from A.D. 1707 to 1885) 
  • हिस्ट्री ऑफ इंडिया फ्रॉम एडी 1885 टू 2001  (History of India from A.D. 1885 to A.D. 2001)
  • वैल्यू एजुकेशन (Value education)

सेकंड ईयर सिलेबस 

  • लैंग्वेज (language) 
  • इंग्लिश (English) 
  • हिस्ट्री ऑफ तमिलनाडु अप टू एडी 1336 (History of Tamil Nadu up to A.D. 1336) 
  • हिस्ट्री ऑफ तमिलनाडु एडी 1336 – एडी 1806 (History of Tamil Nadu A.D. 1336 -A.D 1806) 
  • टूरिज्म (Tourism) 
  • इंडियन इकोनामी (Indian economy) 
  • मीडिया स्टडीज (Media studies) 
  • बेसिक्स ऑफ़ इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी (Basics of Information Technology) 
  • कल्चरल हेरिटेज ऑफ तमिलनाडु (Cultural heritage of Tamil Nadu)
  • फंडामेंटल्स ऑफ डिफेंस एंड स्ट्रैटेजिक स्टडीज (Fundamentals of Defence and strategic studies) 
  • एन इंट्रोडक्शन टू म्यूजियोलॉजी (An introduction to museology) 
  • हिस्ट्री ऑफ तमिलनाडु फ्रॉम एडी 1806 -एडी 2001 (History of TamilNadu from AD 1806-A.D 2001) 
  • हिस्ट्री ऑफ मॉडर्न एशिया एडी 19002000 (History of modern Asia AD 1900-AD 2000)
  • टूरिज्म-2 (Tourism-2)
  • इंडियन इकोनामी-2 (Indian economy-2)
  • मीडिया स्टडीज-2 (Media studies-2)
  • बेसिक इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी-2 (Basic information technology-2) 
  • ह्यूमन राइट्स एजुकेशन (Human rights education) 
  • फंडामेंटल्स ऑफ नेशनल सिक्योरिटी (Fundamentals of national security) 
  • ए स्टडी ऑफ न्यूमिस्मेटिक विद स्पेशल रेफरेंस टू तमिलनाडु (A study of Numismatic with special reference to Tamil Nadu)

थर्ड ईयर सिलेबस 

  • टाइटल ऑफ द पेपर (Title of the paper) 
  • हिस्ट्री ऑफ यूरोप फ्रॉम एडी 1453- एडी 1789 (History of Europe from A.D. 1453-A.D. 1789) 
  • हिस्ट्री ऑफ यूएसए फ्रॉम  एडी 1861-1932 (History of USA from AD1861-1932) 
  • हिस्ट्री ऑफ चाइना फ्रॉम एडी 1900एडी 1990 (History of China from A.D 1900- A.D.1990) 
  • हिस्ट्री ऑफ द अरब्स फ्रॉम एडी 570एडी 750 (History of the Arabs from AD 570- AD 750) 
  • हिस्ट्री ऑफ रशिया फ्रॉम अर्ली टाइम्स टू एडी 1917 (History of Russia from Early Times to A.D. 1917) 
  • हिस्ट्री ऑफ द फ्रीडम मूवमेंट इन तमिलनाडु  (History of the freedom movement in Tamil Nadu) 
  • वुमन डेवलपमेंट इन तमिलनाडु एडी 1900-2000 (Women development in Tamil Nadu AD 1900-2000)
  • हिस्ट्री ऑफ इंटेलेक्चुअल्स ऑफ तमिलनाडु 1700-2000 एडी (History of intellectuals of Tamil Nadu 1700-2000 AD) 
  • हिस्ट्री ऑफ यूरोप फ्रॉम एडी 1932-एडी 1919 (History of Europe from AD 1789-AD 1919) 
  • हिस्ट्री ऑफ यूएसए फ्रॉम एडी 1932एडी 2000  (History of USA from AD 1932-AD 2000) 
  • हिस्ट्री ऑफ जापान फ्रॉम एडी 1853- एडी 1990 (History of Japan from AD 1853- AD 1990) 
  •  हिस्ट्री ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी इन इंडिया ऑफ़ 1900 एडी (History of Science and Technology in India up to 1900 AD) 
  • द्रविडियन मूवमेंट इन तमिलनाडु अप टू 1947 (Dravidian movement in Tamil Nadu up to 1947) 
  • हिस्ट्री ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी फ्रॉम 1900प्रेजेंट डे (History of Science and Technology from 1900-present day) 
  • द्रविडियन मूवमेंट इन तमिलनाडु एडी 1947-2000 (Dravidian movement in Tamil Nadu AD 1947-2000 AD) 
  • ग्रोथ ऑफ़ पंचायत इंस्टीट्यूशंस इन तमिलनाडु (Growth of Panchayat institutions in Tamil Nadu) 

बीए इन हिस्ट्री कोर्स के बाद कैरियर संभावनाएं क्या है (what are the career prospects after BA in history course)

