एयरपोर्ट ग्रांउड स्टाफ (Airport ground staff) कैसे बनें?

  • Post author:
  • Post category:Career

नमस्कार! दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि एयरपोर्ट ग्रांउड स्टाफ (Airport ground staff)  कैसे बनें? एयरपोर्ट इंडस्ट्री एक ऐसी इंडस्ट्री है जिसकी तरफ युवा सबसे ज्यादा आकर्षित रहते हैं क्योंकि शुरुआत में ही कैंडिडेट को अच्छा सैलरी पैकेज मिलने के अलावा दूसरी सुविधाएं भी मिल जाती हैं। अगर आप भी एयरपोर्ट ग्राउंड स्टाफ में कैरियर बनाना चाहते हैं तो आज के इस लेख में हम आपको जानकारी देंगे कि आप किस प्रकार से 12वीं के बाद एयरपोर्ट ग्राउंड स्टाफ में अपना कैरियर बना सकते हैं। इसलिए सारी जानकारी के लिए इस पोस्ट को अंत तक पढ़िएगा।

एयरपोर्ट ग्रांउड स्टाफ

एयरपोर्ट ग्रांउड स्टाफ क्या है (what is airport ground staff in Hindi

यहां सबसे पहले आपको बता दें कि एयरपोर्ट ग्राउंड स्टाफ क्या होता है तो जानकारी दे दें कि एयरपोर्ट पर एयरपोर्ट ग्राउंड स्टाफ सारा मैनेजमेंट का काम देखने का करता है जिसके अंतर्गत उसे एयरपोर्ट पर पैसेंजर और उनके सामान की पूरी तरह से देख-रेख करने की जिम्मेदारी होती है। सभी यात्रियों की सुविधा के साथ-साथ उनकी सुरक्षा का ध्यान रखने का कार्य भी एयरपोर्ट ग्राउंड स्टाफ का ही होता है। यहां आप यह भी समझ लीजिए कि एयरपोर्ट ग्राउंड स्टाफ केवल एयरपोर्ट पर काम करने का होता है ना कि एयरक्राफ्ट के अंदर नहीं। 

एयरपोर्ट ग्रांउड स्टाफ बनने के लिए प्रक्रिया क्या है

अगर आप एयरपोर्ट ग्राउंड स्टाफ बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको बता दें कि आपको किसी अच्छे इंस्टिट्यूट से इससे संबंधित कोई सर्टिफिकेट या फिर डिप्लोमा कोर्स करना होगा जिसके लिए अधिकतर संस्थानों में किसी भी प्रकार की कोई प्रवेश परीक्षा नहीं होती है क्योंकि उन संस्थानों में कैंडिडेट को उनकी योग्यता के आधार पर एडमिशन मिल जाता है। इसी प्रकार कुछ ऐसे संस्थान भी हैं जो उम्मीदवार का इंटरव्यू लेने के बाद उसे कोर्स में एडमिशन देते हैं। तो वहीं कुछ ऐसे संस्थान भी हैं जो अपनी एंट्रेंस परीक्षा रखते हैं और उन में पास होने वाले उम्मीदवारों को ही अपने संस्थान में दाखिला देते हैं। 

एयरपोर्ट ग्रांउड स्टाफ के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए 

  • छात्र ने किसी भी स्ट्रीम में 12वीं कक्षा पास की हो। 
  • 12वीं में छात्र के अंक 45%-50% तक के बीच होने चाहिए। 
  • अंग्रेजी भाषा का ज्ञान।
  • कंप्यूटर और इंटरनेट की जानकारी।

आयु सीमा 

  • कैंडिडेट की आयु 17 साल से लेकर 27 साल तक के बीच होनी अनिवार्य है। 

एयरपोर्ट ग्रांउड स्टाफ के लिए शारीरिक योग्यता 

यहां आपको बता दें कि एयरपोर्ट ग्राउंड स्टाफ के लिए किसी भी प्रकार की कोई शारीरिक योग्यता नहीं होती है लेकिन कैंडिडेट चाहे महिला हो या पुरुष उसकी पर्सनैलिटी आकर्षक होने के साथ-साथ उसके कम्युनिकेशन स्किल भी अच्छे होने चाहिए। 

