12th के बाद आईटीआई कोर्स लिस्ट (ITI course list after 12th)

नमस्कार! दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे 12th के बाद आईटीआई कोर्स लिस्ट के बारे में। आईटीआई को हिंदी में औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान के नाम से जाना जाता है और यह छात्रों को टेक्निकल एजुकेशन प्रदान करने के लिए फेमस है। वर्षों से कैंडिडेट आईटीआई करके प्राइवेट और सरकारी कंपनियों में रोजगार के बेहद शानदार अवसर हासिल करने में सक्षम बने हैं। तो अगर आप भी 12वीं के बाद कोई अच्छा सा आईटीआई कोर्स करना चाहते हैं तो हमारे आज के इस आर्टिकल को सारा पढ़ें और जानें कि आपके लिए कौन सा कोर्स सबसे अच्छा है। 

Contents

12th के बाद आईटीआई कोर्स 

यहां सबसे पहले आपको  आपको बता दें कि आईटीआई यानी कि इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट (Industrial Training Institute) छात्रों को औद्योगिक प्रशिक्षण देने के लिए फेमस है। बता दें कि 12th के बाद आईटीआई कोर्स अगर आप करना चाहते हैं और कोई बेहतरीन प्रोग्राम ढूंढ रहे हैं तो इसके लिए जरूरी है सबसे पहले उसके बारे में सारी जानकारी हासिल कर लें। साथ ही बताते चलें कि आईटीआई में इंजीनियरिंग और नॉन इंजीनियरिंग ट्रेनिंग स्टूडेंट्स को दी जाती है। 

यहां आपको बता दें कि इंजीनियरिंग कोर्स में केवल टेक्नोलॉजिकल पढ़ाई करवाई जाती है जबकि जो नॉन इंजीनियरिंग कोर्स होते हैं उनमें टेक्निकल विषयों पर बिल्कुल फोकस नहीं किया जाता। इस प्रकार से आईटीआई के द्वारा कैंडिडेंट्स अपने स्किल्स को बेहतर करने के साथ-साथ व्यवसाय कौशल को भी अच्छी तरह से सीखते हैं। यहां निम्नलिखित हम आपको जानकारी देंगे कि आप कौन कौन से आईटीआई कोर्स 12वीं के बाद कर सकते हैं।

ट्रैवल एंड टूर असिस्टेंट कोर्स

ट्रैवल एंड टूर असिस्टेंट 12th के बाद आईटीआई कोर्स है और यह एक डिप्लोमा लेवल का कोर्स है। जानकारी के लिए बता दें कि इस पाठ्यक्रम की अवधि 1 साल की होती है और यह एक काफी लोकप्रिय कोर्स है। बता दें कि जो छात्र आईटीआई प्रोग्राम में दाखिला लेते हैं उन्हें फिर नौकरी के लिए गवर्नमेंट और प्राइवेट सेक्टर में अवसर मिल जाते हैं। बताते चलें कि ट्रैवल एंड टूर असिस्टेंट का यह कोर्स करने के बाद कैंडिडेट ट्रैवल एजेंट, टूर मैनेजर, टूरिज्म प्रोमोटर, टूर ऑपरेटर इत्यादि प्रकार के पदों पर काम कर सकते हैं। 

ट्रैवल एंड टूर असिस्टेंट कोर्स करने के लिए योग्यता 

ट्रैवल एंड टूर असिस्टेंट कोर्स करने के लिए किसी भी कैंडिडेट में कुछ योग्यता होनी चाहिए जैसे कि –

  • इच्छुक उम्मीदवार ने कम से कम किसी भी विषय में 12वीं कक्षा पास की होनी चाहिए। 
  • कैंडिडेट के कम्युनिकेशन स्किल्स अच्छे होने चाहिए।
  • छात्र को अंग्रेजी भाषा के साथ साथ कंप्यूटर का ज्ञान होना बेहद जरूरी है। 
  • विद्यार्थी की आयु 18 साल से कम नहीं होनी चाहिए। 

