सूचान प्रौद्योगिकी (IT) के 5 लोकप्रिय कोर्सेज

आईटी यानी कि सूचान प्रौद्योगिकी पूरी दुनिया में तेजी से बढ़ने वाला सेक्टर है | इसकी वजह से इस क्षेत्र कुछ प्रफेशनल, सर्टिफिकेट और डिप्लोमा कोर्स करके आसानी से बिना किसी मशक्कत के जॉब प्राप्त करने के अवसर मौजूद रहते हैं |

तो आइये ऐसे ही आईटी सेक्टर के 5 कोर्स पर नजर डालते है जिनकी डिमांड तेजी से बढती जा रही है | इन कोर्स को कर लेने के बाद आप आसानी से जॉब भी प्राप्त करके अच्छा सेलेरी पैकेज प्राप्त कर सकते है |

सूचान प्रौद्योगिकी कोर्स

आर्टिफिशल इंटेलिजेंस (Artificial Intelligence)

आर्टिफिशल इंटेलिजेंस (एआई) computer science का ऐसा क्षेत्र होता है, जिसमे मनुष्य की तरह काम करने वाली मशीनों का निर्माण किया जाता है | ये सभी मशीने योजना बनाने, स्पीच यानी बोलने, सीखने, समझने और समस्या को सुलझाने आदि कामो को अच्छी तरह अंजाम देने में सक्षम होती है | सिरी इस Artificial Intelligence के क्षेत्र का सबसे बेहतरीन उदाहरण है |

अगर आप आर्टिफिशल इंटेलिजेंस के क्षेत्र में करियर बनाना चाहते हैं तो आपको गणित, मनोविज्ञान और विज्ञान जैसे भौतिकी और जीव विज्ञान आदि का अध्ययन करना चाहिए इसके अलावा कुछ बुनियादी प्रोग्रामिंग भाषाओं को सीखने से भी आप इस क्षेत्र में सफल करियर बना सकते हैं | इस क्षेत्र में आप निम्न जॉब कंप्यूटर साइंटिस्ट, game programmer, software engineer और रोबोटिक साइंटिस्ट आदि प्राप्त करके साल के लाखों रुपए कमा सकते हैं |

भारत में आर्टिफिशल इंटेलिजेंस (एआई) सिखाने वाले कुछ श्रेष्ठ इंस्टिट्यूट निम्न हैं – आईआईटी – बॉम्बे, आईआईटी – मद्रास, आईएसआई – कोलकाता, हैदराबाद विश्वविद्यालय और आईआईएस बैंगलोर आदि |

साइबर सिक्यॉरिटी ( Cyber Security )

मोर्डेन टेक्नोलॉजी और इंटरनेट ने एक तरफ मनुष्य के जीवन में क्रांति उत्पन्न कर दी है इसके प्रयोग से जीवन बहुत ही आसान हो गया है | मगर इसके कारण कई नुकसान जैसे computer hacking के जरिये एक कंप्यूटर से जानकारी दूसरे व्यक्ति तक पहुँच जाने से एक खास व्यक्ति के साथ साथ कई बार देश के लिए भी खतरे की समस्या उत्पन्न हो जाती है |

इसी वजह से आज के समय में सरकार और कई संगठनो द्वारा साइबर सिक्यॉरिटी के ऊपर विशेष ध्यान दिया जाता है और इस क्षेत्र में काम करने वाले लोगो की मांग भी बढ़ी है | वैसे तो साइबर सिक्यॉरिटी के कोर्स के अलग से डिप्लोमा करवाया जाता है | मगर साइबर सिक्यॉरिटी और फरेंसिक्स में स्पेशलाइजेशन के साथ साथ अगर आप कंप्यूटर साइंस और इंजिनियरिंग में बी.टेक कर लेते है तो आपका करियर और सफल रहता है |

इस क्षेत्र में आप इन्फर्मेशन सिक्यॉरिटी ऐनालिस्ट, सिक्यॉरिटी ऐडमिनिस्ट्रेटर, सॉफ्टवेयर डिवेलपर, साइबर पॉलिसी ऐनालिस्ट आदि की जॉब प्राप्त करके साल का 5 से 6 लाख रुपए तक कमा सकते हैं |

