10th के बाद डिप्लोमा कोर्स लिस्ट (Diploma Course List after 10th)

नमस्कार! After 12th में आपका स्वागत है। दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे 10th के बाद डिप्लोमा कोर्स लिस्ट के बारे में। दसवीं पास करने के बाद बहुत से कैंडिडेट आगे पढ़ाई नहीं करते। क्योंकि या तो उनका पढ़ाई में मन नहीं लगता या फिर उनके ऊपर परिवार की जिम्मेदारी होती है। जिसकी वजह से वह किसी ऐसे कोर्स को करने में रूचि लेते हैं जिसको करने के बाद उन्हें कोई अच्छी नौकरी मिल जाए। पर इसके लिए जरूरी है कि छात्र किसी बेस्ट कोर्स का चुनाव करे। 

इसके लिए उन्हें सही मार्गदर्शन की जरूरत होती है क्योंकि कई बार गलत पाठ्यक्रम की वजह से छात्रों का भविष्य खराब हो जाता है। तो कोर्स का चयन बहुत ही सोच विचार करने के बाद ही करना चाहिए। साथ ही इस बात का भी ध्यान रखें कि आपको कौन सी फील्ड में काम करने की इच्छा है। इसीलिए आपकी सहायता के लिए हम आज के अपने इस आर्टिकल में 10th के बाद डिप्लोमा कोर्स के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी देंगे। 

Contents

10th के बाद डिप्लोमा कोर्स

अगर आपने दसवीं कक्षा पास कर ली है और आप कोई ऐसा डिप्लोमा कोर्स ढूंढ रहे हैं जो इंडिपेंडेंट बनने में आपकी मदद करे। तो यहां आपको जानकारी के लिए बता दें कि ऐसे बहुत सारे कोर्स हैं जिनको आप दसवीं पास करने के बाद कर सकते हैं। लेकिन कोर्स में दाखिला लेने से पहले सबसे जरूरी है कि आप यह देखें कि आपको किस विषय में या क्षेत्र में इंटरेस्ट है। 

इसका यह फायदा होगा कि आप अपने पसंदीदा सब्जेक्ट में बेहतर प्रदर्शन कर सकेंगे और कोर्स करने के बाद एक अच्छी नौकरी भी हासिल कर सकेंगे। यहां निम्नलिखित हम आपको बता रहे हैं 10th के बाद बेस्ट डिप्लोमा कोर्स के बारे में। 

आर्ट टीचर डिप्लोमा कोर्स 

आर्ट टीचर बनने के इच्छुक छात्र 10th के बाद डिप्लोमा कोर्स ढूंढ रहे हैं तो वह आर्ट टीचर डिप्लोमा पाठ्यक्रम कर सकते हैं। जानकारी दे दें कि यह 2 साल का डिप्लोमा कोर्स है। बता दें कि इसको आर्ट पैटर्न पर डिजाइन किया गया है। यह कोर्स कैंडिडेट्स को विजुअल एवं डिजाइन के फंडामेंटल्स और बेसिक प्रिंसिपल्स में ट्रेनिंग प्रदान करता है। यहां बता दें कि जब कैंडिडेट इस कोर्स को सफलतापूर्वक पूरा कर लेते हैं तो उसके बाद उन्हें आर्ट टीचर बनने का मौका मिलता है। अगर आपको टीचर बनना पसंद है और आप आर्ट लवर हैं तो आप दसवीं के बाद इस कोर्स को कर सकते हैं।  

आर्ट टीचर डिप्लोमा कोर्स करने के लिए योग्यता 

आर्ट टीचर डिप्लोमा कोर्स करने के लिए छात्रों में कुछ योग्यता होनी चाहिए जैसे कि – 

  • छात्र ने किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से कम से कम दसवीं कक्षा पास की हो। 
  • दसवीं कक्षा में छात्र ने 45% से लेकर 50% तक अंक हासिल किए हों।
  • छात्र में क्रिएटिविटी होनी चाहिए। 
  • कैंडिडेट के कम्युनिकेशंस अच्छे होने चाहिए। 