ट्रैवल एंड टूर असिस्टेंट कोर्स करने के बाद सैलरी 

ट्रैवल एंड टूर असिस्टेंट कोर्स करने के बाद कैंडिडेट को जो सैलरी मिलती है वह पूरी तरह से उसकी योग्यता और वर्क लोकेशन पर डिपेंड करती है। बता दें कि जो योग्य और होनहार कैंडिडेट होते हैं वह हर महीने काफी आकर्षक वेतन हासिल कर सकते हैं। इस प्रकार से कैंडिडेट को जो शुरुआती सैलरी मिलती है वह 15,000 से लेकर 30,000 तक हो सकती है। 

स्टेनोग्राफी कोर्स

स्टेनोग्राफी एक बहुत अच्छा कोर्स है जिसको छात्र 12वीं पास करने के बाद कर सकते हैं। यहां जानकारी के लिए बता दें कि आईटीआई से स्टेनोग्राफी हिंदी और इंग्लिश दोनों ही मीडियम से कराया जाता है। इसलिए आपको जिस भाषा में भी यह कोर्स करना हो आप उस में एडमिशन ले सकते हैं। साथ ही बता दें कि इस कोर्स की अवधि 1 वर्ष की होती है। इस प्रकार जब स्टूडेंट्स का कोर्स पूरा हो जाता है तो उन्हें सरकारी और प्राइवेट विभागों में काम करने के मौके मिलते हैं। 

स्टेनोग्राफी कोर्स करने के लिए योग्यता 

स्टेनोग्राफी कोर्स करने के लिए कैंडिडेट में जो योग्यता होनी चाहिए उसके बारे में जानकारी इस प्रकार से है – 

  • छात्र ने किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से कम से कम 10+2 पास किया हो। 
  • कैंडिडेट ने 12वीं क्लास में 50% से लेकर 60% तक अंक हासिल किए हों।
  • छात्र की आयु 18 साल से लेकर 27 साल तक के बीच में होना अनिवार्य है। 

स्टेनोग्राफी कोर्स करने के बाद सैलरी 

12th के बाद स्टेनोग्राफी कोर्स करने के बाद कैंडिडेट को काफी अच्छी सैलरी मिल जाती है। यहां बता दें कि कैंडिडेट को हर महीने 20,000 से लेकर 30,000 तक सैलरी मिल सकती है। इसके अलावा अगर स्टेनोग्राफर को कुछ अनुभव हासिल हो जाता है तो तब उसके वेतन में और भी ज्यादा वृद्धि हो जाती है। 

रेडियोलॉजी टेक्निशियन कोर्स

12th के बाद आईटीआई कोर्स लिस्ट में रेडियोलॉजी टेक्निशियन ट्रेड भी शामिल किया जा सकता है। यहां बता दें कि यह एक 2 साल का पाठ्यक्रम है जिसमें छात्रों को एमआरआई (MRI), मैमोग्राफी (Mammography), बेसिक एक्स-रे (Basic X Ray), सीटी स्कैन (CT scan) इत्यादि। बताते चलें कि यह कोर्स उन छात्रों के लिए बेस्ट है जो मेडिकल लाइन में जाना चाहते हैं। 

रेडियोलॉजी टेक्निशियन कोर्स करने के लिए योग्यता 

रेडियोलॉजी टेक्निशियन कोर्स करने के लिए कैंडिडेट में निम्नलिखित योग्यताएं होनी चाहिए – 

  • छात्र ने 12वीं कक्षा किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से पास की होनी चाहिए। 
  • कैंडिडेट ने 12वीं में साइंस विषय पढ़ा होना चाहिए। 
  • अंग्रेजी भाषा की जानकारी होनी चाहिए।
  • कंप्यूटर नॉलेज भी होना जरूरी है। 

रेडियोलॉजी टेक्निशियन कोर्स करने के बाद सैलरी 

रेडियोलॉजी टेक्निशियन कोर्स करने के बाद किसी भी कैंडिडेट को जो सैलरी मिलती है वह उसकी योग्यता के ऊपर सबसे ज्यादा निर्भर करती है। यहां बता दें कि कैंडिडेट को विभिन्न प्राइवेट और गवर्नमेंट सेक्टर में काम करने के अवसर मिलते हैं जहां पर उसे हर महीने 15,000 से लेकर 30,000 रूपए तक आसानी के साथ मिल जाते हैं।

