असिस्टेंट स्टेशन मास्टर (Assistant Station Master) कैसे बनें?

  • Post author:
  • Post category:Career

नमस्कार! दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे Assistant Station Master कैसे बनें? यहां बता दें कि रेलवे में असिस्टेंट स्टेशन मास्टर का पद बहुत ही महत्वपूर्ण होता है जिस पर बहुत सारे भारतीय युवा काम करना चाहते हैं लेकिन इस पद पर काम करने के लिए कैंडिडेट को चयन परीक्षा से होकर गुजरना पड़ता है। इसलिए अगर आप भी असिस्टेंट स्टेशन मास्टर की नौकरी करना चाहते हैं तो आपके लिए यह जरूरी है कि आपको इस पोस्ट से संबंधित सारी आवश्यक बातों की जानकारी होनी चाहिए। लेकिन अगर आपको इसके बारे में अनिवार्य बातें नहीं पता तो हमारे इस पोस्ट को अंत तक पढ़े क्योंकि इसके द्वारा हम आपको असिस्टेंट स्टेशन मास्टर बनने की पूरी प्रक्रिया के बारे में जानकारी देने वाले हैं। 

असिस्टेंट स्टेशन मास्टर कैसे बने

असिस्टेंट स्टेशन मास्टर क्या है (what is assistant station master) 

यहां सबसे पहले आपको बता दें कि असिस्टेंट स्टेशन मास्टर क्या है तो जानकारी दे दें कि जिस रेलवे स्टेशन पर कैंडिडेट को नियुक्त किया जाता है वहां पर ट्रेनों का संचालन ठीक प्रकार से करवाता है। सिग्नलों की सारी जिम्मेदारी असिस्टेंट स्टेशन मास्टर की ही होती है और इसके साथ-साथ वह यह सुनिश्चित करता है कि स्टेशन पर सारा काम नियम अनुसार हो। इस प्रकार देखा जाए तो स्टेशन मास्टर रेलवे स्टेशन पर स्टेशन मास्टर के बाद सबसे अधिक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। 

Related Post: फ्लाइट इंस्ट्रक्टर (Flight Instructor) कैसे बनें?

Related Post: एयर ट्रैफिक कंट्रोलर (Air traffic controller) कैसे बनें?

असिस्टेंट स्टेशन मास्टर बनने के लिए प्रक्रिया 

जो कैंडिडेट असिस्टेंट स्टेशन मास्टर के पद पर काम करना चाहते हैं उन्हें इसके लिए चयन परीक्षा में पास होना होगा जो कि आरआरबी द्वारा कराई जाती है। यहां आपको बता दें कि यह परीक्षा उम्मीदवार को तीन चरणों में पास करनी होती है जिसके अंतर्गत सबसे पहले कंप्यूटर आधारित टेस्ट होता है जिसमें उम्मीदवार को जनरल अवेयरनेस, रीजनिंग, अर्थमैटिक एबिलिटी, जनरल इंटेलिजेंस, अंग्रेजी पर आधारित प्रश्न पूछे जाते हैं। सफल उम्मीदवारों को दूसरे चरण की परीक्षा में शामिल होने का मौका दिया जाता है जिसमें स्टैटिक जीके, सामान्य विज्ञान, सामयिकी, अंक गणित से संबंधित प्रश्न करने होते हैं। उसके बाद कैंडिडेट को साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है जो कि चयन प्रक्रिया का सबसे आखिरी चरण होता है। इस प्रकार जो उम्मीदवार आखिरी चरण में भी पास होंगे केवल उन्हीं को ही असिस्टेंट स्टेशन मास्टर बनने का अवसर मिलता है।

असिस्टेंट स्टेशन मास्टर बनने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए

असिस्टेंट स्टेशन मास्टर बनने के लिए किसी भी कैंडिडेट में निम्नलिखित योग्यताएं होनी चाहिए जो कि इस प्रकार से हैं- 

  • कैंडिडेट ने किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी या संस्थान से ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की हो। 
  • उम्मीदवार ने किसी भी विषय में ग्रेजुएशन किया हो। 

