बीआर्क कोर्स (B.Arch Course) कैसे करें पूरी जानकारी

नमस्कार! दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे बीआर्क कोर्स (B.Arch Course)  कैसे करें पूरी जानकारी। जो छात्र 12वीं कक्षा में पीसीएम विषय की पढ़ाई करते हैं उनके लिए बीआर्क कोर्स एक अच्छा ऑप्शन है। यहां जानकारी के लिए बता दें कि इस कोर्स में आमतौर पर वही स्टूडेंट्स दाखिला लेते हैं जिन्हें बिल्डिंग डिजाइन करने के साथ-साथ ब्लू प्रिंट तैयार करने में रुचि होती है। यह एक ऐसा पाठ्यक्रम है जिसको करने के बाद छात्रों को नौकरी के काफी अच्छे मौके मिलते हैं। लेकिन बहुत सी बार विद्यार्थियों को अधूरी जानकारी होती है।

जिसकी वजह से वह किसी अच्छे कॉलेज में दाखिला लेने से चूक जाते हैं। ऐसे में फिर छात्र को भविष्य में रोजगार के अच्छे चांस नहीं मिल पाते। इसलिए जरूरी है कि स्टूडेंट्स इस अंडर ग्रैजुएट प्रोग्राम के बारे में सारी डिटेल्स जान लें। अगर आप भी 12वीं के बाद बीआर्क कोर्स करने में रुचि रखते हैं तो हमारे आज के इस पोस्ट को सारा पढ़ें और जानें इसके बारे में सारी डिटेल्स। 

बीआर्क कोर्स क्या है (what is B.Arch course in Hindi)

यहां सबसे पहले आपको हम बता दें कि बीआर्क (B.Arch) का फुल फॉर्म बैचलर ऑफ आर्किटेक्चर (Bachelor of architecture) है। साथ ही बता दें कि यह एक अंडरग्रैजुएट कोर्स है जिसमें छात्रों को अनेकों प्रकार के बिल्डिंग डिजाइन और ब्लूप्रिंट तैयार करना सिखाया जाता है। इसके अलावा इस कोर्स में विद्यार्थियों को दूसरे अन्य भौतिक संरचनाओं के डिजाइन बनाना और निर्माण करना भी सिखाया जाता है। इस तरह से जब छात्र अपना यह कोर्स पूरा कर लेते हैं तो तब उन्हें नौकरी करने के काफी शानदार मौके मिलते हैं। लेकिन इस पाठ्यक्रम में दाखिला लेना आसान नहीं है क्योंकि उम्मीदवारों को एंट्रेंस टेस्ट क्लियर करना होता है जो कि काफी टफ होता है। 

अवधि (duration)

बैचलर ऑफ आर्किटेक्चर कोर्स की अवधि 5 साल की होती है। इसमें 10 सेमेस्टर्स होते हैं। इस तरह से जब विद्यार्थी सभी सेमेस्टर में पास हो जाते हैं तो उसके बाद उन्हें बीआर्क की डिग्री मिल जाती है। बता दें कि फिर कैंडिडेट एक पेशेवर के तौर पर आर्किटेक्चर इंडस्ट्री में काम करने के लिए योग्य हो जाता है। 

बीआर्क कोर्स के लिए प्रवेश परीक्षा (entrance test for B.Arch course)

12वीं के बाद जो स्टूडेंट्स बीआर्क कोर्स करना चाहते हैं इसके लिए उन्हें एंट्रेंस टेस्ट देना पड़ता है। यहां आपको जानकारी दे दें कि इसके लिए बहुत सारे कोर्स नेशनल लेवल पर और यूनिवर्सिटी लेवल पर करवाए जाते हैं। निम्नलिखित हम कुछ सबसे पॉपुलर एंट्रेंस एग्जाम के बारे में बता रहे हैं जो बीआर्क के लिए कंडक्ट करवाए जाते हैं। उनके नाम इस प्रकार से हैं – 

  • नाटा- नेशनल एप्टिट्यूड टेस्ट इन आर्किटेक्चर  (NATA-National aptitude test in architecture) 
  • जेईईमेन (JEE main)
  • जीआईटीएएम जीएसटी (GITAM GAT)
  • जेईई एडवांस्ड एएटी एग्जाम (JEE advanced AAT Exam) 
  • हिंदुस्तान इंस्टीट्यूट आफ टेक्नोलॉजी एंड साइंस इंजीनियरिंग एंट्रेंस टेस्ट (Hindustan Institute of Technology and Science Engineering entrance test) 
  • अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी एंट्रेंस एग्जाम (Aligarh Muslim University entrance exam) 
  • कलिंगा इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडस्ट्रियल टेक्नोलॉजी (Kalinga Institute of Industrial Technology) 
  • आईपीयू सीईटी  (IPU CET) 
  • यूपीएसईई (UPSEE) 

बीआर्क कोर्स के लिए प्रवेश प्रक्रिया क्या है (what is the admission process for B.Arch course)

बैचलर ऑफ आर्किटेक्चर कोर्स करने के लिए जो प्रवेश प्रक्रिया है वह इस प्रकार से है – 