फिजियोथैरेपी टेक्निशियन कोर्स

12th के बाद आईटीआई कोर्स करने की इच्छा रखने वाले छात्रों को चाहिए कि वह फिजियोथेरेपी टेक्निशियन कोर्स कर सकते हैं। बता दें कि फिजियोथैरेपी के इस कोर्स की अवधि 2 साल की है। यहां बता दें कि यह एक जॉब ओरिएंटेड पैरामेडिकल कोर्स है जिसको करने के बाद कैंडिडेट मेडिकल इंडस्ट्री में काम करने के लिए योग्य हो जाते हैं। इस प्रकार से फिजियोथेरेपी के इस कोर्स को करने के बाद कैंडिडेट को सरकारी अस्पतालों के अलावा प्राइवेट हॉस्पिटल में काम करने का मौका मिलता है। 

फिजियोथैरेपी टेक्नीशियन कोर्स करने के लिए योग्यता 

फिजियोथैरेपी टेक्निशियन कोर्स करने के लिए छात्रों में जो योग्यता होनी बहुत जरूरी है वह इस प्रकार से है –

  • छात्र ने 12वीं कक्षा किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से पास की होनी चाहिए। 
  • कैंडिडेट को अंग्रेजी के अलावा कंप्यूटर की नॉलेज होना आवश्यक है। 
  • छात्र की मिनिमम आयु 17 साल तक होनी चाहिए। 

फिजियोथैरेपी टेक्नीशियन कोर्स करने के बाद सैलरी 

जो छात्र सफलतापूर्वक फिजियोथेरेपी टेक्निशियन कोर्स कर लेते हैं उसके बाद उन्हें जो सैलरी मिलती है वह पूरी तरह से उनकी काबिलियत के ऊपर डिपेंड करती है। लेकिन अगर एक एवरेज सैलेरी की बात की जाए तो कैरियर की शुरुआत में हर महीने 15,000 से लेकर 25,000 तक कमाए जा सकते हैं। 

मल्टीमीडिया एनीमेशन एंड स्पेशल इफैक्ट्स कोर्स

12th के बाद आईटीआई कोर्स में मल्टीमीडिया एनीमेशन एंड स्पेशल इफैक्ट्स ट्रेड भी किया जा सकता है। यहां जानकारी के लिए बता दें कि इस कोर्स की अवधि 1 साल की है। इसमें छात्रों को ऑडियो और वीडियो मटेरियल को सुंदरता के साथ पेश करना सिखाया जाता है। यहां बता दें कि यह इंडस्ट्री हमारे देश में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में काफी प्रसिद्ध है जिसकी वजह से इसमें रोजगार के काफी अच्छे-अच्छे अवसर कैंडिडेट को मिल जाते हैं। 

मल्टीमीडिया एनीमेशन एंड स्पेशल इफैक्ट्स कोर्स करने के लिए योग्यता 

मल्टीमीडिया एनीमेशन एंड स्पेशल इफैक्ट्स कोर्स करने के लिए छात्रों में जो योग्यता होनी चाहिए उसकी जानकारी इस प्रकार से है ‌- 

  • छात्र ने किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से कम से कम 10+2 किया होना चाहिए।
  • कैंडिडेट में क्रिएटिविटी होनी चाहिए। 
  • छात्र को कंप्यूटर की जानकारी होनी चाहिए। 

मल्टीमीडिया एनीमेशन एंड स्पेशल इफेक्ट कोर्स करने के बाद सैलरी 

जो छात्र मल्टीमीडिया एनीमेशन एंड स्पेशल इफेक्ट कोर्स सफलतापूर्वक पूरा कर लेते हैं उनको जॉब की शुरुआत में जो सैलरी मिलती है वह तकरीबन 15,000 से लेकर 35,000 रुपए तक हो सकती है। साथ ही बता दें कि यह एक ऐसी इंडस्ट्री है जिसमें योग्य कैंडिडेट हर महीने एक लाख रुपए तक भी कमा सकते हैं। 