आयु सीमा

  • कैंडिडेट की उम्र 18 साल से लेकर 32 साल तक के बीच में हो।
  • आरक्षित श्रेणी के उम्मीदवारों को आयु में छूट सरकारी नियमानुसार दी गई है। 

असिस्टेंट स्टेशन मास्टर के लिए शारीरिक योग्यता

इसके लिए कैंडिडेट में कुछ शारीरिक योग्यताओं का होना भी जरूरी है जिनकी जानकारी हम निम्नलिखित दे रहे हैं-

  • कैंडिडेट की दूरदृष्टि बिना चश्मे के 6/9 और 6/9 होनी चाहिए।
  • उम्मीदवार की पास की दृष्टि बिना चश्मे के 0.6 और 0.6 होनी आवश्यक है। 
  • कैंडिडेट को कलर ब्लाइंडनेस नहीं होना चाहिए।
  • आंखों से रात्रि में देखने में किसी भी प्रकार की कोई समस्या नहीं होनी चाहिए। 

फीस

असिस्टेंट स्टेशन मास्टर बनने के लिए कैंडिडेट को इसकी परीक्षा की तैयारी ठीक प्रकार से करने के लिए किसी अच्छे इंस्टिट्यूट में दाखिला लेना होगा जिसके लिए उसे फीस भी देनी होगी। लेकिन यहां हम आपको बता दें कि कैंडिडेट को इसके लिए 10,000 से लेकर 20,000 रुपए तक की फीस देनी पड़ सकती है जो कि पूरी तरह से आपके कोचिंग संस्थान के ऊपर डिपेंड करेगी। 

असिस्टेंट स्टेशन मास्टर बनने के लिए टॉप इंस्टिट्यूट 

जैसा कि हमने आपको बताया कि असिस्टेंट स्टेशन मास्टर बनने के लिए आपको चयन प्रक्रिया में शामिल होना होगा और यदि आप उसमें सफल होंगे तो तभी आपको यह पोस्ट मिलेगी। इसके लिए आपके लिए यही बेहतर होगा कि आप किसी अच्छे संस्थान से कोचिंग करें और परीक्षा को बिना किसी समस्या के क्रैक करें। यहां हम कुछ टॉप इंस्टिट्यूट के बारे में जानकारी दे रहे हैं जिनके नाम इस प्रकार से हैं-

  • पावर माइंड इंस्टीट्यूट दिल्ली (Power mind Institute)
  • भारत सॉफ्टेक प्राइवेट लिमिटेड दिल्ली (Bharat Soft Tech Private Limited Delhi)
  • जेपी इंस्टीट्यूट बेंगलुरू (JP Institute, Bangalore)
  • चेन्नई रेस कोचिंग इंस्टीट्यूट प्राइवेट लिमिटेड चेन्नई (Chennai race coaching institute Private Limited Chennai)
  • अभिदीप इंस्टीट्यूट फॉर कॉम्पिटेटिव कैरियर मुंबई (Abhideep institute for competitive careers, Mumbai)
  • ईस्टर्न इंडिया कॉम्पिटेटिव क्लासेस कोलकाता (Eastern India competitive classes, Kolkata)
  • टारगेट प्वाइंट इंस्टीट्यूट पुणे (Target point Institute Pune)
  • एविजन इंस्टीट्यूट अहमदाबाद (Avision Institute Ahmedabad)
  • आईबीटी इंस्टीट्यूट अमृतसर (IBT Institute, Amritsar)
  • विद्या अकैडमी फरीदाबाद (Vidya Academy Faridabad) 

असिस्टेंट स्टेशन मास्टर के पाठ्यक्रम / सब्जेक्ट क्या क्या है 

असिस्टेंट स्टेशन मास्टर के अंतर्गत कैंडिडेट को जो परीक्षा पास करनी होती है उसके सब्जेक्ट निम्नलिखित हैं-