आर्ट टीचर डिप्लोमा कोर्स करने के बाद सैलरी 

जो कैंडिडेट आर्ट टीचर डिप्लोमा कोर्स कर लेते हैं उसके बाद उन्हें हर महीने जो सैलरी मिलती है वो उनकी जॉब की लोकेशन और उनकी क्रिएटिविटी के ऊपर निर्भर करती है। लेकिन अगर एक एवरेज सैलेरी की बात की जाए तो एक आर्ट टीचर को स्टार्टिंग सैलेरी 15,000 से लेकर 2,5000 तक मिल सकती है। इसके अलावा जब उसे कुछ सालों का एक्सपीरियंस हासिल हो जाता है तो तब उसकी सैलरी में वृद्धि हो जाती है। 

कमर्शियल आर्ट डिप्लोमा कोर्स 

10th के बाद डिप्लोमा कोर्स लिस्ट में कमर्शियल आर्ट डिप्लोमा पाठ्यक्रम भी काफी अच्छा है। यहां जानकारी के लिए बता दें कि इस कोर्स की अवधि 2 से लेकर 3 साल तक की होती है। यहां बताते चलें कि यह कोर्स स्टूडेंट्स को सेलिंग के कांसेप्ट और सर्विसेस के बारे में विस्तार से जानकारी देता है। साथ ही बता दें कि जब कैंडिडेट अपना यह डिप्लोमा कोर्स पूरा कर लेते हैं तो उसके बाद उन्हें एडवरटाइजिंग कंपनीज, आर्ट स्टूडियोज, पब्लिशिंग हाउसेस और फैशन हाउसेस में काम करने के अवसर मिलते हैं। 

कमर्शियल आर्ट डिप्लोमा कोर्स करने के लिए योग्यता 

कमर्शियल आर्ट में डिप्लोमा करने के लिए किसी भी कैंडिडेट में निम्नलिखित योग्यताएं होनी चाहिए जैसे कि – 

  • छात्र ने मिनिमम दसवीं कक्षा पास की हो।
  • कैंडिडेट में आर्टिस्टिक स्किल होने के साथ-साथ क्रिएटिविटी भी होनी चाहिए। 
  • अंग्रेजी भाषा के साथ-साथ कंप्यूटर की जानकारी होना भी जरूरी है। 

कमर्शियल आर्ट डिप्लोमा कोर्स करने के बाद सैलरी

कमर्शियल आर्ट डिप्लोमा कोर्स करने के बाद एक प्रोफेशनल को जो सैलरी मिलती है वह सबसे ज्यादा उसकी योग्यता यानी कि उसकी क्रिएटिविटी के ऊपर डिपेंड करती है। लेकिन देखा जाए तो इस क्षेत्र में कैंडिडेट को जो शुरुआती सैलरी मिलती है वह लगभग 20,000 से लेकर 30,000 तक के मध्य होती है। इस तरह से जब उसे कुछ वर्षों का अनुभव प्राप्त हो जाता है तो तब वह अपना खुद का काम करते हुए हर महीने लाखों रुपए भी कमा सकता है। 

स्टेनोग्राफी में डिप्लोमा कोर्स

दसवीं पास करने के बाद छात्र चाहें तो स्टेनोग्राफी में डिप्लोमा कोर्स कर सकते हैं। आपको बता दें कि इस कोर्स की अवधि 1 साल की होती है। इस प्रकार से कोर्स के दौरान छात्रों को क्लेरिकल ड्यूटी के साथ-साथ शॉर्टहैंड डिक्टेशन लेना सिखाया जाता है। जब स्टूडेंट्स अपने स्टेनोग्राफी के इस डिप्लोमा कोर्स को कर लेते हैं तो उन्हें प्राइवेट और गवर्नमेंट सेक्टर में स्टेनोग्राफर के रूप में काम करने के अवसर मिलते हैं। तो इसलिए दसवीं के बाद यह कोर्स भी काफी अच्छा है जिसमें अच्छा भविष्य बनाया जा सकता है। 

स्टेनोग्राफी में डिप्लोमा कोर्स करने के लिए योग्यता 

सोनोग्राफी में डिप्लोमा कोर्स करने के लिए कैंडिडेट में निम्नलिखित योग्यता होनी चाहिए –

  • किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से छात्र ने कम से कम दसवीं कक्षा पास की हो।
  • कैंडिडेट को टाइपिंग की जानकारी होनी चाहिए। 
  • कंप्यूटर की जानकारी होना भी जरूरी है। 

स्टेनोग्राफी में डिप्लोमा कोर्स करने के बाद सैलरी

स्टेनोग्राफी में डिप्लोमा कोर्स करने के बाद एक स्टेनोग्राफर को जो वेतन मिलता है वह डिपेंड करता है कि उसकी नौकरी गवर्नमेंट सेक्टर में लगी है या फिर प्राइवेट सेक्टर में। परंतु स्टेनोग्राफी का कोर्स करने के बाद कैंडिडेट को हर महीने 20 हजार रुपए से लेकर 25 हजार रुपए तक का सैलेरी पैकेज आसानी से मिल जाता है। 

डिप्लोमा इन 3D एनीमेशन कोर्स 

जो कैंडिडेट 10th के बाद डिप्लोमा कोर्स करके एनिमेशन कंपनियों में काम करना चाहते हैं तो वो डिप्लोमा इन 3D एनीमेशन में एडमिशन ले सकते हैं। यहां आपको बता दें कि इस कोर्स की अवधि 18 महीने से लेकर 2 साल तक की होती है जो कि हर संस्थान में अलग-अलग होती है। इस प्रकार से जब कैंडिडेट इस कोर्स को पूरा कर लेते हैं तो उन्हें एनिमेशन की अच्छी खासी जानकारी हो जाती है और एनिमेशन कंपनियों के अलावा उन्हें कार्टून इंडस्ट्री, न्यूज़ चैनल, मीडिया हाउस इत्यादि में रोजगार के अच्छे अवसर मिलते हैं। 

डिप्लोमा इन 3D एनीमेशन कोर्स करने के लिए योग्यता 

जो छात्र डिप्लोमा इन 3D एनीमेशन कोर्स करना चाहते हैं इसके लिए उनमें निम्नलिखित योग्यता होनी चाहिए जो कि इस प्रकार से है – 

  • कैंडिडेट ने किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10वीं तक पढ़ाई की हो।
  • छात्र में रचनात्मकता होनी चाहिए।
  • कंप्यूटर की जानकारी के साथ-साथ अंग्रेजी भाषा का भी ज्ञान होना चाहिए। 

डिप्लोमा इन 3D एनीमेशन कोर्स करने के बाद सैलरी

3डी एनिमेशन में डिप्लोमा की पढ़ाई पूरी करने के बाद किसी भी कैंडिडेट को जो सैलरी मिलती है वो लगभग 20,000 से लेकर 25,000 तक हर महीने हो सकती है। लेकिन अगर उसे किसी बड़ी कंपनी या मीडिया हाउस में काम करने का अवसर मिलता है तो तब उसे इससे भी ज्यादा वेतन मिल सकता है। 

ब्यूटी केयर कोर्स 

ब्यूटी केयर कोर्स की अगर बात करें तो 10th के बाद डिप्लोमा कोर्स करने में सबसे ज्यादा लड़कियां एडमिशन लेती हैं। लेकिन ऐसा भी नहीं है कि इस कोर्स में लड़के दाखिला नहीं ले सकते। बल्कि इस इंडस्ट्री में आज लड़के और लड़कियां दोनों ही काम कर रहे हैं। जानकारी दे दें कि इस कोर्स की अवधि 1 साल से लेकर 2 साल तक के बीच में होती है। साथ ही बता दें कि ब्यूटी केयर के डिप्लोमा कोर्स में कैंडिडेट को ब्यूटीशियन से संबंधित सारी ट्रेनिंग दी जाती है जिसके बाद वे या तो अपना खुद का ब्यूटी पार्लर शुरू कर सकते हैं या फिर वो नौकरी भी कर सकते हैं। 

ब्यूटी केयर कोर्स करने के लिए योग्यता 

ब्यूटी केयर कोर्स में डिप्लोमा हासिल करने के लिए किसी भी कैंडिडेट में निम्नलिखित योग्यता का होना अनिवार्य है –