फीस

एयरपोर्ट ग्राउंड स्टाफ बनने के लिए जो कोर्स करना होता है उसमें यदि कैंडिडेट सर्टिफिकेट कोर्स करेगा तो इसके लिए उसे 40 हजार रुपए से लेकर 50 हजार रुपए तक की फीस का भुगतान करना पड़ता है। इसी प्रकार जो कैंडिडेट डिप्लोमा कोर्स करेंगे उन्हें इसके लिए तकरीबन 60 हजार रुपए से लेकर एक लाख रुपए तक की फीस देनी पड़ सकती है। ‌

एयरपोर्ट ग्रांउड स्टाफ बनने के लिए टॉप इंस्टिट्यूट 

एयरपोर्ट इंडस्ट्री आज काफी तेजी के साथ बढ़ रही है इसलिए आज हमारे देश में बहुत सारे इंस्टिट्यूट खुल गए हैं जहां पर एयरपोर्ट ग्राउंड स्टाफ बनने के लिए कोर्स करवाए जाते हैं लेकिन यहां आपको इस बात का ध्यान रखना है कि आप केवल किसी प्रतिष्ठित और टॉप इंस्टीट्यूट से ही अपना कोर्स करें जो आपकी प्लेसमेंट में भी मदद करें जिससे कि आपको नौकरी ढूंढने में किसी प्रकार की कोई समस्या ना हो। निम्नलिखित हम आपको भारत के कुछ टॉप इंस्टिट्यूट के नाम बता रहे हैं जो कि इस तरह से हैं- 

  • फ्लाइंग क्वीन एयर होस्टेस एकेडमी न्यू दिल्ली (Flying Queen air hostess Academy, New Delhi)
  • एयर होस्टेस अकैडमी बेंगलुरू कर्नाटका (Air hostess Academy Bengaluru Karnataka)
  • यूनिवर्सल एविएशन एकेडमी चेन्नई तमिल नाडु (Universal aviation Academy Chennai Tamil Nadu)
  • विंग्स4 एयर होस्टेस एंड हॉस्पिटैलिटी ट्रेनिंग, बड़ोदरा गुजरात (Wings4 air hostess and hospitality training, Vadodara Gujarat)
  • एयर होस्टेस एकेडमी दिल्ली (Air hostess Academy, Delhi) 
  • इंदिरा गांधी इंस्टीट्यूट आफ एयरोनॉटिक्स न्यू दिल्ली, चंडीगढ़, रोहतक) Indira Gandhi Institute Of aeronautics New Delhi, Chandigarh, Rohtak
  • फ्रैंकफिन इंस्टिट्यूट ऑफ़ एयर होस्टेस ट्रेनिंग, गुड़गांव (Frankfinn Institute of air hostess training, Gurgaon) 
  • मास्टर एवियशन अकैडमी, विजयवाडा (Master aviation Academy, Vijayawada)
  • रीमो इंटरनेशनल कॉलेज, चेन्नई (Remo International College, Chennai)
  • एससी मोइत्रा टेक्निकल ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट, कोलकाता (S.C Moitra air technical Training Institute, Kolkata) 

एयरपोर्ट ग्रांउड स्टाफ के पाठ्यक्रम / सब्जेक्ट क्या क्या है

  • इंट्रोडक्शन टू एयरपोर्ट डिवीजन  (Introduction to airport division)
  • एविएशन फंडामेंटल्स (Aviation fundamentals)
  • रिजर्वेशन्स: बैगेज, स्क्रीनिंग एंड क्यू मैनेजमेंट (Reservations: baggage, screening and queue management)
  • चेक-इन प्रोसीजर्स (Check-in procedures)
  • बैगेज मेक-अप एरियाज (Baggage make-up areas)
  • सिक्योरिटी होल्ड एरियाज एंड बोर्डिंग गेट (Security hold areas and boarding Gate)
  • बोर्डिंग गेट फॉर्मेलिटीज एंड अनाउंसमेंट्स (Boarding Gate formalities and announcements)
  • अराइवल प्रोसीजर्स (Arrival procedures)
  • रैंप मैनेजमेंट (Ramp management)
  • फ्रिक्वेंट फ्लायर प्रोग्राम (Frequent flyer program)
  • एसएबीआरई- बेसिक रिजर्वेशंस एंड चेक-इन (SABRE- basic reservations and check-in)
  • एयरपोर्ट फैमिलियारिजटेशन (Airport familiariztation visit)