  • यहां बता दें कि सबसे पहले छात्र को जिस भी कॉलेज में एडमिशन लेना है उसकी ऑफिशल वेबसाइट पर जाकर अपना एप्लीकेशन फॉर्म जमा करना होता है। 
  • एप्लीकेशन फॉर्म ऑनलाइन या फिर इंस्टिट्यूट में जाकर भी भरा जा सकता है।
  • उसके बाद फिर छात्रों को एंट्रेंस एग्जाम में बुलाया जाता है।
  • इस तरह से जो भी छात्र प्रवेश परीक्षा में शॉर्टलिस्ट किए जाते हैं उनकी फिर काउंसलिंग होती है।
  • उसके बाद फिर उन्हें सीटों की उपलब्धता के आधार पर और उनकी योग्यता के आधार पर कॉलेज में दाखिला मिल जाता है। 

बीआर्क कोर्स के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए (what should be the qualification for B.Arch course)

जो स्टूडेंट्स बीआर्क कोर्स करना चाहते हैं इसके लिए उन में निम्नलिखित योग्यता होना जरूरी है –

  • छात्र ने किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से मिनिमम 50% मार्क्स के साथ 12वीं कक्षा पास की हो।
  • 12वीं कक्षा में छात्र ने पीसीएम जैसे विषयों में पढ़ाई जरूर की हो। 
  • कैंडिडेट में डिजाइनिंग स्किल्स का होना जरूरी है। 
  • कंप्यूटर की जानकारी होनी चाहिए। 

फीस (Fees) 

12वीं के बाद बैचलर ऑफ आर्किटेक्चर कोर्स करने के लिए छात्रों को फीस कॉलेज के अनुसार देनी होती है। यहां आपको बता दें कि कुछ कॉलेजों में अधिक फीस ली जाती है तो कुछ में कम। इस प्रकार से स्टूडेंट्स को इस पाठ्यक्रम के लिए तकरीबन एक लाख रुपए से लेकर 6 लाख रुपए तक की फीस देनी होती है। 

भारत में बीआर्क कोर्स करने के लिए कॉलेज (college to do B.Arch course in India)

 12वीं के बाद बीआर्क का ग्रैजुएट प्रोग्राम करने के लिए जो कॉलेज सबसे बेस्ट है उनके नाम इस प्रकार से हैं – 

  • जामिया मिलिया इस्लामिया न्यू दिल्ली (Jamia Millia Islamia New Delhi) 
  • जादवपुर यूनिवर्सिटी कोलकाता (Jadavpur University Kolkata) 
  • चंडीगढ़ कॉलेज आफ आर्किटेक्चर चंडीगढ़ (Chandigarh College of architecture Chandigarh)
  • बिरला इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी रांची (Birla Institute of Technology Ranchi) 
  • सर जेजे कॉलेज ऑफ आर्किटेक्चर मुंबई (Sir JJ College of architecture Mumbai) 
  • स्कूल ऑफ प्लानिंग एंड आर्किटेक्चर न्यू दिल्ली (School of planning and architecture New Delhi) 
  • आईआईटी खरगपुर (IIT Kharagpur)
  • आईआईटी रुड़की (IIT Roorkee) 
  • स्कूल ऑफ प्लानिंग एंड आर्किटेक्चर विजयवाडा (School of planning and architecture Vijayawada) 
  • एनआईटी कालीकट (NIT Calicut) 

बीआर्क कोर्स का पाठ्यक्रम/सब्जेक्ट क्या क्या है (what are the syllabus/subjects of B.Arch course) 

12वीं के बाद बैचलर ऑफ आर्किटेक्चर कोर्स में दाखिला लेने पर छात्रों को निम्नलिखित सिलेबस पढ़ाया जाता है – 

  • आर्किटेक्चर डिजाइन (Architecture design) 
  • बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन (Building construction)
  • थ्योरी ऑफ स्ट्रक्चर (Theory of structures) 
  • बिल्डिंग साइंस एंड सर्विस (Building science and service) 
  • बिल्डिंग मैनेजमेंट (Building management)
  • हिस्ट्री ऑफ आर्किटेक्चर (History of architecture)
  • आर्किटेक्चरल ड्राइंग (Architectural drawing) 
  • कंप्यूटर एंड सॉफ्टवेयर लैब्स (Computer and software lab) 
  • वर्कशॉप प्रैक्टिस (Workshop practice)
  • आर्किटेक्चरल एप्रिसिएशन (Architectural appreciation)
  • थ्योरी ऑफ सेटलमेंट प्लानिंग (Theory of settlement planning) 
  • डिजाइन एप्लीकेशन (Design applications)
  • थीसिस प्रोजेक्ट (Thesis project) 
  • जनरल प्रोफिशिएंसी (General proficiency)

बीआर्क कोर्स के बाद कैरियर संभावनाएं क्या है (what are the career prospects after B.Arch course)

बीआर्क ग्रेजुएट्स को प्राइवेट और सरकारी सेक्टर में नौकरी के बहुत से अच्छे अवसर मिल जाते हैं। बता दें कि कैंडिडेट निम्नलिखित क्षेत्रों में काम कर सकते हैं –