  • इंडियन हिस्ट्री (Indian history)
  • कल्चर एंड पॉलिटिक्स (Culture and politics)
  • ज्योग्राफी (Geography)
  • फिजिक्स एंड स्पेस (Physics and space)
  • एनवायरमेंट (Environment)
  • बायोलॉजी (Biology)
  • केमिस्ट्री (Chemistry)
  • डिफेंस (Defence)
  • एग्रीकल्चर (Agriculture)
  • करंट अफेयर्स (Current affairs) 
  • इकोनामी एंड बैंकिंग (Economy and banking)
  • इंटरनेशनल अफेयर्स (International affairs)
  • करंट इवेंट्स (Current events) 
  • अर्थमेटिक एबिलिटी (Arithmetic ability) 
  • जनरल इंटेलिजेंस (General intelligence)
  • रीजनिंग (Reasoning)
  • इंग्लिश (English) 

असिस्टेंट स्टेशन मास्टर के कैरियर संभावनाएं क्या है 

जब कोई कैंडिडेट असिस्टेंट स्टेशन मास्टर बन जाता है तो उसके सामने कैरियर की कई संभावनाएं होती हैं जिसके तहत वो रेलवे में नियुक्ति पाता है। यहां बता दें कि असिस्टेंट स्टेशन मास्टर बनने के लिए कैंडिडेट को एग्जाम पास करना होता है और उसके बाद उसे भारत के किसी भी रेलवे स्टेशन में नौकरी करने का अवसर मिल जाता है। 

वेतन 

असिस्टेंट स्टेशन मास्टर को हर महीने 5,200 रुपए से लेकर 20,200 रुपए तक का वेतन मिलता है जिसमें 2,800 रुपए ग्रेड पे भी मिलती है। इसके अलावा उसे सरकार की तरफ से कुछ दूसरी सुविधाएं भी और भत्ते भी दिए जाते हैं जैसे कि हाउस रेंट एलाउंस, डियरनेस एलाउंस, ट्रैवल एलाउंस इत्यादि। इस प्रकार एक स्टेशन मास्टर को हर महीने तकरीबन 34,000 रुपए के आसपास का वेतन मिल जाता है। 

असिस्टेंट स्टेशन मास्टर के कार्य

असिस्टेंट स्टेशन मास्टर को रेलवे स्टेशन पर बहुत सारे महत्वपूर्ण कार्य करने होते हैं जिनमें से कुछ की जानकारी इस प्रकार से है-

  • स्टेशन मास्टर रेलवे स्टेशन मास्टर के अंतर्गत काम करता है। 
  • रेलवे स्टेशन पर सभी काम नियम अनुसार हो रहा है या नहीं वह यह सुनिश्चित करता है।
  • सिग्नल देने की जिम्मेदारी।
  • रेलवे स्टेशन पर आने वाली सभी ट्रेनों का संचालन करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। 
  • रेलवे के दूसरे कर्मचारियों से काम करवाना और यह देखना भी किसी यात्री को किसी प्रकार की कोई असुविधा ना हो। 
  • अगर स्टेशन में किसी प्रकार की कोई समस्या हो जाए तो उसे सुलझाना।  

निष्कर्ष  

दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिकल जिसमें हमने आपको बताया कि Assistant Station Master कैसे बनें? इस पोस्ट में हमने आपको सभी अनिवार्य और महत्वपूर्ण बातों की जानकारी दी जैसे कि असिस्टेंट स्टेशन मास्टर बनने के लिए आपको कौन सी चरण प्रक्रिया से गुजरना होगा और भारत में कौन-कौन से ऐसे संस्थान है जहां से आप अपनी परीक्षा की तैयारी कर सकेंगे। इसके साथ-साथ हमने आपको यह जानकारी भी दी कि जब कोई कैंडिडेट इस पद पर नियुक्ति पा लेता है तो उसे हर महीने कितने रुपए तक की सैलरी मिलती है। हमें पूरी उम्मीद है कि यह पोस्ट आपके लिए काफी अधिक लाभदायक रही होगी इसलिए इसे आप अपने उन दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करें जो इस पद पर काम करना चाहते हैं। 

Leave a Reply