एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियर (Aircraft Maintenance Engineer) कैसे बने?

  • Post author:
  • Post category:Career

नमस्कार! दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियर (Aircraft Maintenance Engineer) कैसे बनें? आज हमारे देश में ऐसे बहुत सारे युवा हैं जो एयरलाइन इंडस्ट्री में अपना कैरियर बनाने के इच्छुक हैं क्योंकि इस क्षेत्र में रोजगार के बहुत अच्छे अवसर मिल जाते हैं। यहां आपको बता दें कि मौजूदा समय में एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियर की डिमांड पहले से काफी अधिक बढ़ गई है और आने वाले समय में इनकी मांग में और भी ज्यादा वृद्धि होगी। अगर आप एयरलाइन इंडस्ट्री में जाना चाहते हैं तो फिर आज के हमारे इस आर्टिकल को अन्त तक पढ़ें क्योंकि इस पोस्ट में हम आपको बताएंगे कि आप किस तरह से एयरलाइंस मेंटेनेंस इंजीनियर बन सकते हैं। 

एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियर कैसे बने

एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियर क्या है (what is aircraft maintenance engineer in Hindi

यहां सबसे पहले आपको बता दें कि एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियर होता क्या है? तो दोस्तों हर विमान की नियमित रूप से देखभाल और रखरखाव की आवश्यकता होती है जिसको करने का कार्य एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियर का होता है। इसके साथ-साथ आपको यह भी जानकारी दे दें कि जब तक एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियर  किसी विमान को उड़ान के लिए योग्यता का सर्टिफिकेट नहीं दे देता तब तक वह विमान उड़ नहीं सकता। इसके अलावा आपको बता दें कि स्पेसक्राफ्ट, मिलट्री एयरक्राफ्ट, सैटेलाइट और मिसाइल को डिजाइन करने का कार्य एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियर का ही होता है। अगर कोई कैंडिडेट इस क्षेत्र में जाना चाहता है तो इसके लिए उसे पहले एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियरिंग कोर्स करना होगा जिसकी अवधि 3 या 4 साल तक की होती है। 

Related : एयर ट्रैफिक कंट्रोलर (Air traffic controller) कैसे बनें?

एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियर बनने के लिए प्रक्रिया क्या है

जो कैंडिडेट एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियर बनना चाहते हैं उन्हें इसके लिए कंबाइंड एडमिशन टेस्ट (combined admission test) की परीक्षा में भाग लेना होता है अगर आप इस परीक्षा में पास हो जाते हैं तो फिर उसके बाद आपको एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियरिंग कोर्स में एडमिशन मिल जाता है  जहां से फिर पढ़ाई करके आप इस क्षेत्र में अपना कैरियर बना सकते हैं। 

एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियर के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए 

  • उम्मीदवार ने किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10+2 कक्षा साइंस के साथ पास की हो।
  • छात्र के पास 12वीं कक्षा में मैथमेटिक्स सब्जेक्ट भी होना अनिवार्य है। 
  • छात्र ने 12वीं कक्षा में कम से कम 45% अंक हासिल किए हो।

आयु सीमा 

  • एडमिशन के समय छात्र की आयु कम से कम 16 साल और अधिक से अधिक 28 साल तक होनी चाहिए।

एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियर के लिए शारीरिक योग्यता 

एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियर बनने के लिए किसी भी कैंडिडेट में निम्नलिखित योग्यताएं होनी चाहिए-

  • कैंडिडेट की आंखों में कलर ब्लाइंडनेस नहीं होनी चाहिए।
  • कैंडीडेट में किसी भी प्रकार की कोई शारीरिक कमी या बीमारी नहीं होनी चाहिए। 

