एयरपोर्ट मैनेजर (Airport Manager) कैसे बनें?

  • Post author:
  • Post category:Career

नमस्कार! दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि Airport Manager कैसे बनें? अगर आप 12वीं के बाद एयरपोर्ट मैनेजर की पोस्ट पर काम करना चाहते हैं तो इसके लिए जरूरी है कि आप क्षेत्र में जाने के लिए ठीक प्रकार से अपनी तैयारी करें और सही दिशा में करें। यहां आपको बता दें कि एयरपोर्ट मैनेजर का पद अत्यधिक महत्वपूर्ण होता है जिसके अंतर्गत एयरपोर्ट को हैंडल करने के साथ-साथ वह दूसरे अन्य महत्वपूर्ण काम भी करता है। अगर आप एयरपोर्ट मैनेजर बनना चाहते हैं तो आज के हमारे इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें। 

एयरपोर्ट मैनेजर कैसे बने

एयरपोर्ट मैनेजर क्या है (What is Airport Manager) 

यहां आपको बता दें कि एयरपोर्ट मैनेजर क्या होता है तो दोस्तों एयरपोर्ट मैनेजर एयरपोर्ट के मैनेजमेंट से संबंधित सारे कार्य देखता है और वह इस बात को सुनिश्चित करता है कि एयरपोर्ट पर काम करने वाला सारा स्टाफ अपने काम को ठीक प्रकार से करें और यात्रियों को किसी भी प्रकार की कोई समस्या ना होने दें। यहां आपको बता दें कि एयरपोर्ट मैनेजर बनना आसान नहीं है क्योंकि इसके लिए कैंडिडेट को चयन परीक्षा में पास होना जरूरी होता है। 

एयरपोर्ट मैनेजर बनने के लिए प्रक्रिया क्या है 

जो कैंडिडेट एयरपोर्ट मैनेजर बनना चाहते हैं उनकी जानकारी के लिए बता दें कि 12वीं के बाद उस कैंडिडेट को एविएशन से संबंधित कोई बैचलर डिग्री लेनी होगी या फिर ग्रेजुएशन के बाद डिप्लोमा कोर्स एविएशन इंडस्ट्री में करना होगा। उसके बाद कैंडिडेट को एयरपोर्ट मैनेजर बनने के लिए चयन परीक्षा में शामिल होना होगा और यदि उसमें कैंडिडेट पास हो जाता है तो तब उसे एयरपोर्ट मैनेजर की पोस्ट पर नौकरी मिल जाती है। 

एयरपोर्ट मैनेजर के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए 

  • कैंडिडेट ने एविएशन में डिग्री कोर्स किया होना चाहिए।
  • या फिर कैंडिडेट ने किसी भी विषय में ग्रेजुएशन किया हो और साथ में एविएशन इंडस्ट्री में डिप्लोमा कोर्स किया हुआ।
  • इंग्लिश और कंप्यूटर की जानकारी होनी चाहिए। 

आयु 

  • कैंडिडेट की आयु 20 साल से लेकर 28 साल तक होनी चाहिए। 
  • आरक्षित वर्ग के उम्मीदवारों को आयु सीमा में सरकार के निर्देश अनुसार कुछ वर्षों की छूट प्राप्त है। 

एयरपोर्ट मैनेजर के लिए शारीरिक योग्यता

एयरपोर्ट मैनेजर बनने के लिए उम्मीदवार का व्यक्तित्व आकर्षक होना चाहिए और इसके साथ-साथ उसके कम्युनिकेशन स्किल्स भी अच्छे होने चाहिए। एयरपोर्ट मैनेजर बनने के लिए किसी भी प्रकार का फिजिकल मेजरमेंट जरूरी नहीं होता है। 

फीस

एयरपोर्ट मैनेजर बनने के लिए आपको इससे संबंधित कोर्स करना होगा जिसके लिए आपकी फीस आपके द्वारा चुने गए इंस्टिट्यूट के ऊपर डिपेंड करेगी क्योंकि हर इंस्टिट्यूट का फीस स्ट्रक्चर अलग अलग होता है। लेकिन यहां आपको जानकारी के लिए बता दें कि एयरपोर्ट मैनेजर बनने के लिए जो कोर्स आप करेंगे उसके लिए आपको तकरीबन एक लाख रुपए से लेकर दो लाख रुपए तक की फीस देनी पड़ सकती है। 

एयरपोर्ट मैनेजर बनने के लिए टॉप इंस्टिट्यूट

भारत में एयरपोर्ट मैनेजर बनने के लिए आज बहुत सारे ऐसे संस्थान हैं जहां से कैंडिडेट इससे संबंधित कोर्स कर सकता है जिनमें से कुछ हम आपको बता रहे हैं-