  • छात्र ने किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से कम से कम दसवीं पास की हो। 
  • कैंडिडेट को ब्यूटी कल्चर में इंटरेस्ट होना चाहिए।
  • छात्र के कम्युनिकेशन स्किल्स अच्छे होने चाहिए। 

ब्यूटी केयर कोर्स करने के बाद सैलरी

जब छात्र अपना ब्यूटी केयर कोर्स पूरा कर लेते हैं तो उसके बाद उन्हें जो शुरुआती सैलरी मिलती है वह पूरी तरह से इस बात के ऊपर डिपेंड करती है कि कैंडिडेट को काम कहां पर मिला है। लेकिन देखा जाए तो इस फील्ड में किसी भी ब्यूटीशियन को हर महीने 10 हजार से लेकर 30 हजार रुपए तक आसानी के साथ मिल जाते हैं। इसके अलावा अगर कोई कैंडिडेट अपना खुद का ब्यूटी पार्लर खोल लेता है तो तब उसे हर महीने बहुत ज्यादा कमाई करने के अवसर मिल जाते हैं। 

कॉस्मेटोलॉजी कोर्स 

10th के बाद डिप्लोमा कोर्स जो छात्र करना चाहते हैं तो अगर वे चाहें तो कॉस्मेटोलॉजी में डिप्लोमा हासिल कर सकते हैं। यहां आपको बता दें कि इस कोर्स की अवधि 5 महीने से लेकर 1 साल तक की होती है। साथ ही जानकारी दे दें कि इस कोर्स में छात्रों को विस्तार से कॉस्मेटिक्स के बारे में पढ़ाई करवाई जाती है। इस प्रकार जब कैंडिडेट अपना कोर्स पूरा कर लेते हैं तो वो अपना खुद का ब्यूटी पार्लर शुरू कर सकते हैं। यह अगर चाहें तो कॉस्मेटिक मैन्युफैक्चरिंग कंपनीज में सेल्समैन का काम भी कर हासिल कर सकते हैं। 

कॉस्मेटोलॉजी कोर्स करने के लिए योग्यता 

जो कैंडिडेट कॉस्मेटोलॉजी कोर्स करना चाहते हैं उनके अंदर कुछ योग्यता होना अनिवार्य है जैसे कि – 

  • छात्र ने कम से कम दसवीं कक्षा तक पढ़ाई की हो। 
  • कैंडिडेट को कॉस्मेटोलॉजी जैसे विषय में इंटरेस्ट होना चाहिए। 
  • बेसिक कंप्यूटर की जानकारी होनी चाहिए। 

कॉस्मेटोलॉजी कोर्स करने के बाद सैलरी

कॉस्मेटोलॉजी में डिप्लोमा हासिल करने के बाद कैंडिडेट को जो शुरुआती सैलरी मिलती है वह 15,000 से लेकर 25,000 तक होती है। इस प्रकार से जब उसे कुछ वर्षों का इस फील्ड में काम करते हुए अनुभव हासिल हो जाता है तो तब उसके वेतन में वृद्धि हो जाती है। 

साइबर सिक्योरिटी कोर्स 

दसवीं पास करने के बाद साइबर सिक्योरिटी कोर्स भी किया जा सकता है। यहां बता दें कि इस डिप्लोमा कोर्स की अवधि 1 साल की होती है। बताते चलें कि साइबर सिक्योरिटी के पाठ्यक्रम में छात्रों को एथिकल हैकिंग के बारे में विस्तार से पढ़ाई करवाई जाती है। इस तरह से जब कैंडिडेट सफलता पूर्वक अपना कोर्स पूरा कर लेते हैं तो उन्हें गवर्नमेंट एजेंसीज और प्राइवेट ऑर्गेनाइजेशन में एथिकल हैकर के तौर पर नौकरी के अवसर मिलते हैं। इस तरह से टेक्नोलॉजी की दुनिया में अगर कोई कैंडिडेट कैरियर बनाना चाहता है तो वह इस कोर्स को कर सकता है। 