  • एकेडमिक इंस्टीट्यूट्स (Academic institutes)
  • म्यूजियम्स (Museums)
  • आर्ट गैलरीज (Art galleries)
  • अर्बन प्लैनिंग बॉडीज (Urban planning bodies)
  • कंस्ट्रक्शन कंपनीज (Construction companies)
  • आर्किटेक्चरल डिजाइन कंपनीज (Architectural design companies)
  • कंसल्टेंसी फर्म्स (Consultancy firms) 

वेतन (salary)

अब यहां आपको जानकारी के लिए बता दें कि बीआर्क डिग्री होल्डर को हर महीने कितनी सैलरी मिल सकती है। तो बता दें कि योग्य कैंडिडेट को हर महीने 25,000 से लेकर 50,000 तक के बीच वेतन मिल जाता है। इसके अलावा जब अभ्यर्थी का एक्सपीरियंस ज्यादा हो जाता है तो तब उसे इससे भी ज्यादा सैलरी मिलती है। 

प्राइवेट सेक्टर में जॉब्स (Jobs in private sector)

जैसा कि हम ने बताया कि बैचलर ऑफ आर्ट्स प्रोग्राम को पूरा करने के बाद कैंडिडेट को नौकरी के बहुत अच्छे अवसर मिल जाते हैं। ‌बताते चलें कि योग्य कैंडिडेट निम्नलिखित पदों पर काम कर सकते हैं –

  • आर्किटेक्चर डाटा एनालिस्ट (Architecture data analyst)
  • आर्किटेक्ट (Architect)
  • सेल्स मैनेजर (Sales Manager)
  • बिजनेस डेवलपमेंट मैनेजर (Business development Manager)
  • फ्रंट ऑफिस असिस्टेंट (Front office assistant)
  • स्टाफ कंसलटेंट (Staff consultant)
  • आर्किटेक्चर मैनेजर (Architecture manager)
  • टीचर (Teacher)
  • लेक्चरर (Lecturer) 
  • रिटेल इंटीरियर डिजाइनर (Retail interior designer)
  • आर्किटेक्ट ड्राफ्ट्समैन (Architecture draftsman)
  • प्रोजेक्ट असिस्टेंट मैनेजर (Project assistant manager)

गवर्नमेंट सेक्टर में जॉब्स (Jobs in government sector)

यहां आपको जानकारी के लिए बता दें कि जिस प्रकार कैंडिडेट को प्राइवेट सेक्टर में नौकरी मिल जाती है। ठीक इसी प्रकार से उन्हें गवर्नमेंट सेक्टर में भी नौकरी के मौके मिलते हैं। इसके लिए इच्छुक उम्मीदवार को चाहिए कि जब भी संबंधित विभाग में कोई व्यक्ति निकले तो वहां पर नौकरी के लिए अप्लाई कर दें। 

निष्कर्ष

दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिकल बीआर्क कोर्स (B.Arch Course)  कैसे करें पूरी जानकारी। इसके द्वारा हमने आपको बताया कि बैचलर ऑफ आर्किटेक्ट कोर्स क्या है और इसकी अवधि कितनी होती है। इसके अलावा हमने आपको यह डिटेल्स भी दी कि बीआर्क प्रोग्राम को करने के लिए प्रवेश परीक्षा और प्रवेश प्रक्रिया क्या है। 

इस लेख के द्वारा हमने आपको यह डिटेल्स भी दी कि बीआर्क कोर्स करने के लिए किसी भी छात्र में कितनी योग्यता का होना जरूरी है। साथ ही साथ हमने आपको यह भी बताया कि विद्यार्थियों को इसके लिए कितने रुपए तक की फीस देनी पड़ सकती है। 

इस आर्टिकल में हमने आपको यह डिटेल्स भी दी कि भारत में बैचलर ऑफ आर्किटेक्ट कोर्स करने के लिए कौन कौन से कॉलेज अच्छे हैं और वहां पर छात्रों को क्या सिलेबस पढ़ाया जाता है। इसके अलावा हमने आपको यह डिटेल्स भी दी कि इस पाठ्यक्रम को करने के बाद छात्रों को प्राइवेट और गवर्नमेंट सेक्टर में जॉब की क्या संभावनाएं मिल सकती हैं। 

इसके साथ ही साथ हमने आपको यह डिटेल्स भी दी कि जब विद्यार्थी अपना कोर्स पूरा कर लेते हैं तो तब उन्हें जॉब करने पर हर महीने कितनी सैलरी मिल सकती है। हमें पूरी उम्मीद है कि हमारे द्वारा बताई गई यह सारी डिटेल्स आपके लिए काफी ज्यादा उपयोगी रही होगी। 

इसलिए अंत में हमारी आपसे बस यही रिक्वेस्ट है हमारे इस पोस्ट को अपने उन सभी दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करें जो 12वीं के बाद बीआर्क कोर्स (B.Arch Course) कोर्स करना चाहते हैं। 

Leave a Reply