  • इंदिरा गांधी इंस्टीट्यूट आफ एयरोनॉटिक्स न्यू दिल्ली, चंडीगढ़, रोहतक) Indira Gandhi Institute Of aeronautics New Delhi, Chandigarh, Rohtak
  • फ्रैंकफिन इंस्टिट्यूट ऑफ़ एयर होस्टेस ट्रेनिंग, गुड़गांव (Frankfinn Institute of air hostess training, Gurgaon)
  • एससी मोइत्रा टेक्निकल ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट, कोलकाता (S.C Moitra air technical Training Institute, Kolkata)
  • फ्लाइंग क्वीन एयर होस्टेस एकेडमी न्यू दिल्ली (Flying Queen air hostess Academy, New Delhi)
  • यूनिवर्सल एविएशन एकेडमी चेन्नई तमिल नाडु (Universal aviation Academy Chennai Tamil Nadu)
  • विंग्स4 एयर होस्टेस एंड हॉस्पिटैलिटी ट्रेनिंग, बड़ोदरा गुजरात (Wings4 air hostess and hospitality training, Vadodara Gujarat)
  • एयर होस्टेस एकेडमी दिल्ली (Air hostess Academy, Delhi) 
  • एयर होस्टेस अकैडमी बेंगलुरू कर्नाटका (Air hostess Academy Bengaluru Karnataka)
  • रीमो इंटरनेशनल कॉलेज, चेन्नई (Remo International College, Chennai)
  • मास्टर एवियशन अकैडमी, विजयवाडा (Master aviation Academy, Vijayawada)

एयरपोर्ट मैनेजर के पाठ्यक्रम/ सब्जेक्ट क्या क्या है

एयरपोर्ट मैनेजर बनने के लिए कैंडिडेट को निम्नलिखित पाठ्यक्रम पढ़ाया जाता है जो कि इस प्रकार से है-

  • स्टाफ मैनेजमेंट (staff management) 
  • एयरपोर्ट स्ट्रेटजी (airport strategy)
  • एयरपोर्ट फंक्शनिंग (airport functioning)
  • सेफ्टी एंड सिक्योरिटी मैनेजमेंट (Safety and security management)
  • कार्गो मैनेजमेंट (Cargo management)
  • कार्गो हैंडलिंग (Cargo handling)

एयरपोर्ट मैनेजर के कैरियर संभावनाएं क्या है

जब कोई कैंडिडेट एयरपोर्ट मैनेजर बन जाता है तो उसके सामने कैरियर के बहुत सारे ऑप्शन होते हैं जैसे कि वह डोमेस्टिक एयरपोर्ट के अलावा इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर भी काम कर सकता है। इसके साथ-साथ उम्मीदवार एयर इंडिया, जेट एयरवेज, कतर एयरवेज इत्यादि में भी अपना कैरियर बना सकता है। 

वेतन

एयरपोर्ट पर काम करने वाले एयरपोर्ट को काफी अधिक वेतन मिलता है जो कि 50,000 रुपए से लेकर 80,000 से भी अधिक हो सकता है। जब कैंडिडेट को कुछ वर्षों का अनुभव हो जाता है तो उसके बाद उसके वेतनमान में और भी ज्यादा वृद्धि हो जाती है। 

एयरपोर्ट मैनेजर के कार्य 

यहां आपको बता दें कि एयरपोर्ट मैनेजर के कार्य बहुत सारे होते हैं क्योंकि सारा एयरपोर्ट का मैनेजमेंट उसको ही देखना होता है। इस पोस्ट पर कार्य करने वाले कैंडिडेट पर बहुत ही ज्यादा जिम्मेदारी और अनिवार्य कामों को करने के साथ साथ सारे स्टाफ पर भी नजर बनाए रखना होता है। निम्नलिखित हम आपको बता रहे हैं कि एक एयरपोर्ट मेजर को कौन-कौन से काम करने होते हैं जो कि इस प्रकार से हैं- 

  • अपनी टीम के साथ मिलकर एयरपोर्ट पर यात्रियों की जरूरतों को पूरा करना।
  • यात्रियों को संतोषजनक अनुभव प्रदान करना।
  • एयरपोर्ट पर फाइनेंस सिक्योरिटी और मेंटेनेंस का कार्य करना। 
  • अपने स्टाफ को सुपरवाइज करना।
  • बजट प्लान बनाना।
  • यदि एयरपोर्ट पर किसी प्रकार की रिपेयरिंग करने की आवश्यकता हो तो उसे करवाना। 

निष्कर्ष 

दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिकल जिसमें हमने आपको बताया कि Airport Manager कैसे बनें? इस पोस्ट में हमने आपको बताया कि एयरपोर्ट मैनेजर बनने के लिए आपने कितनी योग्यता होनी चाहिए और इसके लिए आपको कितने रुपए तक की फीस देनी होगी। इसके साथ-साथ हमने आपको जानकारी दी कि एयरपोर्ट मैनेजर की सैलरी कितनी होती है और भारत में कौन-कौन से ऐसे संस्थान है जहां से आप एयरपोर्ट मैनेजर बनने के लिए आप कोर्स कर सकते हैं। इसके अलावा हमने दूसरी बातों की जानकारी भी दे दी है। इसलिए अगर आपको हमारा यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करें।

Leave a Reply