साइबर सिक्योरिटी कोर्स करने के लिए योग्यता 

साइबर सिक्योरिटी कोर्स करने के लिए किसी भी कैंडिडेट में निम्नलिखित योग्यता होनी चाहिए –

  • छात्र ने किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से दसवीं कक्षा तक पढ़ाई की हो। 
  • कैंडिडेट को कंप्यूटर की जानकारी होनी चाहिए।
  • छात्र को अंग्रेजी का ज्ञान भी होना चाहिए। 

साइबर सिक्योरिटी कोर्स करने के बाद सैलरी

साइबर सिक्योरिटी कोर्स करने के बाद कैंडिडेट को जो वेतन मिलता है वह उसकी योग्यता के ऊपर सबसे अधिक निर्भर होता है। यहां बता दें कि कैंडिडेट को स्टार्टिंग सैलेरी 15,000 से लेकर 35,000 तक के बीच में मिल सकती है। लेकिन योग्य और मेहनती को इससे भी ज्यादा का वेतन मिल सकता है। 

एग्रीकल्चर कोर्स 

जैसा कि आपको पता ही होगा कि हमारा देश कृषि प्रधान देश है इसलिए 10th के बाद डिप्लोमा कोर्स एग्रीकल्चर में भी किया जा सकता है। यहां आपको जानकारी के लिए बता दें कि इस कोर्स की अवधि 2 साल तक की होती है जिसमें कैंडिडेट को फार्मिंग की टेक्नीकस के अनेकों प्रकारों के बारे में बताया जाता है और साथ ही साथ मिट्टी के बारे में भी गहराई से जानकारी दी जाती है। 

जब स्टूडेंट्स इस पाठ्यक्रम को पूरा कर लेते हैं तो तब अगर वो चाहें तो आगे लेटरल एंट्री मोड के माध्यम से बीटेक इन एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग में भी दाखिला ले सकते हैं। लेकिन अगर कैंडिडेट चाहें तो वे एग्रीकल्चर से जुड़ी हुई नौकरी भी कर सकते हैं।

एग्रीकल्चर कोर्स करने के लिए योग्यता 

एग्रीकल्चर कोर्स में डिप्लोमा करने के लिए किसी भी छात्र में कुछ योग्यताएं होनी चाहिए जिनके बारे में जानकारी इस प्रकार से है – 

  • कैंडिडेट ने 10वीं तक पढ़ाई की होनी चाहिए।
  • छात्र को खेती-बाड़ी इत्यादि में रुचि होनी चाहिए। 
  • कंप्यूटर की जानकारी होनी जरूरी है। 

एग्रीकल्चर कोर्स करने के बाद सैलरी

एग्रीकल्चर में डिप्लोमा कोर्स करने के बाद कैंडिडेट को हर महीने शुरुआती सैलरी लगभग 18,000 से लेकर 25,000 तक के मध्य मिल जाती है। लेकिन एक्सपीरियंस होने के बाद यह सैलरी बढ़ जाती है। बता दें कि एक योग्य उम्मीदवार को इस क्षेत्र में आगे बढ़ने के बहुत सारे मौके मिलते हैं जहां पर वह एक शानदार कैरियर बना सकता है। 

डिप्लोमा इन डेंटल मैकेनिक्स कोर्स 

दसवीं पास करने के पास अगर आप चाहें तो डिप्लोमा इन डेंटल मैकेनिक्स कोर्स में प्रवेश ले सकते हैं। यहां बता दें कि इसकी अवधि 2 साल तक की होती है और इस पाठ्यक्रम में स्टूडेंट्स को ट्रेंड किया जाता है कि किस तरह से डेंटल स्ट्रक्चर्स बनाए जाते हैं और उसके अलावा डेंटल हेल्थ के बारे में संपूर्ण जानकारी दी जाती है। इस प्रकार जब कैंडिडेट अपना कोर्स पूरा कर लेते हैं तो वे डेंटल टेक्निशियन, असिस्टेंट डेंटल सर्जन, रिसर्च असिस्टेंट इत्यादि बन सकते हैं। 

डिप्लोमा इन डेंटल मैकेनिक्स कोर्स करने के लिए योग्यता 

डेंटल मैकेनिक्स कोर्स में डिप्लोमा करने के लिए छात्रों में निम्नलिखित योग्यता का होना जरूरी है –

  • किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से 10वीं तक पढ़ाई जरूर की हो। 
  • छात्र को अंग्रेजी भाषा की जानकारी होनी चाहिए।
  • कैंडिडेट को बेसिक कंप्यूटर की नॉलेज भी होनी चाहिए।
  • कैंडिडेट में क्रिएटिविटी होनी चाहिए। 

डिप्लोमा इन डेंटल मैकेनिक्स कोर्स करने के बाद सैलरी

डिप्लोमा इन डेंटल मैकेनिक्स कोर्स करने के बाद कैंडिडेट को जो शुरुआती सैलरी मिलती है वह हर महीने 15,000 से लेकर 20,000 तक हो सकती है। लेकिन अगर उसे शुरुआत में ही किसी अच्छे डेंटल क्लीनिक या हॉस्पिटल में काम करने का मौका मिलता है तो तब उसे 30 हजार से लेकर 35 हजार रुपए तक हर महीने मिल सकते हैं। 

डिप्लोमा इन प्लास्टिक्स टेक्नोलॉजी कोर्स 

10th के बाद डिप्लोमा कोर्स लिस्ट में डिप्लोमा इन प्लास्टिक टेक्नोलॉजी पाठ्यक्रम को भी शामिल किया जा सकता है। यहां आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस कोर्स की अवधि 3 साल तक की होती है। पाठ्यक्रम के दौरान कैंडिडेट को ट्रेनिंग दी जाती है कि प्लास्टिक प्रोडक्ट बनाने के लिए किस तरह से सही मटेरियल का सिलेक्शन किया जाता है। इसके अलावा स्टूडेंट्स को प्लास्टिक मॉडल बनाने के लिए मशीनरी हैंडल करने की भी ट्रेनिंग दी जाती है। 

डिप्लोमा इन प्लास्टिक्स टेक्नोलॉजी कोर्स करने के लिए योग्यता 

डिप्लोमा इन प्लास्टिक्स टेक्नोलॉजी कोर्स करने के लिए कैंडिडेट में जो योग्यता होना अनिवार्य है उसकी जानकारी इस प्रकार से है – 

  • विद्यार्थी ने कम से कम किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से दसवीं कक्षा तक पढ़ाई की हो।
  • कैंडिडेट को बेसिक अंग्रेजी और बेसिक कंप्यूटर की जानकारी होनी चाहिए। 

डिप्लोमा इन प्लास्टिक्स टेक्नोलॉजी कोर्स करने के बाद सैलरी

डिप्लोमा इन प्लास्टिक टेक्नोलॉजी कोर्स करने के बाद कैंडिडेट को जो वेतन मिलता है वह पूरी तरह से उसके काम करने के तरीके और कंपनी के ऊपर डिपेंड करता है। वैसे आमतौर पर कैंडिडेट को शुरुआती सैलरी 15,000 से लेकर 30,000 तक के बीच में मिल जाती है। 

निष्कर्ष 

दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिकल 10th के बाद डिप्लोमा कोर्स लिस्ट के बारे में जानकारी। इस लेख के माध्यम से हमने आपको बताया कि दसवीं पास करने के बाद कौन-कौन से बेस्ट डिप्लोमा कोर्स किए जा सकते हैं। साथ ही हमने आपको यह भी जानकारी दी कि किसी भी डिप्लोमा कोर्स में प्रवेश लेने के लिए कैंडिडेट में कितनी योग्यता होनी चाहिए।

 इसके अलावा हमने इस पोस्ट में आपको यह भी बताया कि 10th के बाद डिप्लोमा कोर्स करने के बाद हर महीने कितने रुपए तक का वेतन मिल सकता है। हमें पूरी उम्मीद है कि हमारा यह आर्टिकल आपके लिए जरूर उपयोगी रहा होगा। 

अंत में हमारी आपसे बस यही रिक्वेस्ट है कि हमारे इस पोस्ट को अपने उन दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करें जो 10th के बाद डिप्लोमा कोर्स करना चाहते हैं। 

Leave a Reply