नैनो टेक्नोलॉजी ( Nanotechnology )

नैनो टेक्नोलॉजी एक ऐसा क्षेत्र है जो हमेशा से ही छात्रों के बीच में काफी लोकप्रिय रहा है | नैनो टेक्नोलॉजी में छात्रों के छोटी छोटी चीजों का अध्ययन करवाया जाता है इसी वजह से इसे लघु विज्ञान भी कहा जाता है |

नैनो टेक्नोलॉजी खाद्य – पेय, चिकित्सा, मेडिसिन, बायो-टेक्नोलॉजी, कृषि, जैव प्रौद्योगिकी, अंतरिक्ष अनुसंधान आदि क्षेत्रों में आकर्षक अवसर प्रदान करता है।

इस क्षेत्र में फ्रेशर्स के लिए महीने की शुरुआती वेतन 20,000 रुपये से लेकर 35,000 रुपए तक होती है |

क्लाउड कंप्यूटिंग ( Cloud-computing )

क्लाउड कंप्यूटिंग का मतलब ऐसी तकनीक से होता है जो हमें इंटरनेट पर आभासी संसाधनों को उपलब्ध कराती है | आभासी संसाधन का तात्पर्य ऐसी तकनीक जिसमे डाटा एक्सेस से लेकर डाटा को स्टोर करने तक का काम नेटवर्क पर ही निर्भर करता है |

जिन लोगो के पास कंप्यूटर साइंस और इंजीनियरिंग जैसे डिग्री है वो इस क्षेत्र में अच्छा करियर बना सकते हैं | इस सबके अलावा किसी अच्छे इंस्टिट्यूट से क्लाउड कंप्यूटिंग सर्टिफिकेशन लेने के बाद इस क्षेत्र में करियर बनाना और भी सफल रहता है | क्लाउड कंप्यूटिंग के क्षेत्र में आप सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट, आईटी आर्किटेक्ट, टेक्निकल कंसल्टेंट, क्लाउड सॉफ्टवेयर इंजिनियर आदि की जॉब करके साल के 5 से 20 लाख रुपये कमा सकते हैं |

ग्राफिक्स डिजाइनिंग ( Graphics Designing )

ग्राफिक्स डिजाइनिंग एक बहुत ही रोचक और क्रियटिव क्षेत्र है, ग्राफिक्स डिजाइनिंग का काम किसी भी प्रोडक्ट को अट्रैक्टिव बनाना होता है | इस क्षेत्र में टेक्स्ट और ग्राफिक के मेलजोल से एक अट्रैक्टिव मेसेज के जरिये अपनी बात लोगो तक पहुंचायी जाती है | यह मेसेज पोस्टर, बैनर, लोगो और ब्रोशर आदि कुछ भी हो सकता है | आप इस क्षेत्र में डिप्लोमा, सर्टिफिकेट और बैचलर्स, मास्टर और डॉक्टेरेट की डिग्री भी प्राप्त कर सकते है |

भारत में ग्राफिक्स डिजाइनिंग सिखाने वाले कुछ श्रेष्ठ इंस्टिट्यूट निम्न हैं – नैशनल इंस्टिट्यूट ऑफ डिजाइन – नई दिल्ली, इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी (आईआईटी) – कानपुर, इंडस्ट्रियल डिजाइन सेंटर (आईआईटी बॉम्बे) – मुंबई, एमआईटी इंस्टिट्यूट ऑफ डिजाइन – पुणे, सिंबायॉसिस इंस्टिट्यूट ऑफ डिजाइन – पुणे, वैगान एवं लेह कॉलेज (डब्ल्यूएलसीआई) – नई दिल्ली आदि ।

ग्राफिक्स डिज़ाइनिंग के क्षेत्र में काम करके आप महीने के 25 से 50 हजार रुपए आसानी से कमा सकते हैं |

Deepak Kumar

दीपक कुमार After12th.net के लेखक और संस्थापक हैं। वह छात्रों को उनकी धारा तय करने और उद्योग में पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी प्रदान करने में मदद करता है। वह उन्हें नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने में मदद करता है। उनका उद्देश्य देश में अधिकतम छात्रों के लिए वैध और उपयोगी जानकारी साझा करना है।

Leave a Reply