लाइब्रेरी एंड इनफॉरमेशन साइंस कोर्स

लाइब्रेरी एंड इनफॉरमेशन साइंस 12th के बाद आईटीआई कोर्स है जिसकी अवधि 1 साल की है। यहां जानकारी के लिए बता दें कि इस डिप्लोमा लेवल कोर्स में छात्रों को लाइब्रेरी को मैनेज करने की पूरी ट्रेनिंग दी जाती है। इस वजह से जब वो यह पाठ्यक्रम पूरा कर लेते हैं तो उसके बाद वे यूनिवर्सिटी, पब्लिक लाइब्रेरी, स्कूल, कल्चरल इंस्टीट्यूट, गवर्नमेंट एजेंसीज, नॉनप्रॉफिट्स एनजीओ इत्यादि में काम करने के योग्य हो जाते हैं। 

लाइब्रेरी एंड इंफॉर्मेशन साइंस कोर्स करने के लिए योग्यता 

जो कैंडिडेट लाइब्रेरी एंड इनफॉरमेशन साइंस कोर्स करना चाहते हैं उन्हें यहां जानकारी के लिए हम बता दें कि इसके लिए कितनी योग्यता अनिवार्य है – 

  • कैंडिडेट ने कम से कम 12वीं कक्षा तक पढ़ाई की हो। 
  • छात्र के कम्युनिकेशन स्किल्स अच्छे होने चाहिए ताकि वह काम के दौरान लोगों को अच्छी तरह से डील कर सके। 
  • कैंडिडेट मेहनती हो और टीम के साथ काम करने में सक्षम हो।

लाइब्रेरी एंड इनफॉरमेशन साइंस कोर्स करने के बाद सैलरी 

लाइब्रेरी एंड इनफॉरमेशन साइंस कोर्स करने के बाद कैंडिडेट को जो सैलरी पैकेज मिलता है वह इस बात के ऊपर डिपेंड करता है कि उसे कौन सी जगह नौकरी करने का अवसर मिला है। वैसे अगर एवरेज सैलेरी की बात की जाए तो उसे हर महीने 15 हजार रुपए से लेकर 25 हजार रुपए तक हर महीने मिल जाते हैं। इसके अलावा एक्सपीरियंस गेन करने के बाद उसे और भी ज्यादा वेतन मिल जाता है।

इंटीरियर डेकोरेशन एंड डिजाइनिंग कोर्स

12वीं कक्षा पास करने के बाद इंटीरियर डेकोरेशन एंड डिजाइनिंग का कोर्स भी आईटीआई से किया जा सकता है। यहां आपको जानकारी के लिए बता दें कि अगर आपको घरेलू साज-सज्जा, ऑफिस, होटल्स इत्यादि सजाना पसंद है तो आप इस कोर्स को कर सकते हैं। बताते चलें कि इस कोर्स की अवधि एक वर्ष की होती है जिसको करने के बाद विभिन्न सरकारी और प्राइवेट सेक्टर में नौकरी करने के अवसर कैंडिडेट को मिल जाते हैं। 

इंटीरियर डेकोरेशन एंड डिजाइनिंग कोर्स करने के लिए योग्यता 

इंटीरियर डेकोरेशन एंड डिजाइनिंग कोर्स करने के लिए किसी भी कैंडिडेट में कुछ योग्यता होनी अनिवार्य है जैसे कि –

  • छात्र ने मिनिमम 12वीं कक्षा पास की होनी चाहिए।
  • कैंडिडेट को कंप्यूटर की जानकारी होनी चाहिए।
  • छात्र में रचनात्मकता होनी चाहिए। 
  • कैंडिडेट के कम्युनिकेशन स्किल्स अच्छे होने चाहिए।

इंटीरियर डेकोरेशन एंड डिजाइनिंग कोर्स करने के बाद सैलरी 

इंटीरियर डेकोरेशन एंड डिजाइनिंग कोर्स को जब कैंडिडेट पूरा कर लेते हैं तो उन्हें शुरुआत में ही काफी अट्रैक्टिव सैलरी मिल जाती है जो कि 20,000 से लेकर 40,000 तक हर महीने हो सकती है। इस प्रकार से कुछ वर्षों का अनुभव हासिल करने के बाद कैंडिडेट की सैलरी और भी ज्यादा बढ़ जाती है। लेकिन यदि कैंडिडेट अपना स्वयं का काम शुरू करता है तो तब उसे हर महीने लाखों रुपए कमाने का अवसर मिलता है। 