फीस

हर कोर्स को करने के लिए उसकी फीस बहुत ज्यादा महत्व रखती है जिसको जानने के बाद ही कैंडिडेट कोर्स करने या ना करने का फैसला लेता है। तो दोस्तों यहां हम आपको बता दें कि एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियर बनने के लिए आप जो कोर्स करेंगे उसके लिए आपको लगभग 2 लाख रुपए से लेकर 5 लाख रुपए तक की फीस देनी पड़ सकती है जो कि पूरी तरह से इस बात के ऊपर डिपेंड करेगी कि आपने कौन से इंस्टिट्यूट से कोर्स करने का निर्णय लिया है। 

एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियर बनने के लिए टॉप इंस्टिट्यूट 

हमारे देश भारत में एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियर बनने के लिए बहुत सारे टॉप इंस्टिट्यूट हैं जहां पर आप एडमिशन ले कर अपनी पढ़ाई कर सकते हैं उन संस्थानों के नाम इस प्रकार से हैं-

  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ एयरोनॉटिकल साइंस, न्यू दिल्ली (Indian Institute Of aeronautical science, New Delhi)
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ एयरोनॉटिकल साइंस, जमशेदपुर (Indian Institute of aeronautical science Jamshedpur)
  • भारत इंस्टीट्यूट आफ एयरोनॉटिक्स, पटना (Bharat Institute Of aeronautics, Patna)
  • हिंदुस्तान इंस्टीट्यूट आफ एयरोनॉटिक्स भोपाल (Hindustan Institute Of aeronautics, Bhopal)
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ एयरोनॉटिकल साइंस, कोलकाता (Indian Institute of aeronautical science Kolkata)
  • फ्लाइटेक एवियशन अकैडमी सिकंदराबाद (Flytech aviation Academy, Secunderabad)
  • अल्पाइन इंस्टीट्यूट आफ एयरोनॉटिक्स देहरादून (Alpine Institute Of aeronautics, Dehradun)
  • बुद्धा इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड एयरोनॉटिक्स, न्यू दिल्ली (Buddha Institute of Engineering and Aeronautics, New Delhi)
  • सेंटर ऑफ सिविल एविएशन, न्यू दिल्ली (Centre of Civil aviation, New Delhi)
  • नेहरू कॉलेज आफ एयरोनॉटिक्स एंड अप्लाइड साइंसेज (Nehru College of aeronautics and applied sciences)

एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियर के पाठ्यक्रम / सब्जेक्ट क्या क्या है

मेंटेनेंस इंजीनियर बनने के लिए कैंडिडेट को जो सब्जेक्ट पढ़ाएं जाते हैं उनकी जानकारी इस प्रकार से है- 

  • इलेक्ट्रिकल फंडामेंटल्स (electrical fundamentals)
  • बेसिक इलेक्ट्रॉनिक्स (Basic electronics)
  • डिजिटल इलेक्ट्रॉनिक्स यूज्ड इन एयरक्राफ्ट सिस्टम्स (Digital electronics used in aircraft systems) 
  • हार्डवेयर एंड मैटेरियल (Hardware and material) 
  • मेंटेनेंस प्रैक्टिसेज (Maintenance practices)
  • एयरोडायनेमिक्स (Aerodynamics)
  • ह्यूमन फैक्टर (Human factor)
  • सिविल एविएशन रिक्वायरमेंट (Civil aviation requirement) 
  • टरबाइन एंड पिस्टन एयरक्राफ्ट (Turbine and piston aircraft structure and system)
  • टरबाइन इंजन (Turbine engine)
  • पिस्टन इंजन (Piston engine)
  • प्रोपेलर (Propeller)
  • एयरक्राफ्ट प्रोपल्शन (Aircraft propulsion)
  • एडवांस्ड वर्कशॉप स्किल्स (Advanced workshop skills) 
  • फ्लाइट कंट्रोल्स (Flight controls)
  • एयरक्राफ्ट ऑटोमेटिक फ्लाइट (Aircraft automatic flight and landing systems) 
  • एयरक्राफ्ट इंस्पेक्शन एंड रिपेयर (Aircraft Inspection and repair)
  • प्रैक्टिकल एयरक्राफ्ट स्किल्स (Practical aircraft skills)
  • मॉडर्न एयरक्राफ्ट टेक्नोलॉजी (Modern aircraft Technology)
  • एयरक्राफ्ट इंस्पेक्शन, फॉल्ट डिटेक्शन एंड डायग्नोसिस (Aircraft inspection, fault detection and diagnosis)

एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियर के कैरियर संभावनाएं क्या है 

मेंटेनेंस इंजीनियर बनने के बाद कैंडिडेट के सामने विभिन्न क्षेत्रों में करियर बनाने के अवसर होते हैं जैसे कि वह एयरक्राफ्ट मैन्युफैक्चरिंग या फिर मेंटेनेंस फॉर्म में काम कर सकते हैं या फिर वह एयरपोर्ट पर नौकरी कर सकते हैं। इसके अलावा सिविल डिफेंस फोर्सिज में भी एयरक्राफ्ट इंजीनियर को काम करने के अवसर मिल जाते हैं।

वेतन 

अब यहां आपको यह जानकारी दे दें कि कोई कैंडिडेट एयरक्राफ्ट मेंटिनेस इंजीनियर बनने के बाद हर महीने कितने रुपए तक का वेतनमान पा सकता है। तो बता दें ऊ एयरक्राफ्ट मेंटिनेस इंजीनियर को प्रतिमाह 25 हजार रुपए से लेकर 30 हजार रुपए तक की सैलरी मिलती है जब उसे इस फील्ड में अनुभव हो जाता है तो उसके बाद उसको और भी ज्यादा वेतन मिलता है जो कैंडिडेट की योग्यता के ऊपर निर्भर करता है। 

एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियर के कार्य 

जब कोई कैंडिडेट एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियरिंग बन जाता है तो उसके अंतर्गत उसकी जिम्मेदारियां और कार्य बहुत महत्वपूर्ण होते हैं जो कि इस प्रकार से हैं-

  • जब भी कोई विमान उड़ान भरे तो उसकी प्री-फ्लाइट चेकिंग करना और उसके सभी इंजनों और उपकरणों का बारीकी से निरीक्षण करना।
  • अपने सभी कार्यों का रिकॉर्ड बना के रखना।
  • विमान इंजन के उपकरणों को असेंबल करने का कार्य।
  • जब कोई नया विमान बने तो उसकी जांच करना और उसे उड़ान भरने के लिए सर्टिफिकेट देना।
  • विमान का प्रतिस्थापन और रख-रखाव का कार्य करने के साथ-साथ उसके सभी सुरक्षा उपकरणों का ठीक प्रकार से परीक्षण करना। ‌
  • यदि विमान के इंजन में किसी प्रकार की कोई त्रुटि है तो उसको खोजना और उसकी फिर मरम्मत  करना।

निष्कर्ष 

दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिकल जिसमें हमने आपको बताया कि Aircraft Maintenance Engineer कैसे बने? इस लेख में हमने आपको बताया कि एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियर बनने के लिए आप में कितनी योग्यता होनी चाहिए और इसका कोर्स करने के लिए आपको कितने रुपए तक की फीस देनी होगी। इसके साथ-साथ हमने आपको जानकारी दी कि एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियर बनने के बाद आप हर महीने कितने रुपए तक का वेतन प्राप्त कर सकते हैं। साथ ही साथ हमने आपको भारत के टॉप इंस्टिट्यूट का नाम बताया जहां से आप एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियरिंग कोर्स कर सकते हैं। हमने इस पोस्ट में आपको सारी आवश्यक जानकारी दे दी है और अगर आपको जानकारी उपयोगी लगी हो तो इसे अपने उन दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करें जो 12वीं के बाद एयरलाइन इंडस्ट्री में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं। 

Leave a Reply