एयरपोर्ट ग्रांउड स्टाफ के कैरियर संभावनाएं क्या है 

एयरपोर्ट ग्राउंड स्टाफ के कैरियर संभावनाएं मौजूदा समय में बहुत ज्यादा बढ़ गई हैं क्योंकि हमारा देश अब आधुनिक हो रहा है जिसकी वजह से हवाई सेवाओं में तेजी के साथ वृद्धि हुई है। यहां बता दें कि सार्वजनिक क्षेत्रों की एयरलाइंस कंपनियों के साथ-साथ कैंडिडेट को निजी एयरलाइंस कंपनी में भी नौकरी करने के अवसर मिलते हैं जैसे कि स्पाइसजेट, जेट एयरवेज, इंडिगो इत्यादि। साथ ही साथ बहुत सारे ऐसे एयरपोर्ट है जहां पर कैंडिडेट को नौकरी करने और आगे बढ़ने के अवसर मिल जाते हैं। 

वेतन 

एयरपोर्ट ग्राउंड स्टाफ की नौकरी करने के बाद कोई भी कैंडिडेट शुरुआत में ही हर महीने 25 हजार रुपए से लेकर 30 हजार रुपए तक का वेतन पा सकता है। इसके साथ-साथ जब कैंडिडेट को कुछ सालों का अनुभव हो जाता है तो उसके बाद उसे हर महीने 80 हजार रुपए से लेकर 1 लाख रुपए तक का सैलरी पैकेज मिल जाता है और उसके अलावा कुछ दूसरी सुविधाएं भी उसे मिलती हैं। 

एयरपोर्ट ग्रांउड स्टाफ के कार्य 

जैसा कि हमने ऊपर बताया कि एयरपोर्ट ग्राउंड स्टाफ का काम एयरपोर्ट के अंदर होता है जिसके अंतर्गत उसे निम्नलिखित कार्य ठीक प्रकार से करने होते हैं जो कि इस प्रकार से हैं-

  • कैंडिडेट यात्रियों के साथ अच्छे से बात करता है और यदि उन्हें किसी प्रकार की कोई समस्या होती है तो उसे सुलझाता है। 
  • यात्रियों की सुरक्षा के साथ-साथ उनके आराम का भी पूरा ध्यान रखता है। 
  • एयरपोर्ट पर यात्रियों को उड़ान से संबंधित सूचना देने का काम।
  • विमान के उड़ान भरने से पहले ही उसमें सभी यात्रियों के खाने पीने की चीजों का स्टॉक रखना और जो पुराना स्टॉक होता है उसे बदलने का काम करता है।
  • विमान में यात्रियों को चढ़ाने के साथ-साथ उतारने की जिम्मेदारी निभाता है। 
  • मौसम के हालात चेक करने के अलावा विमान में ईंधन चेक करना और यदि ईंधन कम हो तो फिर उसे भरना।
  • एयर ट्रैफिक कंट्रोल करना और फ्लाइट की मैनेजमेंट को देखने का काम करना।
  • इसके अलावा टिकटिंग, पैसेंजर हैंडलिंग, कार्गो लोडिंग, बैगेज, सिक्योरिटी प्रोसेस जैसे और भी बहुत सारे काम है जो ग्राउंड स्टाफ को करने होते हैं। 

निष्कर्ष 

दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिकल जिसमें हमने आपको बताया कि एयरपोर्ट ग्रांउड स्टाफ (Airport ground staff)  कैसे बनें? इस पोस्ट के द्वारा हमने आपको बताया कि एयरपोर्ट ग्राउंड स्टाफ बनने के लिए आपमें कितनी योग्यता होनी चाहिए और इसके साथ-साथ हमने आपको भारत के टॉप इंस्टिट्यूट के नाम भी बताएं। इसके अलावा आपको यह जानकारी भी दी कि किसी भी अच्छे संस्थान से एयरपोर्ट ग्राउंड स्टाफ कोर्स करने के लिए आपको कितने रुपए तक की फीस का भुगतान करना पड़ सकता है और जब आप नौकरी करेंगे तो तब आपको कितना सैलरी पैकेज मिलेगा। अन्य दूसरी जरूरी बातों की जानकारी भी हमने आपको दे दी हैं जो कि आपके लिए लाभदायक रही होंगी। इसलिए हमारी आप से विनती है कि इस लेख को अपने उन दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें जो 12वीं के बाद एयरलाइन इंडस्ट्री में जाना चाहते हैं।

Leave a Reply