हेल्थ एंड सैनिटरी इंस्पेक्टर कोर्स

हेल्थ एंड सैनिटरी इंस्पेक्टर 12th के बाद आईटीआई कोर्स उन छात्रों के लिए उत्तम है जो हेल्थ सेक्टर में काम करना चाहते हैं। यहां आपको बता दें कि इस कोर्स की अवधि 1 साल की होती है। साथ ही बताते चलें कि कोर्स के दौरान छात्रों को हेल्थ, न्यूट्रिशन एंड हाइजीन, एनवायरमेंटल सैनिटेशन, पब्लिक हेल्थ केयर एंड प्राइमरी हेल्थ केयर इत्यादि जैसे विषयों पर पढ़ाई करवाई जाती है। इस तरह से जब कैंडिडेट कोर्स को पूरा कर लेते हैं तो उन्हें फिर बहुत से क्षेत्रों में जॉब अपॉर्चुनिटी मिल जाती है जैसे कि स्टेट गवर्नमेंट, सेंट्रल गवर्नमेंट, प्राइवेट कंपनी, हेल्थ डिपार्टमेंट, हॉस्पिटल इत्यादि। 

हेल्थ एंड सैनिटरी इंस्पेक्टर कोर्स करने के लिए योग्यता 

अब यहां आपको जानकारी के लिए बता दें कि हेल्थ एंड साइंस इंस्पेक्टर कोर्स करने के लिए योग्यता इस प्रकार से है – 

  • कैंडिडेट ने किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं कक्षा पास की होनी चाहिए। 
  • छात्र मेहनती होना चाहिए क्योंकि उसे काफी फील्ड वर्क करना होता है। 
  • कम्युनिकेशन स्किल्स अच्छे होने चाहिए।
  • ईमानदार होना चाहिए ताकि अपना काम ठीक से कर सके। 
  • कंप्यूटर और अंग्रेजी भाषा की जानकारी होनी जरूरी है। 

हेल्थ एंड सैनिटरी इंस्पेक्टर कोर्स करने के बाद सैलरी 

हेल्थ एंड सैनिटरी इंस्पेक्टर बनने के बाद किसी भी कैंडिडेट को जो शुरुआत में सैलरी पैकेज मिलता है वह तकरीबन 20,000 से लेकर 25,000 रुपए तक के बीच में हो सकता है। बाद में जब कैंडिडेट को एक्सपीरियंस हासिल हो जाता है तो तब उसे इससे भी ज्यादा वेतन हर महीने मिलता है। 

डीटीपी ऑपरेटर कोर्स

डीटीपी ऑपरेटर कोर्स 12वीं के बाद किया जा सकता है। यहां बता दें कि डीटीपी का फुल फॉर्म डेस्कटॉप पब्लिशिंग (Desktop Publishing) है। इस कोर्स की अवधि 1 साल की होती है। यहां बता दें कि डीटीपी एक ऐसी कला है जिसके माध्यम से आप अपने प्रोजेक्ट्स, ग्रीटिंग कार्ड, इनविटेशन कार्ड, पोस्टकार्ड को खूबसूरत बना सकते हैं। इसके अलावा डीटीपी का इस्तेमाल पेज लेआउट डिजाइन, वर्ड प्रोसेसिंग इत्यादि के लिए भी किया जाता है। इस तरह से डीटीपी पब्लिशिंग की एक ऐसी इलेक्ट्रॉनिक कला है जिसका इस्तेमाल करके कम्युनिकेशन की प्रिंटिंग सामग्री को बनाया जाता है। लेकिन हम यहां यही सलाह देंगे कि अगर आपके अंदर रचनात्मकता है तो ही आप इस कोर्स को करें क्योंकि प्रिंटिंग और डिजाइनिंग से जुड़े हुए इस काम के लिए कैंडिडेट में क्रिएटिविटी होनी जरूरी है। 

डीटीपी ऑपरेटर कोर्स करने के लिए योग्यता 

डीटीपी ऑपरेटर कोर्स करने के लिए कैंडिडेट में निम्नलिखित योग्यता होनी चाहिए जैसे कि –