बीए इन हिस्ट्री कोर्स करने के बाद किसी भी कैंडिडेट को प्राइवेट और सरकारी संस्थानों में अनेकों नौकरियां करने के मौके मिल जाते हैं। इस प्रकार से कैंडिडेट निम्नलिखित क्षेत्रों में काम कर सकते हैं – 

  • आर्कियोलॉजी एंड आर्काइव्स (Archaeology and archives) 
  • हिस्टोरिकल पार्क्स (Historical parks) 
  • रिसर्च सेंटर्स (Research centres)
  • जर्नलिज्म (Journalism)
  • म्यूजियम्स (Museums) 
  • प्रिजर्वेशन (Preservation departments)
  • रेडियो चैनल्स (Radio channels)
  • सर्वे ऑफिस (Survey offices) 

वेतन (salary)

अब यहां आपको जानकारी के लिए बता दें कि बैचलर ऑफ आर्ट्स इन हिस्ट्री के ग्रेजुएट प्रोग्राम को करने के बाद कैंडिडेट को काफी अट्रैक्टिव सैलरी मिल जाती है। यहां जानकारी के लिए बता दें कि उम्मीदवार को उनकी योग्यता के आधार पर हर महीने 25,000 से लेकर 40,000 से भी ज्यादा तक वेतन मिल सकता है। इसके अलावा जब कैंडिडेट को कुछ एक्सपीरियंस हासिल हो जाता है तो तब उसके वेतन में वृद्धि हो जाती है। 

प्राइवेट सेक्टर में जॉब्स (Jobs in private sector)

अब यहां आपको हम बता दें कि 12वीं के बाद बैचलर ऑफ आर्ट्स इन हिस्ट्री करने के बाद प्राइवेट सेक्टर में कैंडिडेट को अच्छी नौकरी मिल जाती है। इस प्रकार से अभ्यर्थी निम्नलिखित पदों पर काम कर सकते हैं – 

  • इंफॉर्मेशन मैनेजर (Information manager) 
  • ऑनलाइन सर्च स्पेशलिस्ट (Online search specialist) 
  • रिसर्च असिस्टेंट (Research assistant) 
  • टीचर (Teacher) 
  • गाइड (Guide)
  • हिस्टोरियन (Historian) 
  • राइटर एंड एडिटर (Writer and editor) 
  • आर्कियोलॉजिस्ट (Archaeologist) 
  • आर्कविस्ट (Archivist)

गवर्नमेंट सेक्टर में जॉब्स (Jobs in government sector)

बीए इन हिस्ट्री ग्रेजुएट को गवर्नमेंट सेक्टर में भी नौकरी करने के बहुत से मौके जाते हैं। इसलिए इच्छुक उम्मीदवारों को चाहिए कि संबंधित विभागों में जब नौकरी निकले तो वहां पर नौकरी के लिए अप्लाई कर दें। 

निष्कर्ष

दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिकल बीए इन हिस्ट्री कोर्स (BA in history course) कैसे करें पूरी जानकारी। इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको बताया बीए इन हिस्ट्री कोर्स क्या है और इसकी अवधि कितने साल तक की होती है। इसके अलावा हमने आपको यह डिटेल्स भी दी कि बैचलर ऑफ आर्ट्स इन हिस्ट्री प्रोग्राम को करने के लिए प्रवेश परीक्षा और प्रवेश प्रक्रिया क्या है। 

इस लेख के द्वारा हमने आपको यह डिटेल्स भी दी कि बीए इन हिस्ट्री कोर्स करने के लिए किसी भी स्टूडेंट में कितनी योग्यता होनी जरूरी है। इसके साथ साथ हमने आपको यह भी बताया कि विद्यार्थियों को इस अंडर ग्रैजुएट प्रोग्राम के लिए कितने रुपए तक की फीस देनी होती है। 

इस पोस्ट में हमने आपको यह डिटेल्स भी दी कि भारत में बैचलर ऑफ आर्ट्स इन हिस्ट्री कोर्स करने के लिए कौन कौन से कॉलेज अच्छे हैं और वहां पर छात्रों को क्या सिलेबस पढ़ाया जाता है। इसके अलावा हमने आपको यह डिटेल्स भी दी कि बीए इन हिस्ट्री कोर्स करने के बाद विद्यार्थियों को प्राइवेट और गवर्नमेंट सेक्टर में जॉब की क्या क्या संभावनाएं मिलती हैं। 

इसके साथ साथ हमने आपको यह डिटेल्स भी दी कि जब छात्र अपना यह कोर्स पूरा कर लेते हैं तो तब उन्हें नौकरी करने पर कितनी सैलरी मिलती है। हमें पूरी उम्मीद है कि हमारे द्वारा बताई गई यह सारी डिटेल्स आपके लिए काफी ज्यादा उपयोगी रही होगी।

इसलिए अंत में हमारी आपसे बस यही रिक्वेस्ट है कि हमारे इस आर्टिकल को अपने उन सभी दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करें जो 12वीं के बाद बीए इन हिस्ट्री कोर्स (BA in history course) कैसे करें के बारे में पूरी डिटेल्स जानना चाहते हैं। 

Leave a Reply