  • छात्र ने मिनिमम 12वीं कक्षा किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से पास की होनी चाहिए।
  • कैंडिडेट की आयु कम से कम 18 साल तक होनी चाहिए।
  • छात्र को कंप्यूटर की अच्छी जानकारी होने के साथ-साथ उसमें क्रिएटिविटी होनी चाहिए। 
  • कैंडिडेट इंडिविजुअली या फिर टीम के साथ काम करने में सक्षम होना चाहिए। 

डीटीपी ऑपरेटर कोर्स करने के बाद सैलरी 

डीटीपी ऑपरेटर कोर्स करने के बाद कैंडिडेट को जो सैलरी मिलती है वह लगभग 15,000 से लेकर 25,000 तक हो सकती है। इसके अलावा जब कैंडिडेट को कुछ वर्षों का अनुभव हो जाता है तो तब उसकी सैलरी इनक्रीस हो जाती है। 

कंप्यूटर हार्डवेयर एंड नेटवर्किंग कोर्स

12th के बाद आईटीआई कोर्स लिस्ट में कंप्यूटर हार्डवेयर एंड नेटवर्किंग कोर्स का नाम भी शामिल है। यहां बता दें कि यह एक बेहद अच्छा कोर्स है जिसकी इन दिनों एमएनसी कंपनीज में सबसे ज्यादा डिमांड है। जानकारी के लिए बता दें कि आईटी विभाग में एक हार्डवेयर और नेटवर्किंग स्पेशलिस्ट की मांग आज तेजी के साथ बढ़ती जा रही है। यहां आपको जानकारी के लिए बता दें कि इस कोर्स की अवधि 2 साल की होती है जिसको करने के बाद कैंडिडेट टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में काम कर सकते हैं। 

कंप्यूटर हार्डवेयर एंड नेटवर्किंग कोर्स करने के लिए योग्यता 

कंप्यूटर हार्डवेयर एंड नेटवर्किंग कोर्स करने के लिए किसी भी कैंडिडेट में जो योग्यता होनी चाहिए उसकी जानकारी निम्नलिखित इस प्रकार से है –

  • छात्र कम से कम 12वीं कक्षा पास हो।
  • कंप्यूटर की बेसिक जानकारी होनी चाहिए।
  • कैंडिडेट को अंग्रेजी की जानकारी होनी चाहिए।

कंप्यूटर हार्डवेयर एंड नेटवर्किंग कोर्स करने के बाद सैलरी 

जब कैंडिडेट कंप्यूटर हार्डवेयर एंड नेटवर्किंग कोर्स कर लेते हैं तो उसके बाद उन्हें जो सैलरी मिलती है वह 15,000 से लेकर 25,000 तक के बीच में हो सकती है। इस तरह से जब कैंडिडेट को दो-तीन साल का एक्सपीरियंस हो जाता है तो तब उसे इस क्षेत्र में इससे भी ज्यादा सैलरी मिल जाती है। 

निष्कर्ष 

दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिकल 12th के बाद आईटीआई कोर्स लिस्ट के बारे में जानकारी। इस पोस्ट में हमने आपको बताया कि 12वीं के बाद अगर आप आईटीआई करना चाहते हैं तो कौन-कौन से कोर्स कर सकते हैं। इसके अलावा इस आर्टिकल में हमने आपको यह भी जानकारी दी कि मौजूदा समय में आईटीआई कौन से कोर्स सबसे ज्यादा प्रचलित हैं जिनमें कैंडिडेट अपना शानदार भविष्य बना सकते हैं।

साथ ही साथ हमने आपको यह भी जानकारी दी कि जब आप आईटीआई कोर्स पूरा कर लेते हैं तो उसके बाद आपको हर महीने कितनी सैलरी मिल सकती है। हमें पूरी उम्मीद है कि आपको हमारा यह पोस्ट अच्छा लगा होगा। 

इसलिए अंत में हमारी आपसे बस यही रिक्वेस्ट है कि इसे अपने उन दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करें 12th के बाद आईटीआई कोर्स करना चाहते हैं। 

Leave a Reply